अलवर गैंगरेप कांड : माया का मोदी को जवाब, कहा- बीजेपी नेताओं की पत्नियां घबराती हैं कहीं...

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/05/13 02:39

लखनऊ। लोकसभा चुनावों में अभी आखिरी चरण का मतदान होना बाकी हैं उससे पहले राजस्थान के अलवर में हुई वीभत्स गैंगरेप की घटना पर सभी दल राजनीतिक रोटियां सेंकने में लगे हैं। इसी कड़ी में बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि मोदी बहन और बेटियों की इज्जत करना क्या जानेंगे जब वह अपनी पत्नी को राजनीतिक लाभ के लिए छोड़ चुके हैं। माया के जवाब में बीजेपी ने कहा कि आखिर मोदी से इतनी घृणा क्यों? क्या इसलिए कि उन्होंने परिवार से ज्यादा देश को परिवार माना? 

मोदी दूसरों की पत्नियों की इज्जत कैसे कर सकते हैं
तो वहीं बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'नरेंद्र मोदी पहले अलवर दलित महिला उत्पीड़न घटना को लेकर चुप थे लेकिन मेरे बोलने के तुंरत बाद से इसकी आड़ में अपनी घिनौनी घृणित राजनीति करने से बाज नहीं आ रहे हैं ताकि चुनाव में उनकी पार्टी को फायदा पहुंचे। यह बेहद शर्मनाक है। वह दूसरों की बहन, बेटी और पत्नी की इज्जत कैसे कर सकते हैं जब वह अपनी बेकसूर पत्नी को ही छोड़ चुके हैं।' 

पतियों से अलग न करवा दें मोदी
इसके अलावा मायावती ने कहा कि  'मुझे तो ये भी मालूम चला है कि बीजेपी में खासकर विवाहित महिलाएं अपने आदमियों को मोदी के नजदीक जाते देख कर यह सोचकर काफी ज्यादा घबराती रहती हैं कि कहीं यह मोदी अपनी औरत की तरह हमें भी अपने पति से अलग न करवा दें।' उन्होंने कहा कि दलित वर्ग को अभी तक न्याय मिला है। इससे पहले दलितों पर जो अत्याचार हुए उस पर इन्होंने कभी बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों से इस्तीफा नहीं मांगा। 

पिछड़े होने का नाटक
बसपा सुप्रीमो ने कहा कि 'मोदी अति पिछड़े वोटों को लुभाने के लिए यह भी कहा है कि मैं अति पिछड़ी जाति से हूं। ये जन्मजात किसी पिछड़ी जाति के नहीं हैं। इन्होंने गुजरात में सीएम रहते हुए जैसे-तैसे जुगाड़ करके अपनी अगणी जाति को पिछड़ी जाति में शामिल करा लिया था। अगर ये वाकई अति पिछड़ी जाति के होते तो इनहें दलित और अतिपिछड़े वर्गों के अपने बने बंगले अखरते नहीं। यह कागजी अति पिछड़े वर्ग के हैं।'

मालूम हो, पीएम मोदी ने सोमवार को कुशीनगर में रैली के दौरान मायावती पर अलवर गैंगरेप मामले में चुप्पी साधने का आरोप लगाते हुए उन्हें राजस्थान की कांग्रेस सरकार से अपना सर्मथन वापस लेने को कहा था। 
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in