Live News »

फर्जी बैंक अकाउंट मामले में पाकिस्तान का पूर्व राष्ट्रपति गिरफ्तार

फर्जी बैंक अकाउंट मामले में पाकिस्तान का पूर्व राष्ट्रपति गिरफ्तार

नई दिल्ली: पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी को फर्जी बैंक अकाउंट मामले में गिरफ्तार किया गया है. मामले में जरदारी की गिरफ्तारी से पहले इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी. बतादें, एनएबी की एक टीम जरदारी के घर पहुंची और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी यानि पीपीपी के सह-अध्यक्ष जरदारी को गिरफ्तार कर लिया. 

दरअसल, सोमवार को ही इस मामले में जरदारी और उनकी बहन फरयाल तालपुर को इस्लामाबाद हाई कोर्ट ने झटका देते हुए स्थाई जमानत देने से मना कर दिया था. साथ ही कानून प्रवर्तन एजेंसियों को जरदारी और उनकी बहन को गिरफ्तार करने का आदेश भी दिया. जिसके बाद ही गिरफ्तारी की गई है.रिपोर्ट्स के मुताबिक जरदारी और तालपुर समेत सात लोग कथित रूप से कुल 35 अरब रुपए के संदिग्ध लेनदेन के लिए खास बैंक खातों के इस्तेमाल में शामिल रहे हैं.

और पढ़ें

Most Related Stories

Boycott China: चीन को एक और झटका, देश के हाइवे प्रोजेक्ट्स में चीनी कंपनियां होंगी बैन

Boycott China: चीन को एक और झटका, देश के हाइवे प्रोजेक्ट्स में चीनी कंपनियां होंगी बैन

नई दिल्ली: भारत-चीन के बीच चल रहे सीमा विवाद के चलते भारत लगातार आर्थिक मोर्चे पर चीन को झटके दे रहा है. चीन की 59 एप्स पर प्रतिबंध लगाने के बाद आज केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी बड़ी जानकारी देते हुए बताया कि भारत सभी हाइवे प्रोजेक्ट्स में चीनी कंपनियों को बैन करने की तैयारी कर रहा है. चीनी कंपनियों को संयुक्त उद्यम पार्टनर (JV) के रूप में भी काम नहीं करने दिया जाएगा.

ऋण पर्यवेक्षक के 300 रिक्त पदों पर शीघ्र होंगी भर्ती- सहकारिता मंत्री 

जॉइंट वेंचर के रास्ते भी रोक दिया जाएगा: 
गडकरी ने कहा कि इतना ही नहीं अगर कोई चाइनीज कंपनी जॉइंट वेंचर के रास्ते भी राजमार्ग परियोजनाओं में एंट्री की कोशिश करेगी तो उसे भी रोक दिया जाएगा. इसके अलावा उन्होंने कहा कि सरकार यह भी सुनिश्चित करेगी कि सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों (MSMEs) के विभिन्न क्षेत्रों में चीनी निवेशकों से कोई रिश्ता न रखा जाए.

नियमों में ढील देने की नीति बनाई जाएगी:
उन्होंने कहा कि जल्द ही चीनी कंपनियों पर प्रतिबंध लगाने और भारतीय कंपनियों को राजमार्ग परियोजनाओं में भागीदारी के लिए उनकी पात्रता मानदंड का विस्तार करने के लिए नियमों में ढील देने की नीति बनाई जाएगी. गडकरी ने कहा कि वर्तमान में कुछ परियोजनाएँ जो बहुत पहले शुरू की गई थीं उनमें कुछ चीनी साझेदार शामिल थे उन पर यह लागू नहीं होगा, नया निर्णय वर्तमान और भविष्य की निविदाओं में लागू किया जाएगा. 

अनोखी शादी में वर-वधु ने सात फेरे लेने के बाद लिया आठवां फेरा, पर्यावरण संरक्षण का दिया संदेश 

चीन से हिंसक झड़प में देश के 20 वीर जवान शहीद हो गए थे:
गौरतलब है कि भारत-चीन नियंत्रण रेखा पर हुई हिंसक झड़प में हमारे देश के 20 वीर जवान शहीद हो गए थे, जिसके बाद से ही देश में चीन विरोधी माहौल चरम पर है. चीनी कंपनियों और चीनी माल के बहिष्कार तक की बात होने लगी है.


 

बैन के बाद टिकटॉक ने दी सफाई- नहीं शेयर की जानकारी, चीन को भी नहीं दिया डेटा

बैन के बाद टिकटॉक ने दी सफाई- नहीं शेयर की जानकारी, चीन को भी नहीं दिया डेटा

नई दिल्ली: भारत और चीन विवाद के चलते सोमवार को मोदी सरकार ने देश में टिकटॉक समेत 59 ऐप्स पर पाबंदी लगा दी है. इस बैन के बाद वीडियो मेकिंग ऐप टिक टॉक इंडिया ने एक बयान जारी करते हुए सफाई दी है. कहा है कि किसी भी यूजर की जानकारी दूसरे देश, यहां तक कि चीन को भी नहीं दी गई है.

TikTok, UC Browser सहित 59 चीनी ऐप्स बैन, यहां देखें पूरी लिस्ट  

किसी भी भारतीय यूजर की जानकारी साझा नहीं की:  
टिकटॉक के हवाले से समाचार एजेंसी पीटीआई ने लिखा है कि सरकार के आदेश का पालन किया जा रहा है, लेकिन उनकी तरफ से किसी भी भारतीय यूजर की जानकारी किसी भी दूसरे देश साझा नहीं की गई है, यहां तक की चीन के साथ भी नहीं. वहीं ट्विटर पर एक पोस्ट के जरिए टिक टॉक इंडिया के हैड निखिल गांधी ने कहा है कि हम भारत सरकार के आदेश को मान रहे हैं. इसके लिए हम सरकारी एजेंसियों से मुलाकात भी करेंगे और अपनी सफाई पेश करेंगे. 

टिक टॉक भारत के कानून का सम्मान करता है:
उन्होंने आगे कहा कि टिक टॉक भारत के कानून का सम्मान करता है. टिक टॉक ने भारत के लोगों का डाटा चीनी सरकार सहित किसी भी विदेशी सरकार को नहीं भेजा है. अगर हमे ऐसा करने के लिए कहा भी जाता तो भी हम ऐसा नहीं करते. इससे पहले कल ही मोदी सरकार ने टिकटॉक समेत 59 ऐप पर पाबंदी लगाई है. सरकार के इस फैसले को लद्दाख में तनाव के बीच चीन के लिए कड़े संदेश के तौर पर देखा जा रहा है.

Coronavirus Updates: देश में 24 घंटे में कोरोना के 18522 मामले आए सामने, अब तक 16,893 लोगों की मौत  

14 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध टिक टॉक पर लाखों-करोड़ों यूजर्स:
वहीं टिक टॉक ने यह भी दावा किया है कि 14 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध टिक टॉक पर लाखों-करोड़ों यूजर्स हैं, जिनमें आर्टिस्ट, स्टोरी टेलर, टीचर हैं जो अपनी रोजमर्रा की रोजी रोटी के लिए इस पर निर्भर हैं. इसके साथ ही यह भी कहा कि इनमें से बहुत सारे लोग तो ऐसे भी हैं जो पहली बार इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं. सरकार के बैन के बाद गूगल ने टिक टॉक समेत सभी बैन किए गए ऐप्स को प्ले स्टोर से हटा दिया है. 


 

ईरान ने जारी किया अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की गिरफ्तारी का वारंट, इंटरपोल से मांगी मदद

ईरान ने जारी किया अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की गिरफ्तारी का वारंट, इंटरपोल से मांगी मदद

तेहरान: ईरान ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप की गिरफ्तारी का वारंट जारी किया है. इसके साथ ही ट्रंप और दर्जनों लोगों को हिरासत में लेने के लिए इंटरपोल से मदद मांगी है. तेहरान के प्रोसेक्यूटर अली अलकासीमहर ने कहा कि ट्रंप अन्य 30 से अधिक लोगों के साथ 3 जनवरी के हमले में शामिल थे. हमले में ईरान के जनरल कासिम सोलेमानी की मौत हुई थी. 

महाराष्ट्र में 31 जुलाई तक बढ़ा लॉकडाउन, 'मिशन बिगेन अगेन' का दिया नाम  

ईरान राष्ट्रपति पद समाप्त होने के बाद भी अपने चार्जेस को जारी रखेगा:
वहीं ईराने के इंटरपोल से मदद मांगने पर फ्रांस के ल्योन स्थित इंटरपोल ने इस पर तुरंत कोई जवाब नहीं दिया है. अलकासीमर के मुताबिक ईरान ने इंटरपोल से ट्रंप और बाकी लोगों के लिए ‘रेड नोटिस’ का अनुरोध किया था, जोकि इंटरपोल की तरफ से जारी उच्चतम स्तर का नोटिस है. उन्होंने कहा कि ट्रंप के अलावा किसी और की पहचान नहीं की लेकिन इस बात पर जोर दिया कि ईरान, उनका राष्ट्रपति पद समाप्त होने के बाद भी अपने चार्जेस को जारी रखेगा.

अमेरिका ने सैन्य कार्रवाई को अंजाम दिया था:
बता दें कि अमेरिका और ईरान के बीच तनाव के दौरान अमेरिका ने सैन्य कार्रवाई को अंजाम दिया था. इसमें अमेरिकी स्ट्राइक में ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड (IRGC) के वरिष्ठ जनरल और क़ुद्स फोर्स कमांडर कासिम सुलेमानी की मौत हो गई थी. इसके साथ ही इराक में ईरान समर्थित पॉपुलर मोबलाइजेशन फोर्स के कमांडर अबू मेहंदी अल मुहंदीस भी मारा गया था.

राहुल गांधी ने बोला मोदी सरकार पर बड़ा हमला, कहा- मुनाफ़ाख़ोरी बंद करे, एक्साइज़ दर तुरंत घटाए 

यह होता है रेड कॉर्नर का अर्थ: 
वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी या उनके प्रत्यर्पण को हासिल करने के लिए यह नोटिस जारी किया जाता है. इस नोटिस की मदद से गिरफ्तार किए गए अपराधी को उस देश भेज दिया जाता है जहां उसने अपराध किया था. वहीं फिर उस पर उस देश के कानून के मुताबिक ही मुकदमा चलता है और सजा दिलाई जाती है. जिस व्यक्ति के खिलाफ “इंटरपोल” ने रेड कार्नर नोटिस जारी किया है; इंटरपोल उस वांछित व्यक्ति को गिरफ्तार करने के लिए किसी सदस्य देश को मजबूर नहीं कर सकता है.

पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज पर आतंकी हमला, चार आतंकी ढेर, पांच लोगों की भी मौत

पाकिस्तान स्टॉक एक्सचेंज पर आतंकी हमला, चार आतंकी ढेर, पांच लोगों की भी मौत

कराची: पाकिस्तान के सबसे बड़े शहर कराची में बड़ा आतंकी हमला हुआ है. आज सुबह कराची में स्टॉक एक्सेचेंज की बिल्डिंग में यह ग्रेनेड हमला किया गया है. जानकारी के मुताबिक, चारों आतंकियों को मार गिराया गया है. आतंकियों की फायरिंग में पांच लोगों के मारे जाने की खबर है. 

Coronavirus Updates: देश में लगातार दूसरे दिन 20 हजार के करीब नए मरीज, अबतक 16475 लोगों की मौत

सभी आतंकियों को मार गिराया गया: 
पाकिस्तान मीडिया के मुताबिक, चारों आतंकी मार गिराए गए हैं.  हालात नियंत्रण में है और सभी आतंकियों को मार गिराया गया है. रेंजर्स और पुलिस के जवान इमारत के अंदर घुस गए हैं और सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है.  जानकारी के अनुसार हमलावरों ने कथित तौर पर पुलिस अधिकारियों द्वारा पहने हुए कपड़े पहने हुए थे, जो वो ऑफ ड्यूटी पर पहनते हैं. आतंकवादियों ने अत्याधुनिक हथियारों के साथ हमला किया और एक बैग ले जा रहे थे, जिसमें संभवत: विस्फोटक हो सकता है.

जनरल वीके सिंह ने किया गलवान घाटी में झड़प पर बड़ा खुलासा, चीनी सेना के तंबू में आग लगने से भड़की थी हिंसा 

आस-पास के इलाके को खाली करा लिया गया: 
आतंकियों ने स्टॉक एक्सचेंज की इमारत के मेन गेट पर ग्रेनेड से हमला किया और अंधाधुंध फायरिंग करते हुए इमारत में घुस गए. आस-पास के इलाके को खाली करा लिया गया है. घायलों को नजदीकी अस्पताल में इलाज के भर्ती कराया गया है. इसके साथ ही स्टॉक एक्सचेंज में फंसे कर्मचारियों को पीछे के दरवाजे से निकाल लिया गया है.

जनरल वीके सिंह ने किया गलवान घाटी में झड़प पर बड़ा खुलासा, चीनी सेना के तंबू में आग लगने से भड़की थी हिंसा

जनरल वीके सिंह ने किया गलवान घाटी में झड़प पर बड़ा खुलासा, चीनी सेना के तंबू में आग लगने से भड़की थी हिंसा

नई दिल्ली: 15 जून की रात गलवान घाटी में भारत-तीन सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प को लेकर मोदी सरकार में मंत्री और पूर्व सेनाध्यक्ष वीके सिंह ने बड़ा खुलासा किया है. उन्होंने बताया कि गलवान घाटी में भारत-चीन सैनिकों के बीच एक रहस्यमय आग की वजह से हिंसक झड़प हुई. ये आग चीनी सैनिकों के टेंटों में लग गई थी. वीके सिंह ने कहा कि हमारे जवान चीनी सेना के पोजिशन देखने गए थे.

1 दिन की शांति के बाद फिर बढ़ी पेट्रोल-डीजल की कीमत, जानिए क्या हो गए हैं भाव  

सैनिक तंबू हटा रहे थे, तभी अचानक आग लग गई: 
पूर्व सेनाध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने कहा कि 15 जून की शाम कमांडिंग ऑफिसर बॉर्डर पर चेक करने गए तो देखा कि चीन के सभी लोग वापस नहीं गए थे. वहां चीनी सैनिकों का तंबू मौजूद था. कमांडिंग ऑफिसर ने तंबू हटाने के लिए कहा. इस बीच जब चीनी सैनिक तंबू हटा रहे थे, तभी अचानक आग लग गई. आग लगने के बाद दोनों देशों के सैनिकों के बीच झड़प हो गई. दोनों देशों ने अपने और लोग बुलाए. हिंसक झड़प के दौरान चीन के 40 से ज्यादा सैनिक मारे गए. ये बात सही है.

जम्मू-कश्मीर: अनंतनाग में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में तीन आतंकी ढेर, इस महीने 36 का हुआ सफाया

हमारे लोग चीनी सेना के उपर हावी हो गए:
केंद्रीय मंत्री वीके सिंह ने बताया कि झड़प के दौरान हमारे लोग चीनी सेना के उपर हावी हो गए. चीन ने अपने और लोग बुलाए और हमारे लोगों ने भी अपने और लोग बुलाए. चीन के लोग जल्दी आ गए, फिर हमारे लोग आए. अंधेरे में 500 से 600 लोगों के बीच झड़प हुई. पहले हमारे तीन लोग हताहत हुए थे. फिर हमारे और चीनी सैनिक नदी में गिर गए थे. चोट और नदी में गिर जाने के कारण हमारे और 17 जवान शहीद हो गए. 70 के करीब घायल हो गए थे.
 

COVID-19: दुनियाभर में एक करोड़ के पार पहुंची कोरोना संक्रम‍ितों की तादाद, अब तक 5 लाख से ज्यादा लोगों की मौत  

COVID-19: दुनियाभर में एक करोड़ के पार पहुंची कोरोना संक्रम‍ितों की तादाद, अब तक 5 लाख से ज्यादा लोगों की मौत  

नई दिल्ली: दुनियाभर में COVID-19 का प्रकोप बढ़ता जा रहा है. दुनियाभर में COVID-19 संक्रमितों की संख्या बढ़कर एक करोड़ को पार कर गई है जबकि इस जानलेवा वायरस की चपेट में आने से पांच लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. दुनियाभर में अब तक 54 लाख 57 हजार 958 केस रिकवर हो चुके है. दुनियाभर के 213 से ज्यादा देश कोरोना वायरस की चपेट में आ गए. अमेरिका में अब तक 25 लाख 96 हजार 735 पॉजिटिव केस है. जबकि 1,28,152 लोगों की मौत हो चुकी है. अमेरिका में पिछले 24 घंटे में 43,581 से ज्यादा केस सामने आए है. 

जलदाय अधिकारियों के भ्रष्टाचार के कारनामे, बिना काम किए ही ठेकेदारों को दिया जा रहा पेमेंट

ब्राजील में 13 लाख से ज्यादा केस:
अगर बात करें ब्राजील की, तो ब्राजील में 13 लाख 15 हजार 941 कोरोना पॉजिटिव केस है. जबकि 51 हजार 103 लोगों की मौत हो चुकी है. ब्राजील में पिछले 24 घंटे में 994 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं बात करें रूस की, तो यहां पर 6 लाख 27 हजार 646 कोरोना केस है. जबकि 8 हजार 969 लोगों की मौत हो चुकी है. अगर बात करें स्पेन की तो यहां पर अब तक 2 लाख 95 हजार 549 पॉजिटिव केस है. वहीं  28 हजार 341 लोगों की मौत हो चुकी है.इटली में अब तक 2,40,136 पॉजिटिव केस है, जबकि 34,716 लोगों की मौत हो चुकी है.फ्रांस में अब तक 1,62,936 पॉजिटिव, 29,778 लोगों की गई जान, जर्मनी में अब तक 1,94,689 पॉजिटिव, 9,026 लोगों की मौत, चीन में अब तक 83,843 पॉजिटिव, 4,634 लोगों की मौत हुई. 

यूके में तीन लाख से ज्यादा केस:
UK में 3 लाख 10 हजार 250 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आये. वहीं 43 हजार 514 लोगों की जान गई. ईरान में अब तक 2,20,180 पॉजिटिव केस मिल चुके है. वहीं  10 हजार 364 लोगों की मौत हो चुकी है. मेक्सिको में 2,08,392 कोरोना मरीज, 25,779 लोगों की मौत हो चुकी है. टर्की में 1,95,883 कोरोना पॉजिटिव, 5,082 लोगों की जान गई. अगर बात करें पेरू की, तो यहां पर 2 लाख 75 हजार 989 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आये है. जबकि 9,135 लोगों की मौत हो चुकी है. पाकिस्तान में 1,98,883 कोरोना पॉजिटिव,4,035 लोगों की मौत हो चुकी है. चिली में 2,67,766 कोरोना मरीज,5,347 लोगों की मौत हो चुकी है.

गैंगस्टर आनंदपाल एनकाउंटर प्रकरण: सीबीआई का सबसे बड़ा दावा, कहा-फेक नहीं था एनकाउंटर 

भारत समेत दुनिया के कई देशों में दिखा सूर्यग्रहण का अद्भुत नजारा, दिन में नजर आए तारे

भारत समेत दुनिया के कई देशों में दिखा सूर्यग्रहण का अद्भुत नजारा, दिन में नजर आए तारे

नई दिल्ली: भारत समेत दुनिया के कई देशों में सूर्यग्रहण का अद्भुत नजारा देखा जा रहा है. धरती पर हल्का हल्का सा अंधेरा नजर आने लगा है. जिसकी वजह से कई जगहों पर दिन में तारे भी देखे गए है. आबूधाबी, ओमान और दुबई सूर्यग्रहण का नजारा देखा जा रहा है. देश में अलग-अलग समय पर सूर्यग्रहण का अद्भुत नजारा देखा जा रहा है. दिल्ली, नोएडा, मुंबई, देहरादून में सूर्यग्रहण का नजारा देखा गया. दिल्ली में दोपहर 1 बजकर 49 मिनट तक सूर्यग्रहण का नजारा देखा जा सकता है. ज्योतिष शास्त्र में सूर्यग्रहण का विशेष वर्णन किया गया है. ग्रहण के वक्त खाद्य पदार्थों का सेवन न करने की सलाह दी गई है. ग्रहण के वक्त वाहन नहीं चलाने चाहिए. जरूरी हो तो हैडलाइट जलाकर वाहन चलाएं.

सूर्य बाएं तरफ से थोड़ा कटा हुआ आया नजर:
दिल्ली से भी सूर्य ग्रहण की फोटो सामने आई है. दिल्ली में बादलों की वजह से ग्रहण पूरी तरह दिखाई नहीं दे रहा है पर चंद्रमा की हल्की छाया सूर्य पर देखी जा सकती है.सूर्य बाएं तरफ से थोड़ा कटा हुआ नजर आ रहा है.

जयपुर में भी नजर आया सूर्यग्रहण का नजारा:
राजस्थान की राजधानी जयपुर के आसमान में सूर्यग्रहण नजर आया. यहां पर सूर्य ग्रहण दोपहर 1:44 बजे तक नजर आएगा. ग्रहण को पूरी तरह से 11:55 पर देखा जा सकेगा. यह एशिया, अफ्रीका, प्रशांत, हिंद महासागर, यूरोप और ऑस्ट्रेलिया के कुछ हिस्सों से दिखाई देगा. आज के बाद अगला सूर्यग्रहण इसी साल 14 या 15 दिसंबर को होगा. हालांकि, माना जा रहा है कि अगला सूर्यग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा. वैज्ञानिकों के अनुसार, एक साल में कुल पांच सूर्यग्रहण तक लग सकते हैं.

ऑटोमोबाइल सेक्टर ने फिर गति पकड़ना किया शुरू, जून के पहले पखवाड़े में वाहनों की बिक्री रही अच्छी

सूर्य वलयाकार नजर आया:
अहमदाबाद के बाद नोएडा से भी सूर्य ग्रहण की फोटो सामने आई है. इसमें सूर्य वलयाकार दिखाई दे रहा है. 21 जून के बाद अगला सूर्यग्रहण इसी वर्ष 14 या 15 दिसंबर को होगा. हालांकि, माना जा रहा है कि अगला सूर्यग्रहण भारत में दिखाई नहीं देगा. वैज्ञानिकों के मुताबिक एक वर्ष में कुल पांच सूर्यग्रहण तक लग सकते हैं.

सूर्य बिल्कुल नजर आया पीला:
पंजाब के अमृतसर के आसमान में रविवार को सूर्यग्रहण का नजारा नजर आया. सूर्य ग्रहण सुबह 9 बजकर 15 मिनट पर शुरु हुआ और यह 3 बजकर 4 मिनट तक रहेगा. महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई से सूर्य ग्रहण कुछ तरह का दिखाई दिया. सूर्य बिल्कुल पीला नजर आ रहा है.

छठा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस: पीएम मोदी का देश के नाम संबोधन, कहा-इस बार की थीम योग एट होम, योग एट फैमिली

साल का पहला सूर्यग्रहण शुरू, भारत के कई शहरों में चमकती हुई अंगूठी की तरह नजर आएगा सूर्य

साल का पहला सूर्यग्रहण शुरू, भारत के कई शहरों में चमकती हुई अंगूठी की तरह नजर आएगा सूर्य

नई दिल्ली: साल 2020 का पहला सूर्य ग्रहण लगना शुरू हो गया है. 25 वर्ष बाद यह पहला मौका है जब वलायाकार यानी अंगूठी की तरह दिखने वाला ग्रहण लगा है. सूर्य ग्रहण के दौरान भारत के कई शहरों में आसमान में सूर्य का घेरा एक चमकती अंगूठी की तरह दिखाई देगा. इससे पहले साल 1995 में इस तरह का ग्रहण नजर आया था. सूर्य ग्रहण सुबह 09.15 बजे से शुरू होकर दोपहर 03.04 मिनट पर खत्म होगा. ज्योतिषियों के अनुसार लगभग 05 घंटे 49 मिनट तक यानी करीब 6 घंटे के इस ग्रहण में ग्रहों के संयोग से कई परिणाम देखने को मिल सकते हैं. सूर्य ग्रहण भले ही खगोलीय घटना हो, लेकिन धर्म-ज्योतिष और विज्ञान में इसके अपने मायने होते हैं. ज्योतिषों की मानें तो महामारी के दौर में लगने वाला सूर्य ग्रहण काफी अशुभ है. यह न केवल भारत बल्कि पूरी दुनिया में रोग और महामारी वाला ग्रहण साबित हो सकता है.

ऑटोमोबाइल सेक्टर ने फिर गति पकड़ना किया शुरू, जून के पहले पखवाड़े में वाहनों की बिक्री रही अच्छी

खुली आंखों से नहीं देखें ग्रहण:
ऐसा बताया जा रहा है कि सूर्य ग्रहण को नग्न आंखों से नहीं देखना चाहिए. वैज्ञानिकों के मुताबिक नग्न आंखों से सूर्य ग्रहण देखना आंखों के लिए नुकसानदायी हो सकता है. सोलर फिल्टर चश्मे या फिर टेलीस्कोप की मदद से सूर्य ग्रहण देख सकते हैं. इसके अलावा सूर्य ग्रहण देखने के लिए बाजार में कई सर्टिफाइड चश्में उपलब्ध हैं.

इन देशों में दिखेगा सूर्य ग्रहण?
21 जून को लगने वाला सूर्य ग्रहण भारत सहित दुनिया के कई देशों में नजर आएगा. सूर्य ग्रहण भारत, पाकिस्तान, चीन, सेंट्रल अफ्रीका के देश, कॉन्गो, इथोपिया, नॉर्थ ऑफ ऑस्ट्रेलिया, हिंद महासागर और यूरोप के अलग-अलग देशों में नजर आएगा. राजस्थान के सूरतगढ़ और अनूपगढ़, हरियाणा के सिरसा, रतिया, और कुरुक्षेत्र तथा उत्तराखंड के देहरादून, चंबा, चमोली और जोशीमठ जैसे क्षेत्रों से ‘अग्नि-वलय’ एक मिनट तक दिखेगा.

प्रदेश में जल्द बढ़ेगी ट्रेनों की संख्या, उत्तर-पश्चिम रेलवे प्रशासन चलाएगा 48 ट्रेनें, जयपुर जंक्शन से 32 ट्रेनें होंगी संचालित

Open Covid-19