Live News »

हरियाणा में अब बिना जमीन के हवा में उगेंगे आलू, पैदावार भी 10 से 12 गुना ज्यादा

हरियाणा में अब बिना जमीन के हवा में उगेंगे आलू, पैदावार भी 10 से 12 गुना ज्यादा

करनाल: आलू एक ऐसी सब्जी है जो देशभर में हर मौसम में उपलब्ध रहती है. आमतौर पर आलू मिट्टी में उगाया जाता है, लेकिन हरियाणा में अब आलू बिना जमीन के हवा में उगेंगे. सुनने में यह भले ही अजीब लगे, लेकिन यह सत्य है. हरियाणा के करनाल जिले में स्थित आलू प्रौद्योगिकी केंद्र ने इसे मुमकिन कर दिखाया है. 

दरअसल करनाल के आलू प्रौद्योगिकी केंद्र में इस तकनीक पर काम पूरा कर लिया है, अप्रैल 2020 तक किसानों के लिए बीज बनाने का काम शुरू हो जाएगा. इस तकनीक का नाम है एरोपोनिक. इसमें जमीन की मदद लिए बिना हवा में ही फसल उगाई जा सकती है. इसके तहत बड़े-बड़े बॉक्स में आलू के पौधों को लटका दिया जाता है. जिसमें जरूरत के हिसाब से पानी और पोषक तत्व डाले जाते हैं. इस तकनीक से पैदावार भी करीब 10 से 12 गुना ज्यादा होगी. 

बता दें कि इस आलू प्रोद्योगिकी केंद्र का इंटरनेशनल पोटेटो सेंटर के साथ एक एमओयू हुआ है. इसके बाद भारत सरकार द्वारा एरोपोनिक तकनीक के प्रोजेक्ट को अनुमति मिल गई है. 

और पढ़ें

Most Related Stories

केंद्र के कृषि कानूनों के विरोध में हरियाणा में किसान यूनियनों का प्रदर्शन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका

केंद्र के कृषि कानूनों के विरोध में हरियाणा में किसान यूनियनों का प्रदर्शन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका

अंबाला/कुरुक्षेत्र: भारतीय किसान यूनियन (भाकियू) के कार्यकर्ताओं ने हरियाणा में कई जगहों पर केंद्र के कृषि कानूनों के विरोध में प्रदर्शन किया और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला जलाया. कुरुक्षेत्र के शाहबाद में भाकियू कार्यकर्ताओं ने हरियाणा के पूर्व मंत्री और भाजपा नेता कृष्ण कुमार बेदी के घर के पास प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिये पुलिस ने पानी की बौछार का इस्तेमाल किया. कुछ प्रदर्शनकारियों ने काले झंडे ले रखे थे और उन्होंने नए कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग करते हुए केंद्र और भाजपा के नेतृत्व वाली प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी की.

नारेबाजी कर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंकाः
भाकियू के प्रदेश अध्यक्ष गुरनाम सिंह के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं ने अंबाला सिटी के निकट लखनपुर साहिब गांव में प्रदर्शन किया. प्रदर्शन स्थल पर किसानों ने केंद्र और भाजपा के नेतृत्व वाली प्रदेश सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और कृषि कानूनों को वापस लिये जाने की मांग की. बाद में प्रदर्शन के तहत अंबाला और कुरुक्षेत्र में प्रदर्शनकारियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का पुतला फूंका. राज्य में कुछ अन्य जगहों पर भी भाकियू कार्यकर्ताओं ने ऐसा ही प्रदर्शन किया.

सुरक्षा इंतजामः काफी संख्या में पुलिसकर्मियों को किया गया तैनातः
गुरनाम सिंह ने संवाददाताओं से कहा कि जब तक केंद्र सरकार नए कृषि कानूनों को वापस नहीं ले लेती तब तक उसके खिलाफ प्रदर्शन जारी रहेगा.अंबाला, कुरुक्षेत्र और यमुनानगर जिलों समेत विभिन्न स्थानों पर सुरक्षा इंतजाम के तहत सुबह से ही काफी संख्या में पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया था. इस महीने के शुरू में कुरुक्षेत्र पुलिस ने सिंह के खिलाफ प्रधानमंत्री को लेकर कथित रूप से आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर मामला दर्ज किया था.

कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों की आवाज को दबाने के लिए ऐसे हथकंड़े अपना रही सरकारः
भाकियू नेता ने किसानों से अपील की थी कि वे दशहरे के दौरान प्रधानमंत्री का पुतला जलाएं. इसके बाद शाहबाद पुलिस थाने में उनके खिलाफ शिकायत दर्ज की गई थी. शिकायत सामाजिक कार्यकर्ता साहिल ने दर्ज कराई थी. इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए सिंह ने कहा कि सरकार नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों की आवाज को दबाने के लिए ऐसे हथकंडों का इस्तेमाल कर रही है.
सोर्स भाषा

पराली जलाने की समस्या को लेकर अदालत ने कहा- उच्चतम न्यायालय अपना काम कर रहा हैं अब केंद्र तथा राज्य सरकार भी आगे आए

पराली जलाने की समस्या को लेकर अदालत ने कहा- उच्चतम न्यायालय अपना काम कर रहा हैं अब केंद्र तथा राज्य सरकार भी आगे आए

नयी दिल्ली: पड़ोसी राज्यों पंजाब एवं हरियाणा में पराली जलाने की समस्या से निपटने के लिये उच्चतम न्यायालय अपना काम कर रहा है और अब केंद्र तथा राज्य सरकारों को भी इस दिशा में काम करना होगा. दिल्ली उच्च न्यायालय ने गुरुवार को यह टिप्पणी की. 

पराली जलाये जाने को रोकने संबंधी याचिका पर सुनवाई से इंकारः
पंजाब एवं हरियाणा में पराली जलाये जाने को रोकने के संबंध में तत्काल कदम उठाने का अनुरोध करने वाली याचिका पर सुनवाई से इंकार करते हुये दिल्ली उच्च न्यायालय ने यह टिप्पणी की. याचिका में यह दलील दी गयी थी कि पराली जलाने से कोरोना वायरस संक्रमण संबंधी समस्या और बढ़ेगी. दिल्ली उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश डी. एन. पटेल एवं न्यायमूर्ति प्रतीक जालान की पीठ ने कहा कि शीर्ष अदालत ने 16 अक्टूबर को एक समिति का गठन किया जो पराली जलाये जाने से रोकने के आलोक में इन राज्यों द्वारा उठाये गये कदमों की निगरानी करेगी. यह समिति उच्चतम न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश न्यायमूर्ति एम बी लोकुर की अध्यक्षता में गठित की गयी है.

{related}

सुधीर मिश्रा ने दायर की थी जनहित याचिकाः
उच्च न्यायालय ने कहा कि अगर इस अदालत में भी इस मामले की सुनवाई होगी तो विरोधाभासी आदेश पारित होने का खतरा बन जायेगा. इस टिप्पणी के साथ पीठ ने इस आवेदन का निपटारा कर दिया जिसे सुधीर मिश्रा नामक एक अधिवक्ता ने अदालत में पेश किया था. ​मिश्र ने 2015 में दायर अपनी मुख्य जनहित याचिका में राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण कम करने के लिये केंद्र सरकार को निर्देश दिये जाने का अनुरोध किया था.

पराली जलाने से राजधानी में बढ़ेगा वायु प्रदूषणः
मिश्र ने अपने आवेदन में कहा था कि पराली जलाये जाने की घटना से राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण महत्वपूर्ण रूप से बढ़ जायेगा और कोरोना वायरस महामारी के आलोक में स्वास्थ्य समस्यायें और बढ़ेंगी. आवेदन का निपटारा करते हुये अदालत ने मिश्र को यह आजादी दी कि आवश्यकता पड़ने अथवा कठिनाईं उत्पन्न होने पर वह भविष्य में अदालत को संपर्क कर कर सकते हैं. सुनवाई के दौरान अतिरि​क्त सोलिसीटर जनरल चेतन शर्मा ने कहा कि खराब वायु गुणवत्ता के कारण गुरुवार को आसमान में सूर्य नहीं दिखा और खराब वायु गुणवत्ता के कारण राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में आपातकाल जैसी स्थिति हो गई है.
सोर्स भाषा

हरियाणा: बिजली निगम के एसडीओ को बंधक बनाने के आरोप में 65 कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज 

हरियाणा: बिजली निगम के एसडीओ को बंधक बनाने के आरोप में 65 कर्मचारियों के खिलाफ मामला दर्ज 

जींद (हरियाणा): पुलिस ने यहां बिजली निगम के एसडीओ को बंधक बना कर हाथापाई करने के आरोप में पांच कर्मचारी नेताओं सहित 65 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. पुलिस ने एसडीओ की शिकायत पर मारपीट करने, सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने, बंधक बनाने तथा धमकी देने का मामला दर्ज किया है.

कार्यालय का घेराव कर की हाथापाईः
बिजली निगम के एसडीओ विनय सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में कहा कि 16 अक्टूबर को कर्मचारियों ने कार्यालय का घेराव किया और बाद में उनके साथ हाथापाई भी की. शहर थाना पुलिस ने एसडीओ विनय सिंह की शिकायत पर 65 कर्मचारियों के मामला दर्ज किया है.

{related}

पांच नामजद कर्मचारियों को सहित 60 अन्य के खिलाफ मामला दर्जः 
शहर थाना के जांच अधिकारी सुलतान सिंह ने बताया कि बिजली निगम के एसडीओ द्वारा बिजली कर्मचारियों पर मारपीट करने, बंधक बनाने व सरकारी कार्य में बाधा डालने का आरोप लगाते हुए शिकायत दी थी. उस आधार पर पांच कर्मचारियों को नामजद कर 60 अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.
सोर्स भाषा

NCR शहरों की वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी में: CPCB

NCR शहरों की वायु गुणवत्ता खराब श्रेणी में: CPCB

नोएडा:  केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने हालिया जारी रिपोर्ट में दावा किया है कि एनसीआर शहरों की एयर क्वालिटी बहुत ही खराब स्थिती की है. हरियाणा में फरीदाबाद के कुछ स्थानों पर सोमवार को वायु गुणवत्ता बहुत खराब श्रेणी में रही जबकि उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर व गाजियाबाद तथा हरियाणा के गुड़गांव में हवा की गुणवत्ता खराब श्रेणी में दर्ज की गई है. आपको बता दे की ये शहर राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आते हैं.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक, दिल्ली से सटे चारों जिलों में पीएम 2.5 और पीएम 10 का स्तर भी काफी ज्यादा था. वायु गुणवत्ता शून्य से 50 के बीच अच्छी, 51 से 100 तक संतोषजनक, 101 से 200 तक मध्यम, 201 से 300 तक खराब, 301 से 400 तक बेहद खराब और 401 से 500 के बीच गंभीर मानी जाती है. 

सीपीसीबी के रात नौ बजे के आंकड़ों के मुताबिक वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) फरीदाबाद में कुछ स्थानों पर बहुत खराब था लेकिन व्यापक तौर पर खराब श्रेणी में रहा है. आंकड़ों के अनुसार, गुड़गांव, गाजियाबाद और गौतबुद्धनगर में एक्यआई खराब श्रेणी में रहा है. इन क्षेत्रों में अत्यधिक मात्रा में पराली जलाने के कारण भी प्रदूषण बढ़ रहा है जिसकी रोकथान के उपाय किये जा रहे है. (सोर्स-भाषा)

{related}

हरियाणाः बहला-फुसलाकर दो युवकों ने 13 वर्षीय नाबालिग लड़की से किया दुष्कर्म

हरियाणाः बहला-फुसलाकर दो युवकों ने 13 वर्षीय नाबालिग लड़की से किया दुष्कर्म

जींदः हरियाणा के जींद जिले में एक मासूम बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म का मामला सामने आया है, यहां दो युवकों ने एक 13 साल की मासूम बच्ची को कथित रूप से अपनी हवस का शिकार बनाया. इस संबंध में लड़की की मां ने स्थानीय पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया है. बताया जा रहा है कि लड़की कक्षा नौंवी में पढ़ती है.

दो युवकों के खिलाफ मामला दर्जः
मीडिया खबरों के अनुसार जींद के जुलाना थानाक्षेत्र के एक गांव से 13 वर्षीय छात्रा को बहला-फुसलाकर भगाने और सामूहिक बलात्कार करने के आरोप में पुलिस ने दो युवकों के खिलाफ मामला दर्ज किया है. 

{related}

आरोपियों ने किसी को बताने पर बच्ची को जान से मारने की दी धमकीः
लड़की की मां ने पुलिस को दी शिकायत की है कि उसकी 13 वर्षीय बेटी को 12 अक्टूबर को दोपहर डेढ़ बजे घर से बहला-फुसलाकर गांव के दो युवक पास के ही खाली पड़े मकान में ले गए जहां उन्होंने उसके साथ सामूहिक बलात्कार किया. यही नहीं आरोपियों ने बच्ची को ये बात किसी ओर को बताने पर जान से  मारने की धमकी भी दी गई. पुलिस ने दोनों युनकों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. 
सोर्स भाषा

हरियाणा उपचुनाव में बीजेपी का प्रतिनिधित्व करेगें योगेश्वर दत्त, बरोदा से दिया टिकट

 हरियाणा उपचुनाव में बीजेपी का प्रतिनिधित्व करेगें योगेश्वर दत्त, बरोदा से दिया टिकट

चंडीगढ़: देश भर मेंं चुनावी माहौल छाया हुआ है और इसी बीच हरियाणा में सत्तारूढ़ भाजपा ने बरोदा विधानसभा सीट पर उपचुनाव के लिए बृहस्पतिवार को पार्टी नेता एवं ओलंपिक पदक विजेता योगेश्वर दत्त को अपना उम्मीदवार नामित किया है जिसके बाद पार्टी समर्थकों में जोश व्याप्त है. पार्टी की ओर से जारी बयान में कहा गया कि पहलवान से नेता बने दत्त सोनीपत की बरोदा सीट पर तीन नवंबर को होने वाले उपचुनाव में पार्टी के प्रत्याशी होंगे. इस सीट पर नामांकन दाखिल करने का आखिरी दिन शुक्रवार तय किया गया है.

उल्लेखनीय है कि इस सीट पर वर्ष 2019 में निर्वाचित कांग्रेस विधायक श्रीकृष्ण हुड्डा का इस साल अप्रैल में निधन होने की वजह से उपचुनाव कराया जा रहा है. वर्ष 2019 के चुनाव में इसी सीट से दत्त को हुड्डा से हार मिली थी. इस सीट से कांग्रेस ने अब तक अपने प्रत्याशी का नाम घोषित नहीं किया है. उल्लेखनीय है इस सीट पर भाजपा को आज तक जीत नहीं मिली है. फिलहाल ये देखना बेहद ही रोमांचक होगा की इस बार बीजेपी अपना कमाल दिखा पाती है की नहीं. (सोर्स-भाषा)

हरियाणा के हिसार में बाल सुधार गृह से 17 किशोर फरार

हरियाणा के हिसार में बाल सुधार गृह से 17 किशोर फरार

हिसार:  हरियाणा के हिसार में पुलिस की लापरवाही का मामला सामने आया है जिसमें बाल सुधार गृह के प्रवेश द्वार पर सुरक्षाकर्मियों पर कथित तौर पर हमला करने के बाद 17 बाल बंदी भाग गये. सोमवार को पुलिस ने इस घटना की आधिकारीक जानकारी दी है. पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि यह घटना शाम को हुईथी. इनमें से आठ बाल बंदी हत्या के आरोपों जबकि अन्य चोरी और लूटपाट के आरोपों का सामना कर रहे हैं.
{related}
उन्होंने बताया कि इनमें से ज्यादातर हरियाणा के रोहतक, झज्जर और हिसार जिलों के है. जानकारी देते हुथ पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि इनका पता लगाने के लिए पुलिस टीमों का गठन किया जा चुका  है.पुलिस की लापरवाही का ये पहला नमूना नहीं है इससे पहले भी इसी तरह की कई वारदाते हो चुकी है, फिलहाल मामले की जांच जारी है मगर कोई ठोस सुराग नहीं मिला है. (भाषा)

सीएम मनोहर लाल खट्टर बोले, बरोदा में कांग्रेस के 54 साल के शासन का मांगूंगा हिसाब

सीएम मनोहर लाल खट्टर बोले, बरोदा में कांग्रेस के 54 साल के शासन का  मांगूंगा हिसाब

चंडीगढ़: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार को कहा कि राज्य की बरोदा विधानसभा सीट पर नवंबर में होने जा रहे उपचुनाव में वह इस निर्वाचन क्षेत्र का 54 साल से प्रतिनिधित्व करने वाले कांग्रेस विधायकों के कामकाज का विपक्षी पार्टी से हिसाब मांगेंगे. खट्टर ने यह भी कहा कि वह बरोदा विधानसभा क्षेत्र के मतदाताओं से यह भी पूछेंगे कि वे लोग विकास का कार्य कराने वाला व्यक्ति चाहते हैं या निष्क्रिय व्यक्ति.

हरियाणा के सोनीपत जिले में बरोदा विधानसभा सीट पर उपचुनाव तीन नवंबर को होने का कार्यक्रम है. मतगणना 10 नवंबर को होगी. कांग्रेस विधायक कृष्ण हुड्डा का अप्रैल में निधन हो जाने के कारण इस सीट पर उपचुनाव कराने की जरूरत पड़ी है. खट्टर ने कहा कि जननायक जनता पार्टी (जजपा) के साथ गठजोड़ कर भाजपा यह उपचुनाव लड़ेगी। हालांकि, चुनाव चिह्न कमल रहेगा.

{related}

उन्होंने कहा कि इस सीट (बरोदा) से कांग्रेस के उम्मीदवार करीब 54 साल से निर्वाचित हो रहे हैं. उन्होंने सोनीपत जिले के गोहाना में मीडिया से कहा कि जब हम चुनाव के लिये जाएंगे, तब हम उनसे (कांग्रेस से) 54 वर्षों का हिसाब भी मांगेंगे. खट्टर ने यह आरोप भी लगाया कि कांग्रेस विधायकों ने इस क्षेत्र की कभी सुध नहीं ली.

उन्होंने आरोप लगाया,उन्होंने(कांग्रेस ने) कई कार्य बीच में छोड़ दिए. उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा पर हमला करते हुए कहा कि कांग्रेस नेता कहा करते हैं कि बरोदा और किलोई विधानसभा क्षेत्रों के साथ एक समान व्यवहार किया गया. उन्होंने कहा कि यदि ये समान नजरें हैं तो आपसे किसने कहा कि एक आंख से अधिक देखिये और दूसरी पर चश्मा चढ़ा लीजिए. गढ़ी सांपला किलोई हुड्डा का गृह क्षेत्र है.(भाषा)