Live News »

रंग लाए पुलिस मुख्यालय के प्रयास, बीते 11 महीनों के दौरान सड़क हादसों में मौतों की संख्या हुई कम

रंग लाए पुलिस मुख्यालय के प्रयास, बीते 11 महीनों के दौरान सड़क हादसों में मौतों की संख्या हुई कम

जयपुर: प्रदेश में सड़क हादसों को कम करने और हादसों में मौतों की संख्या को कम करने में पुलिस मुख्यालय को काफ़ी हद तक सफ़लता मिली है. 21 जिलों में हादसों में होने वाली मौतों की संख्या में काफी कमी आई है. हालांकि 10 जिले ऐसे भी हैं, जहां हादसे और मौत कम होने की बजाय बढ़ गईं हैं. एक रिपोर्ट:

जिला पुलिस अधीक्षकों को टास्क:
प्रदेश में हो रहे सड़क हादसे हमेशा से ही सरकार और पुलिस मुख्यालय के लिए सरदर्द रहे हैं. सड़क हादसों में  हजारों की तादाद में हर वर्ष लोगों की जान जाती हैं. बीते दिनों डीजीपी और एडीजी ट्रैफिक ने हादसों को कम करने का सभी जिला पुलिस अधीक्षकों को टास्क दिया था. अब इस टास्क के बेहतर परिणाम सामने आए हैं. पुलिस मुख्यालय ने बीते 11 महीनों के आधार पर एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार की है. अगर किसी एसपी को जॉइन किये हुए कम समय हुआ है तो उस एसपी की रिपोर्ट उस अवधि के हिसाब से तैयार हुई है. हादसों को कम करने के लिए एसपी की परफॉरमेंस कैसी रही है, इसका आधार इसी अवधि में बीते साल हादसों में हुई मौतों को बनाया गया है. इस रिपोर्ट का अच्छा पहलू यह रहा है कि 21 जिले ऐसे हैं, जिनमे बीते महीनों में हादसों में होने वाली मौतों का आंकड़ा कम हुआ है. 

सड़क सुरक्षा सप्ताह:
एडीजी ट्रैफिक पीके सिंह ने बीते दिनों जिस तरीक़े से सभी जिला पुलिस अधीक्षकों से संवाद किया. साल में 2 बार सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया गया. जागरूकता के लिए जो कार्यक्रम किये गए उनका परिणाम यह रहा है कि प्रदेश में सड़क हादसों में होने वाली मौतों का आकंड़ा कम हुआ है. अब ऐसे सभी 21 जिला पुलिस अधीक्षकों को डीजीपी ने अपनी ओर से प्रशंषा पत्र भेजे है और उनकी सराहना की है. एडीजी ट्रैफिक पीके सिंह ने भी ऐसे सभी एसपी को फोन कर के उन्हें बधाई दी है और ऐसे प्रयास जारी रखने के निर्देश दिए हैं. 

कौनसे हैं वह 21 जिले, जिन्होंने सड़क हादसों को कन्ट्रोल करने के लिए बेहतर काम किया:
1-जयपुर ग्रामीण -पिछले 5 महीनों के मुकाबले 23 मौतें कम हुईं हैं
2-झुंझुनूं-पिछले 11 महीनों के मुकाबले 41 मौतें कम हुईं हैं
3-अलवर-पिछले 7 महीनों के मुकाबले 59 मौतें कम हुईं हैं
4-चूरू-पिछले 4 महीनों में 5 मौत कम हुईं हैं
5-जैसलमेर- पिछले 11महीनों के मुकाबले इस बार 11 मौत कम हुईं हैं
6-उदयपुर- पिछले 11महीनों के मुकाबले इस बार 38 मौतें कम हुईं हैं
7-चित्तोड़गढ़-पिछले 11महीनों के मुकाबले इस बार 22 मौत कम हुईं हैं  
8-डूंगरपुर-पिछले 5 महीनों के मुकाबले 16 मौत कम हुईं हैं
9-कोटा ग्रामीण-पिछले 11 महीनों के मुकाबले 5 मौत कम हुईं हैं
10-बूंदी-पिछले 11 महीनों के मुकाबले 27 मौत कम हुईं हैं
11-झालावाड़-पिछले 9 महीनों  के मुकाबले 5 मौत कम हुई हैं
12-करौली-पिछले 5 महीनों के मुकाबले 16 मौत कम हुई हैं
13-टोंक-पिछले 5 महीनों के मुकाबले 19 मौत कम हुई हैं
14-जोधपुर वेस्ट- पिछले 5 महीनों के मुकाबले 14 मौत कम हुई हैं

कुछ जिले ऐसे भी है, जिनमें हादसों में मौतों का आकंड़ा मामूली अंतर से कम हुआ है. तो कुछ जगह आंकड़ा पिछली बार जैसा ही है. 

एडीजी ट्रैफिक की रिपोर्ट में 10 जिले ऐसे भी रहे हैं, जिनका प्रदर्शन बहुत फिसड्डी रहा है. इन जिलों में ना सिर्फ सड़क हादसों का आकंड़ा बढ़ा है, बल्कि मौतों की संख्या भी यहां बढ़ गयी है. पुलिस मुख्यालय के लगातार निर्देशों के बाद भी इन जिलों के एसपी सड़क हादसों को कंट्रोल करने में फैल साबित हुए हैं. इन सभी जिलों के एसपी को पुलिस मुख्यालय की ओर से कड़ी चेतावनी दी गयी है. 

उन जिलों के नाम जो सड़क हादसों को रोकने में रहे फैल:
सीकर, गंगानगर, बीकानेर, भीलवाड़ा, नागौर, जोधपुर ईस्ट, जोधपुर रूरल, राजसमंद और जयपुर ईस्ट में बढ़ा है आकंड़ा 

20 से अधिक जिलों में सड़क हादसों में होने वाली मौतों का आकंड़ा कम होना पुलिस मुख्यालय के लिए राहत भरी खबर है. बीते दिनों एडीजी ट्रैफिक पीके सिंह ने जिस तरीके के प्रयास और मॉनिटरिंग की है, उससे भी इन आकंडो को कम करने में मदद मिली है. हालांकि 10 जिलों में मौतों का आकंड़ा बढ़ना PhQ के लिए चिंता की बात भी है. 

... संवाददाता शिवेंद्र परमार की रिपोर्ट 

और पढ़ें

Most Related Stories

राज्य के बाहर से आने वाले नहीं ले सकते आरक्षण का लाभ, राजस्थान हाईकोर्ट ने दिया महत्वपूर्ण आदेश

राज्य के बाहर से आने वाले नहीं ले सकते आरक्षण का लाभ, राजस्थान हाईकोर्ट ने दिया महत्वपूर्ण आदेश

जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट ने राज्य में सरकारी नौकरियों और पंचायत चुनाव में आरक्षण को लेकर महत्वपूर्ण आदेश दिया है. राजस्थान हाईकोर्ट ने पंचायत चुनाव में आरक्षित सीट से चुनाव लड़ने से जुड़े एक मामले की सनुवाई करते हुए कहा है कि प्रदेश में आरक्षण का लाभ मूल निवासियों को ही दिया जाना चाहिए. दूसरे राज्य से विवाह करके राज्य में आने वाली महिला या प्रवासी व्यक्ति सरकारी नौकरी और चुनाव में आरक्षित सीट के लिए दावेदारी नहीं कर सकते है. चाहे आने वाले राजस्थान और मूल राज्य दोनों आरक्षित वर्ग की संबंधित सूची में ही शामिल क्यों ना हो. जस्टिस सतीश कुमार शर्मा की एकलपीठ ने दूसरे राज्य से आकर पंचायत चुनावों में आरक्षण के लाभ का दावा करने वाली याचिकाकताओं को खारिज करते हुए ये आदेश दिये है.

एकलपीठ ने कहा कि याचिकाकर्ता सक्षम प्राधिकारी के समक्ष जाति प्रमाण पत्रों के लिए कानूनी प्रक्रिया अपना सकते हैं.  हाईकोर्ट ने इसके साथ ही आरक्षित वर्ग के प्रवासियों को जारी होने वाले जाति प्रमाण पत्रों पर भी एक विशेष नोट लिखे जाने को कहा है जिसमें स्पष्ट अंकित किया जाएगा कि यह प्रमाण पत्र सरकारी नौकरी या चुनाव लड़ने के लिए मान्य नहीं होगा. 

क्या है मामला: 
पंचायत चुनाव में आरक्षण के लिए महिलाएं पहुंची हाईकोर्ट—

पंचायत चुनाव में आरक्षित सीट से चुनाव लड़ने के लिए आवश्यक जाति प्रमाण को लेकर प्रेमदेवी सहित 6 याचिकाकर्ताओं ने हाईकोर्ट में याचिका दायर की. याचिकाकर्ताओं का कहना था कि राजस्थान में उनके पति की जाति भी उसी श्रेणी में आती है, जिससे वे अपने गृह राज्य में हैं. शादी के बाद वे राजस्थान राज्य में लगातार निवास कर रहे हैं. ऐसे में उनको आरक्षण का लाभ लेने से नहीं रोका जा सकता है. 

अपने मूल राज्य में ही आरक्षण का अधिकार—सरकार
राज्य सरकार ने कहा कि एक व्यक्ति केवल अपने मूल राज्य में ही आरक्षण के लाभ के लिए दावा कर सकता है. विस्थापित होकर दूसरे राज्य में आने पर वहां नौकरी, चुनाव सहित अन्य लाभ का दावा करते हुए प्रमाणपत्र नहीं मांग सकता है. अगर ऐसे प्रवासी व्यक्तियों को आरक्षण का लाभ दिया जाता है, तो भारत के संविधान के अनुच्छेद 341 और 342 के तहत संवैधानिक फैसलों का उल्लंघन होगा. 

प्रदेश में आरक्षण का मुद्दा फिर गर्मायेगा:
बाहरी राज्य से आकर राज्य में विवाह करने वाली सैकड़ों महिलाओं ने जाति प्रमाण पत्र के आधार पर पंचायत चुनाव में नामांकन दाखिल किये है. लेकिन हाईकोर्ट की एकलपीठ के आदेश के बाद अब नामाकंन दाखिल करने वाली महिलाओं के नामांकन खारिज हों सकते हैं. अब खंडपीठ से कोई विपरित आदेश नहीं आने कि स्थिति में इन प्रमाण पत्रों के आधार पर दायर नामांकन पत्र खारिज हो सकते हैं. इसी के साथ पहले भी जहां पर आरक्षित सीट पर चुनाव लड़कर जीतने वाली महिलाओं के निर्वाचन पर भी सवाल उठने तय है. 

Horoscope Today, 25 September 2020: आज इन राशियों के लिए रहेगा विशेष दिन, ध्यान रखें ये बातें

Horoscope Today, 25 September 2020: आज इन राशियों के लिए रहेगा विशेष दिन, ध्यान रखें ये बातें

जयपुर: दैनिक राशिफल चंद्र ग्रह की गणना पर आधारित होता है. राशिफल की जानकारी करते समय पंचांग की गणना और सटीक खगोलीय विश्लेषण किया जाता है. दैनिक राशिफल में सभी 12 राशियों के भविष्य के बारे में बताया जाता है. ऐसे में आप इस राशिफल को पढ़कर अपनी दैनिक योजनाओं को सफल बना सकते हैं. 

{related}

मेष (Aries): आज का दिन आर्थिक मामलों के लिए बहुत ज्यादा अनुकूल नहीं है फिर भी आपकी दौड़-धूप का कोई ठोस नतीजा शाम तक मिल सकता है. यदि आप अपने घर-परिवार के सदस्यों को भी अपने साथ ले कर चलें तो अच्छा रहेगा. 

वृष (Taurus): काफी दिनों के बाद एक अच्छे धन लाभ का योग आज आपको मिल रहा है. हो सकता है आपके घर परिवार में कोई व्यक्ति कुछ कड़वाहट और तनाव पैदा कर दे या फिर आपके घर के आस-पास कोई अनहोनी घटना आपको विचलित कर दें. 

मिथुन (Gemini): पिछले कई दिनों से आपके ऊपर खर्च का बोझ बढ़ता ही जा रहा है. जहां से आपको मदद मिलने की संभावना थी उनके द्वारा भी कोई सकारात्मक जवाब नहीं मिलने से आपका बजट बिगड़ सकता है. यदि आप अपने कार्यक्रम को एक दो-दिन टाल दें तो ज्यादा अच्छा रहेगा. 

कर्क (Cancer): धन के मामले में इस समय आपको बहुत ज्यादा चिंतित होना पड़ सकता है. हो सकता है जिस प्रकार के दौर से आप गुजर रहे हैं उससे निपटने के लिए आपको अपनी जमा पूंजी भी खर्च करनी पड़ सकती है. 

सिंह (Leo): आज के दिन भी कोई व्यक्ति आपकों दिए गए वायदे से मुकर सकता है. कोई वैकल्पिक उपाय खोजना आपके लिए जरूरी होगा नहीं तो सारा खेल बिगड़ जाएगा. 

कन्या (Virgo): संपत्ति जायदाद और रोजगार के मामले आपके लिए ज्यादा महत्व नहीं रखते हैं. लेकिन आजकल कुछ ऐसा ही वातावरण बन रहा है. जब आपकों इन तीनों मामलों पर बेहद गौर करना पड़ेगा. 

तुला (Libra): कारोबार और व्यापार करना आपकी प्रकृति का एक विशेष अंग है. काफी समय के बाद कुछ ऐसा वातावरण बन रहा है कि आपको अब अपने करियर पर गंभीरता से विचार करना होगा. 

वृश्चिक (Scorpio): इस समय रोमांस और प्रेम प्रकरण आपके जीवन में कुछ खलबली पैदा कर सकते हैं. हो सकता है आप किसी ऐसे व्यक्ति से संबंध बना लें जो दूसरों के लिए एक परहेज हो सकता है. लेकिन दिल और दिमाग जहां दौड़ रहा है उसी दिशा में आपकी भी विचार शक्ति दौड़ने के लिए प्रेरित हो रही है. 

धनु (Sagittarius): आज के दिन आपको किसी अप्रत्याशित लाभ या उपहार का फायदा हो सकता है. आपने पिछले दिनों कुछ ऐसे लोगों का भला किया है जो अब आपके किए गए अहसान को उतार देना चाहते हैं. 

मकर (Capricorn): डाक से अथवा फोन द्वारा कोई अच्छा समाचार आपको मिल सकता है और शाम तक आपको वस्त्र आभूषण आदि का भी लाभ हो सकता है. 

कुंभ (Aquarius): आज जहां तक हो सकता है आप संतुलन और शांतिपूर्वक ही किसी वाद-विवाद को सुलझाने की चेष्टा करें. कुछ ऐसी बातें भी कभी कभी मन को अशांत कर देती हैं जिनका कोई सिर पैर या आधार नहीं होता है.

मीन (Pisces): अपने छोटे से दायरे के बीच आप जो कुछ भी आगे बढ़ने की चेष्टा कर रहे हैं उसके अच्छे परिणाम जल्दी ही मिलने वाले हैं. यदि आप इसी तरह से समय निकाल कर अपने विचारों का कार्यान्वयन करें तो ख्याति और यश आपको मिलता ही रहेगा. 

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री

25 सितंबर 2020: जानिए आज का पंचांग, ये रहेगा शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

25 सितंबर 2020: जानिए आज का पंचांग, ये रहेगा शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

जयपुर: पंचांग का हिंदू धर्म में शुभ व अशुभ देखने के लिए विशेष महत्व होता है. पंचाम के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, शुभ तिथि, नक्षत्र, व्रतोत्सव, राहुकाल, दिशाशूल और आज शुभ चौघड़िये आदि की जानकारी देते हैं. तो ऐसे में आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल... 

{related}

शुभ मास- प्रथम आश्विनी (अधिक) शुक्ल पक्ष  
शुभ तिथि नवमी रिक्ता संज्ञक तिथि सांय 6 बजकर 44 मिनट तक रहेगी.  नवमी तिथि को विवाह आदि मांगलिक विवाह कार्य इत्यादि कार्य शुभ माने जाते हैं. नवमी तिथि मे जन्मे जातक धनवान भाग्यवान, गुणवान, पराक्रमी होते है. 

पूर्वाषाढ़ा "उग्र -अधोमुख " संज्ञक नक्षत्र सांय 6 बजकर 31 मिनट तक रहेगा. पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र मे बोरिंग, शिल्प, विद्या आरम्भ, वास्तु शांति इत्यादि कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते हैं. पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र मे जन्म लेने वाला जातक स्वतन्त्र विचारों वाला, कठोर मेहनत करने वाला, धनवान, बुद्धिमान होता है.

चन्द्रमा -  सम्पूर्ण दिन धनु राशि में संचार करेगा. 

व्रतोत्सव - श्री हरी जयंती

राहुकाल - प्रातः 10.30 बजे से 12 बजे तक

दिशाशूल - शुक्रवार को पश्चिम दिशा मे दिशाशूल रहता है. यात्रा को सफल बनाने लिए घर से जौ खा कर निकले. 

आज के शुभ चौघड़िये - सूर्योदय से पूर्वाह्न 10.49 तक लाभ, अमृत का, दोपहर 12.19 मिनट से  1.48  तक शुभ का, सायं 4.37 से सूर्यास्त तक चर का चौघड़िया.

सौजन्य - राज ज्योतिषी पंडित मुकेश शास्त्री


 

डूंगरपुर मामला: किरोड़ी लाल मीणा ने कहा- STअभ्यर्थियों को नियुक्ति के बजाय सरकार कर रही दमनात्मक कार्रवाई

डूंगरपुर मामला: किरोड़ी लाल मीणा ने कहा- STअभ्यर्थियों को नियुक्ति के बजाय सरकार कर रही दमनात्मक कार्रवाई

जयपुर: डूंगरपुर में चल रहे आंदोलन को लेकर अब सियासत होने लग गई है. इस मामले पर सांसद किरोड़ी लाल मीणा ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा है. TSP क्षेत्र के आदिवासियों के लिए पद देकर नियुक्ति देने के लिए पत्र लिखा है. किरोड़ी लाल मीणा ने कहा कि ST अभ्यर्थियों को नियुक्ति के बजाय सरकार दमनात्मक कार्रवाई कर रही है. आदिवासी छात्र मामले में डूंगरपुर में लोकतांत्रिक ढंग से धरना दे रहे. आदिवासियों के आंदोलन को कुचलने के बजाय सरकार वार्ता करे. यदि सरकार ने रवैया नहीं बदला तो आर-पार की लड़ाई लड़नी पड़ेगी. 

ST अभ्यर्थियों ने लगाया एनएच 8 पर जाम:
इससे पहले शिक्षक भर्ती 2018 के अनारक्षित रिक्त पदों को एसटी वर्ग से भरने की मांग को लेकर डूंगरपुर में ST अभ्यर्थियों द्वारा एनएच 8 पर जाम लगा दिया है. जिससे मौके पर माहौल गर्माया गया है. प्रदर्शनकारियों ने पुलिस पर पत्थरबाजी की. जवाब में पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े है. जानकारी के मुताबिक पथराव में कई पुलिसकर्मियों के घायल होने की सूचना भी मिली है. SDO के ड्राइवर के भी घायल होने की खबर मिली है. प्रदर्शनकारी रिक्त पदों को भरने की मांग कर रहे. 

{related}

प्रदर्शनकारियों ने की कई गाड़ियों में भी तोड़फोड़:
जानकारी के मुताबिक ST अभ्यर्थियों द्वारा ASP को बंधक बनाये जाने की सूचना भी मिली है. प्रदर्शनकारियों के पथराव में कई पुलिसकर्मी घायल हो गए है. डूंगरपुर एसडीएम का चालक भी घायल हो गया है.प्रदर्शनकारियों ने कई गाड़ियों में भी तोड़फोड़ की. अभ्यर्थियों ने 18 दिन से कांकरी डूंगरी पर पड़ाव डाल रखा था.

पीएम मोदी ने हस्तियों को बताए अपनी फिटनेस के राज, टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली से की बात

पीएम मोदी ने हस्तियों को बताए अपनी फिटनेस के राज, टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली से की बात

जयपुर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिट इंडिया डायलॉग कार्यक्रम में आज  राजस्थान के पैरालिंपियन देवेंद्र झाझड़िया और टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली से वर्चुअल संवाद करके उनकी फिटनेस के राज जाने. इस ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस में मॉडल, रनर और ऐक्टर मिलिंद सोमन, न्यूट्रीशनिस्ट रुजुता दिवेकर ने भी हिस्सा लिया. सभी ने फिटनेस को लेकर अपने विचार रखे और कुछ सुझाव भी दिए. खुद पीएम ने भी अपनी फिटनेस का राज बताया.

झाझड़िया ने अपने संघर्ष की कहानी बताई:
प्रधानमंत्री मोदी ने देश के सभी नागरिकों को फिटनेस और शारीरिक गतिविधियों को गंभीरता से लेने का आग्रह किया है. खासकर इस कोरोना महामारी के दौरान फिटनेस की खुराक लेने की लोगों से अपील की. उन्होंने कहा कि हर दिन आधा घंटे का फिटनेस डोज हमारे स्वस्थ शरीर और दिमाग के लिए जरूरी है.पीएम मोदी ने फिटनेस को लेकर आज देश की कई हस्तियों से बात की.सबसे पहला नंबर आया राजस्थान के पैरा एथलीट देवेंद्र झाझड़िया का. देवेंद्र ने बताया कि कैसे उन्होंने अपने कंधे की चोट को एक्सरसाइज से ठीक किया. देवेंद्र ने कहा कि जब मुझे कंधे में चोट लगी तो मैंने सोच लिया कि इससे हारना नहीं है, इसे ठीक करना है. उन्होंने साथ ही बताया कि कंधे के लिए वह कई तरह की एक्सरसाइज करते हैं. पीएम मोदी से संवाद करने के बाद देवेंद्र ने फर्स्ट इंडिया को बताया कि यह कदम देश के लोगों को फिट रखने में अहम भूमिका निभाएगा.

{related}

फिटनेस स्तर ऊंचा रखने की जरूरत:
विराट कोहली ने अपनी फिटनेस को लेकर कहा कि हमारे खेल के लिए पहले हमारी फिटनेस एक्टिविटी काफी नहीं थी, इसमें विशेष सुधार की जरूरत थी. आज भी मुझे याद है. दिल्ली के छोले भटूरे. उन्होंने यह भी कहा कि वे कैसे अपने किशोराव्स्था में सारे पैकेज्ड फूड्स का सेवन करते थे. हालांकि, उन्होंने यह भी माना कि यह मेरे स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं था और इसमें बदलाव की जरूरत थी. वे बताते हैं कि अगर हम खुद को फिट नहीं रखेंगे, तो जीवन में लगातार हो रहे बदलाव में आप पिछड़ा हुआ महसूस करेंगे.

Rajasthan Corona Update: पिछले 24 घंटे में 15 मौत, रिकॉर्ड 1981 नए पॉजिटिव केस, जयपुर में मिले सर्वाधिक 381 संक्रमित 

Rajasthan Corona Update: पिछले 24 घंटे में 15 मौत, रिकॉर्ड 1981 नए पॉजिटिव केस, जयपुर में मिले सर्वाधिक 381 संक्रमित 

जयपुर: राजस्थान में लगातार कोरोना वायरस के मरीजों का ग्राफ बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 15 मरीजों की कोरोना वायरस की वजह से मौत हो गई. जबकि रिकॉर्ड 1981 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. जोधपुर में दो, अजमेर, अलवर, बांसवाड़ा, बारां, भरतपुर, बीकानेर, श्रीगंगानगर, जयपुर, जालोर, प्रतापगढ़, सीकर, श्रीगंगानगर और टोंक जिले के एक-एक कोरोना मरीज की मौत हुई. प्रदेश में अब तक 1 हजार 397 मरीजों की कोरोना की वजह से मौत हो चुकी है. वहीं कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 1 लाख 22 हजार 720 पहुंच गई है.

जयपुर में मिले सर्वाधिक 381 पॉजिटिव:
प्रदेश की राजधानी जयपुर में सर्वाधिक 381 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले है. अजमेर 74, अलवर 92, बांसवाड़ा 33, बारां 12, बाड़मेर 27, भरतपुर 37 पॉजिटिव, भीलवाड़ा 133, बीकानेर 86, बूंदी 19, चित्तौड़गढ़ 12, चूरू 28, दौसा 22 पॉजिटिव, धौलपुर 33, डूंगरपुर 25, श्रीगंगानगर 32, हनुमानगढ़ 6, जयपुर 381 पॉजिटिव, जैसलमेर 11, जालोर 91, झालावाड़ 30, झुंझुनूं  35,जोधपुर 308 पॉजिटिव, 
करौली 11, कोटा 46, नागौर 51, पाली 59, प्रतापगढ़ 11, राजसमंद 29 पॉजिटिव, सवाई माधोपुर 13, सीकर 70, सिरोही 26,  टोंक 35, उदयपुर 103 पॉजिटिव मरीज मिले.

{related}

पॉजिटिव से नेगेटिव हुए कुल मरीज 102330:
कोरोना के इलाज के बाद प्रदेश में कुल 1 लाख 2330 लोग पॉजिटिव से नेगेटिव हुए है. वहीं कुल 1 लाख 967 लोग इलाज के बाद  अस्पताल से डिस्चार्ज किए गए है. अगर बात करें अस्पताल में एक्टिव मरीजों की तो अस्पताल में कुल 18 हजार 993 मरीज उपचाररत है. कुल कोरोना पॉजिटिव प्रवासियों की संख्या 10014 पहुंच गई है.

प्रदेश के दूसरे हार्ट ट्रांसप्लांट से जुड़ी दुखद खबर, ट्रांसप्लांट रिसीपियंट दीपक की कोरोना संक्रमण से मौत

प्रदेश के दूसरे हार्ट ट्रांसप्लांट से जुड़ी दुखद खबर, ट्रांसप्लांट रिसीपियंट दीपक की कोरोना संक्रमण से मौत

जयपुर: राजस्थान में सरकारी क्षेत्र के दूसरे हार्ट ट्रांसप्लांट से जुड़ी दुखद खबर सामने आई है. दूसरे हार्ट ट्रांसप्लांट रिसीपियंट दीपक की कोरोना संक्रमण से मौत हो गई. चिकित्सकों के लाख प्रयास के बावजूद दीपक नहीं बच पाया. दरअसल,पिछले दिनों दीपक कोरोना की चपेट में आया था. 

{related}

SMS के पॉलीट्रोमा ICU में जारी था दीपक का उपचार:
RUHS में उपचार के बाद दीपक पॉजिटिव से नेगेटिव हुआ, लेकिन हालत में सुधार नहीं होने पर SMS शिफ्ट किया गया. SMS के पॉलीट्रोमा ICU में दीपक का उपचार जारी था. जहां 22 सितम्बर को ट्रांसप्लांट रिसीपियंट दीपक ने दम तोड़ दिया. 12 फरवरी को राजस्थान में दूसरा हार्ट ट्रांसप्लांट हुआ था. राजस्थान के पहले हार्ट ट्रांसप्लांट रिसीपियंट की भी पूर्व में मौत हो चुकी हैं. 

जयपुर के पावटा में ACB की कार्रवाई, नवोदय स्कूल का प्रिंसिपल 15 हजार की घूस लेते ट्रैप 

 जयपुर के पावटा में ACB की कार्रवाई, नवोदय स्कूल का प्रिंसिपल 15 हजार की घूस लेते ट्रैप 

जयपुर: प्रदेश की राजधानी जयपुर के पावटा में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB )की कार्रवाई हुई. एसीबी ने कार्रवाई करते हुए नवोदय स्कूल के प्रिंसिपल को 15 हजार की घूस लेते ट्रैप किया है. आरोपी प्रिंसिपल अशोक कुमार वर्मा ठेकेदार से कमीशन मांग रहा था. DG आलोक त्रिपाठी और ADG दिनेश एमएन के निर्देश पर कार्रवाई हुई. एसीबी आरोपी से पूछताछ कर रही है.

{related}