Live News »

रंग लाए पुलिस मुख्यालय के प्रयास, बीते 11 महीनों के दौरान सड़क हादसों में मौतों की संख्या हुई कम
रंग लाए पुलिस मुख्यालय के प्रयास, बीते 11 महीनों के दौरान सड़क हादसों में मौतों की संख्या हुई कम

जयपुर: प्रदेश में सड़क हादसों को कम करने और हादसों में मौतों की संख्या को कम करने में पुलिस मुख्यालय को काफ़ी हद तक सफ़लता मिली है. 21 जिलों में हादसों में होने वाली मौतों की संख्या में काफी कमी आई है. हालांकि 10 जिले ऐसे भी हैं, जहां हादसे और मौत कम होने की बजाय बढ़ गईं हैं. एक रिपोर्ट:

जिला पुलिस अधीक्षकों को टास्क:
प्रदेश में हो रहे सड़क हादसे हमेशा से ही सरकार और पुलिस मुख्यालय के लिए सरदर्द रहे हैं. सड़क हादसों में  हजारों की तादाद में हर वर्ष लोगों की जान जाती हैं. बीते दिनों डीजीपी और एडीजी ट्रैफिक ने हादसों को कम करने का सभी जिला पुलिस अधीक्षकों को टास्क दिया था. अब इस टास्क के बेहतर परिणाम सामने आए हैं. पुलिस मुख्यालय ने बीते 11 महीनों के आधार पर एक विस्तृत रिपोर्ट तैयार की है. अगर किसी एसपी को जॉइन किये हुए कम समय हुआ है तो उस एसपी की रिपोर्ट उस अवधि के हिसाब से तैयार हुई है. हादसों को कम करने के लिए एसपी की परफॉरमेंस कैसी रही है, इसका आधार इसी अवधि में बीते साल हादसों में हुई मौतों को बनाया गया है. इस रिपोर्ट का अच्छा पहलू यह रहा है कि 21 जिले ऐसे हैं, जिनमे बीते महीनों में हादसों में होने वाली मौतों का आंकड़ा कम हुआ है. 

सड़क सुरक्षा सप्ताह:
एडीजी ट्रैफिक पीके सिंह ने बीते दिनों जिस तरीक़े से सभी जिला पुलिस अधीक्षकों से संवाद किया. साल में 2 बार सड़क सुरक्षा सप्ताह मनाया गया. जागरूकता के लिए जो कार्यक्रम किये गए उनका परिणाम यह रहा है कि प्रदेश में सड़क हादसों में होने वाली मौतों का आकंड़ा कम हुआ है. अब ऐसे सभी 21 जिला पुलिस अधीक्षकों को डीजीपी ने अपनी ओर से प्रशंषा पत्र भेजे है और उनकी सराहना की है. एडीजी ट्रैफिक पीके सिंह ने भी ऐसे सभी एसपी को फोन कर के उन्हें बधाई दी है और ऐसे प्रयास जारी रखने के निर्देश दिए हैं. 

कौनसे हैं वह 21 जिले, जिन्होंने सड़क हादसों को कन्ट्रोल करने के लिए बेहतर काम किया:
1-जयपुर ग्रामीण -पिछले 5 महीनों के मुकाबले 23 मौतें कम हुईं हैं
2-झुंझुनूं-पिछले 11 महीनों के मुकाबले 41 मौतें कम हुईं हैं
3-अलवर-पिछले 7 महीनों के मुकाबले 59 मौतें कम हुईं हैं
4-चूरू-पिछले 4 महीनों में 5 मौत कम हुईं हैं
5-जैसलमेर- पिछले 11महीनों के मुकाबले इस बार 11 मौत कम हुईं हैं
6-उदयपुर- पिछले 11महीनों के मुकाबले इस बार 38 मौतें कम हुईं हैं
7-चित्तोड़गढ़-पिछले 11महीनों के मुकाबले इस बार 22 मौत कम हुईं हैं  
8-डूंगरपुर-पिछले 5 महीनों के मुकाबले 16 मौत कम हुईं हैं
9-कोटा ग्रामीण-पिछले 11 महीनों के मुकाबले 5 मौत कम हुईं हैं
10-बूंदी-पिछले 11 महीनों के मुकाबले 27 मौत कम हुईं हैं
11-झालावाड़-पिछले 9 महीनों  के मुकाबले 5 मौत कम हुई हैं
12-करौली-पिछले 5 महीनों के मुकाबले 16 मौत कम हुई हैं
13-टोंक-पिछले 5 महीनों के मुकाबले 19 मौत कम हुई हैं
14-जोधपुर वेस्ट- पिछले 5 महीनों के मुकाबले 14 मौत कम हुई हैं

कुछ जिले ऐसे भी है, जिनमें हादसों में मौतों का आकंड़ा मामूली अंतर से कम हुआ है. तो कुछ जगह आंकड़ा पिछली बार जैसा ही है. 

एडीजी ट्रैफिक की रिपोर्ट में 10 जिले ऐसे भी रहे हैं, जिनका प्रदर्शन बहुत फिसड्डी रहा है. इन जिलों में ना सिर्फ सड़क हादसों का आकंड़ा बढ़ा है, बल्कि मौतों की संख्या भी यहां बढ़ गयी है. पुलिस मुख्यालय के लगातार निर्देशों के बाद भी इन जिलों के एसपी सड़क हादसों को कंट्रोल करने में फैल साबित हुए हैं. इन सभी जिलों के एसपी को पुलिस मुख्यालय की ओर से कड़ी चेतावनी दी गयी है. 

उन जिलों के नाम जो सड़क हादसों को रोकने में रहे फैल:
सीकर, गंगानगर, बीकानेर, भीलवाड़ा, नागौर, जोधपुर ईस्ट, जोधपुर रूरल, राजसमंद और जयपुर ईस्ट में बढ़ा है आकंड़ा 

20 से अधिक जिलों में सड़क हादसों में होने वाली मौतों का आकंड़ा कम होना पुलिस मुख्यालय के लिए राहत भरी खबर है. बीते दिनों एडीजी ट्रैफिक पीके सिंह ने जिस तरीके के प्रयास और मॉनिटरिंग की है, उससे भी इन आकंडो को कम करने में मदद मिली है. हालांकि 10 जिलों में मौतों का आकंड़ा बढ़ना PhQ के लिए चिंता की बात भी है. 

... संवाददाता शिवेंद्र परमार की रिपोर्ट 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें
और पढ़ें

Stories You May be Interested in