जनपथ पर शपथ ग्रहण समारोह की ​सशर्त अनु​मति, हाईकोर्ट ने दिया अमरूदों के बाग का सुझाव

Nizam Kantaliya Published Date 2018/12/15 05:15

जयपुर। राजस्थान में नई सरकार के शपथ ग्रहण समारोह के लिए हाई कोर्ट ने सशर्त मंजूरी दे दी है। लेकिन खास बात यह है कि नई सरकार के इस शपथ ग्रहण समारोह के लिए कोर्ट ने सरकार को अमरूदों का बाग में समारोह आयोजित करने का सुझाव दिया है। चूंकि जनपथ पर समारोह के लिए हाई कोर्ट ने सशर्त मंजूरी दे दी है, इसलिए कोर्ट ने अमरूदों का बाग में समारोह आयोजित करने का सुझाव रखा है। अब चूंकि जनपथ पर समारोह करने पर कोर्ट की शर्तों की पालना हो पाना संभव नहीं है, इसलिए अमरूदों का बाग में नई सरकार का शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया जा सकता है।

राजस्थान हाईकोर्ट ने जनपथ पर नई सरकार के शपथ ग्रहण समारोह के लिए सशर्त मंजूरी दे दी है। हाईकोर्ट ने मुख्य सचिव की ओर से पेश किये गये प्रार्थना पत्र पर आदेश देते हुए कहा कि सरकार के इस कार्यक्रम की वजह से यातायात व्यवस्था प्रभावित नही होनी चाहिए। जस्टिस एम एन भण्डारी और जस्टिस बी एल शर्मा ने आम जनता को होने वाली परेशानी को देखते हुए सरकार से अमरूदो के बाग में समारोह आयोजित करने का सुझाव दिया है।

गौरतलब है कि सरकार की ओर महाधिवक्ता एन एम लोढा ने सुबह 10.30 बजे हाईकोर्ट में ये प्रार्थना पत्र पेश किया। करीब एक घण्टे तक चली सुनवाई के बाद न्यायालय समय समाप्त हो जाने पर हाईकोर्ट ने जज चैम्बर में सुनवाई की। खण्डपीठ ने अपने आदेश में साफ कहा है कि कार्यक्रम शांत क्षेत्र के नियम-5 के प्रावधान के तहत होना चाहिए। इसमें सक्षम अधिकारी से माइक की अनुमति लेनी होगी। साथ ही समारोह के दौरान यातायात व्यवस्था में व्यवधान नहीं हो।

ऐसे में हाईकोर्ट ने सरकार को अमरुदों के बाग का सुझाव दिया। सरकार की ओर से महाधिवक्ता एम एन लोढा ने पैरवी की वही हाईकोर्ट बार के अध्यक्ष अनिल उपमन ने अधिवकताओं की ओर से अपना पक्ष रखा।

दरअसल, इससे पूर्व हाई कोर्ट जनपथ पर समारोह की मंजूरी देने के लिए राजी हो गया था, जिसमें कोर्ट ने सरकार के सामने तीन मुख्य शर्तें रखी थीं। इनमें पहली शर्त साइलेंट जोन के नियम 5 में प्रावधान पर ही कार्यक्रम होने की है। जबकि दूसरी शर्त यातायात व्यवस्था में किसी प्रकार का व्यवधान नहीं होना है और तीसरी शर्त मेंं सक्षम अधिकारी से माइक की अनुमति लेना है। ऐसे में इन शर्तों के साथ ही कोर्ट ने समारोह अमरूदों का बाग में करने का सुझाव भी रखा है।

हाई कोर्ट ने रखी ये शर्तें :
- साइलेंट जोन के नियम 5 में प्रावधान पर ही होगा कार्यक्रम।
- यातायात व्यवस्था में किसी प्रकार का नहीं हो व्यवधान।
- सक्षम अधिकारी से लेनी होगी माइक की अनुमति।
- जहां तक संभव हो जनपथ की बजाय अमरुदों के बाग में हो कार्यक्रम।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in