पाक के 'नापाक' मंसूबे, करतारपुर कोरिडोर पर बातचीत से पहले खालिस्तानी चावला से मिले इमरान

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/03/14 11:49

नई दिल्ली। करतारपुर कोरिडोर पर बाचतीत के लिए पाकिस्तानी डेलीगेशन भारत पहुंच चुका है। गुरुद्वारा करतारपुर साहिब के लिए डेरा बाबा नानक-करतारपुर में तैयार हो रहे कॉरिडोर को लेकर दोनों ही देशों के सेक्रेटरी स्तर के अधिकारियों की आज बैठक है। दोनों देश इस कोरिडोर को लेकर अब तक हुए कामों की समीक्षा करेंगे, लेकिन यहां भी पाकिस्तान अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आया। वजीर ए पाकिस्तान इमरान खान ने भारतीय उच्च अधिकारियों से मुलाकात से पहले खालिस्तानी समर्थक और खूंखार आतंकी हाफिज सईद के करीबी गोपाल चावला से अमृतसर में मुलाकात की।

दोनों देशों की बैठक शुरु हो चुकी है, भारतीय डेलिगेशन को विदेश मंत्रालय के ज्वाइंट सेक्रेट्री, पाकिस्तान-अफगानिस्तान-ईरान डेस्क दीपक मित्तल लीड कर रहे हैं। उनके साथ अनिल मलिक, ज्वाइंट सेक्रेट्री फॉरेनर्स, मिनिस्ट्री ऑफ होम अफेयर्स भी मौजूद हैं। इसके अलावा नेशनल हाईवे अथॉरिटी ऑफ इंडिया के अधिकारी, लैंडपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया के मेंबर अखिल सक्सेना के साथ अन्य अधिकारी मौजूद रहेंगे। पाकिस्तान के डेलिगेशन को मोहम्मद फैजल, डायरेक्टर जनरल, साउथ एशिया एंड SAARC लीड करेंगे। 

बतादें, करतारपुर कॉरिडोर को लेकर भारत और पाकिस्तान की आज अहम बैठक चल रही है। यह बैठक अटारी-वाघा सीमा पर भारत की तरफ होगी। भारतीय की ओर से केंद्रीय गृह मंत्रालय, विदेश मंत्रालय, बीएसएफ, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग विकास प्राधिकरण और पंजाब सरकार के नुमाइंदे होंगे। इस परियोजना पर दोनों देशों द्वारा सहमति जताने के तीन महीने बाद यह बैठक हो रही है। यह कॉरिडोर पाकिस्तानी शहर करतारपुर में स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब को भारतीय पंजाब के गुरदासपुर जिले से जोड़ेगा।

इस बातचीत से पहले भारत ने पाकिस्तान को यह भी स्पष्ट कर दिया है कि गुरुवार की बैठक दोनों देशों के रिश्तों को पटरी पर लाने के लिए नहीं की जा रही है। यह बैठक सिर्फ करतारपुर कॉरिडोर पर होगी। इस दौरान भारत और पाकिस्तान कॉरिडोर पर एक समझौते का मसौदा तैयार कर सकते हैं। भारत सितंबर तक डेरा बाबा नानक में 190 करोड़ की लागत से यात्री टर्मिनल का निर्माण करेगा, जो 15000 तीर्थयात्रियों के लिए होगा। 

जानकारी के मुताबिक इस बैठक को कवर करने के लिए आना चाह रहे पाकिस्तानी पत्रकारों को वीजा देने से इनकार करने पर भारत सरकार के सूत्रों ने कहा कि यह कोई सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं है जिसे प्रचार की जरूरत हो। हालांकि, पाकिस्तान ने इस पर खेद जताया है। ट्विटर पर पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता डॉ. मोहम्मद फैसल ने कहा कि अफसोस है कि भारत ने करतारपुर बैठक के लिए पाकिस्तानी पत्रकारों को वीजा नहीं दिया है।

गौरतलब है कि पिछले साल नवंबर में भारत और पाकिस्तान करतारपुर में गुरुद्वारा दरबार साहिब को भारत के गुरदासपुर जिले में स्थित डेरा बाबा नानक गुरुद्वारा से जोड़ने के लिए गलियारा बनाने को सहमत हुए थे। करतारपुर में सिख पंथ के संस्थापक गुरु नानक देव ने अपना अंतिम समय बिताया था। करतारपुर साहिब पाकिस्तान के नरोवाल जिले में रावी नदी के पार स्थिति है जो डेरा बाबा नानक गुरुद्वारे से करीब चार किलोमीटर दूर है. सूत्रों ने बताया कि सरकार ने करतारपुर गलियारे के लिए 50 एकड़ जमीन की पहचान की है. इसका दो चरणों में विकास किया जाएगा।
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

GST कौंसिल की बैठक

चाणक्य के साथ BJP कोर कमेटी ने किया मंथन
Goa Gets a New CM in the Wee Hours; BJP’s Pramod Sawant Takes Oath
Big Fight Live : मिलेगा टिकट या गिरेगा विकेट?
उमा भारती का कांग्रेस पर जुबानी प्रहार
जानिये सैलरी में शानदार इन्क्रीमेंट दिलवाने वाला एक चमत्कारी टोटका
तो फिर किसका करेंगे सलमान खान प्रचार ?
प्रियंका की बोट यात्रा के सियासी मायने