आचार संहिता के चलते सुरक्षा के 'जुगाड़' में जनप्रतिनिधि !

Vishnu Sharma Published Date 2018/11/12 11:05

जयपुर। प्रदेश में चुनावी आचार संहिता के कारण जनप्रतिनिधियों के सुरक्षाकर्मियों को हटा लिया गया, लेकिन पुलिस ने अपनी मर्जी से कई नेताओं को सुरक्षाकर्मी उपलब्ध करा दिए। पुलिस ने उन्हें खतरे की रिपोर्ट के आधार पर सुरक्षा उपलब्ध कराने की बात कह रही है। हालांकि यह बात दूसरी है कि प्रदेश में कई विधायक व सासंद खतरे के आधार पर सुरक्षाकर्मी मांग रहे हैं, लेकिन उन्हें नहीं दी गई। पेश है एक रिपोर्ट पुलिस ने किस किस को सुरक्षा उपलब्ध कराई। 

प्रदेश में चुनावी दंगल के बीच नेता अपनी सुरक्षा को लेकर भी चिंतित हैं। आचार संहिता के कारण मंत्रियों, विधायकों और सांसदों के सुरक्षाकर्मी हटा लिए गए। हालांकि कुछ नेताओं ने जोड़ तोड़ कर अपने सुरक्षाकर्मी वापस ले लिए। पुलिस ने इन राजनेताओं को सुरक्षाकर्मी उपलब्ध करा दिए। पुलिस तो शायद इसकी सूचना भी नहीं देती, लेकिन पिछले दिनों गृह विभाग के आदेश के कारण उन्हें इसकी जानकारी सरकार को देनी पड़ी।

दरअसल पिछले दिनों गृह विभाग ने आदेश जारी किया था कि पुलिस अधीक्षक किसी व्यक्ति को सुरक्षा उपलब्ध करा सकते हैं, लेकिन सात दिन में इसकी जानकारी गृह विभाग को देकर अनुमोदन करवाएंगे। ऐसा नहीं करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई की जा सकेगी। इसके बाद सीआईडी एसपी राजेश मीणा ने अलग—अलग पत्र जारी कर करीब डेढ़ दर्जन से अधिक मंत्रियों, विधायक व सांसद को सुरक्षाकर्मी उपलब्ध कराने की जानकारी दी। 

पुलिस ने किस किस को सुरक्षा उपलब्ध कराई

—चिकित्सा मंत्री कालीचरण सराफ
—उद्योग मंत्री राजपाल सिंह शेखावत
—विधायक अंजु खनगवाल
—घनश्याम तिवाड़ी
—कैलाश वर्मा
—विधायक मोहनलाल गुप्ता
—नवीन पिलानियां को एक-एक पीएसओ 

—राजनीतिक पदाधिकारियों के खतरों को लेकर सुरक्षा 
—मनोज राजोरिया, नंदलाल मीणा को एक-एक पीएसओ,
—विस उपाध्यक्ष राव राजेंद्र सिंह, मंत्री राजेंद्र राठौड़ को दो दो पीएसओ देने के लिए जयपुर कमिश्नरेट को पत्र
—संबंधित एसपी से प्राप्त आंकलन रिपोर्ट पर दी सुरक्षा
 
—मंत्री किरण माहेश्वरी,अजयसिंह किलक, युनूस खान को दो—दो पीएसओ
—मंत्री प्रभुलाल सैनी, राजकुमार रिणवां, विधायक सुरेश रावत, अनिता भदेल को एक-एक पीएसओ 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in