Live News »

केरल के दौरे पर पीएम मोदी , गुरुवायूर मंदिर में भगवान कृष्ण के ध्यान में होंगे लीन

केरल के दौरे पर पीएम मोदी , गुरुवायूर मंदिर में भगवान कृष्ण के ध्यान में होंगे लीन

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को केरल  के थ्रिसूर जिले के प्रसिद्ध गुरुवायूर मंदिर का दर्शन करेंगे. मोदी यहां गुरुवायूर मंदिर में आज विशेष पूजा अर्चना करेंगे, इसके बाद बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करेंगे. केरल दौरे के लिए पीएम मोदी शुक्रवार रात ही कोच्चि पहुंचे. वह एर्नाकुलम गेस्ट हाउस में रुके हैं. मंदिर में दर्शन और जनसभा को संबोधित करने के बाद मोदी कोचि अंतरराष्ट्रीय हावई अड्डे से दिल्ली के लिए दोपहर 2 बजे रवाना हो जाएंगे. इसके बाद पीएम मोदी आज ही मालदीव और श्रीलंका यात्रा के लिए रवाना हो जाएंगे.

बतादें, बीजेपी की प्रदेश इकाई ने ट्वीट कर जानकारी दी  कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आठ जून को गुरुवायुर श्रीकृष्ण मंदिर में पूजा करेंगे. गुरुवायूर श्रीकृष्ण एचएस मैदान में सुबह आम सभा होगी. सभी का स्वागत है. पीएम मोदी ऐसे समय केरल के दौरे पर है जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड के तीन दिवसीय दौरे पर हैं.

थुलाभारम रस्म अदा करेंगे मोदी
गौरतलब है कि गुरुवायूर मंदिर 5000 साल पुराना है और 1638 में इसके कुछ भाग का पुनर्निमाण किया गया था. इस मंदिर में केवल हिंदू ही पूजा कर सकते हैं. दूसरे धर्मों के लोगों के अंदर प्रवेश पर रोक है. मालूम हो, नरेंद्र मोदी ने 2008 में गुजरात के मुख्यमंत्री के पद पर रहते हुए इस मंदिर में पूजा-अर्चना की थी. तब भी उन्होंने थुलाभारम रस्म अदा की थी. गुरुवयूर देवासम बोर्ड के अध्यक्ष केबी मोहनदास ने बताया कि पीएम मोदी ने थुलाभारम रस्‍म अदा करने की इच्छा जताई थी. इसके तहत वे कमल का फूल चढ़ाएंगे. इसके लिए मंदिर प्रशासन ने 112 किलो कमल के फूल का इंतजाम कर रहा है.

और पढ़ें

Most Related Stories

सीएम केजरीवाल का बड़ा फैसला, दिल्ली के निजी-सरकारी अस्पतालों में होगा सिर्फ दिल्लीवासियों का ट्रीटमेंट

 सीएम केजरीवाल का बड़ा फैसला, दिल्ली के निजी-सरकारी अस्पतालों में होगा सिर्फ दिल्लीवासियों का ट्रीटमेंट

नई दिल्ली: अब दिल्ली में दिल्ली सरकार और प्राइवेट अस्पतालों में केवल दिल्ली के लोगों का इलाज किया जाएगा. जबकि दिल्ली में स्थित केंद्र सरकार के अस्पतालों में सभी का इलाज होगा. कोरोना संकट के बीच दिल्ली कैबिनेट ने यह फैसला लिया है. दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने रविवार को इसका ऐलान किया. सीएम गहलोत ने कहा कि जून के अंत तक 15 हजार कोरोना के मरीजों के लिए बेड की जरूरत होगी. एक्सपर्ट कमेटी की रिपोर्ट के आधार पर सरकार ने यह फैसला लिया है कि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में सिर्फ दिल्ली के निवासियों का इलाज किया जाएगा.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 3 मौत, 48 नए पॉजिटिव केस, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 10 हजार 385

सिर्फ दिल्लीवासियों का इलाज हो:
प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम  केजरीवाल ने कहा कि मार्च के माह तक दिल्ली के सारे अस्पताल पूरे देश के लोगों के लिए खुले रहे. किसी भी समय दिल्ली के अस्पतालों में 60 से 70 प्रतिशत लोग दिल्ली से बाहर के थे. लेकिन कोरोना के मामले तेज़ी से बढ़ रहे हैं. ऐसे में अगर दिल्ली के अस्पताल बाहर वालों के लिए खोल दिए तो दिल्ली वालों का क्या होगा? सीएम गहलोत ने कहा कि इस संबंध में लोगों की राय मांगी गई थी. इसमें दिल्ली के 90 फ़ीसदी लोगों ने कहा कि जब तक कोरोना है, तब तक दिल्ली के अस्पतालों में सिर्फ दिल्लीवासियों का इलाज हो. 

-दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस
-कल से दिल्ली में धार्मिक स्थल, मॉल, रेस्टोरेंट खुलेंगे
-कल से दिल्ली के बॉर्डर खुलेंगे
-होटल, बैक्वेंट हॉल अभी नहीं खोले जाएंगे
-होटलों को अस्पताल में बदलना पड़ सकता है'
-लॉकडाउन खत्म हुआ है, कोरोना नहीं
-सभी लोग मास्क जरूर पहनें
-दिल्ली के सरकारी, निजी अस्पतालों में होगा दिल्लीवालों का इलाज
-केन्द्र के अस्पतालों में सभी का इलाज होगा
-कोरोना के वक्त सभी का इलाज संभव नहीं
-दिल्ली में बढ़ते कोरोना संकट के चलते लिया फैसला

कल से खोल जाएंगे दिल्ली के बॉर्डर:
इसी के साथ दिल्ली से बाहर के सभी लोगों के लिए बॉर्डर खोल दिए जाएंगे. मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि सोमवार से दिल्ली में रेस्टोरेंट, मॉल्स और धार्मिक स्थल खोले जाएंगे, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना सबको जरूरी है. 

भारत-चीन वार्ता पर विदेश मंत्रालय का बयान, कहा- चीन से सैन्य वार्ता शांतिपूर्ण माहौल में हुई

भारत-चीन वार्ता पर विदेश मंत्रालय का बयान, कहा- चीन से सैन्य वार्ता शांतिपूर्ण माहौल में हुई

भारत-चीन वार्ता पर विदेश मंत्रालय का बयान, कहा- चीन से सैन्य वार्ता शांतिपूर्ण माहौल में हुई

नई दिल्ली: चीन और भारतीय सेना के बीच सीमा पर लगातार तनाव की खबरें सामने आ रही थी. इस बीच शनिवार को भारत और चीन (India and China) की वार्ता हुई. ऐसें में इस तनाव को समाप्त करने की कोशिशों के बीच विदेश मंत्रालय ने शनिवार को दोनों देशों के सैन्य नेताओं के बीच हुई बैठक को सकारात्मक बताया है. उन्होंने कहा है कि दोनों देश इस समस्या का समाधान शांतिपूर्ण ढंग से निकालने के लिए सहमत हो गए हैं और दोनों देशों के बीच सैन्य और राजनीतिक स्तर पर बात चीत जारी रहेगी.   

देश में नहीं होगा 11 जुलाई को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन, कोरोना के चलते जस्टिस एनवी रमन्ना ने लिया फैसला

शांतिपूर्ण ढंग से निकालेंगे हल:
आपको बता दें कि भारत और चीन (India and China) के सैन्य नेताओं के बीच शनिवार को हुई बैठक के बाद भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा है कि दोनों देशों के रिश्तों की 70 वीं सालगिरह पर दोनों देश इस बात पर सहमत हो गए हैं कि सीमा विवाद का हल द्विपक्षीय वार्ता से निकाला जाएगा क्योंकि यह दोनों देशों के विकास के लिए आवश्यक है. वहीं आगे कहा गया है कि दोनों देश इस बात का हल शांतिपूर्ण ढंग से निकालेंगे. क्योंकि ये दोनों देशों के द्विपक्षीय विकास के लिए भी जरुरी है।  

नियंत्रण रेखा के पास एक सैन्य बैठक:
गौरतलब है कि शनिवार को दोनों देशों के सैन्य नेताओं के बीच वास्तविक नियंत्रण रेखा के पास एक सैन्य बैठक हुई थी. जिसमें भारत और चीन (India and China) दोनों देशों ने लद्दाख और गलवान वैली जैसे क्षेत्रों में सीमा विवाद को हल करने की कोशिश की थी. 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 3 मौत, 48 नए पॉजिटिव केस, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 10 हजार 385

COVID-19: देश में तेजी से बढ़ रहा कोरोना संक्रमितों का ग्राफ, पिछले 24 घंटे में 9,971 नए मामले, 287 की मौत

COVID-19: देश में तेजी से बढ़ रहा कोरोना संक्रमितों का ग्राफ, पिछले 24 घंटे में 9,971 नए मामले, 287 की मौत

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस के नए मामलों की संख्या बढ़ती जा रही है. कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या बढ़ने के साथ-साथ मरने वालों का ग्राफ भी तेजी से बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के सर्वाधिक 10 हजार के करीब नए मामले सामने आये है और इस दौरान 287 लोगों की मौत भी हुई है. 

देश में मामले बढ़कर हुए 2,46,628:
देश में कोरोना वायरस के कुल मामले 2 लाख 46 हजार 628 हो गए है. वहीं कोरोना की चपेट में आने से अब तक 6 हजार 929 लोगों की मौत हो चुकी है. देश में कोरोना के 1 लाख 20 हजार 406 एक्टिव केस है. कोरोना के अब तक 1 लाख 19 हजार 293 मरीज इलाज के बाद ठीक हुए है. कोरोना के 24 घंटे में 9,971 नए मामले सामने आये. 287 लोगों की मौत हो गई. पिछले 24 घंटे में 5,220 संक्रमित इलाज के बाद ठीक हुए है.

गुजरात राज्यसभा चुनाव को लेकर बड़ा अपडेट, कांग्रेस विधायकों को फिर एक बार राजस्थान में किया गया शिफ्ट 

दिल्ली में 27 हजार के करीब मामले:
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक महाराष्ट्र, तमिलनाडु और दिल्ली देश में सबसे प्रभावित राज्यों में बने हए हैं. राजधानी दिल्ली में भी स्थिति खराब होती जा रही है. 1,320 नए मामलों के साथ सक्रमितों का आंकड़ा 27,654 हो गया है. दिल्ली में 16 हजार से ज्यादा एक्टिव केस है, जबकि 10 हजार से अधिक मरीज ठीक हो चुके हैं.

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा पॉजिटिव:
अगर बात करें देश के महाराष्ट्र राज्य की, तो यहां पर कोरोना के सबसे ज्यादा मामले है. महाराष्ट्र में कुल 82 हजार 968 कोरोना के केस है. जबकि तमिलनाडु में 30 हजार 152 मामले सामने आ चुके है. वहीं दिल्ली में 27,654, गुजरात 19,592 और राजस्थान में  10 हजार 331 कोरोना के मामले मिल चुके है. 

देश में नहीं होगा 11 जुलाई को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन, कोरोना के चलते जस्टिस एनवी रमन्ना ने लिया फैसला

देश में नहीं होगा 11 जुलाई को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन, कोरोना के चलते जस्टिस एनवी रमन्ना ने लिया फैसला

देश में नहीं होगा 11 जुलाई को राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन, कोरोना के चलते जस्टिस एनवी रमन्ना ने लिया फैसला

जयपुर: देश में कारोना वायरस के वर्तमान हालात को देखते हुए 11 जुलाई को देशभर की अदालतों में आयोजित होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत को रद्द कर दिया गया है.नालसा के एक्जीक्यूटीव चेयरमैन जस्टिस एन वी रमन्ना के निर्देश पर ये फैसला लिया गया है. वर्ष 2020 में अब तक सिर्फ एक राष्ट्रीय लोक अदालत का ही आयोजन हो पाया है.

देशभर में अनलॉक-1 में बाजारों में लौटने लगी रौनक, दुकानें खुलने के साथ बाजारों में लौटने लगे ग्राहक

राष्ट्रीय लोक अदालतों का आयोजन:
इस वर्ष अप्रैल में आयोजित होने वाली राष्ट्रीय लोक अदालत को भी लॉकडाउन के चलते रद्द कर दिया गया था. ऐसे में अब वर्ष 2020 के वार्षिक कैलेण्डर के अनुसार 12 सितंबर और 12 दिसंबर को राष्ट्रीय लोक अदालतों का आयोजन किया जाएगा.वहीं राज्य विधिक सेवा प्राधिकरणों को छोटे स्तर पर लोक अदालतों के कार्य जारी रखने की छूट दी गई है. 

साल 2019 में  52.93 लाख केस हुए थे निस्तारित:
राष्ट्रीय लोक अदालतों के आयोजन में वर्ष 2019 काफी सफल माना गया. वर्ष 2019 में कुल चार राष्ट्रीय लोक अदालतों का आयोजन किया गया था जिसमें देशभर की अदालतों में 52.93 लाख प्रकरणों का निस्तारण किया गया.इन प्रकरणों में 26,16,790 पेडिंग प्रकरण और 26,76,483 प्री लिटिगेशन के प्रकरण शामिल है.8 फरवरी 2020 को आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में 11.25 लाख प्रकरणों का निस्तारण किया गया था.इनमें करीब 4.81 लाख पेडिंग प्रकरणों का निस्तारण हुआ था.

गुजरात राज्यसभा चुनाव को लेकर बड़ा अपडेट, कांग्रेस विधायकों को फिर एक बार राजस्थान में किया गया शिफ्ट 

गुजरात राज्यसभा चुनाव को लेकर बड़ा अपडेट, कांग्रेस विधायकों को फिर एक बार राजस्थान में किया गया शिफ्ट 

नई दिल्ली: गुजरात में राजनीतिक घमासान अभी भी जारी है. इस बीच खबर मिल रही है कि गुजरात कांग्रेस विधायकों को फिर एक बार राजस्थान में शिफ्ट किया गया है. आबू रोड के पास जांबुड़ी स्थित रिसॉर्ट में कांग्रेस के 18 विधायक पहुंचे. करीब आधा दर्जन और कांग्रेसी विधायक दोपहर तक पहुंच सकते है.

वाइल्ड विंड्स रिसॉर्ट में ठहरे हैं विधायक:
गुजरात बॉर्डर के करीब जांबुड़ी स्थित वाइल्ड विंड्स रिसॉर्ट में विधायकों को रोका गया है. कुछ विधायकों को रविवार रात या कल तक जयपुर लाने की अटकलें लगाई जा रही है. 17 जून तक इन विधायकों को यही रोकने की चर्चा है. गुजरात पूर्व पीसीसी चीफ सिद्धार्थ पटेल भी जांबुड़ी पहुंचे. सिद्धार्थ पटेल की मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से बातचीत हुई. पूर्व उप मुख्य सचेतक रतन देवासी भी रिसॉर्ट पहुंचे.  

हाउसिंग बोर्ड को मिली बड़ी जिम्मेदारी, विधायकों के नए आवासों के प्रोजेक्ट की कमान

विधायकों के इस्तीफे देने के बाद पार्टी सकते में:
गौरतलब है कि एक के बाद एक कांग्रेस के विधायकों द्वारा विधायकी और पार्टी की सदस्यता से इस्तीफा दिए जाने के बाद कांग्रेस गुजरात कांग्रेस पार्टी सकते में हैं. राज्यसभा के चुनाव नजदीक है और कांग्रेस ने राज्यसभा उम्मीदवारी के लिए अपने दो उम्मीदवार मैदान में उतरने का फैसला लिया है. लेकिन कांग्रेस से जिस तरह लगातार विधायक अपने पद से इस्तीफा दे रहे हैं, जिससे गुजरात कांग्रेस की मुसिबतें बढने लग गई है. 

देशभर में अनलॉक-1 में बाजारों में लौटने लगी रौनक, दुकानें खुलने के साथ बाजारों में लौटने लगे ग्राहक

देशभर में अनलॉक-1 में बाजारों में लौटने लगी रौनक, दुकानें खुलने के साथ बाजारों में लौटने लगे ग्राहक

देशभर में अनलॉक-1 में बाजारों में लौटने लगी रौनक, दुकानें खुलने के साथ बाजारों में लौटने लगे ग्राहक

नई दिल्ली: देशभर में अनलॉक-1 के तहत बाजारों में रौनक लौटने लग गई है. दुकानें खुलने के साथ बाजारों में ग्राहक लौटने लग गए है. इससे पहले 77 दिनों से कोरोना की वजह से बाजारों में सन्नाटा पसरा हुआ था. कोरोना संकट के बीच देशव्यापी लॉकडाउन में इमरजेंसी सेवाओं को छोडकर सभी चीजें बंद थे. ऐसे में लोगों को घरों से निकले की पाबंदी थी. अब अनलॉक-1 के तहत केन्द्र सरकार और राज्य सरकार ने देशवासियों को राहत दी है. बाजारों को खोलने से पहले केन्द्र और राज्य सरकार की गाइडलाइन जारी हुई, जिसके बाद बाजारों को खोलने की अनुमति दी है.. सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क समेत कई नियमों को पालन करना होगा.

बाजार खुलते ही बाजारों में रौनक लौटने लगी:
अनलॉक 1 के तहत बाजार खुलते ही बाजारों में रौनक लौटने लगी है. रोजाना के इस्तेमाल होने वाले उत्पाद बिकने शुरू हो गए है. जिससे बाजार गुलजार होने लग गए है. अब सडकों पर वाहनों की चहल पहल होने लग गई है. देशभर में गाड़ियों के 90 फीसदी शोरूम खुल गए है. कपड़ों की जो दुकानें खुल रही वहां 40 फीसदी ग्राहक आना शुरू हो गए है.

अब योग से दूर होगा तनाव, अजमेर पुलिसकर्मियों ने किया योग

राजस्थान,केरल,कर्नाटक में दुकानों पर बढ़ रहे ग्राहक:
मीडिया रिपोर्टस की माने तो राजस्थान,केरल,कर्नाटक में दुकानों पर ग्राहक बढ़ रहे. देश का सबसे बड़ा सोने का बाजार मुंबई के झवेरी मार्केट में 10-15 प्रतिशत कारोबार हुआ. वहीं देशभर में जून में एक लाख कार बिकने की उम्मीद जताई जा रही है.

बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई शुरू: 
कोरोना संकट के बीच बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई शुरू हो गई है. ऐसे में अब अभिभावक 15 हजार से कम कीमत के मोबाइल फोन खरीद रहे है, जिससे बच्चों की ऑनलाइन पढ़ाई हो सके. जिसकी वजह से मोबाइल बाजार में बिक्री बढने लग गई है. हालांकि स्टोर पर इस सेगमेंट के फोन की आपूर्ति पूरी नहीं हो पा रही है. वहीं वर्क फ्रॉम होम के कारण लैपटॉप की बिक्री 60 प्रतिशत तक हो रही है.

हाउसिंग बोर्ड को मिली बड़ी जिम्मेदारी, विधायकों के नए आवासों के प्रोजेक्ट की कमान

हथिनी के बाद अब गर्भवती गाय को खिलाया विस्फोटक, धमाके के बाद जख्मी हो गई गाय

हथिनी के बाद अब गर्भवती गाय को खिलाया विस्फोटक, धमाके के बाद जख्मी हो गई गाय

बिलासपुर: केरल में गर्भवती हथिनी को विस्फोटक खिलाने के बाद अब हिमाचल प्रदेश में ऐसा ही एक इंसानियत को शर्मशार करने वाला मामला सामने आया है. हिमाचल प्रदेश के जिला बिलासपुर के झंडुत्ता इलाके में गर्भवती गाय को किसी ने विस्फोटक का गोला खिला दिया. इससे गाय बुरी तरह से जख्मी हो गई. 

अनलॉक 1 के दौरान अब हवाई यात्रा में बढ़ने लगी भीड़, ट्रेनों में अभी भी बड़ी संख्या में सीटें चल रही खाली 

पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया: 
इस घटना का वीडियो गाय के मालिक ने सोशल मीडिया पर शेयर किया है, जो काफी तेजी से वायरल हो रहा है. जानकारी मिलने पर पुलिस ने इस संबंध में मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस पूरे मामले की गहनता से जांच करने में जुट गई है. लोगों में इस घटना को लेकर काफी गुस्सा है. वहीं मालिक ने पड़ोस में रहने वाले युवक पर गाय को विस्फोटक खिलाने का आरोप लगाया है. 

राजस्थान हाई कोर्ट में कॉलेजियम हो लेकर जारी रहा बैठकों का दौर, ग्रीष्मावकाश से पूर्व राजस्थान हाईकोर्ट में हो सकता है कॉलेजियम 

गर्भवती हथिनी को अनानास में खिलाए थे पटाखे:
इससे पहले केरल के मलप्पुरम में गर्भवती हथिनी को कुछ शरारती तत्वों ने अनानास में पटाखे भरकर खिला दिया था, जिससे उसका मुंह और जबड़ा बुरी तरह से जख्मी हो गया था. हथिनी दो-तीन दिन तक बिना कुछ खाएं पिए पानी नें खड़ी रही थी. बाद में उसकी और गर्भ में पल रहे बच्चे की मौत हो गई. इस घटना के बाद लोगों ने नाराजगी जताई थी. गर्भवती हथिनी की हत्या के मामले में एक शख्स को गिरफ्तार किया गया है. 

अमरनाथ यात्रियों के लिए खुशखबरी! 21 जुलाई से शुरू हो सकती है यात्रा, 55 साल से कम उम्र वालों को ही मिलेगी अनुमति

अमरनाथ यात्रियों के लिए खुशखबरी! 21 जुलाई से शुरू हो सकती है यात्रा, 55 साल से कम उम्र वालों को ही मिलेगी अनुमति

जम्मू कश्मीर: बाबा बर्फानी के भक्तों के लिए खुशखबरी है. जी हां बाबा अमरनाथ यात्रा शुरू होने वाली है. जानकारी के मुताबिक जम्मू-कश्मीर में इस वर्ष की अमरनाथ यात्रा 21 जुलाई से शुरू होकर 3 अगस्त को तक चलेगी. ये 15 दिनों की अवधि की होगी. यह जानकारी श्री अमरनाथजी श्राइन बोर्ड के अधिकारियों ने दी. यात्रा के लिए प्रथम पूजा शुक्रवार को आयोजित की गई थी. कोरोनावायरस महामारी की वजह से इस बार यात्रा की अवधि में कटौती की गई है.

राजस्थान हाई कोर्ट में कॉलेजियम हो लेकर जारी रहा बैठकों का दौर, ग्रीष्मावकाश से पूर्व राजस्थान हाईकोर्ट में हो सकता है कॉलेजियम

इन नियमों का करना होगा पालन:
साधुओं को छोड़कर अन्य तीर्थयात्रियों में 55 साल से कम उम्र के श्रद्धालुओं को ही अनुमति होगी. साधुओं को छोड़कर सभी तीर्थयात्रियों को यात्रा के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा. यात्रा करने वाले सभी लोगों के पास कोरोना वायरस का निगेटिव प्रमाणपत्र होना जरूरी है. श्रद्धालुओं को जम्मू-कश्मीर में यात्रा शुरू करने की अनुमति देने से पहले उनको वायरस के लिए क्रॉस-चेक होगा. स्थानीय मजदूरों की कमी और बेस कैंप से गुफा मंदिर तक ट्रैक में कठिनाइयों के चलते हेलिकॉप्‍टर का इस्तेमाल होगा. 

उत्तरी कश्मीर बालटाल मार्ग से होकर निकलेगी यात्रा:
तीर्थ यात्रा में गांदरबल जिले में बालटाल बेस कैंप से गुफा तक पहुंचने के लिए हेलीकॉप्टर का यूज होगा. अमरनाथ यात्रा केवल उत्तरी कश्मीर बालटाल मार्ग से होकर निकलेगी. इस वर्ष किसी भी तीर्थयात्री को पहलगाम मार्ग से यात्रा करने की अनुमति नहीं होगी. अधिकारियों ने यह भी तय किया गया है कि 15 दिनों के दौरान सुबह और शाम गुफा मंदिर में की जाने वाली ‘आरती’ का देशभर के भक्तों के लिए सीधा प्रसारण होगा. 

जयपुर महानगर में दो जिला न्यायालय को मुख्यमंत्री की मंजूरी, राज्य सरकार ने जारी की अधिसूचना

Open Covid-19