कोलकाता पोर्ट अब श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जाना जाएगा- पीएम मोदी

FirstIndia Correspondent Published Date 2020/01/12 12:46

कोलकाता: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट की 150वीं वर्षगांठ के कार्यक्रम में पहुंचे पीएम मोदी ने ऐलान किया कि कोलकाता पोर्ट ट्रस्ट अब से श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जाना जाएगा. उन्होंने कहा कि कोलकाता का यह पोर्ट भारत की औद्योगिक और आत्मनिर्भरता की आकांक्षा का जीता जागता प्रतीक है. पीएम ने कहा कि बंगाल के सपूत, डॉक्टर मुखर्जी ने देश में औद्योगीकरण की नींव रखी थी.चितरंजन लोकोमोटिव फैक्ट्री, हिन्दुस्तान एयरक्राफ्ट फैक्ट्री, सिंदरी फर्टिलाइज़र कारखाना और दामोदर वैली कॉर्पोरेशन, ऐसे अनेक बड़ी परियोजनाओं के विकास में डॉक्टर मुखर्जी का बहुत योगदान रहा है.

दुनिया पर छाप छोड़ने वाले ज्ञानवाहकों के चरण यहां पड़े:
पीएम मोदी ने कहा कि मां गंगा के सानिध्य में, गंगासागर के निकट, देश की जलशक्ति के इस ऐतिहासिक प्रतीक पर, इस समारोह का हिस्सा बनना सौभाग्य की बात है. PM ने कहा कि कोलकाता पोर्ट के विस्तार और आधुनिकीकरण के लिए आज सैकड़ों करोड़ रुपए के इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स का लोकार्पण और शिलान्यास भी किया गया है. आदिवासी बेटियों की शिक्षा और कौशल विकास के लिए हॉस्टल और स्किल डेवलपमेंट सेंटर का शिलान्यास हुआ है. पीएम मोदी ने कहा कि ये पोर्ट सिर्फ मालवाहकों का ही स्थान नहीं रहा, बल्कि देश और दुनिया पर छाप छोड़ने वाले ज्ञानवाहकों के चरण भी यहां पड़े हैं.

राज्य सरकार पर भी निशाना साधा:
पीएम मोदी ने इस मौके पर राज्य सरकार पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा, 'ममता सरकार ने आयुष्मान भारत योजना को लटकाया. आयुष्मान योजना से 75 लाख लोगों को फायदा पहुंचा है. अगर ममता सरकार अनुमति दे तो पश्चिम बंगाल में भी आयुष्मान योजना लागू हो जाएगी.' 

आंबेडकर के सुझावों पर सरकार ने अमल नहीं किया: 
मोदीप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि आज के इस अवसर पर, मैं बाबा साहेब आंबेडकर को भी याद करता हूं, उन्हें नमन करता हूं. डॉक्टर मुखर्जी और बाबा साहेब, दोनों ने स्वतंत्रता के बाद के भारत के लिए नई नीतियां दी थीं, नया विजन दिया था. लेकिन ये देश का दुर्भाग्य रहा कि डॉक्टर मुखर्जी और बाबा साहेब के सरकार से हटने के बाद, उनके सुझावों पर वैसा अमल नहीं किया गया, जैसा किया जाना चाहिए था.

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in