बाड़मेर में पीएम मोदी ने किया पचपदरा रिफाइनरी का कार्यशुभारंभ, कांग्रेस पर साधा निशाना

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/01/16 02:24

बाड़मेर। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज राजस्थान में बाड़मेर के पचपदरा में रिफाइनरी के कार्यों का शुभारंभ कर प्रदेश को रिफाइनरी की सौगात दी है। 43 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा की लागत से तैयार होने वाली यह रिफाइनरी देश की पहली ईको-फ्रेंडली रिफाइनरी होगी, जो BS-6 मानक की पहली रिफाइनरी होगी। अभी तक देश में BS-3 और BS-4 स्तर की ही रिफाइनरी है। रिफाइनरी का निर्माण कार्य 2022 तक पूरा हो जाएगा। रिफाइनरी की क्षमता 90 लाख टन की होगी। इससे प्रदेश में 14 जिलों को सीधे लाभ पहुंचेगा। इससे प्रदेश को 34 लाख करोड़ की अतिरिक्त लाभ होगी।

पीएम मोदी ने रिफाइनरी कार्यों का शुभारंभ करने के अवसर पर यहां आयोजित कार्यक्रम में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि यह संकल्प से सिद्धि का समय है। हमें अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए काम पर फोकस करना चाहिए। मैं सुनता रहता था कि राजस्थान में कांग्रेस और अकाल जुड़वा भाई हैं। जहां कांग्रेस जाती है, अकाल साथ-साथ जाता है। इस दौरान पीएम ने राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे की तारीफ भी की।

इस मौके पर पीएम मोदी ने कांग्रेस पर जमकर निशाने साधे और कई योजनाओं के बारे में बात की। इस दौरान पीएम ने प्रधानमंत्री जन धन योजना, उज्जवला योजना समेत कई योजनाओं के बारे में अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र किया। इस दौरान पीएम ने वन रैंक वन पैंशन योजना का जिक्र करते हुए कहा कि, 'रिफाइनरी की योजना तो फिर भी कागजों में तो थी, लेकिन वन रैंक वन पैंशन योजना तो कागजों में भी कहीं नहीं थी। ये तो सिर्फ चुनावी जमले ही थे, जिस पर हमारी सरकार ने लोगों के हितों को ध्यान में रखकर अमल में लाने का काम किया।'

अपने संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि ये समय संकल्प से सिद्धि का समय है। उन्होंने कहा कि 2022 से पहले तक रिफाइनरी का उद्घाटन होगा। रिफाइनरी के लिए धन्यवाद ज्ञापित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि वसुंधरा राजे और धर्मेंद्र प्रधान ने रिफाइनरी शुरू करने का कार्यक्रम बनाया। इसके बाद जब कोई सरकार पत्थर जड़ेगी, तो लोग पूछेंगे कि काम शुरू करने की तारीख बताओ। उन्होंने कहा कि पत्थर जड़ने से लोगों को गुमराह नहीं किया जा सकता है, जब काम शुरू होता है, तभी विश्वास होता है।

इस रिफाइनरी के साथ पेट्रोकेमिकल कॉम्पलेक्स भी बनाया जा रहा है। रिफाइनरी एचपीसीएल और राजस्थान सरकार के संयुक्त उपक्रम के तहत बनाई जा रही है। इसमें एचपीसीएल की हिस्सेदारी 74 प्रतिशत और राजस्थान सरकार का शेयर 26 प्रतिशत रहेगा। रिफाइनरी से प्रतिदिन 5 लाख बैरल तेल निकाला जाएगा। इसकी क्षमता 9 एमएमटीपीए है।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने मंगलवार को मीडिया को बताया कि रिफाइनरी के निर्माण अवधि के दौरान अप्रत्यक्ष रूप से 40 हजार लोगों को नौकरियां मिलेगी। उन्होंने बताया कि नई रिफाइनरी अघतन बीएस-6 ईंधन का निर्माण करेगी। इधर, प्रधानमंत्री की बाड़मेर यात्रा को देखते हुए पाक से सटे पश्चिमी को सील कर दिया गया है। बीएसएफ के डीआईजी की कमान में बॉर्डर सील किया गया है। प्रधानमंत्री की यात्रा के चलते गुजरात से राजस्थान तक के पाकिस्तान से सटे बॉर्डर पर जवानों की नफरी और चौकसी बढ़ाई गई है।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

राफेल पर मचे संग्राम के बीच रायबरेली में कांग्रेस पर गरजे मोदी

सोनिया के \'गढ़\' में पीएम मोदी
1:00 बजे की सुपर फास्ट खबरें | News 360
11:00 बजे की सुपर फास्ट खबरें
क्या कहता है आपका मूलांक, गुडलक टिप्स के महाएपिसोड में जानिए अपनी समस्याओं के समाधान
5 राज्यों में हार के बाद आज PM की पहली रैली
4 मिनट में 24 खबरे | 15 Dec
राहुल गांधी की तीसरी \'परीक्षा\'
loading...
">
loading...