प्रधानमंत्री मोदी ने गरीब कल्याण योजना को किया लॉन्च, मजदूरों को मिलेगा 125 दिनों का रोजगार

प्रधानमंत्री मोदी ने गरीब कल्याण योजना को किया लॉन्च, मजदूरों को मिलेगा 125 दिनों का रोजगार

नई दिल्ली: वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज ‘गरीब कल्याण रोजगार अभियान’ की शुरुआत की. ये योजना 6 राज्यों के 116 जिलों में चलेगी. प्रवासी कामगारों संख्या 25 हजार से ज्यादा होने वाले राज्यों में यह योजना संचालित की जाएगी. इसके तहत मजदूरों को 125 दिनों के लिए काम दिया जाएगा. ऐसे में इस योजना में रोजगार देने के लिए 50 हजार करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे. 

Coronavirus India Updates: पिछले 24 घंटे में सामने आए सर्वाधिक 14516 नए मामले, 375 लोगों ने गंवाई जान

योजना को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बिहार में लॉन्च किया गया: 
पीएम मोदी ने गरीब कल्याण रोजगार अभियान नाम की इस योजना को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बिहार में लॉन्च किया गया. इस योजना के डिजिटल शुभारंभ में पांच अन्य राज्यों के मुख्यमंत्री और कुछ केंद्रीय मंत्रियों ने हिस्सा लिया. यह अभियान बिहार के खगड़िया जिले के ग्राम-तेलिहार, ब्लॉक- बेलदौर से लॉन्च किया गया.

आप श्रमेव जयते, श्रम की पूजा करने वाले लोग: 
पीएम मोदी ने श्रमिकों का जिक्र करते हुए कहा कि आप श्रमेव जयते, श्रम की पूजा करने वाले लोग हैं, आपको काम चाहिए, रोजगार चाहिए. इस भावना को सर्वोपरि रखते हुए ही सरकार ने इस योजना को बनाया है, इस योजना को इतने कम समय में लागू किया है.

श्रमिकों और कामगारों को घर के पास ही काम दिया जाए:
पीएम बोले कि हमारा प्रयास है कि इस अभियान के जरिए श्रमिकों और कामगारों को घर के पास ही काम दिया जाए. अभी तक आप अपने हुनर और मेहनत से शहरों को आगे बढ़ा रहे थे, अब अपने गाँव को, अपने इलाके को आगे बढ़ाएंगे. सरकारी स्कूल में रहते हुए, इन श्रमिकों ने अपने हुनर से, स्कूल का ही कायाकल्प कर दिया. मेरे श्रमिक भाई-बहनों के इस काम ने, उनकी देशभक्ति ने, उनके कौशल ने, मुझे इस अभियान का आइडिया दिया, प्रेरणा दी.

लगातार 14वें दिन पेट्रोल-डीजल की कीमतों में जबरदस्त उछाल, जानें क्या हो गए रेट 

आप सभी के हुनर की मैपिंग की भी शुरुआत की गई:
पीएम ने कहा कि यही नहीं, आप सभी श्रमिकों, आप सभी के हुनर की मैपिंग की भी शुरुआत की गई है. यानि कि, गांव में ही आपके हुनर की पहचान की जाएगी, ताकि आपके कौशल के मुताबिक आपको काम मिल सके. आप जो काम करना जानते हैं, उस काम के लिए जरूरतमंद खुद आपके पास पहुंच सकेगा.
 

और पढ़ें