Live News »

नागौर में हनी ट्रैपिंग, लोगों को निशाना बनाकर ऐंठने वाले चढ़े पुलिस के हत्थे

नागौर में हनी ट्रैपिंग, लोगों को निशाना बनाकर ऐंठने वाले चढ़े पुलिस के हत्थे

नागौर। नागौर में हनी ट्रैपिंग के जरिये लोगों को फांसकर रुपए ऐंठने वाले कोतवाली पुलिस के हत्थे चढ़े हैं। वीडियो क्लिप बनाकर ब्लैकमेल करने का मामला कोतवाली थाने में सामने आया है, जिसमें पुलिस ने 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

वृत्ताधिकारी सुभाष मिश्रा ने बताया कि नागौर निवासी दिनेश कुमार सेन ने 3 नवम्बर को कोतवाली थाने में एक परिवाद पेश किया, जिसके मुताबिक बीती 14 अक्टूबर को भदाणा निवासी कमल साटिया नाम का युवक हनुमानगढ़ से एक युवती को लेकर आया तथा उसके दो दोस्तों को बातों में उलझकर लड़की के साथ अंतरंग पलों के युवती व उसके दोस्तों के अश्लील वीडियो क्लिप बना लिए।

इसके बाद गत 25 अक्टूबर को कमल ने उसे तथा उसके दोस्तों को वीडियो क्लिप भेजकर 10 लाख रुपए मांगे। रुपए नहीं देने पर आरोपी ने वीडियो क्लिप सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी दी। दिनेश की रिपोर्ट पर पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया और मुख्य आरोपी कमल और उसके एक साथी को ब्लैकमेल करने व वीडियो क्लिप वायरल करने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी के कब्जे से मोबाइल जब्त कर मामले की जांच की जा रही है, वहीं पुलिस अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए कमल साटिया से पूछताछ कर रही है। साथ ही पुलिस ये भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि इस मामले से पहले कमल ने हनीट्रैप के जाल में और कितने लोगों को फंसाया है।

और पढ़ें

Most Related Stories

दो युवकों की लाठियों से पीट-पीटकर हत्या, नामजद मामला दर्ज

दो युवकों की लाठियों से पीट-पीटकर हत्या, नामजद मामला दर्ज

नागौर: जिले के मकराना उपखंड के गच्छीपुरा थाना अंतर्गत ग्राम कल्याणपुरा व रानीगांव के मध्य बीती रात दो युवकों की लाठियों से पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. जिसको लेकर गच्छीपुरा थाने में नामजद हत्या का मामला दर्ज हुआ है. अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक डीडवाना नितेश कुमार आर्य ने बताया कि बीती रात कल्याणपुरा व रानीगांव के मध्य दो युवकों की हत्या हो जाने का मामला सामने आया था, जिस पर जिला पुलिस अधीक्षक डॉ विकास पाठक सहित पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंचे. जिन्होंने शव को बरामद कर राजकीय चिकित्सालय गच्छीपुरा की मोर्चरी में रखवाया था.

संदिग्ध परिस्थितियों में हुई महिला की मौत, ससुर पर रेप का आरोप लगाते हुए कराया था मामला दर्ज 

मृतकों व नामजद आरोपियों द्वारा की जा रही थी शराब पार्टी: 
पुलिस के अनुसार मृतकों व नामजद आरोपियों द्वारा बीती रात एक ढाबे पर शराब पार्टी की जा रही थी. जहां से मृतक के राजूराम मेघवाल व मुकेश नायक ढाबे से पैदल ही रवाना हो गए थे. शराब पार्टी के दौरान आरोपियों व मृतकों के मध्य आपसी विवाद हुआ था. जिसके बाद पैदल जा रहे दोनों मृतकों पर आरोपियों ने लाठियों व धारदार हथियारों से हमला कर दिया. इस दौरान दोनों युवकों की मौके पर ही मौत हो गई. फिलहाल पुलिस ने नामजद आधा दर्जन आरोपियों को हिरासत में ले लिया है और आरोपियों से पूछताछ की जा रही है. पुलिस शीघ्र ही मामले का खुलासा कर पाएगी. हालांकि दोनों शवों का पोस्टमार्टम हो चुका है, परिजनों द्वारा आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की जा रही है. 

डकैत जगन गुर्जर के परिजनों ने जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन, जेल में भूख हड़ताल करने का लगाया आरोप 

संदिग्ध परिस्थितियों में हुई महिला की मौत, ससुर पर रेप का आरोप लगाते हुए कराया था मामला दर्ज

संदिग्ध परिस्थितियों में हुई महिला की मौत, ससुर पर रेप का आरोप लगाते हुए कराया था मामला दर्ज

मेड़ता सिटी(नागौर): जिले के मेडता रोड़ थाने के जावली गांव में संदिग्ध परिस्थितियों में विवाहिता की मौत का मामला सामने आया है. डीवाईएसपी विक्रम सिंह भाटी ने जानकारी देते हुए बताया कि मृतका ने डाबरानी निवासी अपने ससुर पर रेप सहित मारपीट के संगीन आरोप लगाते हुए मेडता रोड़ थाने में मामला दर्ज कराया था. इसके बाद मृतका अपने पीहर में ही थी. अचानक तबीयत खराब होने के बाद गंभीर हालात में अस्पताल ले जाया गया था. जहां पर उसकी मौत हो गई. 

डकैत जगन गुर्जर के परिजनों ने जिला कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन, जेल में भूख हड़ताल करने का लगाया आरोप 

मारपीट के चलते मृतका की मौत होने का आरोप लगाया: 
इसके बाद मृतका मेड़ता सिटी के मोचरी में मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया गया है. इसके साथ ही मेड़ता रोड थाना पुलिस की ओर से इस पूरे मामले की गहन जांच शुरू कर दी गई है. वहीं इस पूरे मामले में मृतका के पिता ने ससुराल पक्ष की ओर से की गई मारपीट के चलते मृतका की मौत होने का आरोप लगाया है. फिलहाल इस पूरे मामले में पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी को लेकर अलग-अलग टीमों का गठन कर दिया है. 

गुजरात में कांग्रेस के एक और विधायक ने छोड़ा हाथ का साथ, राज्यसभा चुनाव से पहले अब तक 8 विधायकों ने दिया इस्तीफा 

World Environment Day:पर्यावरण संरक्षण की 'फैक्ट्री' है नागौर जिले का रोटू गांव, गांव में खुलेआम विचरण करते है चिंकारा और कृष्ण मृग

World Environment Day:पर्यावरण संरक्षण की 'फैक्ट्री' है नागौर जिले का रोटू गांव, गांव में खुलेआम विचरण करते है चिंकारा और कृष्ण मृग

डीडवाना(नागौर): पर्यावरण संरक्षण की फैक्ट्री कहूं तो आप के दिमाग मे यह सवाल जरूर आएगा कि फैक्ट्रियों से ही तो पर्यावरण प्रदूषण फैलता है तो पर्यावरण सरंक्षण की फैक्ट्री कैसे हुई. जी, हां नागौर जिले का एक गांव है रोटू जो सच मे पर्यावरण प्रदूषण रोकने की एक बहुत बड़ी फैक्ट्री से कम नहीं है. इस फैक्ट्री में काम करने वाले ग्रामीण पर्यावरण सरंक्षण, जीव दया और प्रकृति प्रेम के साथ साथ संस्कारों का उत्पादन करते है.

झारखंड और कर्नाटक में भूकंप से कांपी धरती, तीव्रता 4.7 और 4.0 मापी गई  

पांच सौ बरस पहले गुरु जम्भेश्वर जी ने  पर्यावरण संरक्षण की फैक्ट्री लगाई थी:
नागौर जिले के जायल उपखंड का छोटा सा एक गांव है रोटू जहां पांच सौ बरस पहले विश्नोई सम्प्रदाय के गुरु जम्भेश्वर जी ने एक पर्यावरण संरक्षण की फैक्ट्री लगाई थी जो  आज पांच सौ बरस बाद भी ठीक उसी तरह चल रही है और इस फैक्ट्री में उत्पादन जीव दया और पर्यावरण सरंक्षण का होता है. पांच सौ बरस पहले यहां जम्भेश्वर भगवान ने 3700 पेड़ लगाए थे वो आज भी वट वृक्ष के समान हो गए और पर्यावरण सरंक्षण के अद्भुत कार्य के माइल स्टोन बनकर खड़े है. गांव में खेजड़ी के पेड़ों को शमी यानी तुलसी मानकर पूजा जाता है. काटना तो दूर की बात है यहां गांव में खेजड़ी की छंगाई भी नहीं की जाती. 

6 हजार से ज्यादा हिरण यहां खुलेआम विचरण करते हैं:
पर्यावरण सरंक्षण की वजह ही गांव में आज हजारों की तादात में चिंकारा हिरण और कृष्ण मृग गांव में खुलेआम घूमते नजर आ जाते है, ग्रामीणों के अनुसार गांव के आसपास 6 हजार से ज्यादा हिरण यहां खुलेआम विचरण करते हैं. यह गांव जीव दया और प्रेम की जीवंत कहानी है गांव में हिरण आखेट निषेध है, और कंजर्वेशन क्षेत्र भी घोषित किया जा चुका है. अगर गांव के आसपास में हिरणों का कोई शिकार कर ले या कोशिश भी की जाती है तो गांव के बुजुर्ग युवा और महिलाएं सब जीव को बचाने के लिए एक स्वर में खड़े हो जाते हैं. ग्रामीण कहते है हम अपने बच्चों की तरह जानवरों को पालते हैं हिरणों के बच्चों को औरते अपने बच्चों की तरह दूध पिलाती है. तो उसको मारने कैसे देंगे. 

यहां संस्कारो में पर्यावरण सरंक्षण और जीव दया: 
सरकारे पर्यावरण प्रदूषण से बचाने के लिए तरह तरह के अभियान चलाती है औऱ एनजीटी भी देश मे पर्यावरण प्रदूषण को लेकर अपना काम कर रही है मगर रोटू गांव में बचपन मे ही यहां संस्कारो में पर्यावरण सरंक्षण और जीव दया और प्रेम दिया जाता है. यही वजह है कि गांव आज देशभर में मिशाल बना हुआ है जरूरत है कि सरकारे भी रोटू गांव से सीखे ओर पर्यावरण के प्रति गंभीर हो ताकि प्रकृति का संतुलन बना रहे.  

खेतों में नुकसान पंहुचाने वाले हिरणों को भी ग्रामीण प्रेम से रखते हैं: 
केरल में गर्भवती हथिनी की हत्या के मामले में देशभर में रोष देखा जा रहा है. घटना के बाद रोटू गांव में भी रोष देखा गया है. ग्रामीण बताते है कि खेतों में नुकसान पंहुचाने वाले हिरणों को भी ग्रामीण प्रेम से रखते हैं और किसी को हिरणों को नुकसान नहीं पहुंचाने देते जीव दया रखने वाले रोटू गांव के ग्रामीणों का मानना है कि दोषी को कड़ी सजा दी जाए ताकि दुबारा कोई ऐसे हरकत नहीं करें. 

सीएम गहलोत के प्रयास लाए रंग, बदलने लगी प्रदेश की औद्योगिक तस्वीर

ग्लोबल वार्मिंग और ग्लोबल कूलिंग के संकेत भयावह:
पर्यावरण सरंक्षण के लिए आम आदमी को आगे आकर पर्यावरण सरंक्षण करना होगा तभी हम प्रकृति को बचा पाएंगे नहीं तो ग्लोबल वार्मिंग और ग्लोबल कूलिंग के संकेत भयावह नजर आ रहै हैं. वर्तमान में प्रदूषण बढ़ता जा रहा है ऐसे में रोटू गांव एक प्रेरक बनकर उभरा है. 

...नरपत ज़ोया संवाददाता फ़र्स्ट इंडिया न्यूज़ डीडवाना

कोरोना के बीच आया टिड्डी संकट बेहद गंभीर, नागौर में 160 हेक्टेयर में फसलों को हुआ नुकसान

कोरोना के बीच आया टिड्डी संकट बेहद गंभीर, नागौर में 160 हेक्टेयर में फसलों को हुआ नुकसान

नागौर: वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के चलते जूझ रहे है, अब फसलों को भारी नुकसान पहुंचने के लिए नागौर जिले में टिड्डियों के लगातार हमले जारी है. नागौर जिला कलक्टर दिनेश कुमार यादव ने बताया कि टिड्डियों के 28 दलों ने जिले में दस्तक दे चूकी है. अब तक 18 हजार हेक्टेयर भुमि को प्रभावित किया है, जिनमें कृषि विभाग की टीमों ने छःहजार हेक्टेयर पर कार्यवाही करते हूए नष्ट किया गया है. 

टिड्डी नियंत्रण अभियान:
नागौर में 160 हेक्टेयर में फसलों को नुकसान हुआ है. उन्होंने कहा कि विभाग ने 67,000 हेक्टेयर पर टिड्डी नियंत्रण अभियान चलाया है. किसानों की कपास की फसल को नुकसान पहुंचाया गया है. साथ फसलों को टिड्डियों ने नुकसान पहुंचाया गया है. मद्देनजर दमकल वाहनों को पहले से ही तैयार किया गया था और इन टिड्डियों को भगाने के लिये कीटनाशकों का गहन छिड़काव किया जा रहा है. किसानों ने खेतों में साथ ही वाहनों पर डीजे तथा अन्य ध्वनि विस्तारक यंत्रों को लगाकर शोर किया जा रहा है.

हरियाणा में खुलेंगे धार्मिक स्थल, होटल, रेस्टोरेंट, कंटेनमेंट जोन में 30 जून तक रहेगा लॉकडाउन

फसलों को काफी नुकसान:
नागौर जिले भर में फसलों को काफी नुकसान पहुंचा गया है. उन्होंने कहा कि टिड्डियों के झुंड 15-20 किमी प्रति घंटे की गति के साथ दिन में 150 किमी की यात्रा कर सकते हैं और खेतों में फसल नहीं होने के कारण, वे सब्जियों की फसल, पेड़ों और अन्य उपलब्ध वनस्पतियों को निशाना बना रहे है. टिड्डी नियंत्रण कार्यों के बारे में बात करते हुए उन्होंने बताया कि टिड्डियों के हमले को बेअसर करने के लिए ट्रैक्टरों का उपयोग किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि लगभग 20 टीमें दैनिक आधार पर सर्वेक्षण कर रहीं हैं तथा किसानों को मुफ्त कीटनाशक दिए जा रहे हैं.

नासा ने एक बार फिर रचा इतिहास, SpaceX के अंतरिक्षयान से दो अंतरिक्ष यात्रियों को धरती से भेजा स्पेस 

नाबालिग लड़की का अपहरण कर चार दिन तक किया दुष्कर्म, पीड़िता के भाई ने दर्ज करवाया मुकदमा

नाबालिग लड़की का अपहरण कर चार दिन तक किया दुष्कर्म, पीड़िता के भाई ने दर्ज करवाया मुकदमा

पादु कलां(नागौर): थाना क्षेत्र के धांधलास गांव की एक नाबालिग लड़की का अपहरण कर चार दिनों तक उसके साथ बलात्कार किये जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. आरोप है कि अपने भाई व एक बहन के साथ रह रही एक 16 वर्षीय लड़की के साथ उसके भाई के साथ ही मजदूरी का काम करने वाले एक युवक ने इस वारदात को अंजाम देते हुए उससे बलात्कार किया. पादू कलां पुलिस ने नामजद मामला दर्ज कर आरोपी की तलाश शुरू कर दी है. 

मुख्यमंत्री गहलोत का बड़ा फैसला, पेयजल के लिए प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र को 25  लाख रुपए स्वीकृत 

साथी के साथ मिलकर खेत से किया नाबालिग का अपहरण:  
पादू कलां थाना पुलिस के अनुसार धांधलास ग्राम निवासी 16 वर्षीया नाबालिग पीड़िता के भाई ने थाने में मामला दर्ज कराते हुए बताया की मैं मेरी पत्नी व मेरी 16 वर्षीया बहन तीनों ही गांव में मेहनत मजदूरी करते हैं व मेरे पिता मजदूरी के लिये अहमदाबाद रहते हैं. पीड़िता के भाई ने बताया की उसके साथ आरोपी युवक दिनेश भी धांधलास मे मजदूरी का काम करता है. पीड़िता के भाई के अनुसार 17 मई को उसकी बहन जो खेत मे से लकड़िया लेने गई हुई थी. इस दौरान आरोपी युवक दिनेश पुत्र कैलाश मेघवाल निवासी ईडवा ने सुरेश के साथ मिलकर उसकी बहन का कपडे से मुहं बांधकर व हाथ बांधकर मोटरसाईकिल पर बैठाकर ईडवा ले गये. 

भूमिगत हौद में कैद कर 4 दिनों तक किया बलात्कार:
पीड़िता के भाई ने रिपोर्ट में बताया की आरोपियों ने उसकी नाबालिग बहन को ईड़वा में एक भूमिगत हौद मे कैद कर लिया व इस दौरान आरोपी दिनेश ने उसकी बहन को वहां नग्न अवस्था में रखते हुए 4 दिन तक बलात्कार किया.

VIDEO: जून में होगी 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षाएं, 31 मई के बाद भी जारी रहेगा रात्रिकालीन कर्फ्यू   

गुमशुदगी हुई दर्ज तो 5 दिनों बाद आरोपी नाबालिग को लेकर पहुंचा थाने:
पीड़िता के भाई ने बताया की उसकी बहन का कोई पता नहीं लगने पर उसने 20 मई को उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराने गया तो अगले ही दिन आरोपी युवक पीड़िता को लेकर पहुंचा और हमें सुपुर्द कर दी.

नागौर: प्यार में जाति बनी दीवार, प्रेमी युगल ने फांसी लगा जान दी

नागौर: प्यार में जाति बनी दीवार, प्रेमी युगल ने फांसी लगा जान दी

नागौर: जिले के सदर थाना इलाके के खरनाल गांव के बाहर प्रेमी युगल ने एक साथ फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. सुबह गांव के बाहर पेड़ पर दोनों के शव लटके देख सनसनी फैल गई. दोनों के अलग-अलग जाति के होने से परिजन शादी के लिए तैयार नहीं थे. दो दिन पूर्व भाकरोद गांव के शक्स ने खींवसर थाने मे अपनी पुत्री की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी. लेकिन आज प्रेमी यूगल ने पेड़ पर फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली.

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया 

सामाजिक मनमुटाव के चलतें दोनों ने जीवन लीला समाप्त की: 
सदर थाना क्षेत्र के खरनाल गांव में रहने वाले जगदीश जाट और भाकरोद गांव की सुमन कंवर एक दूसरे लम्बे समय से प्यार करते हैं. इससे दोनों के परिवारों में मेल-मिलाप नहीं होने के चलते और सामाजिक मनमुटाव के चलतें दोनों ने जीवन लीला को समाप्त कर लिया. करीब दो साल पहले दोनों में प्रेम-प्रसंग शुरू हुआ था दोनों शादी करना चाहते थे. अलग-अलग जाति के होने से परिजन तैयार नहीं थे. लॉकडाउन में करीब डेढ़ माह पहले मेल मिलाप करने से मना किया. इसके बाद भी दोनों शादी की जिद पर अड़े रहे. उसके बाद पेड़ की एक डाल पर जगदीश जाट और सुमन कंवर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. सुबह ग्रामीणों ने दोनों के शव पेड़ पर लटके देखें. इससे सनसनी फैल गई. फोरेंसिक टीम के साथ पहुंचे सदर थाना प्रभारी नंद किशोर वर्मा ने जांच शुरू कर दी है.

लॉकडाउन 5 को लेकर दावों और कयासों को गृहमंत्रालय ने किया खारिज, अभी कोई फैसला नहीं 

प्रेम-प्रसंग के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या की बात सामने आई:
नागौर के अति पुलिस अधीक्षक रामकुमार कंस्वा ने बताया सदर थाना पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. प्राथमिक जांच में प्रेम-प्रसंग के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या की बात सामने आई है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी. वहीं रोल थाना इलाके के सोमना गांव मे सुमन रेगर नाम की विवाहिता ने घरेलू कलह के कारण संदिग्ध परिस्थितियों के चलते सुसाइड कर लिया. दोनों मामलों की जांच जारी है. वहीं सड़क हादसे मे सीकर के व्यापारी की कार अनियंत्रित होकर पलट जाने से मौत हो गई. नागौर जिले के चार जनों का पोस्टमार्टम जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में हुआ है. 

किसान टिड्डी दल से परेशान, नागौर में लगातार हमला जारी, फसलों को हो रहा है नुकसान 

किसान टिड्डी दल से परेशान, नागौर में लगातार हमला जारी, फसलों को हो रहा है नुकसान 

नागौर: राजस्थान के कई जिलों में टिड्डी दल का हमला जारी है. बीते एक सप्ताह से नागौर में भी टिड्डी दल का हमला जारी है और लगातार 3 दिनों से डीडवाना उपखण्ड क्षेत्र में टिड्डियों का हमला जारी है. टिड्डियों द्वारा फसलों और पेड़ पौधों को भारी नुकसान पंहुचाया जा रहा है. रविवार सुबह केंद्र से आई कृषि विभाग के अधिकारियों की 14 टीमें लगातार टिड्डी मारने और भगाने के प्रयास में जुटी हुई है. वहीं रविवार को डीडवाना विधायक चेतन डूडी भी अधिकारियों के साथ दौलतपुरा गांव में टिड्डियों द्वारा किये गए नुकसान का जायजा लेने पहुंचे. विधायक डूडी ने केंद्र से आये टीम के अधिकारियों से मुलाकात कर जानकारी और क्षेत्र का मौका मुआयना भी किया गया.

मौसम विभाग ने राजस्थान में लू चलने का अलर्ट किया जारी, हरियाणा और दिल्ली में भीषण की संभावना 

कृषि मंत्री लालचंद कटारिया से की बात:
वहीं प्रदेश के कृषि मंत्री लालचंद कटारिया से फ़ोन पर बात कर यहां के कर्मचारियों के स्थानांतरण पर रोक एवं नुकसान की आशंका को मध्यनजर कर्मचारियों की संख्या बढ़ाने की मांग भी की गई है. डूडी ने मौके पर पंहुचे कृषि अधिकारियों से आंकलन करवाने के आवश्यक दिशा निर्देश भी दिए. वहीं डूडी ने टिड्डियों को लेकर जिला कलेक्टर से भी वार्ता कर क्षेत्र में टिड्डी पर नियंत्रण को लेकर चर्चा की गई.

फसलों और पेड़ पौधों को टिड्डी से बचाएं:
डूडी ने इस दौरान किसानों से भी अपील करते हुए कहा है कि 8 किलोमीटर लंबे और चार किलोमीटर चौड़े इस टिड्डी दल पर कृषि विभाग द्वारा अकेले नियंत्रण नही किया जा सकता है. किसानों से अपील करते हुए कहा है कि किसान अपने अपने खेतों में टिड्डी भगाने का प्रयास करे और फसलों और पेड़ पौधों को टिड्डी से बचाएं ताकि बड़े नुकसान से बचा जा सके. टिड्डडी दल डीडवाना के आसपास बीती रात से बैठा है और सबह तीन बजे ही टीमों ने स्प्रे कर इसको मारने का प्रयास शुरू किया गया. दिन उगने के बाद टिड्डियों का दल उड़कर आसमान में चला जाता है जिसको मारना मुश्किल हो जाता है और स्प्रे काम नही करता है.

Rajasthan Corona Updates: चित्तौड़गढ़ में एक मरीज की मौत, राजस्थान में 152 नए केस आये सामने, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 6894

एक पिता की अनूठी पहल, प्रवासी बेटे के आइसोलेशन के लिए बना दिया सर्व सुविधाओं युक्त ढाई दिन का झोपड़ा

एक पिता की अनूठी पहल, प्रवासी बेटे के आइसोलेशन के लिए बना दिया सर्व सुविधाओं युक्त ढाई दिन का झोपड़ा

डीडवाना: एक पिता ने अपने प्रवासी बेटे को संस्थागत क्वारंटाइन में दूर स्कूल में जाने से बचाने के लिए एक अनूठी पहल की. मामला नागौर जिले के जायल के खेराट गांव का है. जहां पर एक पिता ने अपने प्रवासी बेटे के क्वारंटाइन के लिए गांव पहुंचने से पहले ही ढाई दिन में सुविधाओं युक्त एक झोंपड़ा घर बना दिया. ताकि दोनों बेटे और बहू पोतों के साथ उसमें रह सकें. 

खाने पीने और रहने की समस्या पर जताई चिंता:
खेराट ग़ांव के मोहन लाल सिद्ध के दो बेटे और बड़े बेटे की पत्नी और दो बच्चे छत्तीसगढ़ के रायपुर से ग़ांव आना चाह रहे थे. बड़े बेटे ने पिता से आने पर प्रशासन द्वारा व्यवस्था के बारे मे पूछा तो मोहनलाल ने स्थानीय बीएलओ और प्रशासन से इसकी जानकारी ली तो प्रशासन की तरफ से दूसरे राज्यों से आने वाले लोगों को इंस्टिट्यूशनल क्वारंटाइन की बात कही गई. जिसपर मोहनलाल ने बेटे पोतों को घर से दूर स्कूल में रखने की पर वहां होने वाली खाने पीने और रहने की समस्या को लेकर असुविधा को लेकर चिंता जताते हुए प्रशासन से बेटे के लिए दूसरी व्यवस्था की गुहार लगाई तो उपखण्ड अधिकारी ने अलग झोंपड़ा बनाने की सलाह दी.

जम्मू कश्मीर और केरल में आज मनाई जा रही है ईद, बाकी जगह सोमवार को मनाया जाएगा ये त्योहार

सर्व सुविधाओं युक्त बनाया झोंपड़ा:
जिसको मोहनलाल ने मान तो लिया, लेकिन दो दिन बाद ही परिवार समेत बेटा आने वाला था और व्यवस्था ना हुई तो बेटे को स्कूल में रख देंगे, इस चिंता से पिता ने महज ढाई दिन के समय मे सर्व सुविधाओं युक्त झोंपड़ा बना दिया, जिसमें ना केवल विद्युत कनेक्शन बल्कि कूलर पंखे के साथ साथ मोबाइल चार्जिंग की व्यवस्था और सोने के लिए खाट बना दी. प्रशासन से स्वीकृति के बाद मोहनलाल के दोनों बेटों बहु और पोतों को घर के बाहर बने इस झोंपड़े में रहने की इजाजत दे दी गई.

लोगों को जागरूकता का संदेश:
इनके खाने पीने के लिए अलग बर्तन आदि की व्यवस्था मोहनलाल ने कर दी, ताकि घर के बर्तनों का उपयोग ना करे, जिससे संक्रमण का खतरा ना रहे. एकतरफ जहां पढ़े लिखे लोग कोरोना संक्रमण और क्वारंटाइन के प्रति लापरवाही करते देखा जा सकता है ऐसे में एक अनपढ़ वृद्ध पिता की यह अनूठी पहल सबको दांतो तले अंगुली थामने को मजबूर करती है दूसरी तरफ लोगों को जागरूकता का संदेश भी देती है. 

COVID-19: देश में 24 घंटे में 6767 नए केस और 140 मरीजों की मौत, कुल मरीजों की संख्या हुई 1 लाख 31 हजार 868

Open Covid-19