VIDEO: प्रशासन शहरों के संग अभियान में सपने हो रहे साकार, आज प्रदेश भर में बांटे गए 31832 पट्टे , देखिए खास रिपोर्ट

VIDEO: प्रशासन शहरों के संग अभियान में सपने हो रहे साकार, आज प्रदेश भर में बांटे गए 31832 पट्टे , देखिए खास रिपोर्ट

जयपुर: अपने जीवन भर की पूंजी खर्च कर एक परिवार अपना मकान बनाता है. उस परिवार का सपना होता है कि उसे अपने मकान का पट्टा मिले. राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती के मौके पर 2 अक्टूबर से शुरू प्रशासन शहरों के संग अभियान में जयपुर विकास प्राधिकरण ऐसे ही हजारों सपनों को साकार करने में जुटा हुआ है. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस बजट भाषण में प्रशासन शहरों के संग अभियान चलाने की घोषणा की थी. अपनी पिछली सरकार की तरह ही आम शहरी को अधिक से अधिक फायदा पहुंचाने के उद्देश्य से 2 अक्टूबर से इस अभियान की शुरूआत की गई. सरकार का लक्ष्य था कि अभियान के पहले दिन अधिक से अधिक पट्टे बांटे जाएं. 

राज्य सरकार के इस लक्ष्य को साकार करते हुए जयपुर विकास प्राधिकरण ने प्रदेश के सभी 230 निकायों में सबसे अधिक पट्टे बांटे. अभियान के पहले दिन 31 हजार 832 कुल पट्टें बांटे गए. इनमें से अकेले जयपुर विाकस प्राधिकरण ने 5 हजार 250 पट्टे बांटे. इस अभियान में दी गई कई छूटों का लाभ देते हुए जेडीए ऐसे कई परिवारों को लाभान्वित कर रहा है, जो बरसों से अपने भूखंड के पट्टे के लिए इंतजार कर रहे थे. आपको ऐसी ही कहानियों से कराते हैं रूबरू-

स्टोरी-1:
-6 डी इंजीनियर्स कॉलोनी निवासी कौशल्या देवी के पति का कोरोना से देहांत हो गया था
-कौशल्या देवी दूध बेचकर अपने बच्चों का पालन-पोषण करती हैं
-कौशल्या देवी के परिवार की आर्थिक स्थिति भी अच्छी नहीं हैं
-प्रशासन शहरों के संग अभियान में नियमन शिविर की तिथि से लगने वाले ब्याज में सौ फीसदी की छूट दी गई
-इस छूट से कौशल्या देवी के परिवार का आर्थिक बोझ काफी कम हो गया
-कौशल्या देवी को अभियान के पहले खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जेडीए का पट्टा दिया

स्टोरी-2:
-कीर्ति सागर निवासी पुष्पा देवी जांगिड़ ने भी अपनी भूमि का पट्टा नहीं लिया था
- पुष्पा देवी के पति ड्राईवर है और परिवार में इकलौते कमाने वाले हैं
-इस परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं हैं
-नियमन शिविर से लगने वाले भारी भरकम ब्याज के चलते यह परिवार पट्टा लेने में असमर्थ था
-अभियान में इस ब्याज में सौ फीसदी छूट मिली और इस परिवार को पट्टा मिल पाया
-अभियान के पहले दिन पुष्पा देवी को खुद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पट्टा दिया

स्टोरी-3:
-पृथ्वीराज नगर दक्षिण राधाकृष्ण नगर निवासी राजेन्द्र सैनी भी अपने भूखंड के पट्टे का लंबे समय से इंतजार कर रहे थे
-निशक्तजन राजेन्द्र सैनी के  परिवार के आर्थिक हालात अच्छे नहीं हैं
-पहले जेडीए में पट्टा लेने के लिए संपर्क करने नियमन राशि पर लगने वाले भारी ब्याज का पता लगा तो उनकी पट्टा लेने की हिम्मत नहीं हुई
-अभियान के दौरान इस ब्याज में मिलने वाली छूट ने राजेन्द्र सैनी के परिवार को आर्थिक संबल दिया
-राजेन्द्र सैनी के आवेदन पर जेडीए अधिकारियों ने त्वरित कार्यवाही करते हुए उन्हें पट्टा जारी कर दिया
-ब्याज में मिली छूट के कारण राजेन्द्र सैनी परिवार की करीब सवा चार लाख रुपए की बचत हुई

स्टोरी-4:
-मनोहरपुरा कच्ची बस्ती निवासी मीरा देवी ने पट्टा लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन किया 
 -मीरा देवी ने वर्ष 2009 एवं वर्ष 2012 में भी मिशन सुदामा के तहत पट्टा लेने के लिए जेडीए में आवेदन किया था
-लेकिन तब भी मीरा देवी को पट्टा नहीं मिल पाया
-प्रशासन शहरों के संग अभियान के दौरान मीरा देवी के आवेदन पर जेडीए अधिकारियों ने औपचारिकताएं पूरी की
-अभियान के पहले दिन ही मीरा देवी को जेडीए की ओर से पट्टा जारी किया गया.

प्रशासन शहरों के संग अभियान का पहला दिन: 
-आज प्रदेश भर में बांटे गए 31832 पट्टे 
-इनमें से नगर निगम, नगर परिषद और नगर पालिका ने बांटे 14856 पट्टे 
-जबकि नगर विकास न्यास और प्राधिकरण ने बांटे 16976 पट्टे 
-पट्टों के लिए निकायों में प्रस्तुत किए गए आवेदन
-ऑनलाइन व ऑफलाइन आवेदन प्रस्तुत किए गए

प्रशासन शहरों के संग अभियान के पहले दिन कुल 31 हजार 832 पट्टे बांटे गए. इनमें से 14 हजार 856 पट्टे नगर निगम, नगर परिषद और नगर पालिकाओं की ओर से बांटे गए. आपको बताते हैं कि संभागवार  नगरपालिका, नगर परिषद और नगर निगमों ने कितने पट्टे बांटे-

जानिए कितने पट्टे बांटे:

-अजमेर संभाग के निकाय 3418 पट्टे बांटकर दूसरे स्थान पर रहा 
-जयपुर संभाग के निकायों ने सबसे अधिक 4672 पट्टे बांटे
-बीकानेर संभाग के निकायों ने 1481 पट्टे वितरित किए
-कोटा संभाग के निकायों ने 1148 पट्टे दिए
-जोधपुर संभाग के निकायों ने 1767 पट्टे बांटे
-भरतपुर संभाग के निकायों ने सबसे कम 976 पट्टे बांटे
-उदयपुर संभाग के निकायों ने 1394 पट्टे बांटे

आपको बताई गई ये कहानियां मिसाल हैं ऐसी ही सैकड़ों कहानियों की, जिनमें गरीब व मध्यम परिवारों के सपने सच किए जा रहे हैं. प्रशासन शहरों के संग अभियान में दी गई तमाम छूटों के कारण पट्टा मिलने से ये परिवार मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल को कोटि-कोटि धन्यवाद दे रहे हैं. वहीं पट्टा लेने की समस्त प्रक्रिया सुगमता से कम से कम समय में पूरी करने के लिए जेडीए आयुक्त गौरव गोयल और उनके अधिकारियों का भी ये परिवार आभार जता रहे हैं.

और पढ़ें