चुनावी साल आते ही श्रीमाधोपुर में राजनीति के रंग, नरेंद्र सिंह के नेतृत्व में जलदाय विभाग का घेराव

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/06/11 07:35

श्रीमाधोपुर(सीकर)। जिले के श्रीमाधोपुर कस्बे में चुनावी साल के आते ही श्रीमाधोपुर की राजनीति में हलचल शुरू हो गई है। आज श्रीमाधोपुर से दावेदारी जता रहे विकास युवा मंच के संयोजक नरेंद्र सिंह के नेतृत्व में सैकड़ों की तादाद में युवा एवं महिलाओं ने सरकारी अस्पताल से जलदाय विभाग कार्यालय तक रैली निकालकर जमकर विरोध प्रदर्शन कर नारेबाजी की। 

गौरतलब है कि नरेंद्र सिंह ने सरकारी अस्पताल में अव्यवस्थाओं के आलम को लेकर अस्पताल प्रभारी का घेराव कर जमकर खरी खोटी सुनाई तथा 15 दिन में अव्यवस्थाओं को सुधारने की चेतावनी देते हुए कहा कि यदि तय समय सीमा में कोई समस्या का समाधान नहीं हुआ तो बड़े स्तर पर आंदोलन किया जाएगा। 
अवस्थाओं पर आरोप लगाते हुए नरेंद्र सिंह ने कहा कि मरीजों को सोनोग्राफी के लिए बाहर जाना पड़ रहा है, जिसमें बाहर के लोगों पर डॉक्टरों का कमीशन बंधा हुआ है। उन्होंने कहा कि डॅाक्टरों की मिलीभगत के कारण अस्पताल में पड़ी सोनोग्राफी की मशीन धूल चाट रही है। 

वहीं नरेंद्र सिंह कस्बे में व्याप्त पेयजल समस्या को लेकर चौराहे से रैली लेकर जलदाय विभाग कार्यालय भी पहुंचे, जहां पर तैनात पुलिस ने सिंह व उसके समर्थकों को जलदाय विभाग कार्यालय में घुसने से रोकने का प्रयास किया लेकिन विरोध कर रहे समर्थक टस से मस नहीं हुए और अंत में गेट को खुलवाकर जलदाय विभाग कार्य में पड़ाव डालकर ही माने। 

समर्थकों का विरोध उस समय और बढ़ गया, जब उन्हें पता लगा कि कार्यालय में मौके पर एक भी अधिकारी नहीं तैनात है। तमाम विरोध को देखते हुए लगभग 45 मिनट बाद AEEN ने 2 माह की अवधि में संपूर्ण श्रीमाधोपुर में पेयजल की व्याप्त समस्या को दूर करने का आश्वासन दिया, जिसके बाद ही समर्थकों का गुस्सा शांत हुआ।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

संसद हमले की 17वीं बरसी पर शहीदों को देश कर रहा है याद

गजेंद्र सिंह शेखावत पहुंचे जयपुर, मीडिया से की खास बातचीत
मध्यप्रदेश में ही रहेंगे \'मामा\'
मणिपुर के जज के हिन्दू राष्ट्र वाले बयान पर सियासी घमासान
मध्यप्रदेश में कांग्रेस जीत गई लेकिन दिग्गज हार गए
मुख्यमंत्री का नाम अभी घोषित नही हुआ, लेकिन कार्यकर्ताओं में मारपीट शुरू हो गई
देश में अब एक महिला मुख्यमत्री रह गई
4 मिनट 24 ख़बरें | National News
loading...
">
loading...