Live News »

पाकिस्तान के ननकाना साहिब में गुरुद्वारे पर पथराव के खिलाफ दिल्ली में प्रदर्शन

पाकिस्तान के ननकाना साहिब में गुरुद्वारे पर पथराव के खिलाफ दिल्ली में प्रदर्शन

नई दिल्ली: पाकिस्तान में ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर शुक्रवार को बड़ा हमला हुआ. भीड़ ने ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर पथराव किया. साथ ही ननकाना साहिब गुरुद्वारे का नाम बदलने और सिखों को वहां से भगाने के नारे भी लगाए. वहीं आज इस घटना के खिलाफ दिल्ली में प्रदर्शन किया गया. अकाली दल और दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी ने विरोध प्रदर्शन किया है. 

भारत ने पाकिस्तान स्थित ननकाना साहिब गुरुद्वारा पर हमले और तोड़फोड़ की कड़ी निंदा की है. साथ ही पाकिस्तान से सिख समुदाय की सुरक्षा के लिए जल्द से जल्द कदम उठाने को कहा है. विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा, 'हम ननकाना साहिब गुरुद्वारे पर हमले और तोड़फोड़ की घटना से चिंतित हैं. बता दें कि भीड़ का नेतृत्व पिछले साल ननकाना साहिब की एक सिख लड़की जगजीत कौर को अगवा करने और जबरन धर्मांतरण कर निकाह करने के आरोपी मोहम्मद हसन का परिवार कर रहा था. मोहम्मद हसन के भाई ने कहा कि सिखों ने जगजीत कौर को वापस भेजने के लिए दवाब डाला, लेकिन यह कभी नहीं होगा, क्योंकि वह अब मुस्लिम बन चुकी है. 

और पढ़ें

Most Related Stories

Nagar Nigam Polls: प्रदेश की 3 नगर निगमों में दोपहर 1 बजे तक हुआ 38.75 फीसदी मतदान, जोधपुर उत्तर में सर्वाधिक वोटिंग

Nagar Nigam Polls: प्रदेश की 3 नगर निगमों में दोपहर 1 बजे तक हुआ 38.75 फीसदी मतदान, जोधपुर उत्तर में सर्वाधिक वोटिंग

जयपुर: राजस्थान में जयपुर हेरिटेज, जोधपुर उत्तर और कोटा उत्तर नगर निगमों में आज प्रथम चरण के चुनाव के लिए मतदान ने अब रफ्तार पकड़ ली है. जैसे-जैसे अब टाइन निकलता जा रहा मतदाओं में भी उत्साह देखते ही बन रहा है. प्रदेश की 3 नगर निगमों में हो रहे चुनाव में दोपहर 1 बजे तक कुल 38.75% मतदान हुआ है. इसमें दोपहर 1 बजे तक सबसे ज्यादा 42.63 फीसदी मतदान जोधपुर उत्तर में हुआ है. इसके बाद कोटा उत्तर में 38.91 और जयपुर हेरिटेज में 37.08% मतदान हुआ है. 

16 लाख 54 हजार 547 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे:
बता दें कि पहले चरण में 250 वार्डों के 2761 मतदान केंद्रों पर 16 लाख 54 हजार 547 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकेंगे. इसमें जयपुर हैरिटेज के 100 वार्डों के 9 लाख 32 हजार 908 मतदाताओं में 4 लाख 91 हजार 633 पुरुष, 4 लाख 41 हजार 260 महिला व 15 अन्य, जोधपुर उत्तर के 80 वार्डों के 3 लाख 88 हजार 847 मतदाताओं में से 1 लाख 99 हजार 505 पुरुष, 1 लाख 89 हजार 339 महिला व 3 अन्य और कोटा उत्तर के 70 वार्डों के 3 लाख 32 हजार 792 मतदाताओं में से 1 लाख 70 हजार 959 पुरुष, 1 लाख 61 हजार 831 महिला व 2 अन्य मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे.

{related}

3393 ईवीएम से होगा मतदान:
पहले चरण में 3 हजार 393 ईवीएम मशीनों के द्वारा चुनाव करवाए जाएंगे. सभी निकायों में लगभग 30 प्रतिशत मशीनें रिजर्व में रखी गई हैं. चुनाव कार्य से जुड़ी सूचनाओं और लोगों की शिकायतों पर कार्यवाही के लिए आयोग ने मुख्यालय और जिलास्तर पर चुनाव नियंत्रण कक्ष स्थापित किये हैं.

पूर्व सांसद अनु टंडन ने दिया कांग्रेस से इस्तीफा, ट्विट कर दी जानकारी

पूर्व सांसद अनु टंडन ने दिया कांग्रेस से इस्तीफा, ट्विट कर दी जानकारी

नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी की पूर्व सासंद अनु टंडन ने हाल ही में पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है.अनु ने ट्विटर पर जारी एक बयान में अपना त्यागपत्र कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी को भेजने की जानकारी दी है. उन्नाव से पूर्व लोकसभा सदस्य ने यह दावा भी किया कि प्रदेश कांग्रेस के नेतृत्व से उन्हें कोई सहयोग नहीं मिल रहा था और कुछ लोगों द्वारा झूठा प्रचार चलाया जा रहा था तथा केंद्रीय नेतृत्व ने इस पर अंकुश लगाने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया है.

उन्होंने कहा कि इन बिंदुओं पर मेरी बात कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा से भी हुई था, लेकिन ऐसा कोई विकल्प या रास्ता नहीं निकल पाया, जो सबके हित में हो.  पिछले कुछ महीनों में कांग्रेस के उत्तर प्रदेश के कुछ वरिष्ठ नेताओं से भी मेरी बातचीत हुई है, लेकिन वो भी इन हालात में असहाय एवं विकल्पहीन लगे है, जिसके चलते उन्होनें ये बड़ा फैसला ले लिया है. 

अनु ने अपने अगले राजनीतिक कदम का खुलासा नहीं करते हुए कहा कि वह अपने समर्थकों और कार्यकर्ताओं से परामर्श के बाद कोई कदम उठाएंगी. उल्लेखनीय है कि अनु 2009 में उन्नाव से कांग्रेस के टिकट पर लोकसभा चुनाव जीती थीं, हालांकि, 2014 और 2019 के लोकसभा चुनावों में उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. फिलहाल कोई घोषणा नहीं की गई है कि वे भविष्य में कौनसी पार्टी ज्वाइन करेंगी. (सोर्स-भाषा)

{related}

 

गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल का निधन, 92 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल का निधन, 92 साल की उम्र में ली अंतिम सांस

अहमदाबाद: गुजरात के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्य के दिग्गज नेता केशुभाई पटेल का आज निधन हो गया है. गुरुवार सुबह सांस लेने में तकलीफ होने के बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्होंने अंतिम सांस ली. केशुभाई पटेल की उम्र 92 साल थी. केशुभाई पटेल ने साल 2014 में राजनीति से सन्यास की घोषणा की थी. बीते महीने केशुभाई कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. केशुभाई हाल ही में सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट के अध्यक्ष बनाए गए थे.

दो बार गुजरात का सीएम पद संभाला था: 
केशु भाई पटेल ने दो बार गुजरात का सीएम पद संभाला था. उन्होंने पहली बार साल 1995 में गुजरात का सीएम पद संभाला था. इसके बाद वह 1998 से साल 2001 तक दूसरी बार मुख्यमंत्री पद पर काबिज हुए. वह छह बार राज्य में विधानसभा चुनाव जीते. केशु भाई पटेल ने साल 2012 में बीजेपी छोड़ दी थी और अपनी नई पार्टी 'गुजरात परिवर्तन पार्टी' बनाई थी.

{related}

जनसंघ के संस्थापक सदस्यों में से एक थे:
1960 के करीब अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत जनसंघ से करने वाले पटेल इसके संस्थापक सदस्यों में से एक थे. साल 1975 में जनसंघ-कांग्रेस ओ की गठबंधन वाली सरकार चुनी गई थी. इमरजेंसी के बाद लोकसभा पहुंचे पटेल ने इस्तीफा देकर साल 1978 से 1980 तक बाबूभाई पटेल की सरकार में कृषि मंत्री थे.

सांस लेने में तकलीफ के बाद जब उन्हें अस्पताल ले जाया गया:
केशुभाई पटेल के बेटे के मुताबिक, कोरोना को मात देने के बाद भी उनकी तबीयत लगातार बिगड़ती जा रही थी. लेकिन गुरुवार सुबह सांस लेने में तकलीफ के बाद जब उन्हें अस्पताल ले जाया गया, तब इलाज में उन्होंने कोई रिस्पॉन्ड नहीं किया था.

Gujjar Reservation: गुर्जर आरक्षण के मसले को लेकर कैबिनेट सब कमेटी की बैठक आज, गुर्जर नेताओं ने कहा- वे नहीं होंगे शामिल

जयपुर: प्रदेश में एक बार फिर गुर्जर आरक्षण आंदोलन की चिंगारी भड़क सकती है. अपनी मांगों को न माने जाने पर गुर्जर समाज ने 2 दिन बाद सड़क पर उतरने का ऐलान किया है. गुर्जर समाज ने भरतपुर जिले के बयाना में स्थित पीलूपुरा से आंदोलन शुरू करने का निर्णय लिया है. इसके लिये 1 नवंबर को सुबह 10 बजे शहीद स्थल पर महापंचायत होगी. इसके बाद राजस्थान को जाम करने की चेतावनी दी है. 

आज शाम 4 बजे होगी कैबिनेट सब कमेटी की बैठक: 
वहीं इससे पहले आज शाम 4 बजे गुर्जर आरक्षण के मसले को लेकर कैबिनेट सब कमेटी की बैठक होगी. यह बैठक मंत्री बीडी कल्ला की अध्यक्षता में होगी. इसमें मंत्री रघु शर्मा और अशोक चांदना भी शामिल होंगे. इनके अलावा सीएस राजीव स्वरूप, DOP व अन्य विभागों के अधिकारी भी बैठक में शामिल होंगे. 

{related}

बैठक में शामिल नहीं होंगे गुर्जर नेता:
उधर गुर्जर नेताओं ने कहा कि वे बैठक में शामिल नहीं होंगे. पिछली 2 बैठकों में भी गुर्जर प्रतिनिधियों को नहीं बुलाया गया था. ऐसे में इस बार भी वे शामिल नहीं होंगे. अभी भर्तियों में बैकलॉग प्रक्रिया के मसले का हल निकालना मुद्दा है. इससे पहले सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार संघर्ष समिति को वार्ता के लिए आमंत्रित किया गया है. 

1 नवंबर को पूरे राजस्थान को जाम करने की चेतावनी:
इससे पहले आंदोलन को लेकर बुधवार को बयाना के मारौली गांव में 36 गांवों के गुर्जर समाज की बैठक आयोजित की गई. बैठक में गुर्जर नेता विजय बैंसला सहित समाज के पंच पटेल भी मौजूद रहे. इस महापंचायत में समाज की मांगें आगामी 2 दिन में पूरी नहीं होने पर 1 नवंबर को पूरे राजस्थान को जाम करने की चेतावनी दी गई. वहीं राज्य सरकार ने कहा है कि सभी मांगों का निस्तारण बातचीत से ही संभव होगा. सरकार ने गुर्जर नेताओं को वार्ता के लिये जयपुर आने का न्यौता दिया है, लेकिन वे इससे सहमत नहीं हैं.

13 अक्टूबर 2020: जानिए आज का पंचांग, ये रहेगा शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

13 अक्टूबर 2020: जानिए आज का पंचांग, ये रहेगा शुभ-अशुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

जयपुर: पंचांग का हिंदू धर्म में शुभ व अशुभ देखने के लिए विशेष महत्व होता है. पंचाम के माध्यम से समय एवं काल की सटीक गणना की जाती है. यहां हम दैनिक पंचांग में आपको शुभ मुहूर्त, शुभ तिथि, नक्षत्र, व्रतोत्सव, राहुकाल, दिशाशूल और आज शुभ चौघड़िये आदि की जानकारी देते हैं. तो ऐसे में आइए पंचांग से जानें आज का शुभ और अशुभ मुहूर्त और जानें कैसी रहेगी आज ग्रहों की चाल... 

{related}

शुभ मास-  द्वितीय आश्विन (अधिक ) मास कृष्ण पक्ष
शुभ तिथि एकादशी नन्दा संज्ञक तिथि दोपहर 2 बजकर 36  मिनट तक तत्पश्चात द्वादशी तिथि रहेगी. एकादशी तिथि मे विवाह आदि मांगलिक, यज्ञोपवीत, गृह आरम्भ, प्रवेश, देव कार्य आदि कार्य शुभ व सिद्ध होते हैं.

मघा"उग्र व अधोमुख " संज्ञक नक्षत्र रात्रि 10 बज कर 55 मिनट तक तत्पश्चात पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र रहेगा. मघा नक्षत्र मे विवाह आदि मांगलिक कार्य,बोरिंग कार्य इत्यादि कार्य विशेष रूप से सिद्ध होते है. मघा नक्षत्र मे जन्मा जातक साहसी, धनवान होता है. मघा नक्षत्र गंड मूल नक्षत्र माना जाता है. इस नक्षत्र मे जन्मे जातक की गंड मूल शांति हवन 27 दिन बाद पुनः इसी नक्षत्र के दिन करा लेनी चाहिए. 

चन्द्रमा - सम्पूर्ण दिन सिंह राशि में संचार करेगा  

व्रतोत्सव -  कमला (पुरषोत्तम ) एकादशी व्रत सबका  

राहुकाल - दोपहर 3 बजे से 4.30 बजे तक

दिशाशूल - मंगलवार को उत्त्तर दिशा मे दिशाशूल रहता है. यात्रा को सफल बनाने लिए घर से गुड़ खा कर निकले.    

आज के शुभ चौघड़िये - प्रातः 9.21  मिनट से दोपहर 01.39 मिनट तक चर,लाभ,अमृत का और दोपहर 3.05  मिनट से सायं 4.31  तक शुभ का चौघड़िया. 

गहलोत कैबिनेट की बैठक आज, विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने के प्रस्ताव का किया जा सकता अनुमोदन

जयपुर: गहलोत कैबिनेट की आज शाम 4:00 बजे अहम बैठक होगी. इसके बाद शाम 4:15 बजे मंत्रिपरिषद की भी बैठक होगी. इसमें कृषि बिलों को लेकर विधानसभा सत्र बुलाने को मंजूरी दी जा सकती है. विधानसभा में संशोधित कृषि कानून लाने पर चर्चा हो सकती है. सीएम गहलोत ने शनिवार को बिड़ला सभागार में आयोजित किसान सम्मेलन में कृषि कानूनों को राजस्थान में लागू नही करने का जल्दी फैसला लेने के बारे में कहा था. साथ ही कृषि बिलों में संशोधन के लिए विधिक राय लेने के भी संकेत दिए थे. 

विधानसभा सत्र को लेकर होगा फैसला: 
ऐसे में माना जा रहा है कि आज विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने के प्रस्ताव का अनुमोदन किया जा सकता है. साथ ही प्रस्तावित संशोधन की रूपरेखा का भी अनुमोदन हो सकता है. इसके साथ ही सपोटरा में मृतक पुजारी के आश्रित को संविदा पर नौकरी को लेकर भी अनुमोदन हो सकता है इसका आश्वासन सरकार की ओर से मिलने पर कल मृतक पुजारी की अंत्येष्टि की गई थी. 

{related}

मृतक पुजारी के आश्रित को नौकरी देने का अनुमोदन किया जा सकता:
गौरतलब है कि अलवर में रेप पीड़िता को नौकरी देने का गृह विभाग का प्रस्ताव और टोंक में ट्रैक्टर से मारे गए व्यक्ति की पत्नी को नौकरी देने का कैबिनेट ने अनुमोदन किया था. जिसके बाद इन दोनों मामलों में आश्रितों को नौकरी मिली थी. इसी तर्ज पर सपोटरा में मृतक पुजारी के आश्रित को नौकरी देने का अनुमोदन किया जा सकता है. इसके साथ ही मंत्रिपरिषद की बैठक में कोरोना को लेकर शुरू हुए जन आंदोलन को लेकर फीडबैक लिया जा सकता है. इसमें आगे किए जाने वाले उपायों को लेकर भी औपचारिक और अनौपचारिक चर्चा हो सकती है.


 

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस: NCB दफ्तर पहुंची रिया चक्रवर्ती, ड्रग्स केस में पूछताछ जारी 

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस: NCB दफ्तर पहुंची रिया चक्रवर्ती, ड्रग्स केस में पूछताछ जारी 

नई दिल्ली: सुशांत सिंह राजपूत केस में हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं.सीबीआई की जांच के बीच इस मामले के तार ड्रग्स से जुड़ गए हैं, जिसे लेकर एनसीबी पड़ताल कर रही है. शक के घेरे में रिया चक्रवर्ती हैं. उनके भाई शोविक और सैमुअल मिरांडा व दीपेश को एनसीबी गिरफ्तार कर पूछताछ कर रही है. आज रिया चक्रवर्ती से पूछताछ जारी है. इससे पहले एनसीबी ने रिया को समन जारी किया था. आपको बता दें कि फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत डेथ केस की मुख्य आरोपी रिया चक्रवर्ती है. 

रिया से एनसीबी की पूछताछ:
आज एनसीबी ड्रग्स मामले में पूछताछ करेगी. मुंबई पुलिस के साथ रिया एनसीबी दफ्तर पहुंच चुकी है, जहां उनसे एनसीबी के अधिकारियों के द्वारा पूछताछ की जाएगी. इससे पहले एनसीबी रिया को समन देने के लिए पहुंची थी. एनसीबी के संयुक्त निदेशक समीर वानखेड़े ने कहा था, रिया को समन दिया गया है. वह अपने घर पर थी. एनसीबी ने रिया चक्रवर्ती को समन जारी कर आज जांच में शामिल होने और खुद या टीम के साथ आने के लिए कहा है. मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक रिया और शौविक के आमने-सामने बिठाकर पूछताछ की जाएगी. 

{related}

शौविक चक्रवर्ती और मिरांडा गिरफ्तार:
गौरतलब है कि रिया चक्रवर्ती के भाई शौविक चक्रवर्ती को एनसीबी ने गिरफ्तार किया है. इस केस में अब तक 6 लोगों की गिरफ्तारी की गई है. शौविक चक्रवर्ती और उनके हाउस मैनेजर सैम्यूअल मिरांडा को एक दिन पहले ही नारकोटिक्स ड्रग्स एंड साइकोट्रोपिक सब्सटेंसेज (एनडीपीएस) कानून के तहत शुक्रवार को गिरफ्तार किया. उन दोनों को 9 सितंबर तक एनसीबी की कस्टडी में भेज दिया गया है. सुशांत सिंह राजपूत की मौत की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय को ड्रग्स का कनेक्शन मिलने के बाद एनसीबी ने इस मामले में जांच शुरू की थी.

विधायक खरीद फरोख्त प्रकरण: मुख्यमंत्री आवास पर बढ़ी हलचल, करीब 20 मंत्री-विधायक पहुंचे सीएम आवास

विधायक खरीद फरोख्त प्रकरण: मुख्यमंत्री आवास पर बढ़ी हलचल, करीब 20 मंत्री-विधायक पहुंचे सीएम आवास

जयपुर: राजस्थान कांग्रेस में सियासी संकट मामला काफी तूल पकड़ता जा रहा है. मुख्यमंत्री आवास पर विधायकों के पहुंचने का सिलसिला जारी है. सीएम गहलोत से मिलने करीब 20 विधायक पहुंचे. इससे पहले शनिवार को सीएम गहलोत जब कैबिनेट मीटिंग कर रहे थे तो, डिप्टी सीएम सचिन पायलट इस बैठक में शामिल नहीं हुए. इस वक्त वो दिल्ली में थे.

करीब 20 मंत्री-विधायक पहुंचे मुख्यमंत्री आवास:
आपको बता दें कि करीब 20 मंत्री-विधायक मुख्यमंत्री आवास पहुंचे. जिनमें शांति धारीवाल, गोविंद डोटासरा, महेश जोशी, सालेह मोहम्मद, टीकाराम जूली, भंवर सिंह भाटी, भजन लाल जाटव, प्रमोद जैन भया,हरीश चौधरी, महेंद्र चौधरी,बाबूलाल नागर, रामलाल जाट, जोगिंदर अवाना,राजेंद्र गुढ़ा संदीप यादव, लखन मीणा, रफीक खान, जोहरी लाल मीणा, रघुवीर मीना,शकुंतला रावत, मुख्यमंत्री आवास पर पहुंचे.इससे पहले इंटेलिजेंस के अफसर मुख्यमंत्री अवासर पर पहुंचे. मुख्यमंत्री गहलोत को प्रदेश की कानून व्यवस्था की रिपोर्ट देंगे. वहीं एसओजी के अधिकारियों के भी पहुंचे की चर्चा है.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में 4 मौत, 153 नए पॉजिटिव केस, अलवर में सर्वाधिक 42 पॉजिटिव मरीज मिले

शनिवार को भी इन मंत्रियों और विधायकों ने की सीएम से मुलाकात: 
राजस्थान में विधायकों की खरीद-फरोख्त के जरिए सरकार गिराने की साजिश के खुलासे के बाद राजस्थान सरकार के मंत्रियों और विधायकों ने शनिवार को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत से मुलाकात की. मुख्यमंत्री आवास पर हुई मुलाकात में एक दर्जन मंत्री और एक दर्जन विधायक मौजूद रहे. बसपा से आए 6 में से 4 विधायक और आधा दर्जन से अधिक निर्दलीय विधायक सीएम से मिले. मुख्यमंत्री से करने वालों में चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा, यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल, परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास, चिकित्सा राज्यमंत्री डॉ. सुभाष गर्ग, श्रम मंत्री टीकाराम जूली, महिला बाल विकास विभाग मंत्री ममता भूपेश, खेल मंत्री अशोक चांदना, मुख्य सचेतक महेश जोशी, उप मुख्य सचेतक महेंद्र चौधरी शामिल रहे. 

अनुपम खेर के परिवार के 4 सदस्यों को हुआ कोरोना, मां और भाई निकले कोरोना संक्रमित, ट्वीट करके दी जानकारी