हरियाली अमावस्या पर दर्शन को उमड़ा आस्था का जनसैलाब, नहीं दिखा कोरोना का भय

हरियाली अमावस्या पर दर्शन को उमड़ा आस्था का जनसैलाब, नहीं दिखा कोरोना का भय

बारां: एक ओर संपूर्ण देश में कोरोना नामक महामारी ने कहर बरपा रखा है वहीं दूसरी ओर आज सोमवती अमावस्या पर सीताबाड़ी में दर्शन के लिए आस्था का सैलाब उमड़ा. वहीं कोरोना का भय भी श्रद्धालुओं को नहीं रोक पाया आज हजारों की संख्यां में श्रदालु देखने को मिले. वहीं सरकार के नियम कानूनों की धज्जियां उड़ती दिखाई दी. लोग सोशल डिस्टेंसिग एवं मास्क की अनिवार्यता को भूलते दिखाई दिए. हालांकि केलवाड़ा थाना पुलिस के जवान लोगों को समझाते नजर आए. हजारों की संख्या होने के कारण सरकार के आदेशों की जमकर धज्जियां उड़ी. हजारों की भीड़ जमा होने के बाबजूद भी प्रसाशन मौन बैठा रहा.

Rajasthan Political Crisis: दिसंबर से ही मुझे ऑफर दिए जा रहे थे, मैं शिव मंदिर में हाथ लगाकर यह कह सकता हूं- गिरिराज मलिंगा 

स्नान करने पहुंचने वाले श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा: 
इस बार स्नानार्थियों ने बाहरी कुंडों में डुबकीयां तो लगाई लेकिन मंदिरों में पट बंद होने के कारण मंदिरों के बाहर से ही मंदिरों के दरबाजों पर पूजा-अर्चना की. इस दौरान सुरक्षा के लिए प्रशासनिक अमला जुटा रहा. सोमवती अमावस्या एवं एक दिवसीय लघु सीताबाड़ी मेले के मौके पर स्नान करने पहुंचने वाले श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा. लोगों की मान्यता है कि सोमवती अमावस्या के दिन सीताबाड़ी में स्नान करने एवं मन्दिरों में दर्शन करने से मोक्ष की प्राप्ति होती है. इसलिए इस दिन स्नान को काफी महत्व दिया जाता है. रविवार की शाम से ही श्रद्धालुओं का सीताबाड़ी में पहुंचना शुरू हो गया जो कि देर रात तक जारी रहा. आज के दिन लगने वाले एक दिवसीय मेले में लोग जमकर खरीददारी करते दिख रहे हैं. 

Rajasthan Political Crisis: एक-दो दिन में विधानसभा का संक्षिप्त सत्र बुलाए जाने की चर्चा  

और पढ़ें