मलप्पुरम PMGSY दिशानिर्देशों को प्रत्येक राज्य की जरूरतों के आधार पर लचीला बनाने की जरूरत- राहुल गांधी

PMGSY दिशानिर्देशों को प्रत्येक राज्य की जरूरतों के आधार पर लचीला बनाने की जरूरत- राहुल गांधी

PMGSY दिशानिर्देशों को प्रत्येक राज्य की जरूरतों के आधार पर लचीला बनाने की जरूरत- राहुल गांधी

मलप्पुरम: कांग्रेस नेता और वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना (पीएमजीएसवाई) के तहत दिशा-निर्देशों को प्रत्येक राज्य की जरूरतों और परिस्थितियों के आधार पर अधिक लचीला बनाने की आवश्यकता है. उन्होंने केंद्र सरकार से इसमें संशोधन पर विचार करने का अनुरोध किया है.

केरल के मलप्पुरम जिले के नीलांबुर इलाके में पीएमजीएसवाई के तहत सड़क निर्माण के उद्घाटन के मौके पर कांग्रेस सांसद ने कहा कि उन्होंने केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री को दिशा-निर्देशों को संशोधित करने पर विचार करने के लिए एक पत्र लिखा है. उन्होंने कहा कि मुझे उम्मीद है कि वे इस पर विचार करेंगे. गांधी ने कहा कि उन्होंने रखरखाव और उन्नयन के लिए पीएमजीएसवाई के तहत शामिल होने वाली 11 सड़कों की सूची दी है.

अभियान के तहत घर देने से इनकार कर दिया:
सड़क निर्माण के उद्घाटन के अलावा, गांधी ने नीलांबुर में केरल प्रदेश कांग्रेस कमेटी (केपीसीसी) की एक शाखा संस्कारिका साहिति द्वारा निर्मित मकान की चाबी एक महिला को सौंपे जाने के संबंध में आयोजित समारोह में भी भाग लिया. बाढ़ में अपना घर गंवा चुकी महिला को कथित तौर पर राज्य सरकार के ‘लाइफ मिशन’ अभियान के तहत घर देने से इनकार कर दिया गया था.

कई अन्य कार्यक्रमों में भाग लेने वाले हैं:
गांधी ने इस कार्यक्रम में आरोप लगाया कि घर पाने के लिए पात्र होने के बावजूद, अपनी राजनीतिक विचारधारा और कांग्रेस पार्टी की समर्थक होने के कारण महिला को ‘लाइफ मिशन’ के तहत घर देने से इनकार कर दिया गया. इसके बाद वायनाड के सांसद ने मलप्पुरम के वंदूर इलाके से कई ट्रॉमा केयर एंबुलेंस को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया. गांधी रविवार रात दिल्ली लौटने से पहले अपनी तीन दिवसीय केरल यात्रा के तीसरे दिन मलप्पुरम जिले में कई अन्य कार्यक्रमों में भाग लेने वाले हैं. सोर्स-भाषा 

और पढ़ें