जयपुर Rajasthan Political Crisis: राज्यपाल ने 14 अगस्त से विधानसभा का सत्र बुलाए जाने की दी अनुमति

Rajasthan Political Crisis: राज्यपाल ने 14 अगस्त से विधानसभा का सत्र बुलाए जाने की दी अनुमति

जयपुर: राजस्थन में चल रहे सियासी घमासान के बीच आखिरकार राज्यपाल और गहलोत सरकार के बीच जारी गतिरोध थम गया है. राज्यपाल ने 14 अगस्त से विधानसभा का सत्र बुलाए जाने की अनुमति दे दी है. इससे पहले गहलोत सरकार ने राज्यपाल से 14 अगस्त से विधानसभा सत्र बुलाने की मांग की थी. सत्र बुलाने को लेकर गहलोत कैबिनेट की बैठक हुई थी, जिसमें 14 अगस्त से विधानसभा सत्र बुलाने के लिए प्रस्ताव पास किया गया. उसके बाद प्रस्ताव को राज्यपाल के पास भेजा गया जिसे उन्होंने स्वीकार कर लिया. 

Rajasthan Political Crisis: बसपा प्रकरण में एक नया मोड़! जानकार सूत्रों ने दिए संकेत

राजभवन की ओर से जारी बयान में कहा गया कि राजस्थान विधानसभा के सत्र को 14 अगस्त से आरंभ करने के प्रस्ताव को राज्यपाल कलराज मिश्र ने स्वीकृति दे दी है. वहीं मिली जानकारी के अनुसार राज्यपाल ने विधानसभा सत्र के दौरान कोविड-19 से बचाव के लिए आवश्यक प्रबंध किए जाने के भी मौखिक रूप से निर्देश दिए हैं. 

तीन बार लौटाया प्रस्ताव: 
इससे पहले बुधवार को राजभवन ने सरकार की ओर से भेजे गए संशोधित प्रस्ताव को तीसरी बार सरकार को लौटा दिया गया. इसमें राज्यपाल ने सरकार से अल्पावधि के नोटिस पर सत्र आहूत करने का कारण पूछा. इसके साथ ही राज्यपाल ने सरकार से कहा कि यदि उसे विश्वास मत हासिल करना है तो यह जल्दी यानी अल्पसूचना पर सत्र बुलाए जाने का कारण हो सकता है. इसके बाद गहलोत सरकार ने बुधवार को चौथा प्रस्ताव भेजा. 

बसपा विधायकों का कांग्रेस में विलय को चुनौती प्रकरण में आज हाईकोर्ट में सुनवाई रही अधूरी, कल दोपहर 2 बजे फिर होगी सुनवाई

सीएम गहलोत और विधानसभा अध्यक्ष ने की थी राज्यपाल से मुलाकात:
राजभवन द्वारा फाइल लौटाए जाने के बाद मुख्यमंत्री गहलोत बुधवार दोपहर राजभवन में राज्यपाल से मिले. राजभवन के सूत्रों ने इसे शिष्टाचार भेंट बताया. वहीं राजस्थान विधानसभा के अध्यक्ष डॉ सी पी जोशी ने भी बुधवार शाम राज्यपाल मिश्र से मुलाकात की. आधिकारिक रूप से इसे भी शिष्टाचार भेंट बताया गया है.

और पढ़ें