कोरोना लहर कमजोर पड़ते ही कांग्रेस असंतुष्ट गतिविधियां भी अनलॉक ! सचिन पायलट ने दागा 'बयान बम'

कोरोना लहर कमजोर पड़ते ही कांग्रेस असंतुष्ट गतिविधियां भी अनलॉक ! सचिन पायलट ने दागा 'बयान बम'

जयपुर: कोरोना (Coronavirus) लहर कमजोर पड़ते ही कांग्रेस (Congress) असंतुष्ट गतिविधियां भी अनलॉक (Unlocked) हो गई है. राजस्थान में अनलॉक होते ही हिन्दुस्तान टाइम्स की खास बातचीत में सचिन पायलट (Sachin Pilot) ने 'बयान बम' दागा है. ऐसे में एक बार फिर प्रदेश कांग्रेस में कलह सामने आई है. पायलट ने 10 माह पुराना आलाकमान का वादा याद दिलाया है. उन्होंने कहा कि आलाकमान वादों को पूरा करने में विफल रहा है. 

इसके साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने तीन सदस्यीय समझौता समिति की कार्रवाई पर भी सवाल उठाए हैं? पायलट ने कहा कि मुद्दों को हल करने के लिए बनाई गई कमेटी भी विफल रही है. अजय माकन की कमेटी भी कुछ नहीं कर पाई है. कमेटी के सदस्य वेणुगोपाल राजस्थान से राज्यसभा सांसद भी हैं लेकिन वो छह माह से राजस्थान आए ही नहीं. वहीं माकन दौरे पर राजस्थान आते रहे हैं और राजनीतिक नियुक्तियां जल्द होने की तारीखें बताते रहे, लेकिन 6 माह से समझौता समिति निष्क्रिय है.
 
अब इस सारे माहौल में उठता है एक अहम सवाल ?
सचिन पायलट ने बातचीत में कहा कि 10 महीने बाद भी हमारे मुद्दे हल नहीं हो पाए हैं. जबकि जल्द से जल्द सभी मुद्दों के निस्तारण का वादा किया गया था. लेकिन अब सरकार का आधा कार्यकाल पूरा हो चुका है. पार्टी के लिए सबकुछ न्यौछावर करने वाले कार्यकर्ताओं की सुनवाई नहीं होना दुर्भाग्यपूर्ण हैं. अब इस सारे माहौल में एक अहम सवाल उठता है. क्या होगा अब पायलट का अगला कदम ? क्या वह आलाकमान से करेंगे दो टूक बात ? ...या फिर अपनाएंगे कोई दूसरा रास्ता ?

जल्द खाली पद भरे जाने की संभावना !
वहीं दूसरी ओर राजस्थान में जल्द खाली पद भरे जाने की संभावना जताई जा रही है. प्रदेश कांग्रेस प्रभारी अजय माकन ने एक अंग्रेजी अखबार में बयान दिया है. सचिन पायलट के बयान पर बोलते हुए अजय माकन ने कहा कि मेरे बोलने का अभी सही समय नहीं है. लेकिन सरकार में कुछ खाली पद हैं, जिन्हें जल्दी ही भरा जाएगा. गहलोत मंत्रिमंडल में अभी 21 मंत्री, जबकि कुल 30 मंत्री हो सकते हैं. ऐसे में 9 मंत्रियों के पद फिलहाल मंत्रिमंडल में खाली चल रहे हैं. 

और पढ़ें