कोटा कोटा के MBS अस्पताल में चूहे ने कुतरी मरीज की आंख, पैरालाइज्ड पीड़िता बोल नहीं सकती; जानिए क्या है पूरा मामला

कोटा के MBS अस्पताल में चूहे ने कुतरी मरीज की आंख, पैरालाइज्ड पीड़िता बोल नहीं सकती; जानिए क्या है पूरा मामला

कोटा: जिले के MBS हॉस्पिटल (Kota hospital rat bites patient) से बेहद डराने वाली तस्वीरें सामने आईं हैं. यहां स्ट्रोक यूनिट में ग्लूनबेरी सिंड्रोम की मरीज रुपमति की आंख चूहे ने कुतर डाली. इस बारे में जब फर्स्ट इंडिया न्यूज पर खबर प्रसारित हुई तो अस्पताल प्रबंधन एक्शन में आया. अब अस्पताल उपाधीक्षक डॉ समीर टंडन ने जांच बैठायी है. उपाधीक्षक डॉ. समीर टंडन ने फर्स्ट इंडिया से खात बातचीत करते हुए कहा कि ये अस्पताल की प्रतिष्ठा के प्रतिकूल है. जांच के बाद 7 दिन में जिम्मेदारी तय करेंगे. 

मिली जानकारी के अनुसार इलाके की 28 वर्षीय रूपवती बीते कुछ दिनों से MBS अस्पताल के न्यूरो स्ट्रोक यूनिट में भर्ती है. उसका पूरा शरीर पेरेलाइज है. वो शरीर का कोई हिस्सा हिला नहीं सकती. साथ ही बोल भी नहीं सकती है. सोमवार देर रात उसकी दाईं आंख की पलकों को चूहा कुतर गया. जब जानकारी मिलने पर महिला के पति ने देखा तो आंखों में से खून टपक रहा था और उसने इस संबंध में चिकित्सकों से बात की. चिकित्सकों ने नेत्र रोग विभाग के चिकित्सकों को कंसल्ट किया और उपचार की बात कही. साथ ही कहा कि अगर जरूरत होगी तो आंख की सर्जरी भी करवा दी जाएगी.

अस्पताल प्रबंधन मामले को दबाने की पूरी कोशिश में:
वहीं इस मामले के सामने आने के बाद अस्पताल प्रबंधन मामले को दबाने की पूरी कोशिश में है. उनका कहना है कि चूहे ने मरीज को काटा है या नहीं इस मामले की जांच करवा रहे हैं. इसके साथ ही उन्होंने संदेह जताते हुए कहा कि इसमें अस्पताल प्रबंधन की गलती है या किसी और इसकी भी पड़ताल होगी. मरीज के परिजन को भी आईसीयू में एंट्री रहती है. ऐसे में जब वे वहां पर मौजूद थे, तब उनकी भी जिम्मेदारी थी. हम ये नहीं कह सकते कि हमारी गलती इसमें नहीं है. इस संबंध में वॉर्ड इंचार्ज और प्रभारियों से भी रिपोर्ट मांगी गई है. उनकी लापरवाही सामने आती है, तो जांच हो जाएगी.

और पढ़ें