जयपुर Rajasthan: बांसवाड़ा जिले के किसानों को सिंचाई के लिए खास सौगात, CM अशोक गहलोत ने किया 2629 करोड़ के प्रस्तावों का अनुमोदन

Rajasthan: बांसवाड़ा जिले के किसानों को सिंचाई के लिए खास सौगात, CM अशोक गहलोत ने किया 2629 करोड़ के प्रस्तावों का अनुमोदन

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने वागड़ को बड़ा तोहफा (gift) देते हुए बांसवाड़ा जिले में माही परियोजना (mahi project) से अपर हाई लेवल नहर के निर्माण के लिए 2500 करोड़ रुपए का बजट स्वीकृत कर दिया है. वहीं हरिदेव जोशी नहर (haridev joshi canal) एवं इसकी वितरण प्रणाली के सुदृढीकरण कार्य के लिए 129.19 करोड़ रूपए की वित्तीय स्वीकृति जारी कर दी.

गहलोत ने आदिवासी अंचल के विकास को नए पंख लगाते हुए माही प्रोजेक्ट के लिए बड़ा बजट दिया है. इस परियोजना में 121 अतिरिक्त गांवों को भी कमाण्ड क्षेत्र में सम्मिलित किया है. इस परियोजना से अब बांसवाड़ा जिले के बांसवाड़ा, बागीदौरा, आनन्दपुरी, सज्जनगढ़, कुशलगढ़ व गांगडतलाई तहसिलों के कुल 338 गांवों के 41903 हैक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा उपलब्ध हो सकेगी. इससे क्षेत्र के किसानों के सामाजिक एवं आर्थिक जीवन स्तर में वृद्धि होगी. मुख्यमंत्री द्वारा स्वीकृति से 105 कि.मी. लम्बी नहर का निर्माण किया जाएगा जिसका डिस्चार्ज 20 क्यूसेक होगा. परियोजना के तहत सम्पूर्ण सिंचित क्षेत्र में दबाव आधारित पाइप लाइन द्वारा 1.25 हैक्टेयर की इकाई तक फव्वारा पद्धति से सिंचाई होगी. 

माही परियोजना के मौजूदा कमाण्ड क्षेत्र में दो प्रमुख नहरों दायीं मुख्य नहर और बायीं मुख्य नहर तथा मूंगडा नहर द्वारा सीधे मुख्य बांध से जल ले जाया जाता है. दोनों नहरें, बायीं और दायीं नहर आर.एल. 230 मीटर पर कागदी पिकअप वीयर से जल ले जा रही हैं. अपर हाई लेवल केनाल परियोजना के तहत बांसवाड़ा, बागीदौरा, आनन्दपुरी, सज्जनगढ़, कुशलगढ़ तथा गांगडतलाई तहसील के 217 गांवों के 27340.82 हैक्टेयर क्षेत्र को सिंचाई सुविधा प्रदान करने के लिए बांसवाड़ा तहसील के बोरतालाब गांव के पास सेडल डेम नं.-1 से अपर हाई लेवल केनाल योजना प्रस्तावित थी. स्थानीय नागरिकों एवं जनप्रतिनिधियों की मांग पर अन्य असिंचित क्षेत्र को भी इस परियोजना में शामिल किया गया है जिससे अब कुल 338 गांवों को सिंचाई के लिए पर्याप्त जल मिलेगा.  

मुख्यमंत्री द्वारा हरिदेव जोशी नहर तंत्र के लिए 12,891 हैक्टेयर भूमि में सिंचाई जल की दक्षता में वृद्धि होगी:
मुख्यमंत्री द्वारा हरिदेव जोशी नहर तंत्र के लिए स्वीकृत 129.19 करोड़ रुपए से लगभग 12,891 हैक्टेयर भूमि में सिंचाई जल की दक्षता में वृद्धि होगी एवं किसानों को सिंचाई के लिए आवश्यक जल की सुनिश्चितता हो सकेगी. प्रस्तावित कार्य से बांसवाड़ा जिले के बागीदौरा विधानसभा क्षेत्र की आनन्दपुरी तहसील व आसपास के सैकड़ों किसानों को लाभ मिलेगा.गहलोत द्वारा स्वीकृति से हरिदेव जोशी नहर एवं इसकी वितरण प्रणाली के अंतर्गत रोहनिया माईनर, छाजा माईनर एवं आम्बादरा माईनर के साथ-साथ 52 माईनर एवं सब माईनरों की कुल 270 कि.मी. लम्बाई में मरम्मत के कार्य किए जाएंगे, जिनकी वर्तमान स्थिति जीर्ण-शीर्ण है. इससे उपयोगी सिंचाई जल नहरों की लाईनिंग एवं नहरी तन्त्र की संरचनाओं से रिस कर व्यर्थ चला जाता है. 

और पढ़ें