Jaipur: चरित्र पर करता था संदेह, पत्नी ने धर्म भाई के साथ मिलकर की पति की हत्या; 2 दिन सूटकेस में रखी लाश

Jaipur: चरित्र पर करता था संदेह, पत्नी ने धर्म भाई के साथ मिलकर की पति की हत्या; 2 दिन सूटकेस में रखी लाश

जयपुर: राजधानी जयपुर के करधनी इलाक़े में बोरी में मिले युवक के शव मामले में बड़ा ख़ुलासा हुआ है. मृतक शक्ति सिंह की हत्या उसकी पत्नी मंजू राठौड और पत्नी के धर्म के भाई पंकज शर्मा की थी और उसके बाद बोरी में बंद करके शव को सुनसान इलाक़े में फेंककर फ़रार हो गए थे. लेकिन पुलिस ने वारदात के कुछ ही घंटो में इस मामले का पर्दाफाश कर दिया.

करधनी इलाक़े के निवारू रोड पर 9 नवंबर की शाम को एक बोरे में शव मिला. सूचना पर डीसीपी सहित पुलिस के अधिकारी मौक़े पर पहुँचे. शव बोरे में बंद था. पुलिस की जांच में सामने आया कि ये बोरा क़रीब चार दिन से यहीं था, लेकिन लोगों ने बोरे में किसी जानवर का शव समझकर पुलिस को सूचना नहीं दी. लेकिन कल शाम कुछ श्वानों  ने जब बोरे को फाड़ दिया, तब जाकर लोगों ने युवक का शव देखा और पुलिस को सूचना दी. पुलिस ने मौक़े पर जाँच पड़ताल की और सीसीटीवी फ़ुटेज खंगाले तो सामने आया कि एक महिला अपने साथी के साथ स्कूटी पर आयी और बोरे को फेंककर फ़रार हो गयी थी.  

पुलिस ने CCTV फ़ुटेज के आधार पर जांच शुरू की तो स्कूटी के सहारे शव फेंकना सामने आया था. पुलिस ने स्कूटी के नंबर ट्रेस किये. जांच के दौरान ये भी पता चला कि झोटवाड़ा इलाक़े से एक युवक शक्ति सिंह शेखावत भी लापता था. पुलिस ने पूछताछ शुरू की तो ये पता चला कि शक्तिसिंह की पत्नी भी ऐसी ही स्कूटी का इस्तेमाल करती थी. जिस तरह की सीसीटीवी तस्वीरों में दिखायी दी थी. पुलिस ने शक्तिसिंह की पत्नी मंजू और उसके पुरुष साथी पंकज से सख़्ती से पुछताछ शुरु की दोनों ने हत्या करना स्वीकार किया.  

शव को दो दिन तक एक सूटकेस में डालकर अपने घर में रखा:
गिरफ्तार महिला मंजू ने बताया कि उसका पति उसके चरित्र को लेकर शक कर रहा था और उसके साथ मारपीट करता था. जिसके चलते उसने पंकज के साथ मिलकर अपने पति की हत्या कर दी थी, और शव को दो दिन तक एक सूटकेस में डालकर अपने घर में रखा और उसके बाद पहचान छिपाने के लिए सूटकेस में कपूर के जरिए शव को जलाया भी गया. शव को जलाने के बाद उसे दूसरे बोरे में डाल दिया गया और ले जाकर सुनसान इलाक़े में फेंक दिया. 

धनतेरस की रात को इस वारदात को अंजाम दिया गया था:
आरोपी पत्नी ने पुलिस को बताया की धनतेरस की रात को इस वारदात को अंजाम दिया गया था और दिपावली के दिन शव को बोर में डालकर निवारू इलाके में फेंका गया था. बहरआल, पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए इस वारदात का पर्दाफाश कर दिया है. लेकिन इस घटना ने यह सोचने पर मजबूर कर दिया की बदलते परिदृश्य में पत्नी पत्नी के रिश्ते के विश्वास में कितनी कमी आ गई है.

...फर्स्ट इंडिया न्यूज के लिए जयपुर से सत्यनारायण शर्मा की रिपोर्ट

और पढ़ें