देश की अर्थव्यवस्था अब सुधर रही, रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं

देश की अर्थव्यवस्था अब सुधर रही, रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं

देश की अर्थव्यवस्था अब सुधर रही, रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं

नई दिल्ली: रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक के निर्णयों का ऐलान कर दिया गया है. RBI ने रेपो रेट और रिवर्स रेपो रेट में कोई बदलाव नहीं किया है. रेपो रेट 4% और रिवर्स रेपो रेट 3.35% पर बरकरार है. ऐसे में साफ है कि आपको ईएमआई या लोन की ब्याज दरों पर नई राहत नहीं मिलेगी.

गुजरात: अहमदाबाद के कोरोना अस्पताल में आग लगने से 8 मरीजों की मौत, PM मोदी ने की मुआवजे की घोषणा 

कोरोना की मार के बाद देश की अर्थव्यवस्था अब सुधर रही:
आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि ग्लोबल इकनॉमी कमजोर है. लेकिन कोरोना की मार के बाद देश की अर्थव्यवस्था अब सुधर रही है. विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ा है. खुदरा महंगाई दर नियंत्रण में है. उन्होंने कहा कि वित्त वर्ष 2020-21 में जीडीपी ग्रोथ रेट निगेटिव रहेगी. जून में लगातार चौथे महीने भारत के व्यापार निर्यात में कमी आई. घरेलू मांग में कमी और अंतर्राष्ट्रीय क्रूड तेल के दामों में कमी की वजह से जून महीने में आयात में काफी कमी आई.

Coronavirus in India: 24 घंटे में मिले कोरोना के 56 हजार से ज्यादा नए मरीज, मृतकों का आंकड़ा 40 हजार के पार 

कोरोना काल में आरबीआई के मौद्रिक नीति समीक्षा की तीसरी बैठक:  
कोरोना काल में आरबीआई के मौद्रिक नीति समीक्षा की तीसरी बैठक थी. बता दें कि कोरोना संकट की वजह से दो बार समय से पहले बैठक हो चुकी है. पहली बैठक मार्च में और उसके बाद मई, 2020 में दूसरी बैठक हुई. इन दोनों बैठकों में रिजर्व बैंक की रेपो रेट में कुल मिला कर 1.15 फीसदी की कटौती की. बीते साल यानी फरवरी, 2019 के बाद रेपो रेट में 2.50 फीसदी की कटौती हो चुकी है.


 

और पढ़ें