यूपी में कांग्रेस की वरिष्ठ नेता राजकुमारी रत्ना सिंह का कांग्रेस से मोहभंग, भाजपा में हुई शामिल

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/10/15 13:10

प्रतापगढ़(यूपी): उत्तर प्रदेश में कांग्रेस को एक करारा झटका लगा है. प्रतापगढ़ की पूर्व सांसद और गांधी परिवार की करीबी राजकुमारी रत्ना सिंह बीजेपी में शामिल हो गई है. तीन बार प्रतापगढ़ की सांसद रह चुकी कालाकांकर राजघराने की राजकुमारी ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की उपस्थिति में मंगलवार दोपहर भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली. रत्ना सिंह के बीजेपी में शामिल होने की वजह प्रियंका गांधी से नाराजगी बताई जा रही है. 

पिता राजा दिनेश सिंह कांग्रेस की सरकार में विदेश मंत्री रहे: 
रत्ना उस कालाकांकर राजपरिवार से हैं, जो शुरू से कांग्रेसी रहा है. इनके परिवार के रामपाल सिंह कांग्रेस के संस्थापक सदस्यों में रहे हैं. पिता राजा दिनेश सिंह कांग्रेस की सरकार में विदेश मंत्री रहे. वह पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और राजीव गांधी के बहुत करीबी थे. उनको तो कांग्रेस का संकटमोचक भी माना जाता था. इसके चलते नेहरू-गांधी परिवार उनको बहुत महत्व देता था. उनको बिना सांसद रहे भी मंत्री बनाया गया था. अचानक राजकुमारी रत्ना के कांग्रेस से नाता तोड़ने के फैसले पर प्रदेश के कांग्रेस के नेता व कार्यकर्ता हतप्रभ हैं. 

रत्ना सिंह तीन बार 1996, 1999 और 2009 में सांसद रह चुकी:  
राजकुमारी रत्ना सिंह तीन बार 1996, 1999 और 2009 में सांसद रह चुकी हैं. बीते लोकसभा चुनावों में कांग्रेस प्रत्याशी रह चुकीं राजकुमारी रत्ना सिंह के समर्थन में राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी प्रचार कर चुकी हैं, लेकिन उन्हें हार का सामना करना पड़ा था. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in