Live News »

कारोबरी बाजार में 120 अंक बढ़ा सेंसेक्स, रुपये में भी वृद्दि

कारोबरी बाजार में 120 अंक बढ़ा सेंसेक्स, रुपये में भी वृद्दि

मुंबई। हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन शेयर मार्केट में अच्छी बढ़त देखने को मिली। गुरुवार को जहां कारोबारी बाज़ार में हाहाकार मचा हुआ था। वहीं शुक्रवार को कारोबार में सेंसेक्‍स में 120 अंक की बढ़त दर्ज की गई और 35,436 पर कारोबार कर रहा है। वहीं निफ्टी 27 अंक की बढ़त के साथ 10,627 पर कारोबार कर रहा है। शेयर बाजार में तेजी की वजह रुपये में रिकवरी है। 

गुरुवार को सेंसेक्‍स में 572 अंकों की गिरावट के बाद आज कारोबारी मार्केट में 120 अंकों की बढ़त दर्ज हुई है।  वहीं अगर रुपये की बात करें तो रुपये की शुरुआत आज बढ़त के साथ हुई है। डॉलर के मुकाबले रुपया 34 पैसे की बढ़त के साथ 70.56 के स्तर पर खुला है। हालांकि रुपये में गुरुवार को कमजोरी देखने को मिली थी। डॉलर के मुकाबले रुपया 44 पैसे कमजोर होकर 70.90 के स्तर पर बंद हुआ था।

और पढ़ें

Most Related Stories

RSS के लघु उद्योग भारती की अनुकरणीय पहल, घर के नजदीक मिलेगा रोजगार

RSS के लघु उद्योग भारती की अनुकरणीय पहल, घर के नजदीक मिलेगा रोजगार

जयपुर: दो वक्त की रोटी के लिए घर से सैकड़ों किलोमीटर दूर मजदूरी करने वाले श्रमिक कोरोना काल में अपने गृह राज्यों में वापस तो लौट चुके हैं. लेकिन अब उनके सामने रोजगार का संकट खड़ा हो गया है. लॉकडाउन में उद्योग-धंधे बंद होने से दिहाड़ी मजदूरों के लिए खड़ी हुई इस विकट समस्या के समाधान की दिशा में लघु उद्योग भारती ने एक अनूठा प्रयास शुरू किया है. 

Cyclone Nisarga: तेजी से विकराल रूप ले रहा चक्रवात निसर्ग, राजस्थान में भी 3 दिन भारी बारिश की चेतावनी 

एलयूबी नेशनल डॉट कॉम नामक पोर्टल लॉन्च किया:  
लघु उद्योग भारती ने एलयूबी नेशनल डॉट कॉम नामक पोर्टल लॉन्च किया है. इस पोर्टल पर बेरोजगार लोग अपना रजिस्ट्रेशन करा सकेंगे. जिनकी योग्यतानुसार स्क्रूटनी के बाद सम्बंधित क्षेत्र में रोजगार मिल सकेगा. 

रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में सराहनीय कार्य: 
पोर्टल का शुभारम्भ मंगलवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र संघचालक डॉ. रमेश अग्रवाल, लघु उद्योग भारती के राष्ट्रीय संगठन मंत्री प्रकाशचंद व पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष ओपी मित्तल ने आर एस एस के सेवा सदन में किया. डॉ. अग्रवाल ने कहा कि कोरोना संक्रमण के दौर में बड़ी तादात में लोग बेरोजगार हो चुके हैं. रोजगार के अभाव में अनेकों परिवारों को भरण-पोषण बहुत मुश्किल हो गया है. ऐसे में समाज के लोग रोजगारयुक्त हों इसका हरसंभव प्रयास करना सेवा भाव से हम सबकी जिम्मेदारी बनती है. इसके लिए लघु उद्योग भारती ने पोर्टल व मोबाइल एप लॉन्च कर बेरोजगार लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में सराहनीय कार्य शुरू किया है.

कोरोना के बाद पहली बार 8 जुलाई को खेला जायेगा अंतरराष्ट्रीय मैच, वेस्टइंडीज और इंग्लैंड होंगे आमने-सामने

मोबाइल या ई-मित्र से आवेदन किया जा सकता है:
इस दौरान संघ के अखिल भारतीय घुमंतू कार्य प्रमुख दुर्गादास, क्षेत्र प्रचारक निम्बाराम, सेवा प्रमुख शिवलहरी समेत कई कार्यकर्ता दो गज दूरी का पालन करते हुए कार्यक्रम में शामिल हुए. लघु उद्योग भारती के प्रदेशाध्यक्ष घनश्याम ओझा ने बताया कि पोर्टल पर नौकरी, नौकरी देने वाला व स्वरोजगार नाम से तीन श्रेणियां बनाई गई हैं. इनमें मोबाइल या ई-मित्र से आवेदन किया जा सकता  है. आवेदनों की जांच के बाद उन्हें रोजगार देने के लिए सम्बंधित उद्योगों में भेजा जाएगा. उन्होंने बताया कि पोर्टल व एप के माध्यम से कुशल, अकुशल व तकनीकी जानकार लोगों को उनके गृह क्षेत्र में ही काम मिल सकेगा. विभिन्न राज्यों से आ रहे प्रवासी उद्यमी अपने क्षेत्र में ही कोई छोटा मोटा व्यवसाय करना चाहेंगे तो उन्हें स्टार्ट अप में मदद मिलेगी. वहीं उद्यमियों को उनकी मांग के अनुरूप कारीगर, कंप्यूटर ऑपरेटर, ड्राइवर, हैल्पर, मशीन ऑपरेटर, फोरमैन, बाबू, कैटर्स आदि मिल सकेंगे तो इस तरह की श्रेणी के लोगों को अपने घर के आसपास काम मिल सकेगा. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए एश्वर्य प्रधान की रिपोर्ट

फिर बढ़ गई शराब की कीमतें, 5 से 30 रुपए तक कीमतों में बढ़ोतरी

फिर बढ़ गई शराब की कीमतें, 5 से 30 रुपए तक कीमतों में बढ़ोतरी

जयपुर: राज्य सरकार अब प्राकृतिक या मानव निर्मित आपदाओं की जंग शराब पर लगाकर लड़ने की तैयारी में है. राज्य सरकार ने मंगलवार को एक अधिसूचना जारी कर शराब की विभिन्न किस्म और पैकिंग पर 5रुपए से लेकर 30 रुपए तक की वृद्धि कर दी है. इसका असर उपभोक्ताओं पर मंगलवार से ही पड़ना शुरू हो गया है. राज्य सरकार द्वारा जारी अधिसूचना में स्पष्ट तौर पर कहा गया है कि सूखा, बाढ़, महामारी जन स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं और आगजनी की स्थिति से निपटने के लिए शराब पर सर चार्ज लगाया गया है. जारी अधिसूचना के अनुसार अंग्रेजी शराब के पव्वे पर 5 रुपए, अद्धे पर 5 रुपए और बोतल पर 10 रुपए की वृद्धि की गई है.

राजस्थान रोडवेज बढ़ा रहा बस संचालन का दायरा, बुधवार से 100 नए रूटों पर चलेंगी बसें

उपभोक्ता के बीच दरों को लेकर गफलत:
इसी तरह ब्रीज़र पर 5 रुपए,  मिनिएचर और अन्य पैकिंग पर 5 रुपए और बीयर की बोतल पर 20 रुपए की वृद्धि की गई है. छोटी बीयर पर 5 रुपए की वृद्धि की गई है. देसी शराब के प्रति पव्वे और राजस्थान निर्मित शराब के प्रति पव्वे पर डेढ़ रुपए सरचार्ज लगाया गया है. आदेश में यह भी कहा गया है कि रिटेलर से यह राशि खरीदारी के समय ही वसूल की जाएगी और रिटेलर इस राशि को उपभोक्ता से वसूलेगा. बड़ी बात यह है कि सर चार्ज की राशि एमआरपी यानी अधिकतम खुदरा मूल्य में शामिल नहीं होगी ऐसे में लाइसेंसी और उपभोक्ता के बीच दरों को लेकर गफलत ही रहेगी. 

खजाना भरने के लिए शराब की दरों में लगातार वृद्धि:
इससे लाइसेंसी और ग्राहक के बीच तनाव बढ़ेगा. ध्यान रहे राज्य सरकार ने बीते वित्त वर्ष में अंग्रेजी शराब की दरों में 4 बार वृद्धि की थी और चालू वित्त वर्ष में दो बार वृद्धि की जा चुकी है. एक साल पहले जो शराब 100 रुपए की मिलती थी उसकी कीमत आज 200 रुपए से ज्यादा हो चुकी है सीधे तौर पर कहा जा सकता है कि राज्य सरकार खजाना भरने के लिए शराब की दरों में लगातार वृद्धि कर रही है. इससे उपभोक्ता को तो अपना शौक पूरा करने के लिए मोटी राशि चुकानी पड़ रही है साथ ही लाइसेंसी के लिए शराब बेचना मुश्किल हो गया है. सूत्रों की मानें तो सरकार शराब की दर बढ़ाकर राजस्व कमाना चाहती है जबकि हो इससे उलट रहा है. शराब की दर बढ़ने से शराब की बिक्री में कमी आई है ऐसी स्थिति में लाइसेंसी के लिए अपने राशि निकालना मुश्किल हो गया है और उपभोक्ता पर भी भार पड़ रहा है.

ढाई महीने के लंबे इंतजार के बाद खुले पर्यटन स्थल, पर्यटन स्थलों पर 524 पर्यटक ही पहुंचे 

ढाई महीने के लंबे इंतजार के बाद खुले पर्यटन स्थल, पर्यटन स्थलों पर 524 पर्यटक ही पहुंचे 

जयपुर: ढाई महीने के लंबे इंतजार के बाद मंगलवार को प्रदेश के स्मारक और संग्रहालयों को पर्यटकों के लिए खोल दिया गया. पहले दिन राजधानी जयपुर में आए 214 पर्यटकों सहित पूरे प्रदेश में स्मारक और संग्रहालय में पर कुल 524 सैलानी पहुंचे इनमें 7 विदेशी पर्यटक भी शामिल हैं. राजधानी में आज पहुंचे कुल 214 पर्यटकों में से आमेर 82, जंतर मंतर 23, हवा महल 43, अल्बर्ट हॉल 27, नाहरगढ़ 32, सिसोदिया रानी भाग 3, ईसरलाट 4 पर्यटक पहुंचे. 

जयपुर जंक्शन से गति पकड़ रहा ट्रेनों का संचालन, मुम्बई से 834 यात्रियों के साथ ट्रेन पहुंची जयपुर

एक विदेशी पर्यटक पहुंचा अल्बर्ट हॉल:
जंतर मंतर पहुंचे 4 विदेशी पर्यटक, एक विदेशी पर्यटक पहुंचा अल्बर्ट हॉल और 2 विदेशी पर्यटक मंगलवार को नाहरगढ़ पहुंचे. इसी तरह जयपुर के अलावा शेष राजस्थान में कुल 310 पर्यटक पहुंचे. इनमें अजमेर 33, अलवर 165, उदयपुर 1, चित्तौड़गढ़ 26, पाली 11, कोटा और झालावाड़ 13-13 पर्यटक, गागरोन किला 12, सुख महल बूंदी 10, रानी जी की बावड़ी 14 पर्यटक, 84 खंभों की छतरी दो और बूंदी 10 पर्यटक पहुंचे.

पर्यटन स्थलों की रौनक तेजी से लौटेगी:
पुरातत्व विभाग के निर्देशक प्रकाश चंद्र शर्मा ने बताया कि पर्यटन स्थल खोलने के पहले दिन सैलानियों की सर्वाधिक आमद आमेर में हुई. उम्मीद की जा रही है कि पर्यटकों की संख्या में दिन-ब-दिन इजाफा होगा और पर्यटन स्थलों की रौनक तेजी से लौटेगी.

राजस्थान रोडवेज बढ़ा रहा बस संचालन का दायरा, बुधवार से 100 नए रूटों पर चलेंगी बसें

जयपुर जंक्शन से गति पकड़ रहा ट्रेनों का संचालन, मुम्बई से 834 यात्रियों के साथ ट्रेन पहुंची जयपुर

जयपुर: जयपुर जंक्शन से ट्रेनों का संचालन अब गति पकड़ रहा है, लेकिन यात्रियों की संख्या के अनुरूप स्टेशन पर पर्याप्त सुविधाएं नहीं रखे जाने से सोशल डिस्टेंसिंग रख पाना संभव नहीं हो पा रहा है. मंगलवार दोपहर में जब स्पेशल ट्रेन मुम्बई से जयपुर पहुंची तो यात्रियों की भीड़ के आगे इंतजाम नाकाफी नजर आए और सोशल डिस्टेंसिंग की पालना नहीं हो सकी. यूं तो देशभर में 200 स्पेशल ट्रेनों का संचालन कल से शुरू हो गया था, लेकिन सही मायनों में जयपुर जंक्शन से ट्रेनों का संचालन मंगलवार से शुरू हुआ है. मंगलवार दोपहर मुम्बई सेंट्रल से स्पेशल ट्रेन जयपुर पहुंची. 

मुम्बई ट्रेन के समय नहीं रखी जा सकी सोशल डिस्टेंसिंग:
यात्रियों की संख्या बहुत अधिक नहीं होने के बावजूद जयपुर जंक्शन पर सोशल डिस्टेंसिंग नहीं रखी जा सकी.दरअसल ट्रेन से उतरते समय यात्रियों के बाहर निकलने के लिए दो निकास द्वार तय किए गए हैं. लेकिन मंगलवार को जब मुम्बई सेंट्रल से दोपहर साढ़े बारह बजे यह ट्रेन जयपुर पहुंची, तो उसी समय इस ट्रेन से मुम्बई जाने वाले यात्री भी स्टेशन पहुंचे हुए थे, ऐसे में यात्रियों का निकास दो के बजाय केवल एक गेट से कर दिया. कॉनकोर्स हॉल वाले निकास द्वार से यात्रियों का निकास नहीं करते हुए केवल एस्केलेटर वाले गेट से ही निकास रखा गया। चूंकि प्रत्येक यात्री की डिटेल वाला डिक्लेरेशन फॉर्म भरवाया जाता है और उसकी स्वास्थ्य जांच भी की जाती है, ऐसे में निकलते समय यात्रियों की जांच में अधिक समय लगा. इस वजह से निकास द्वार पर यात्रियों की कतार काफी अधिक लम्बी हो गई और भीड़ के कारण यात्रियों के बीच 2 फुट की दूरी भी नहीं रखी जा सकी। इसके बावजूद यात्रियों को बाहर निकालने में एक घंटे से ज्यादा समय लगा.

केंद्र के 10 राज्यों के तुलनात्मक अध्ययन में राजस्थान अव्वल, चिकित्सा मंत्री डॉ रघु शर्मा ने सार्वजनिक की केंद्रीय रिपोर्ट

इस तरह रहा कुछ ट्रेन संचालन
- मुम्बई सेंट्रल से दोपह 12:30 बजे ट्रेन जयपुर जंक्शन पहुंची
- इस ट्रेन से 834 यात्री जयपुर आए, 64 यात्री दुर्गापुरा स्टेशन पर उतरे
- जयपुर से दोपहर 2 बजे स्पेशल ट्रेन मुम्बई के लिए रवाना हुई
- इस ट्रेन से कुल 779 यात्री मुम्बई के लिए रवाना हुए
- मुम्बई से आई ट्रेन में 5 यात्री बगैर मास्क पाए गए, इनके चालान किए
- इन यात्रियों से प्रति यात्री 200 रुपए जुर्माना वसूला गया
- आज अलसुबह अहमदाबाद-दिल्ली आश्रम एक्सप्रेस का आगमन हुआ
- ट्रेन में 126 यात्री अहमदाबाद से जयपुर आए, 132 जयपुर से दिल्ली गए
- जयपुर से जोधपुर गई ट्रेन में 284 यात्री रवाना हुए

यात्रियों की भीड़ बढ़ी, लेकिन एक ही गेट से रखा निकास:
यूं तो रेलवे प्रशासन ने सोशल डिस्टेंसिंग और सेनिटाइजेशन के लिए काफी इंतजाम किए हैं, लेकिन इन्हें और व्यवस्थित किए जाने की जरूरत है. जिस तरह से आज यात्रियों के निकास के समय एक गेट से बाहर निकलते समय परेशानी हुई है, उसे देखते हुए रेलवे प्रशासन को अतिरिक्त इंतजाम करने होंगे. चूंकि मुम्बई सेंट्रल ट्रेन के समय अधिक यात्रीभार रहेगा, और शाम को आश्रम एक्सप्रेस के आगमन के समय भी ज्यादा भीड़ रह सकती है, उस हिसाब से यात्रियों को अधिक सावधानी बरतनी होगी. यात्रियों के स्टेशन से बाहर निकलते समय कॉनकोर्स हॉल स्थित मुख्य निकास द्वार को भी खुला रखना जरूरी होगा. इसके अलावा चिकित्सा टीमों की संख्या में भी बढ़ोतरी करनी होगी. एक विकल्प यह भी हो सकता है कि यात्रियों को डिटेल्स भरने वाले डिक्लेरेशन फॉर्म पहले से मुहैया करवाए जाएं या फिर बोर्डिंग वाले स्टेशन पर ही यात्रियों से डिटेल भरवा ली जाए, अन्यथा निकास के समय भीड़ से इंतजाम और खराब हो सकते हैं. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट

सूरत, उदयपुर, जालंधर के लिए शुरू नहीं हो पा रहीं फ्लाइट, हवाई यात्रियों के लिए नहीं बढ़ पा रहे विकल्प

शराब के शौकीनों को बड़ा झटका, जानिए राजस्थान में कितनी महंगी हुई बीयर और शराब

शराब के शौकीनों को बड़ा झटका, जानिए राजस्थान में कितनी महंगी हुई बीयर और शराब

जयपुर: राजस्थान सरकार ने शराब पर सरचार्ज के लिए अधिसूचना जारी कर दी है. राज्य सरकार ने 1 माह में दूसरी बार शराब के दाम बढ़ाए है. अब शराब पर सरचार्ज से आपदाओं से संघर्ष होगा. राज्य सरकार ने अधिसूचना जारी की है. सूखा,बाढ़,महामारी,जन स्वास्थ्य,आगजनी के नाम पर सरचार्ज लगाया है. शराब की विभिन्न पैकिंग पर 5रुपए से 20रुपए तक सरचार्ज लगाया है.

भरतपुर के पहाड़ी में ACB की कार्रवाई, JTA रविन्द्र कुमार को 5 हजार की रिश्वत लेते दबोचा 

शराब पर सरचार्ज के लिए राज्य सरकार की अधिसूचना:
-अंग्रेजी शराब के पव्वे पर 5रुपए
-अद्धे पर 5रुपए, बोतल पर 10रुपए
-ब्रीज़र पर 5रुपए, मिनिएचर व अन्य पैलललकिंग पर 5रुपए
-बीयर बोतल पर 20 रुपए
-छोटी बीयर पर 5रुपए, 
-500ml बीयर पर 20 रुपए
-देसी शराब पर 1.50 रुपए 
-RML पर 1.50 रुपए सरचार्ज
-सरकार ने 1 महीने में दूसरी बार बढ़ाए शराब के दाम

मुकुंदरा से आई खुशखबरी, बाघिन MT-2 ने दिया दो शावकों को जन्म, मुख्यमंत्री गहलोत ने जताई खुशी

CII: पीएम मोदी ने कहा- मैं आपके साथ, आप एक कदम आगे बढ़ाइए, सरकार चार कदम आगे बढ़ाएगी

CII: पीएम मोदी ने कहा- मैं आपके साथ, आप एक कदम आगे बढ़ाइए, सरकार चार कदम आगे बढ़ाएगी

नई दिल्ली: कोरोना संकट के बीच आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय उद्योग परिसंघ (CII) के सालाना कार्यक्रम को संबोधित किया. पीएम मोदी का संबोधन ऐसे समय पर हुआ जब लॉकडाउन की पाबंदियों में ढील के साथ ही कंपनियां परिचालन शुरू करने लगी हैं और कारखाने खुलने लगे हैं. इस दौरान पीएम ने कारोबारियों को भरोसा दिया कि वो उनके साथ हैं, आप एक कदम आगे बढ़ाइए, सरकार चार कदम आगे बढ़ाएगी.

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कोरोना मौतों का दोहरा शतक ! पिछले 12 घंटे में 2 मौतें, 171 नए पॉजिटिव आए सामने 

मुझे भारत की क्षमता और आपदा प्रबंधन पर भरोसा:  
पीएम ने कहा कि मुझे भारत की क्षमता और आपदा प्रबंधन पर भरोसा है. मुझे भारत के प्रतिभा और प्रौद्योगिकी पर भरोसा है. मुझे भारत के नवाचार और बुद्धि पर भरोसा है. मुझे भारत के किसान, एमएसएमई, उद्यमी पर भरोसा है. कोरोना महामारी को लेकर पीएम मोदी ने कहा कि कोरोना ने हमारी गति जितनी भी धीमी की हो, लेकिन आज देश की सबसे बड़ी सच्चाई यही है कि भारत, लॉकडाउन को पीछे छोड़कर अनलॉक फेज 1 की तरफ बढ़ चुका है. इसमें अर्थव्यवस्था का बहुत बड़ा हिस्सा खुल चुका है.

CII हर सेक्टर को लेकर एक रिसर्च तैयार करे और प्लान मुझे दे:
PM ने कहा कि आज से तीन महीने पहले देश में एक भी PPE किट नहीं बनती थी, लेकिन आज रोज तीन लाख किट बन रही हैं. आत्मनिर्भर भारत से जुड़ी हर जरूरत का ध्यान सरकार रखेगी. PM ने कहा कि CII हर सेक्टर को लेकर एक रिसर्च तैयार करे और प्लान मुझे दे.

आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए 5 चीजें बहुत जरूरी:
पीएम ने कहा कि भारत को फिर से उछाल विकास के पथ पर लाने के लिए, आत्मनिर्भर भारत बनाने के लिए 5 चीजें बहुत जरूरी हैं. इंटेंट, इंक्लूजन, इन्वेस्टमेंट, इन्फ्रास्ट्रक्चर और इनोवेशन. हाल में जो बोल्ड फैसले लिए गए हैं, उसमें भी आपको इन सभी की झलक मिल जाएगी.

युवाओं के लिए भी नए अवसर खुलेंगे:
सरकार जिस दिशा में बढ़ रही है, उसके साथ हमारा खनन क्षेत्र हो, ऊर्जा क्षेत्र हो, या अनुसंधान और प्रौद्योगिकी हो, हर क्षेत्र में उद्योग को भी अवसर मिलेंगे, और युवाओं के लिए भी नए अवसर खुलेंगे.

VIDEO: लॉक डाउन के बाद और अनलॉक 1.0 की संभावनाओं को लेकर First India पर बोले सीएस डीबी गुप्ता  

74 करोड़ लोगों के घर तक राशन पहुंचाया गया:
पीएम ने कहा कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत 74 करोड़ लोगों के घर तक राशन पहुंचाया गया, प्रवासी श्रमिकों के लिए मुफ्त राशन दिया जा रहा है. अबतक गरीब परिवारों को 53 हजार करोड़ रुपये उनके खाते में दी जा चुकी है.
 

जयपुर एयरपोर्ट पर बढ़ा फ्लाइट संचालन, कोलकाता, आगरा, गुवाहाटी के लिए फ्लाइट शुरू

जयपुर एयरपोर्ट पर बढ़ा फ्लाइट संचालन, कोलकाता, आगरा, गुवाहाटी के लिए फ्लाइट शुरू

जयपुर: जयपुर एयरपोर्ट से सोमवार से फ्लाइट संचालन में बढ़ोतरी देखी जा रही है. सोमवार से तीन नए शहरों के लिए फ्लाइट्स शुरू हुई हैं. जयपुर से कोलकाता, आगरा और गुवाहाटी के लिए फ्लाइट्स शुरू हो गई हैं. हालांकि फ्लाइट्स के संचालन की शुरुआत 25 मई से हुई थी, लेकिन अभी तक इन तीनों शहरों के लिए एक भी फ्लाइट संचालित नहीं हो सकी थी. सोमवार से इंडिगो ने कोलकाता के लिए, स्पाइसजेट ने गुवाहाटी के लिए और एयर इंडिया ने आगरा के लिए फ्लाइट शुरू कर दी हैं.

स्पाइसजेट ने बढ़ाई फ्लाइट्स की संख्या:
स्पाइसजेट ने आज से मुम्बई के लिए भी फ्लाइट शुरू कर दी है. देश में कई एयरपोर्ट से गो एयर ने आज से फ्लाइट शुरू कर दी हैं, लेकिन जयपुर एयरपोर्ट से गो एयर ने अभी फ्लाइट संचालन शुरू नहीं किया है. आपको बता दें कि चार एयरलाइंस ने जयपुर एयरपोर्ट से कुल 20 फ्लाइट्स का शेड्यूल दिया हुआ है, इनमें से आज 7 फ्लाइट रद्द हैं, जबकि 13 फ्लाइट संचालित हो रही हैं.

निजी अस्पतालों के लिए एडवाइजरी जारी, कोरोना मरीजों का फ्री इलाज, अन्यथा होगी सख्त कार्रवाई 

जयपुर एयरपोर्ट से 7 फ्लाइट रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 5:40 बजे सूरत जाने वाली फ्लाइट SG-2763 हुई रद्द
- इंडिगो की सुबह 6:10 बजे बेंगलूरु जाने वाली फ्लाइट 6E-839 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 7:20 बजे जालंधर जाने वाली फ्लाइट SG-2750 हुई रद्द
- एयर एशिया की सुबह 9:15 बजे बेंगलूरु जाने वाली फ्लाइट I5-1721 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 10 बजे उदयपुर जाने वाली फ्लाइट SG-6632 हुई रद्द
- इंडिगो की दोपहर 12:40 बजे बेंगलूरु जाने वाली फ्लाइट 6E-498 हुई रद्द
- एयर इंडिया की शाम 5 बजे दिल्ली जाने वाली फ्लाइट AI-492 हुई रद्द

...फर्स्ट इंडिया के लिए काशीराम चौधरी की रिपोर्ट 

राजस्थान में राज्यसभा चुनाव की बिछी चौसर, तीन सीटों पर चार उम्मीदवार मैदान में 

VIDEO: आज से खुलेंगे प्रदेश के टाइगर रिजर्व और सफारी, टूरिज्म इंडस्ट्री में एक बार फिर बूम आने की उम्मीद

जयपुर: ढाई महीने लॉक डाउन में रहने के बाद आखिर जंगलात को पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है. रणथंभौर, सरिस्का के अलावा सभी वाइल्डलाइफ सफारी, बायोलॉजिकल पार्क और चिड़ियाघर में पर्यटक अब पहले की तरह आ जा सकेंगे. राजधानी जयपुर में भी तीनों सफारी आज से शुरू हो जाएंगी. माना जा रहा है कि सरकार का यह कदम कोरोना पर आखिर पर्यटन की एक मजबूत जीत साबित होगा. 

 Lockdown 5.0: Unlock 1 होने का आगाज, राजस्थान में मिलेंगी कई तरह की छूट, ये अब भी बंद रहेंगे  

- आज से खुलेंगे प्रदेश के टाइगर रिजर्व और सफारी
- वाइल्डलाइफ सफारी टाइगर रिजर्व और अन्य संरक्षित क्षेत्र के लिए  एसओपी
- वाइल्डलाइफ क्षेत्र में प्रवेश से पहले होगी थर्मल स्क्रीनिंग
- वर्ल्ड लाइव क्षेत्र में प्रवेश के लिए मांस व दस्ताने पहनना अनिवार्य
- पर्यटक वाहनों में भी सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी 
- सभी सफारी वाहनों का लगातार किया जाएगा सैनिटाइजेशन
- रोटेशन के आधार पर लगाई जाएगी स्टाफ की ड्यूटी
- एक फार्म बी भरना होगा जो गाइड और चालकों द्वारा भरा जाएगा 
- फार्म गाइड, ड्राइवर और पर्यटक का पूरा होगा ट्रैक रिकॉर्ड
- चिड़ियाघर बायोलॉजिकल पार्क और हाथी गांव के लिए एसओपी
- सभी वन कर्मियों की टूरिज्म लोकेशन पर होगी थर्मल स्क्रीनिंग 
- मास्क, दस्ताने और सैनिटाइजर का किया जाएगा उपयोग
- थोड़े-थोड़े अंतराल पर सोडियम हाइपोक्लोराइट का होगा छिड़काव 
- वॉशरूम और पेयजल पॉइंट पर रखा जाएगा खास ध्यान 
- रिसेप्शन क्षेत्र बैठने का क्षेत्र पर एक से डेढ़ मीटर की रखी जाएगी दूरी 
- ज्यादा भीड़ होने पर पर्यटन गतिविधि को रोका जाएगा 
- विजिटर बुक का संधारण होगा पता और मोबाइल नंबर लिखा जाएगा 
- कोविड-19 संदिग्ध के प्रवेश पर रहेगा प्रतिबंध
- ऑनलाइन टिकटिंग का अधिक उपयोग सुनिश्चित किया जाए 
- प्रवेश द्वार पर सैनिटाइजर की होगी व्यवस्था 
- सेल काउंटर पर सैनिटाइजर, सेफ्टी किट, मास्क, दस्ताने  की होगी व्यवस्था 
- रेस्टोरेंट व अन्य दुकानों के लिए भी सोशल डिस्टेंसिंग जरूरी 
- पर्यटक के पास आरोग्य सेतु एप होना जरूरी 
- 4 घंटे से ज्यादा पर्यटक नहीं रह पाएगा अंदर 
- चिड़ियाघर, बायोलॉजिकल पार्क और हाथी गांव के धार्मिक स्थल रहेंगे बंद

जंगलात में स्वच्छंद घूमते बाघ-बाघिन, भालू, पैंथर सहित अन्य वन्यजीवों की आकर्षित करती खेलें एक बार फिर पर्यटकों का मनोरंजन करने को तैयार हैं. कोविड-19 संक्रमण के चलते 18 मार्च को बंद किए गए प्रदेश के सभी टाइगर पार्क, सफारी, नेशनल पार्क, बायोलॉजिकल पार्क, चिड़ियाघर कल से खुल रहे हैं. राजधानी जयपुर में भी तीनों सफारी एक बार फिर शुरू हो रही हैं. हाथी गांव में हाथी सफारी, नाहरगढ़ में लॉयन सफारी और झालाना की विश्व प्रसिद्ध लेपर्ड सफारी पूरी तरह तैयार हैं. चीफ वाइल्ड लाइफ वार्डन अरिंदम तोमर ने केंद्र व राज्य सरकार की अनुमति मिलने के बाद प्रदेश के जंगलात को कल से पर्यटकों के लिए खोलने के आदेश जारी कर दिए हैं. केंद्र द्वारा जारी एसओपी के मुताबिक पर्यटक एक सख्त गाइडलाइन को फॉलो करते हुए नेशनल पार्क टाइगर पार्क और सफारी में प्रवेश कर सकते हैं.

टिकट दर में कोई बदलाव नहीं किया: 
रणथंभौर और सरिस्का सहित तमाम राष्ट्रीय उद्यान, टाइगर प्रोजेक्ट, बायोलॉजिकल पार्क और चिड़ियाघर में टिकट दर में कोई बदलाव नहीं किया है. पर्यटक अधिकतम 4 घंटे ही अंदर रह सकते हैं. इसके लिए भी मास्क लगाना जरूरी होगा, दस्ताने पहनने होंगे. एक ट्रैकिंग रजिस्टर भी मेंटेन किया जाएगा जिसमें सफारी संचालक गाइड और पर्यटक की तमाम डिटेल होगी. सैनिटाइजेशन और अन्य व्यवस्था भी पूरी तरह से चाक चौबंद रहेंगी. नेशनल पार्क को दोबारा शुरू किया जाने को लेकर सरिस्का फाउंडेशन के सचिव दिनेश दुर्रानी ने खुशी जाहिर की है और पर्यटकों से अपील की है कि वे गाइडलाइन को फॉलो करें ताकि पर्यटन तेजी से मुख्यधारा में आए. वहीं जयपुर चिड़ियाघर के डीसीएफ सुदर्शन शर्मा ने भी आज तमाम व्यवस्थाओं का जायजा लिया.

टूरिज्म इंडस्ट्री में एक बार फिर बूम आने की उम्मीद: 
करीब ढाई महीने बाद टाइगर रिजर्व नेशनल पार्क और तमाम जंगलात में होने वाली गतिविधियां शुरू होने से पर्यटन क्षेत्र को मजबूती मिलेगी. 1 जून से खुल रहे जंगलात को लेकर तमाम स्टेकहोल्डर्स में खुशी की लहर दौड़ गई है. दरअसल लॉक डाउन के चलते इस इंडस्ट्री को तकरीबन 10 करोड रूपए रोजाना का नुकसान उठाना पड़ रहा था. बहुत सारे जिप्सी संचालक, गाइड और होकर वेंडर अपनी रोजी-रोटी के लिए संघर्ष कर रहे थे. अब 8 जून से होटल रेस्टोरेंट खोलने को भी मंजूरी दे दी है. ऐसे में जंगलात से जुड़ी टूरिज्म इंडस्ट्री में एक बार फिर बूम आने की उम्मीद की जा रही है. हालांकि ऑफ सीजन के चलते अभी पर्यटकों की संख्या कम ही रहेगी. वैसे भी कोरोना संक्रमण में कोई उल्लेखनीय कमी नहीं आई है ऐसे में विदेशी पर्यटकों का आना तो अभी संभव नहीं ऐसे में पर्यटन उद्योग की नजरें घरेलू सैलानियों की तरफ है. दूसरी ओर वन्यजीव विशेषज्ञ टाइगर रिजर्व और जंगलात से जुड़ी पर्यटन गतिविधियां शुरू होने को लेकर उत्साहित हैं वन्यजीव विशेषज्ञ अनिल रोजर्स का कहना है कि पर्यटकों को सख्त गाइडलाइन का पालन करना होगा. इसके दो फायदे होंगे एक तो टाइगर रिजर्व सफारी और अन्य गतिविधियों में पर्यटकों का प्रवेश सीमित रहेगा. इससे ना तो वन्यजीवों को परेशानी होगी और ना ही महकमे को उनको नियंत्रित करने में मशक्कत करनी पड़ेगी. दूसरा सरकार को भी राजस्व मिलेगा इससे पर्यटन तेजी से मुख्यधारा में आएगा. झालाना लेपर्ड सफारी के रेंजर जनेश्वर सिंह का कहना है कि तमाम व्यवस्थाएं कर ली गई है पर्यटन शुरू होने से एक बार फिर हालात सामान्य होंगे इसका फायदा वन्य जीव और पर्यटन दोनों को होगा. 

UNLOCK-1: राजस्थान में होगी सार्वजनिक बस सेवा शुरू, कंटेनमेंट जोन को छोड़कर चलाई जाएगी बसें

देश में पर्यटन को शुरू करना निश्चित तौर पर स्वागत योग्य कदम:
कुल मिलाकर कहा जा सकता है कि सामान्य जनजीवन की ओर बढ़ रहे देश में पर्यटन को शुरू करना निश्चित तौर पर स्वागत योग्य कदम है. कोरोना पर जीत के लिए जरूरी है कि गाइडलाइन को फॉलो करते हुए तेजी से मुख्यधारा की ओर बढ़ा जाए. इससे न केवल इस क्षेत्र से जुड़े लोगों का रोजगार बचेगा वरन सरकार को भी राजस्व मिलेगा. 

Open Covid-19