मोदी सरकार ने लॉकडाउन का फैसला बिना तैयारी के लिया- सोनिया गांधी

मोदी सरकार ने लॉकडाउन का फैसला बिना तैयारी के लिया- सोनिया गांधी

नई दिल्लीः कोरोना संकट के चलते आज कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक हुई. इस दौरान कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने बैठक में कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने लॉकडाउन का फैसला बिना तैयारी के ले लिया जिसका खामियाजा पूरे देश को भुगतना पड़ रहा है. सोनिया गांधी ने कहा कि 21 दिन का लॉकडाउन जरूरी था, लेकिन इसे अनियोजित तरीके से लागू किया गया. लॉकडाउन के कारण लाखों प्रवासी मजदूरों का उत्पीड़न हुआ.

 PM मोदी ने सभी मुख्यमंत्रियों से की बात, कहा- केंद्र और राज्य सरकारें मिलकर कोरोना को हराएंगी 

चिकित्सा कर्मचारियों को व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण प्रदान करना चाहिए:
सोनिया गांधी ने कहा कि सरकार को डॉक्टरों, नर्सों और चिकित्सा कर्मचारियों को व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण प्रदान करना चाहिए. सरकार को अस्पतालों, बेड की संख्या, क्वारनटीन और परीक्षण सुविधाओं और चिकित्सा आपूर्ति का के बारे में जानकारी देनी चाहिए. इसके साथ ही किसानों पर लगे फसल कटाई के प्रतिबंध को हटाना चाहिए. 

मध्यम वर्ग के लिए एक सामान्य न्यूनतम राहत कार्यक्रम करें तैयार: 
इसके साथ ही सोनिया गांधी ने केंद्र सरकार से मध्यम वर्ग के लिए एक सामान्य न्यूनतम राहत कार्यक्रम तैयार करने और प्रकाशित करने की मांग की. इसके साथ ही उन्होंने कांग्रेस सरकारों और कार्यकर्ताओं से आगे आकर उन परिवारों की मदद करने की पेशकश की जो अत्यधिक जोखिम में हैं.

VIDEO- Rajasthan Corona Update: कोरोना वायरस से जुड़ी आज की सबसे बड़ी खबर, अलवर के पॉजिटिव मरीज की जयपुर में हुई मौत 

पत्र लिखकर भी दिए थे सुझाव:
बता दें कि इससे पहले भी सोनिया गांधी ने लॉकडाउन लागू होने के बाद पीएम मोदी को पत्र लिखकर लॉकडाउन से जुड़े कुछ सुझाव दिए थे. उन्होंने लॉकडाउन को समर्थन देते हुए कहा था कि कांग्रेस इस संकट के समय में सरकार के साथ है.


 

और पढ़ें