श्रीलंका धमाकों में मरने वालों की संख्या 290 पहुंची, अब तक 24 संदिग्ध गिरफ्तार

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/04/22 10:12

नई दिल्ली। श्रीलंका में हुए सीरियल ब्लास्ट में मरने वालो की संख्या 290 पहुंच गई है। रविवार को ईस्टर के मौके पर हुए आठ बम धमाकों ने श्रीलंका को दहला दिया। पूरी दुनिया इन हमलों की कड़ी निंदा कर रही है। हमले में 500 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। इसमें कई की हालत गंभीर है। सीरियल ब्लास्ट की जांच कर रही श्रीलंकाई पुलिस अब तक 24 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। हालांकि फिलहाल किसी भी आतंकी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नही ली हैं । 

हमले के बाद अपवाहों से बचने के लिए पूरे देश में सोशल मीडिया पर रोक लगा दी गई हैं। वहीं शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक पूरे देश में कर्फ्यू लगाया गया था । सुबह 6 बजे कर्फ्यू हटा लिया गया। गृहयुद्ध के बाद बीते 10 सालों से शांत रहने वाला ये द्वीपीय देश रविवार को सीरियल धमाकों से दहल गया। अधिकांश धमाके राजधानी कोलंबो में हुए हैं। 

इन हमलों के पीछे तौहिद जमात संगठन का नाम सामने आ रहा है। यह एक इस्लामिक संगठन है जिसका एक धड़ा भारत के तमिलनाडु में सक्रिय है। इसका नाम आतंकी घटनाओं से जुड़ता रहा है। इन हमलों से पहले श्रीलंका के मुख्य पुलिस अधिकारी ने चेतावनी थी कि देशभर के चर्चों को निशाना बनाया जा सकता है। पुलिस मुखिया ने 11 अप्रैल को श्रीलंका के वरिष्ठ अधिकारियों को चेतावनी दी थी। अपने भेजे हुए अलर्ट में उन्होंने लिखा था, 'विदेशी खुफिया विभाग से जानकारी मिली है कि नेशनल तौहिद जमात (एनजीटी) नाम का संगठन आत्मघाती हमले करने की तैयारी कर रहा है।' रविवार को हुए हमले ठीक उसी तरह के हैं जिन्हें इस्लामिक संगठन अंजाम देता है।

इस हमले पर भारत भी नजर बनाए हुए है। पीएम मोदी ने श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रिपाला सिरिसेना और प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे से फोन पर बात की और आतंकवादी हमले को क्रूर और सुनियोजित बर्बर आतंकी हमला बताया। पीएम मोदी ने कल ही कह दिया था कि वे भीषण हमला झेलने वाले पड़ोसी मुल्क के साथ मजबूती से खड़े हैं। पीएम मोदी ने श्रीलंका को हरसंभव मदद देने की भी बात कही है। हमले में चार भारतीय, पीएस रजीना, लक्ष्मी, नारायण चंद्रशेखर और रमेश की मौत हुई है । 


 
 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in