Live News »

सुप्रीम कोर्ट ने सवर्ण आरक्षण पर तत्काल रोक लगाने से किया इनकार, केंद्र से मांगा जवाब

सुप्रीम कोर्ट ने सवर्ण आरक्षण पर तत्काल रोक लगाने से किया इनकार, केंद्र से मांगा जवाब

नई दिल्ली। आर्थिक रूप से गरीब सवर्णो को मिले 10 फीसदी आरक्षण पर रोक तत्काल रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट ने इनकार कर दिया है। आरक्षण को असंवैधानिक बताने वाली याचिकाओं के मद्देनजर कोर्ट ने केंद्र सरकार को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। मुख्य न्यायधीश रंजन गोगोई ने कहा कि हम इस मुद्दे की समीक्षा करेंगे। कोर्ट अब इस मामले में चार हफ्ते में सुनवाई करेगा।

इस महीने के शुरुआत में सुप्रीम कोर्ट में यूथ फॉर इक्वलिटी नामक एनजीओ ने एक जनहित याचिका (PIL) दाखिल की थी, जिसमें सामान्य वर्ग के गरीबों को 10 फीसदी आरक्षण देने वाले कानून को चुनौती दी गई थी। अब सुप्रीम कोर्ट इस मामले की सुनवाई करने के लिए तैयार हो गया है।  इसकी सुनवाई चीफ जस्टिस रंजन गोगोई और जस्टिस संजय खन्ना की पीठ करेगी। 

आपको बता दें कि मोदी सरकार ने आर्थिक आधार पर सामान्य वर्ग को 10 फीसदी आरक्षण देने के लिए संविधान में 124वां संशोधन किया था। संसद के दोनों सदनों ने इस आरक्षण विधेयक को महज 2 दिन में ही पारित कर दिया था। इसके बाद तीन दिन में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने इस विधेयक को मंजूरी दे दी थी। इसमें आर्थिक आधार पर सामान्य वर्ग को शिक्षण संस्थानों और सरकारी नौकरियों में आरक्षण देने की व्यवस्था की गई है। 

और पढ़ें

Most Related Stories

जम्मू-कश्मीर में टला बड़ा आतंकी हमला, पुलवामा की तरह गाड़ी में रखी गई थी IED

जम्मू-कश्मीर में टला बड़ा आतंकी हमला, पुलवामा की तरह गाड़ी में रखी गई थी IED

श्रीनगर: सुरक्षाबलों ने आज अल सुबह जम्मू-कश्मीर में पुलवामा जैसे आतंकी हमले की साजिश को नाकाम कर दिया है. पुलवामा के पास एक सैंट्रो गाड़ी में IED (इंप्रोवाइज्ड एक्स्प्लोसिव डिवाइस) प्लांट की गई थी, जिसकी समय रहते पहचान हो गई. उसके बाद वक्त रहते ही इस बम को डिफ्यूज़ कर दिया.

VIDEO: कोरोना संकट में CM के संवेदनशील फैसले, गहलोत ने दी अनुकंपा नियुक्ति के लिए शिथिलता  

आतंकी चला रहा था गाड़ी:
मिली जानकारी के मुताबिक गाड़ी को एक आतंकी चला रहा था. शुरुआती गोलीबारी के बाद आतंकी अंधेरे में भाग खड़ा हुआ. इस मामले को अब NIA को सौंपा जा रहा है. इस गाड़ी को पुलवामा के रजपुरा रोड के पास शादीपुरा में पकड़ा गया. 

सैंट्रों कार के टू व्हीलर की नंबर प्लेट लगा रखी थी:
आतंकियों ने सफेद रंग की सैंट्रों कार के टू व्हीलर की नंबर प्लेट लगा रखी थी,  जो कठुआ की रजिस्टर्ज थी. जम्मू-कश्मीर पुलिस ने इसे ट्रैक करने के बाद बम की तलाश की. उसके बाद बम डिस्पोजल यूनिट को बुलाने से पहले आसपास के इलाके को खाली कराया गया. 

गर्मी से राहत के लिए 20000 हजार तक के बजट में हैं ये 4 बेहतरीन एयरकंडीशनर 

पुलवामा में इसी तरह का आंतकी हमला हुआ था:
बता दें कि इससे पहले पिछले साल पुलवामा में इसी तरह का आंतकी हमला हुआ था. जिसमें एक गाड़ी में बम रखा गया था और उसे CRPF के काफिले में घुसा दिया गया था. इस आतंकी हमले में करीब 45 जवान शहीद हो गए थे. 
 

गर्मी से राहत के लिए 20000 हजार तक के बजट में हैं ये 4 बेहतरीन एयरकंडीशनर

गर्मी से राहत के लिए 20000 हजार तक के बजट में हैं ये 4 बेहतरीन एयरकंडीशनर

जयपुर: गर्मी धीरे धीरे अपने तेवर दिखाने लगी हैं. इसी के चलते सड़के भी अब दिन में वीरान नजर आने लगी हैं. वहीं दूसरी ओर नौतपा में तापमापी का पारा और ज्यादा उछलने की संभावना है. ऐसे में सभी घरों से निकलने से बच रहे हैं और घर में ही गर्मी से बचाव के लिए कूलर-पंखे का सहारा ले रहे हैं. पर तीखी गर्मी के कारण कूलर भी कुछ समय के बाद कूलिंग करना कम कर देते हैं. ऐसे में अगर आप  किफायती एयरकंडीशनर (AC) लेने का मन बना रहे हैं जिसकी कीमत 20 हजार रुपये तक हो तो आइये जानते है आपके बजट के अनुरूप एयरकंडीशनर के बारे में...

मोदी सरकार के खिलाफ आज ऑनलाइन आंदोलन करेगी कांग्रेस पार्टी,  50 लाख कार्यकर्ता रखेंगे अपनी बात 

फ्लिपकार्ट द्वारा MarQ (1 टन) 2 Star Split AC:  
यह फ्लिपकार्ट कंपनी का प्रोडक्ट है, अगर कमरे का साइज़ 90 sq ft है तो MarQ (1 टन) 2 स्टार स्प्लिट एसी आपके लिए उपयुक्त है और इसमें ऑटो रीस्टार्ट, स्लीप मोड जैसे फीचर्स भी मिलते हैं. टर्बो मोड के साथ तुरंत और तेजी से ठंडा करने में भी ये एयरकंडीशनर सक्षम है. इसके अलावा इस AC पर नो कॉस्ट EMI की भी सुविधा दी जा रही है. इस AC को Flipkart से ख़रीदा जा सकता है. 

Voltas 0.8 Ton 3 Star Split AC: 
वोल्टास का यह एसी 4 stages of filtration and 3D airflow के साथ आपके पूरे कमरे में समान रूप से ठंडी हवा प्रदान करके बेहतर प्रदर्शन करता है. आपको बता दे की Voltas, टाटा का ही ब्रांड है. यह 3 स्टार BEE रेटिंग के साथ आता है. साथ ही इसमें ऑटो रीस्टार्ट, स्लीप मोड जैसे फीचर्स भी आपको मिलते हैं. इसके अलावा इस AC पर नो कॉस्ट EMI की भी सुविधा दी जा रही है. यह एयरकंडीशनर Easy maintenance के साथ आपके बजट के अनुरूप सर्वश्रेष्ठ में से एक है. 

Blue Star 0.75 Ton 3 Star Window AC:
3 स्टार रेटिंग वाला यह AC ऑटो रीस्टार्ट फीचर के साथ आता है और इसके साथ ही आपको  Product पर एक साल और कंप्रेसर पर 5 साल की वारंटी BLUE STAR कंपनी की तरफ से मिलती है, आपको इसमें (2) White एंड Milky White Colour  ऑप्शन भी मिल जायेंगे अगर आपके पास Window AC लगाने की पर्याप्त जगह और सुविधा है तो Blue Star का 0.75 Ton 3 Star Window AC आपके लिए बेस्ट ऑप्शन साबित हो सकता है, इसके अलावा इस AC पर नो कॉस्ट EMI की भी सुविधा दी जा रही है. इसे भी Flipkart से खरीदा जा सकता है. 

VIDEO: कोरोना संकट में CM के संवेदनशील फैसले, गहलोत ने दी अनुकंपा नियुक्ति के लिए शिथिलता  

Lloyd LW12B32EW 1 Ton 3 Star Window AC:
3 स्टार रेटिंग के साथ आपको इसमें एंटी बैक्टीरिया फ़िल्टर (Anti Bacteria Filter) भी मिल जाता है और साथ ही ऑटो एयर स्विंग, ऑटो रिस्टार्ट जैसे फीचर्स भी इसमें उपलब्ध है. इस 1 Ton 3 Star Window AC में आपको एक साल और कंप्रेसर पर 5 साल की वारंटी भी मिलती है.

VIDEO: कोरोना संकट में CM के संवेदनशील फैसले, गहलोत ने दी अनुकंपा नियुक्ति के लिए शिथिलता

जयपुर: कोरोना संकट की घड़ी में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने संवेदनशीलता से फैसला करते हुए मृतक राज्य कर्मचारियों के आश्रितों के लिए नियमों में शिथिलता दी है. इससे इन मृतक राज्य कर्मचारियों के आश्रित परिवारों को बड़ा संबल मिलेगा. 

मोदी सरकार के खिलाफ आज ऑनलाइन आंदोलन करेगी कांग्रेस पार्टी, 50 लाख कार्यकर्ता रखेंगे अपनी बात 

आवेदकों के लिए नियुक्ति की राह आसान की: 
मुख्यमंत्री गहलोत ने मृतक आश्रितों को नौकरी के लिए लंबित प्रकरणों में मानवीय आधार पर निर्णय लेते हुए आवेदकों के लिए नियुक्ति की राह आसान की है. CM गहलोत ने महत्वपूर्ण फ़ाइल पर मुहर लगाते हुए 71 आश्रितों को नियुक्ति देने के लिए अनुकंपा नियुक्ति नियमों में शिथिलता दी है. गहलोत ने आयु सीमा, देरी से आवेदन करने, प्रशासनिक विभाग में पद रिक्त नहीं होने पर अन्य विभाग में नियुक्ति चाहने सहित अन्य कारणों से लंबित प्रकरणों में मानवीय आधार पर निर्णय लेते हुए आवेदकों के लिए नियुक्ति की राह आसान की है. 

2208 आश्रितों को अनुकंपा नियुक्तियां प्रदान की जा चुकी: 
मृतक आश्रितों को नौकरी देने के मामले में गहलोत सरकार ने बीते करीब डेढ़ साल में कई अहम फैसले किये. अब तक 72 विभागों में मृतक राज्य कर्मचारियों के 2208 आश्रितों को अनुकंपा नियुक्तियां प्रदान की जा चुकी हैं. इनमें प्रमुख रूप से माध्यमिक शिक्षा में 749, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग में 252, पुलिस में 177, जलदाय विभाग में 116, वन विभाग में 106, पशुपालन विभाग में 80, सार्वजनिक निर्माण विभाग में 78 तथा जल संसाधन विभाग में 68 नियुक्तियां दी जा चुकी हैं. 

भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर बोले ट्रंप, कहा- अमेरिका मध्यस्थता करने के लिए तैयार

मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए आवेदकों को शिथिलता दी:
मुख्यमंत्री गहलोत डेढ़ साल में अनुकम्पा नियुक्ति के विभिन्न कारणों से लंबित 489 प्रकरणों में सहानुभूतिपूर्वक विचार कर शिथिलता प्रदान कर चुके हैं. मृतक कर्मचारियों की पुत्रवधु को नौकरी देने में भी गहलोत ने अहम फैसला किया है. न्यूनतम एवं अधिकतम आयु सीमा के दायरे में आने, देरी से आवेदन करने, नियमों की जानकारी नहीं होने, प्रथम आवेदक के नियुक्ति आदेश जारी होने के बाद दूसरे आवेदक को नियुक्ति प्रदान करने, अनुकंपा नियमों के तहत परिवार की परिभाषा में पुत्रवधू के पात्र नहीं होने आदि ऐसे मामले हैं जिनमें मुख्यमंत्री ने मानवीय दृष्टिकोण अपनाते हुए आवेदकों को शिथिलता दी. अब तक चार प्रकरण ऐसे हैं जिनमें सीएम गहलोत ने अनुकंपात्मक नियुक्ति नियमों के तहत परिवार की परिभाषा में पात्र नहीं होने के बावजूद विषम पारिवारिक परिस्थितियों के आधार पर पुत्रवधू को नियमों में शिथिलता देते हुए नियुक्ति देना मंजूर किया है. कोरोना संकट के बीच CM गहलोत के इन फैसलों ने कई परिवारों को आर्थिक व सामाजिक संबल दिया है. 

मोदी सरकार के खिलाफ आज ऑनलाइन आंदोलन करेगी कांग्रेस पार्टी, 50 लाख कार्यकर्ता रखेंगे अपनी बात

मोदी सरकार के खिलाफ आज ऑनलाइन आंदोलन करेगी कांग्रेस पार्टी,  50 लाख कार्यकर्ता रखेंगे अपनी बात

नई दिल्ली: कांग्रेस ने नरेंद्र मोदी सरकार को घेरने की वर्चुअल रणनीति बनाई है.  प्रवासी श्रमिकों, किसान और छोटे दुकानदारों के लिए राहत पैकेज की मांग को लेकर कांग्रेस पार्टी आज ऑनलाइन आंदोलन करेगी. 

भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर बोले ट्रंप, कहा- अमेरिका मध्यस्थता करने के लिए तैयार

दस हजार रुपए की तत्काल मदद पहुंचाने की मांग: 
कांग्रेस लॉकडाउन की मार झेल रहे मजदूरों, किसानों, असंगठित कर्मचारियों और छोटे दुकानदारों के मुद्दे को लेकर केंद्र सरकार को घेरने जा रही है. कांग्रेस आज 11 से 2 बजे के बीच भी लोग इनकम टैक्स की परिधि के बाहर हैं उन सभी परिवारों के खाते में केंद्र सरकार की ओर से दस हजार रुपए की तत्काल मदद पहुंचाने की मांग को लेकर बड़े पैमाने पर ऑनलाइन अभियान चलाएगी. 

सभी कार्यकर्ताओं को इस अभियान में शामिल होना अनिवार्य:
ऑनलाइन अभियान को लेकर कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल ने चिट्ठी और वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए निर्देश दिया किया सभी कार्यकर्ताओं को इस अभियान में शामिल होना अनिवार्य है. पार्टी ने फेसबुक, ट्विटर, यू ट्यूब, इंस्टाग्राम जैसे प्रचलित सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर एकसाथ 50 लाख कांग्रेस कार्यकर्ताओं को ऑनलाइन जुटाने का लक्ष्य रखा है. 

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया

कांग्रेस ने लॉकडाउन के दौरान सोशल मीडिया का बखूबी इस्तेमाल किया: 
इससे पहले भी कांग्रेस पार्टी ने लॉकडाउन के दौरान सोशल मीडिया का बखूबी इस्तेमाल किया है. दो बार कांग्रेस वर्किंग कमेटी और एक बार विपक्षी दलों की बैठक ऑनलाइन हो चुकी है. राहुल गांधी भी अब तक चार बार ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस कर चुके हैं. यूपी के लिए बने ऐसे ही एक वॉट्सऐप ग्रुप की निगरानी प्रियंका गांधी खुद करती हैं.

भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर बोले ट्रंप, कहा- अमेरिका मध्यस्थता करने के लिए तैयार

भारत-चीन के बीच सीमा विवाद पर बोले ट्रंप, कहा- अमेरिका मध्यस्थता करने के लिए तैयार

नई दिल्ली: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत-चीन के बीच सीमा विवाद को लेकर मध्यस्थता की पेशकश की है. ट्रंप ने कहा है कि अमेरिका भारत और चीन के बीच सीमा विवाद के मुद्दे पर मध्यस्थता करने के लिए तैयार है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि हमने भारत और चीन को सूचना दी है कि अमेरिका मध्यस्थता के लिए तैयार है. 

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया 

ट्रंप भारत और पाकिस्तान के बीच भी मध्यस्थता की बात कर चुके:
इससे पहले भी डोनाल्ड ट्रंप कश्मीर मुद्दे को लेकर भारत और पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता की बात कर चुके हैं. हालांकि भारत ने उनके इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया था. अब ट्रंप ने चीन के साथ मध्यस्थता की बात कही है.

लद्दाख में चीनी सैनिक और भारतीय सैनिक आमने-सामने: 
गौरतलब है कि इस महीने की शुरुआत से ही लद्दाख में चीनी सैनिक और भारतीय सैनिक आमने-सामने हैं, चीन की ओर से लगातार सैनिकों की संख्या बढ़ाने और बेस बनाने की खबरें आ रही हैं. भारत की तैनाती के बाद गैलवान घाटी में चीन के सैनिक कैंप में चले गए हैं. इससे पहले मंगलवार को पीएम मोदी ने लद्दाख मामले पर पूरी रिपोर्ट ली, इसके अलावा तीनों सेना के प्रमुखों से विकल्प सुझाने के लिए कहा गया.

कल कांग्रेस का महा अभियान, 10 हजार रुपये की मदद सीधे नकद के रूप में देने की मांग- पायलट 

सेना प्रमुख की बैठक:
आज सेनाध्यक्ष मनोज मुकुंद नरवणे ने आर्मी कमांडर्स के साथ बैठक की. इस बैठक में चीन को लेकर भी चर्चा हुई है. ये बैठक इसलिए अहम है क्योंकि इसमें सेना की ऑपरेशनल तैयारियों पर बात हो रही है. इससे पहले मंगलवार को पीएम मोदी ने तीनों सेना के प्रमुखों से विकल्प सुझाने के लिए कहा गया. 
 

कल कांग्रेस का महा अभियान, 10 हजार रुपये की मदद सीधे नकद के रूप में देने की मांग- पायलट

कल कांग्रेस का महा अभियान, 10 हजार रुपये की मदद सीधे नकद के रूप में देने की मांग- पायलट

जयपुर: कल कांग्रेस महाअभियान शुरू करने जा रही है. डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा कि कल 11 से 2 बजे तक कांग्रेस के सभी नेता सोशल मीडिया पर बात करेंगे. पायलट ने बताया कि सोशल मीडिया पर 3 प्रमुख मुद्दें उठाये जाएंगे. पायलट ने कहा कि गरीब के हाथ में पैसा नहीं पहुंचा है, हम हर व्यक्ति के खाते में 10 हजार रुपए डालने की केंद्र सरकार से मांग करेंगे. 

नागौर: प्यार में जाति बनी दीवार, प्रेमी युगल ने फांसी लगा जान दी 

कांग्रेस कल देशव्यापी सोशल मीडिया अभियान चलायेगी:
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी कल देशव्यापी सोशल मीडिया अभियान चलायेगी. प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष और डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने कहा कि हर उस व्यक्ति के खाते में 10 हजार रुपये डाले जाने की मांग की जाएगी जो इनकम टैक्स के दायरे में नहीं आते. वर्तमान परिस्थिति में संकट के दौर से गुजर रहे लाखों की संख्या में प्रवासी श्रमिकों, किसानों, संगठित क्षेत्रों के कामगारों, एमएसएमई, छोटे कारोबारियों और दैनिक मजदूरों की आवाज को केन्द्र सरकार तक पहुंचाने के लिये कांग्रेस आवाज बुलंद करेगी. 

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया 

देशव्यापी ऑनलाईन कैम्पेन में कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता शामिल होंगे:
डिप्टी सीएम सचिन पायलट ने न्याय योजना राजस्थान में लागू करने के सवाल पर कहा कि राजस्थान में पेंशन और अनुग्रह राशि लॉक डाउन 1 के समय से ही लोगों के खातों में डाल दी थी. फेसबुक, ट्वीटर, इंस्टाग्राम, यू-ट्यूब तथा अन्य सोश्यल मीडिया माध्यमों से इस देशव्यापी ऑनलाईन कैम्पेन में कांग्रेस नेता और कार्यकर्ता शामिल होंगे.

...फर्स्ट इंडिया के लिए योगेश शर्मा की रिपोर्ट राजस्थान

नागौर: प्यार में जाति बनी दीवार, प्रेमी युगल ने फांसी लगा जान दी

नागौर: प्यार में जाति बनी दीवार, प्रेमी युगल ने फांसी लगा जान दी

नागौर: जिले के सदर थाना इलाके के खरनाल गांव के बाहर प्रेमी युगल ने एक साथ फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. सुबह गांव के बाहर पेड़ पर दोनों के शव लटके देख सनसनी फैल गई. दोनों के अलग-अलग जाति के होने से परिजन शादी के लिए तैयार नहीं थे. दो दिन पूर्व भाकरोद गांव के शक्स ने खींवसर थाने मे अपनी पुत्री की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई गई थी. लेकिन आज प्रेमी यूगल ने पेड़ पर फंदा लगाकर खुदकुशी कर ली.

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया 

सामाजिक मनमुटाव के चलतें दोनों ने जीवन लीला समाप्त की: 
सदर थाना क्षेत्र के खरनाल गांव में रहने वाले जगदीश जाट और भाकरोद गांव की सुमन कंवर एक दूसरे लम्बे समय से प्यार करते हैं. इससे दोनों के परिवारों में मेल-मिलाप नहीं होने के चलते और सामाजिक मनमुटाव के चलतें दोनों ने जीवन लीला को समाप्त कर लिया. करीब दो साल पहले दोनों में प्रेम-प्रसंग शुरू हुआ था दोनों शादी करना चाहते थे. अलग-अलग जाति के होने से परिजन तैयार नहीं थे. लॉकडाउन में करीब डेढ़ माह पहले मेल मिलाप करने से मना किया. इसके बाद भी दोनों शादी की जिद पर अड़े रहे. उसके बाद पेड़ की एक डाल पर जगदीश जाट और सुमन कंवर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. सुबह ग्रामीणों ने दोनों के शव पेड़ पर लटके देखें. इससे सनसनी फैल गई. फोरेंसिक टीम के साथ पहुंचे सदर थाना प्रभारी नंद किशोर वर्मा ने जांच शुरू कर दी है.

लॉकडाउन 5 को लेकर दावों और कयासों को गृहमंत्रालय ने किया खारिज, अभी कोई फैसला नहीं 

प्रेम-प्रसंग के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या की बात सामने आई:
नागौर के अति पुलिस अधीक्षक रामकुमार कंस्वा ने बताया सदर थाना पुलिस ने शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. प्राथमिक जांच में प्रेम-प्रसंग के चलते फांसी लगाकर आत्महत्या की बात सामने आई है. पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी. वहीं रोल थाना इलाके के सोमना गांव मे सुमन रेगर नाम की विवाहिता ने घरेलू कलह के कारण संदिग्ध परिस्थितियों के चलते सुसाइड कर लिया. दोनों मामलों की जांच जारी है. वहीं सड़क हादसे मे सीकर के व्यापारी की कार अनियंत्रित होकर पलट जाने से मौत हो गई. नागौर जिले के चार जनों का पोस्टमार्टम जवाहरलाल नेहरू अस्पताल में हुआ है. 

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया

नक्शा विवाद पर एक कदम पीछे हटा नेपाल, संविधान संशोधन की कार्यवाही से प्रस्ताव को हटाया

नई दिल्ली: बीते कुछ दिनों से पड़ोसी देश नेपाल से भारत के रिश्ते अच्छे नहीं चल रहे हैं. कालापनी और लिपुलेख जैसे सीमा विवाद ने दोनो दोनों देशों के रिश्तों में खटास पैदा की है. इसी बीच भारत से  संबंधों में आए दरार के बीच नेपाल ने एक कदम पीछे हटाया है.

लॉकडाउन 5 को लेकर दावों और कयासों को गृहमंत्रालय ने किया खारिज, अभी कोई फैसला नहीं 

ऐन वक्त पर संसद की कार्यसूची हटाया: 
दरअसल, नेपाल की संसद में आज नए नक्शे को देश के संविधान में जोड़ने के लिए संविधान संशोधन का प्रस्ताव रखा जाना था. लेकिन नेपाल सरकार ने ऐन वक्त पर संसद की कार्यसूची से आज संविधान संशोधन की कार्यवाही को हटा दिया. यह नेपाल के सत्तापक्ष‌ और प्रतिपक्षी दल दोनों की आपसी सहमति से हुआ है. 

नेपाल के प्रधानमंत्री ने बुलाई थी सर्वदलीय बैठक:
इससे पहले मंगलवार को नेपाल के प्रधानमंत्री पी शर्मा ओली ने नए नक्शे वाले मुद्दे पर राष्ट्रीय सहमति बनाने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई थी. इस दौरान सभी दल के नेताओंने भारत के साथ बातचीत कर मुद्दे को सुलझाने का सुझाव दिया था. भारतीय विदेश मंत्रालय ने नेपाल से बातचीत के लिए माहौल बनाने की मांग की थी. ऐसे मं नेपाल ने नए नक्शे को संसद में पेश नहीं करके कूटनीतिक रूप से परिपक्वता का उदाहरण दिया है. 

Coronavirus: राहुल गांधी ने हेल्थ एक्सपर्ट से पूछा भईया बताइए कि वैक्सीन कब तक आएगी? मिला ये जवाब  

यह है मामला:
बता दें कि 8 मई को भारत ने उत्तराखंड के लिपुलेख से कैलाश मानसरोवर के लिए सड़क का उद्घाटन किया था. इसको लेकर नेपाल ने कड़ी आपत्ति जताई थी. इसके बाद नेपाल ने नया राजनीतिक नक्शा जारी करने का फैसला किया था और इसमें भारत के कालापानी, लिपुलेख और लिम्पियाधुरा क्षेत्रों को भी अपना बताकर दिखाया है.
 

Open Covid-19