Live News »

सुप्रीम कोर्ट का राजनीतिक दलों को निर्देश, अपराधियों की जानकारी सार्वजनिक के साथ टिकट देने से पहले कारण भी बताएं

सुप्रीम कोर्ट का राजनीतिक दलों को निर्देश, अपराधियों की जानकारी सार्वजनिक के साथ टिकट देने से पहले कारण भी बताएं

नई दिल्ली: सुप्रीम कोर्ट ने आज राजनीति में अपराधीकरण से जुड़े एक मामले पर बड़ा आदेश दिया है. कोर्ट ने सभी राजनीतिक दलों को निर्देश दिया है कि वे अपनी वेबसाइट पर सभी उम्मदवारों का आपराधिक रिकॉर्ड बताएं और उम्मीदवार के चयन का कारण भी साझा करें. यानी राजनीतिक दलों को ये भी बताना होगा कि आखिर उन्होंने एक क्रिमिनल को प्रत्याशी क्यों बनाया है. सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि इस आदेश का पालन करने के बाद राजनीतिक दल चुनाव आयोग को इस बात की जानकारी भी दें. 

VIDEO: अंगदान मुहीम को लेकर टूट गई धर्म की दीवारें, हिन्दू युवक का अंग...मुस्लिम को नई जिन्दगी 

उम्मीदवार घोषित करने के 72 घंटे में चुनाव आयोग को देनी होगी जानकारी:
आज एक याचिका पर सुनावई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने ये आदेश दिया कि अदालत के फैसले के मुताबिक, सभी राजनीतिक दलों को उम्मीदवार घोषित करने के 72 घंटे के भीतर चुनाव आयोग को भी इसकी जानकारी देनी होगी. साथ ही घोथि किए गए उम्मीदवारों की जानकारी को स्थानीय अखबारों में भी छपवानी होगी. वहीं अगर किसी नेता या उम्मीदवार के खिलाफ कोई केस नहीं है तो उसे भी इसकी जानकारी देनी होगी. अगर कोई भी नेता सोशल मीडिया, अखबार या वेबसाइट पर ये सभी जानकारियां नहीं देता है तो चुनाव आयोग उसके खिलाफ एक्शन ले सकता है और सुप्रीम कोर्ट को भी जानकारी दे सकता है.

सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में की गई थी मांग:
बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में दाखिल याचिका में प्रत्याशियों पर चल रहे मुकदमों की जानकारी मीडिया में प्रकाशित करने की मांग की गई थी. साथ ही यह भी मांग की गई थी कि उसे टिकट देने वाली पार्टी भी अपने वेबसाइट में उसका आपराधिक रिकॉर्ड प्रकाशित करें. 

केजरीवाल सरकार में पुराने चेहरे ही बनेंगे दोबारा मंत्री, नहीं होगा नया चेहरा

और पढ़ें

Most Related Stories

VIDEO: पेट्रोल और डीजल के नाम पर लूट! 300 प्रतिशत टैक्स वसूल रही सरकार, आमजन अभी तक खेल से अनजान

जयपुर: क्या आपको पता है जिस पेट्रोल के लिए आप प्रति लीटर 87 रुपए 55 पैसे चुका रहे हो उसकी वास्तविक कीमत महज 26 रुपए एक पैसे और डीजल की 28 रुपए 11 पैसे है. जी हां केंद्र और राज्य सरकार मिलकर पेट्रोल, डीज़ल पर 300 फीसदी तक ज्यादा टैक्स वसूल रही हैं. पेट्रोल, डीज़ल की आसमान छूती कीमतों से त्रस्त प्रदेश की जनता को आज हम बताने जा रहे हैं पेट्रोल, डीज़ल पर टैक्स को अनसुलझा खेल, जिससे आमजन अभी तक अनजान थे. फर्स्ट इंडिया न्यूज़ की खास रिपोर्ट:

पेट्रोल
पेट्रोल बेस प्राइज़                26.01 रुपए
सेंट्रल एक्साइज़                  32.98 रुपए
स्टेट वैट                            22.41 रुपए
रोड सैस                              1.50 रुपए
 लाइसेंस फीस प्रति लीटर           19 पैसे
डीलर कमीशन पर वैट          1.27 रुपए
डीलर कमीशन                    3.19 रुपए
कुल                              87.55 रुपए

डीज़ल
डीज़ल बेस प्राइज़                  28.11 रुपए
सेंट्रल एक्साइज़                     31.83 रुपए
स्टेट वैट                              16.78 रुपए
रोड सैस                                1.75 रुपए
लाइसेंस फीस प्रति लीटर             16 पैसे
डीलर कमीशन पर वैट                62 पैसे
डीलर कमीशन                       2.05 रुपए
कुल                                    81.30 रुपए

अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में भारी गिरावट:
अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतों में भारी गिरावट के बाद भी देश और प्रदेश में पेट्रोल, डीज़ल के भाव कम होने का नाम ही नहीं ले रहे. पेट्रोल, डीज़ल की कीमतों में वृद्धि से रोटी, कपड़ा और मकान सबकुछ महंगा हो चुका है. अब सवाल उठता है कि क्या पेट्रोल, डीज़ल की वास्तविक कीमत वही हैं. जो हम जेब से चुका रहे हैं या फिर इनमें भी केंद्र और राज्य सरकार मिलकर कमाई का जरिया तय कर चुकी हैं. जी हां पेट्रोल, डीज़ल की वास्तविक कीमत हमारे द्वारा चुकाई जा रही कीमतों से तीन सौ प्रतिशत तक कम हैं. फिर क्या कारण है कि हमारी जेब से वास्तविक कीमतों से तीन गुना तक ज्यादा वसूला जा रहा है.

खान महाघूसकाण्ड: पूर्व IAS अशोक सिंघवी को बड़ा झटका, राजस्थान हाईकोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका

पेट्रोल की मूल कीमत:
इस सवाल का जवाब केंद्र और राज्य सरकारों के उन टैक्स में छुपा है जिसकी आम जनता को जानकारी नहीं. दरअसल अंतरराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की भारतीय पॉकेट की कीमत 38 डॉलर प्रति बैरल तक है. इस कीमत से देश में पेट्रोल की मूल कीमत 26 रुपए एक पैसे है. इस पर केंद्र सरकार हमसे केंद्रीय उत्पाद शुल्क के तौर पर प्रति लीटर 32 रुपए 98 पैसे वसूल रही है और राज्य सरकार 22 रुपए 41 पैसे. इसके अलावा रोड सैस, लाइसेंस फीस, डीलर कमीशन पर वैट और डीलर का कमीशन भी इसमें जोड़ दिया जाए तो पेट्रोल पर हम मूल कीमत के बाद 61 रुपए 54 पैसे प्रति लीटर ज्यादा दे रहे हैं.

राज्य सरकार ने बढ़ाया दो बार वैट: 
इसी तरह डीज़ल की बेस प्राइस 28 रुपए 11 पैसे प्रति लीटर है जिस पर हमसे केंद्र और राज्य सरकार मिलकर 53 रुपए 19 पैस तक टैक्स वसूल रहे हैं. कोरोना संकट के दौर में राज्य सरकार ने पेट्रोल और डीज़ल पर दो बार वैट बढ़ाया है. प्रदेश में अब पेट्रोल पर 38 फीसदी और डीज़ल पर 30 फीसदी वैट है. अब बात रकें पड़ौसी राज्यों में पेट्रोल डीज़ल की तो हालत और खराब दिखाई देती है. हरियाणा, पंजाब, गुजरात और यूपी के मुकाबले राजस्थान में पेअ्रोल, डीज़ल पर टैक्स 10 रुपए तक ज्यादा है. इससे हमारे ट्रांसपोर्टर ही नहीं दूसरे राज्यों के ट्रांसपोर्टर भी डीज़ल राजस्थान की अपेक्षा पड़ौसी राज्यों से ले रहे हैं. इससे प्रदेश में पेट्रोलियम की बिक्री 50 फीसदी से ज्यादा गिरी है. उम्मीद की जानी चाहिए कि राज्य सरकार भी पड़ौसी राज्यों की तुलना में जल्द ही पेट्रोल, डीज़ल के दामों में प्रदेश की जनता को राहत देगी ताकि कोरोना संकट के दौर में आमजन को राहत मिल सके. 

राज्यपाल कलराज मिश्र बोले, वाइब्रेंट डेमोक्रेसी यानी जीवंत लोकतंत्र भारत की मुख्य ताकत, चीन नहीं कर सकता भारत का मुकाबला

भीलवाड़ा: 4 साल पुराने दुष्कर्म मामले में पॉक्सो कोर्ट ने आरोपी को सुनाई 10 साल की सजा

भीलवाड़ा: 4 साल पुराने दुष्कर्म मामले में पॉक्सो कोर्ट ने आरोपी को सुनाई 10 साल की सजा

भीलवाड़ा: जिले पॉक्सो कोर्ट संख्‍या 2 ने आज 4 साल पुराने मामले में दुष्‍कर्म के आरोपी को दोषी मानते हुए 10 साल की सजा सुनायी है. कोर्ट ने इसके साथ ही दोषी पर 20 हजार रुपये का आर्थिक दंड भी लगाया. दोषी युवक ने 4 साल पूर्व शाहपुर थाना क्षेत्र की एक युवती के साथ दुष्कर्म किया था. 

ACB Trap: प्रतापगढ़ में गिरदावर रामलाल 4 हजार की घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार  

21 दस्‍तावेज और 11 गवाह के आधार पर दोषी:  
विशिष्‍ठ लोक अभियोजक श्रृति शर्मा ने कहा कि 02 मार्च 2016 को शाहपुरा थाने में एक‍ पीड़िता ने रिपोर्ट दर्ज करवायी कि उसका कांसों का खेडा निवासी राजेश गुर्जर ने उसके साथ दुष्‍कर्म करना बताया. इस पर पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार उसके खिलाफ कोर्ट में चालान पेश किया. कोर्ट ने आज 21 दस्‍तावेज और 11 गवाह के आधार पर दोषी मनाते हुए 10 साल की सजा के साथ ही 20 हजार रुपये का जुर्माना लगाया. 

 VIDEO:SMS स्टेडियम का बैडमिंटन कोच कोरोना पॉजिटिव, खिलाड़ियों व अधिकारियों पर भी संक्रमण का खतरा 

ACB Trap: प्रतापगढ़ में गिरदावर रामलाल 4 हजार की घूस लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

प्रतापगढ़: जिले में आज भ्रष्टाचार निरोधक विभाग की टीम ने एक गिरदावर को 4000 रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार किया है. गिरदावर ने यह राशि कृषि भूमि की पत्थर गढ़ी करवाने के एवज में मांगी थी. परिवादी 7000 रूपए में से 3000 रुपए  आरोपी को पहले ही दे चुका था. 

VIDEO:SMS स्टेडियम का बैडमिंटन कोच कोरोना पॉजिटिव, खिलाड़ियों व अधिकारियों पर भी संक्रमण का खतरा 

पिछले वर्ष हो चुका था आदेश: 
प्रतापगढ़ एसीबी के पुलिस उप अधीक्षक हेरंब जोशी ने बताया कि छोटी सादड़ी के कारूंडा गांव के रहने वाले दशरथ रैगर ने अपनी कृषि भूमि पर पत्थर गढ़ी के लिए आवेदन किया था और पिछले वर्ष उसका आदेश भी हो चुका था लेकिन गिरदावर रामलाल गायरी उसको लगातार चक्कर दे रहा था और 7000 रुपए की मांग कर रहा था. इस पर दशरथ ने एसीबी में शिकायत की जिस पर बीती 2 जुलाई को 2000 रुपए की राशि और 4 जुलाई को 1000 रुपए की राशि देकर शिकायत का सत्यापन करवाया गया. 

 गैंगस्टर राजू ठेहट को 20 दिन की पैरोल, पुलिस और प्रशासन ने कहा जेल से बाहर आने पर गैंगवार की संभावना 

एसीबी की टीम ने गिरदावर रामलाल को दबोच लिया:
आज आरोपी रामलाल गायरी के छोटी सादड़ी स्थित आवास पर जहां वहां किराए से रहता है दशरथ 4000 रुपए की बकाया राशि लेकर पहुंचा. रामलाल ने वह राशि ली, तभी इशारा पाकर एसीबी की टीम ने गिरदावर रामलाल को दबोच लिया. फिलहाल एसीबी की टीम आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है. 
 

Sushant Suicide Mystery: अभी तक नहीं उठा आत्महत्या केस से पर्दा, गुत्थी को सुलझाने में लगी पुलिस

Sushant Suicide Mystery: अभी तक नहीं उठा आत्महत्या केस से पर्दा, गुत्थी को सुलझाने में लगी पुलिस

नई दिल्ली: बॉलीवुड के एक चमकते सितारे सुशांत सिंह राजपूत ने सुसाइड करके जीवन लीला समाप्त कर ली. उनके आत्महत्या करने की क्या वजह रही अभी तक पर्दा नहीं उठ पाया है, लेकिन मुंबई पुलिस सुसाइड मिस्ट्री को सुलझाने की कोशिश कर रही है. हर रोज इस मामले में नए अपडेट आ रहे है. अब सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में मुबई पुलिस फिल्म निर्माता संजय लीला भंसाली से पूछताछ कर रही है. 

बयान दर्ज कराने पुलिस स्टेशन पहुंचे भंसाली:
मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक संजय लीला भंसाली अपना बयान दर्ज कराने के लिए बांद्रा पुलिस स्टेशन पहुंच गए हैं. पुलिस ने पूछताछ के लिए संजय लीला भंसाली को बुलाया है. उनसे सुशांत सिंह राजपूत को ऑफर की गई फिल्मों के बारे में पूछताछ की जाएगी, जिस पर सुशांत और संजय लीला भंसाली के बीच बात नहीं बन पाई थी.

वीडियो शेयर कर राहुल गांधी ने कसा पीएम मोदी पर तंज, कहा- हार्वर्ड को तीन विफल रणनीति पर रिसर्च करना चाहिए

अब तक 28 लोगों से हुई पूछताछ:
मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक इस मामले में भंसाली का नाम तब सामने आया, जब फिल्म आलोचक सुभाष के झा ने खुलासा किया कि सुशांत सिंह राजपूत को संजय लीला भंसाली ने 3 फिल्मों के लिए अप्रोच किया था. इनमें बाजीराव मस्तानी, गोलियों की रासलीला राम-लीला और पद्मावत शामिल थीं. सुशांत के सुसाइड की वजह तलाशने के लिए पुलिस एक्टर के करीबियों समेत कई फिल्मी हस्तियों से पूछताछ कर चुकी है. इसी मद्देनजर अब भंसाली को पूछताछ के लिए बुलाया गया है.सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या केस की पुलिस जांच हर रोज गहराती जा रही है. इस  मामले में अब तक 28 से अधिक लोगों से पूछताछ की जा चुकी है और उनके बयान पुलिस ने दर्ज किए हैं. बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत ने 14 जून को अपने ही बांद्रा स्थित फ्लैट में खुदकुशी कर ली थी.

COVID-19: सीएम केजरीवाल की लोगों से अपील, कहा-घबराने की जरूरत नहीं, डोनेट करें प्लाज्मा  

VIDEO: SMS स्टेडियम का बैडमिंटन कोच कोरोना पॉजिटिव, खिलाड़ियों व अधिकारियों पर भी संक्रमण का खतरा

जयपुर: राजधानी जयपुर के SMS स्टेडियम में खिलाड़ियों से खिलवाड़ का मामला सामने आया है. SMS स्टेडियम में तैनात खेल परिषद का एक कोच कोरोना पॉजिटिव मिला है. मिली जानकारी के अनुसार कोच स्टेडियम के अफसरों व कर्मचारियों से भी मिल चुका है. ऐसे में कई खिलाड़ियों व अफसरों के भी संक्रमित होने का खतरा है. अब खिलाड़ी व अधिकारी कोरोना संक्रमित होने के खतरे को लेकर परेशान हो रहे हैं. कई खिलाड़ियों-अधिकारियों ने खुद को क्वारंटीन किया है.

गैंगस्टर राजू ठेहट को 20 दिन की पैरोल, पुलिस और प्रशासन ने कहा जेल से बाहर आने पर गैंगवार की संभावना 

अभी तक स्टेडियम को नहीं किया बंद: 
वहीं बैडमिंटन कोच के कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद भी खबर लिखे जाने तक स्टेडियम को बंद नहीं किया गया. सिर्फ बैडमिंटन हॉल को बंद किया गया है, जबकि कोच पूरे स्टेडियम में घूमते हैं. ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यह है कि आखिर क्यों खिलाड़ियों के जीवन से खेल रहा खेल विभाग ? इसके साथ ही SMS स्टेडियम में सोशल डिस्टेंसिंग की भी पालना नहीं हो रही है. ऐसे में क्या खेल मंत्री लेंगे खिलाड़ियों के हित में फैसला ?

Rajasthan Weather : राजधानी में बदला मौसम का मिजाज, सावन के पहले सोमवार को बरसे मेघ 

सभी खिलाड़ियों को होम क्वारेंटीन करने के निर्देश:
दूसरी ओर बैडमिंटन कोच के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद राज्य बैडमिंटन संघ के सचिव केके शर्मा ने जयपुर संघ के सचिव मनोज दासोत को निर्देश देते हुए कहा कि कोच के संपर्क में आए खिलाड़ियों से बात कर सभी खिलाड़ियों को होम क्वारेंटीन किया जाए. ऐसे में अब सभी खिलाड़ियों की जानकारी जुटा कर उनको निर्देश जारी किया जा रहा है. 


 

सीमा पार से आई टिड्डियों पर 'एयर स्ट्राइक' जारी

सीमा पार से आई टिड्डियों पर 'एयर स्ट्राइक' जारी

जैसलमेर: पश्चिमी सीमा पर पाकिस्तान से आने वाले टिड्डी दलों पर जैसलमेर के सीमावर्ती क्षेत्रों में हेलीकॉप्टर से धावा जारी है. जैसलमेर जिले में टिड्डी नियंत्रण में अब हैलिकॉप्टर की मदद भी ली जा रही है. रविवार को जिले के 140 आरडी क्षेत्र में  हैलिकॉप्टर से कीटनाशक का स्प्रे कर टिड्डी नियंत्रण किया गया. टिड्डियों के पड़ाव की सूचना विभाग को मिलने के बाद किसानों की फसलों व अन्य वनस्पति के लिए आतंक का सबब बने इन अवांछित मेहमानों पर एयर स्ट्राइक की जा रही है.

गैंगस्टर राजू ठेहट को 20 दिन की पैरोल, पुलिस और प्रशासन ने कहा जेल से बाहर आने पर गैंगवार की संभावना

हेलीकॉप्टर में पेस्टिसाइड और जरूरी पानी का बंदोबस्त किया गया: 
जिले में निजी कंपनी के एक हेलीकॉप्टर ने शनिवार सुबह जैसलमेर के पुलिस लाइन मैदान में बने हेलीपैड से उड़ान भरी. इससे पहले वहां हेलीकॉप्टर में पेस्टिसाइड और जरूरी पानी का बंदोबस्त किया गया. टिड्डी नियंत्रण अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि जिले के विभिन्न स्थानों पर कुल 351 हैक्टेयर क्षेत्र में टिड्डी नियंत्रण कार्य किया गया. इसमें अमीरों की बस्ती में 25 हैक्टेयर, 138 से 162 आरडी में 80 हैक्टेयर, डेलासर में 60 हैक्टेयर तथा एका, पोकरण में 150 हैक्टेयर में नियंत्रण किया गया. इसी प्रकार ड्रोन से 36 हैक्टेयर में टिड्डी नियंत्रण किया गया. इनमें डेलासर में 20 हैक्टेयर तथा एका, पोकरण में 16 हैक्टेयर क्षेत्र में ड्रोन से टिड्डी नियंत्रण कार्य को अंजाम दिया गया. 

Rajasthan Weather : राजधानी में बदला मौसम का मिजाज, सावन के पहले सोमवार को बरसे मेघ 

Rajasthan Weather : राजधानी में बदला मौसम का मिजाज, सावन के पहले सोमवार को बरसे मेघ

Rajasthan Weather : राजधानी में बदला मौसम का मिजाज, सावन के पहले सोमवार को बरसे मेघ

जयपुर: सावन के पहले सोमवार को राजधानी जयपुर में आखिर इंद्र देव मेहरबान हुए. गुलाबी नगरी जयपुर में लंबे इंतजार के बाद झमाझम बारिश होने से मौसम खुशनुमा हो गया. आसमान पर बादलों का डेरा है और बारिश का दौर जारी है. सावन का पहला सोमवार है. मौसम विभाग ने पहले ही इस बात की घोषणा की थी कि सावन की शुरुआत बारिश के साथ होगी. 

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 20 हजार के पार, 459 लोगों की मौत

बारिश के चलते मौसम भी सुहावना हो गया:  
राजधानी जयुपर में बीते दिनों बारिश कुछ कम हुई थी, लेकिन लगता है कि अब यह कमी पूरी हो जाएगी. बारिश के चलते मौसम भी सुहावना हो गया है. प्रदेश में अलग-अलग स्थानों पर बारिश का यह दौर जारी है जिसके अगले तीन-चार दिन जारी रहने की उम्मीद है. उम्मीद जताई जा रही है कि जुलाई में अच्छी बारिश होगी. 

वीडियो शेयर कर राहुल गांधी ने कसा पीएम मोदी पर तंज, कहा- हार्वर्ड को तीन विफल रणनीति पर रिसर्च करना चाहिए 

आज प्रदेश के 7 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी:
वहीं मौसम विभाग ने भी आज प्रदेश के 7 जिलों में भारी बारिश की चेतावनी है. इसके साथ ही करीब 2 दर्जन जिलों में भी मेघगर्जना के साथ बारिश होने की संभावना जताई है. बारिश का दौर शुरू होने से कई जिलों में पारा अब उतार की ओर है. मौसम विभाग के अनुसार सोमवार को राज्य के सात जिलों में भारी होने के आसार हैं. मौसम विभाग के पूर्वानुमान के अनुसार बूंदी, टोंक, राजसमंद, चित्तौड़गढ़, अजमेर, भीलवाड़ा और नागौर में भारी बारिश की संभावना है. वहीं राज्य के 23 अन्य जिलों में भी मेघगर्जना के साथ बारिश की संभावित है. इनमें से कई इलाकों में तेज हवायें भी चलने के आसार हैं.

तीन शावकों के साथ बाघिन टी-8 लाडली बनी हुई सैलानियों के आकर्षण का केंद्र

तीन शावकों के साथ बाघिन टी-8 लाडली बनी हुई सैलानियों के आकर्षण का केंद्र

सवाई माधोपुर: रणथंभौर में इन दिनों बाघिन टी 8 यानी लाड़ली इन दिनों अब तीनों शावकों के साथ सैलानियों के आकर्षण का केंद्र बनी हुई है. हालांकि, रणथंभौर के जोन 1 से 5 को एक जुलाई को ही पर्यटकों के लिए तीन महीने के लिए बंद कर दिया गया था लेकिन बफर एरिया के जोन 6 से 10 पर्यटकों के लिए अभी खुले हैं.

वीडियो शेयर कर राहुल गांधी ने कसा पीएम मोदी पर तंज, कहा- हार्वर्ड को तीन विफल रणनीति पर रिसर्च करना चाहिए 

शावकों को शिकार की दे रही ट्रेनिंग: 
लाड़ली इस क्षेत्र में पर्यटकों को खूब साइटिंग दे रही है. वो अपने तीनों शावकों के साथ कभी सड़क पार करते तो कभी शावकों को शिकार की ट्रेनिंग देते हुए दिख जाती है. वन विभाग की टीम भी लगातार लाड़ली और उसके शावकों की मॉनिटरिंग कर रही हैं. 

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 20 हजार के पार, 459 लोगों की मौत 

Open Covid-19