नई दिल्ली दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया बोले- दिल्ली में किये गए सर्वेक्षण में 91 प्रतिशत लोगों ने माना कि भाजपा दंगे कराती है

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया बोले- दिल्ली में किये गए सर्वेक्षण में 91 प्रतिशत लोगों ने माना कि भाजपा दंगे कराती है

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया बोले- दिल्ली में किये गए सर्वेक्षण में 91 प्रतिशत लोगों ने माना कि भाजपा दंगे कराती है

नई दिल्ली: आम आदमी पार्टी (AAP) ने हिमाचल प्रदेश और गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले खुद को भाजपा व कांग्रेस के मुकाबले एक बेहतर विकल्प बताते हुए दावा किया कि उसने दिल्ली में 11.5 लाख लोगों पर एक सर्वेक्षण किया है, जिसमें 91 प्रतिशत लोगों ने माना है कि भाजपा दंगे कराती है. आप के वरिष्ठ नेता व दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने दावा किया कि सर्वेक्षण में भाग लेने वाले आठ प्रतिशत दिल्लीवासियों ने माना कि कांग्रेस देश में दंगे और गुंडागर्दी करती है जबकि एक प्रतिशत लोगों ने कहा कि 'अन्य' ऐसा करते हैं.

पंजाब विधानसभा चुनाव में मिली शानदार जीत से गदगद आप इस साल के अंत में होने वाले गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव पर नजरें गड़ाए हुए है. सिसोदिया ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि फोन कॉल और घर घर जाकर किये गए सर्वेक्षण के दौरान लोगों से भाजपा, कांग्रेस और आप के बारे में तीन-तीन सवाल पूछे गए. हर सवाल के जवाब के लिये लोगों को चार विकल्प -भाजपा, कांग्रेस, आप, और अन्य- दिये गए. सिसोदिया ने कहा, 'भाजपा की छवि देखिये. दूसरा सवाल था कि किस पार्टी में सबसे अधिक गुंडे और मवाली हैं, जिसपर 89 प्रतिशत लोगों ने भाजपा, पांच प्रतिशत ने कांग्रेस, दो प्रतिशत ने आप और चार प्रतिशत ने 'अन्य' का विकल्प चुना.' उन्होंने दावा किया कि आप ने 11.5 लाख दिल्लीवासियों पर सर्वेक्षण किया, जिनमें से 91 प्रतिशत ने माना कि भाजपा दंगे और गुंडागर्दी करती है. 

सिसोदिया ने कहा कि तीसरे सवाल कि किस पार्टी में सबसे अधिक शालीन, शिक्षित व ईमानदार लोग हैं. इसपर 73 प्रतिशत लोगों ने आम आदमी पार्टी, 15 प्रतिशत ने कांग्रेस, 10 प्रतिशत ने भाजपा और शेष दो प्रतिशत ने अन्य का नाम लिया. सिसोदिया ने आरोप लगाया, 'लिहाजा सर्वेक्षण के परिणाम ने भाजपा को पूरी तरह बेनकाब कर दिया. गुंडागर्दी और दंगे कराने के अलावा वे (भाजपा) कुछ नहीं करती. वे स्कूलों, अस्पतालों, रोजगार और महंगाई की बात नहीं करते.' आप ने 21 अप्रैल को यह सर्वेक्षण शुरू किया था, जिसमें उसने देशभर के लोगों से अपने, भाजपा और कांग्रेस के बारे में राय मांगी थी. आप ने अभी अन्य राज्यों के सर्वेक्षण परिणाम साझा नहीं किये हैं. सोर्स- भाषा

और पढ़ें