Live News »

test

test

sfsfdfdfdfdfdf

और पढ़ें

Most Related Stories

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 4 लोगों की मौत, 210 नए पॉजिटिव केस आये सामने, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 9862

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 4 लोगों की मौत, 210 नए पॉजिटिव केस आये सामने, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 9862

जयपुर: राजस्थान में लगातार कोरोना वायरस के मरीज बढ़ते जा रहे है. गुरुवार रात 8.30 बजे तक 4 मरीजों की मौत हो गई. जबकि 210 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. राजस्थान में अब तक 213 लोगों की कोरोना वायरस की वजह से मौत हो चुकी है. वहीं कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 9 हजार 862 पहुंच गई. राजस्थान में पॉजिटिव से नेगेटिव कुल 7104 मरीज हुए. अस्पताल से कुल 6490 मरीज डिस्चार्ज किए गए. कुल 2545 एक्टिव मरीज अस्पताल में उपचाररत है. कुल कोरोना पॉजिटिव प्रवासियों की संख्या 2843 पहुंच गई है.

जयपुर एयरपोर्ट से आज रहीं 7 फ्लाइट रद्द, स्पाइसजेट की 4, इंडिगो की 2 फ्लाइट रहीं रद्द

सर्वाधिक 49 केस अकेले भरतपुर में आये सामने:
जयपुर,भरतपुर,सवाई माधोपुर और एक अन्य राज्य के मरीज की मौत हो गई. सर्वाधिक 49 केस अकेले भरतपुर में सामने आये है. अजमेर 6, बारां 8, बाड़मेर 3, भीलवाड़ा 5 पॉजिटिव, बीकानेर 1, बूंदी 2, चित्तौड़गढ़ 8, चूरू 25, जयपुर 12 पॉजिटिव, जालोर 6, झुंझुनूं 6, जोधपुर 29, करौली एक, कोटा 7 पॉजिटिव, नागौर 6, पाली 5, राजसमंद तीन, सवाई माधोपुर 1 पॉजिटिव, सीकर 12, सिरोही 2, उदयपुर में 8 और दूसरे राज्य के 5 पॉजिटिव सामने आये है. 

जयपुर में कोरोना का बढ़ता दायरा:
राजधानी जयपुर में कोरोना वायरस का दायरा बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में एक मरीज की मौत हो गई. जबकि 12 पॉजिटिव केस सामने आये है. सबसे ज्यादा चांदपोल बगरू वाले के रास्ते में 4 मरीज,  इसके अलावा ब्रह्मपुरी में एक, जेएनयू में एक, बनीपार्क 1 पॉजिटिव, नाहरी का नाका एक, गणगौरी बाजार एक, सेन्ट्रल जेल 2 पॉजिटिव, पानीपेच में एक मरीज पॉजिटिव मिला है. जयपुर में अब तक 101 मरीजों की कोरोना की वजह से मौत हो चुकी है. वहीं कुल मरीजों की संख्या 2136 पहुंच गई है. 

सीएम गहलोत के प्रयास लाए रंग, बदलने लगी प्रदेश की औद्योगिक तस्वीर

सीएम गहलोत के प्रयास लाए रंग, बदलने लगी प्रदेश की औद्योगिक तस्वीर

जयपुर: जीवन के साथ आजीविका भी जरूरी है, यह कहना है मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का. सीएम  गहलोत के प्रयासों के बाद अब प्रदेश की औद्योगिक तस्वीर बदलने लगी है. प्रदेश की अनेक एमएसएमई इकाइयों ने नवाचारों के प्रयोग के साथ उत्पादन शुरू कर दिया और श्रमिकों को भी अब काम मिलने लगा है. 

औद्योगिक गतिविधियां अब फिर से सांस लेने लगी:
दो महीने के लॉकडाउन के दौरान ठप हुई प्रदेश की औद्योगिक गतिविधियां अब फिर से सांस लेने लगी है. राज्य के औद्योगिक परिदृश्य के लिए शुभ संकेत आने लगे हैं और कोटा, भीलवाड़ा, भरतपुर, भिवाड़ी, बीकानेर, चित्तोडगढ़, जोधपुर, जयपुर, अजमेर आदि की अधिकांश बड़ी इकाइयों ने उत्पादन शुरु कर दिया है. सीमेंट, टैक्सटाइल्स, पत्थर, आयल, फूड प्रोसेसिंग, फर्टिलाइजर, केमिकल, ग्लास सहित अनेक बड़ी इकाइयों में उत्पादन शुरु हो गया है.

-लॉकडाउन-1 में 1840 इकाईयां चालू थी, 44 हजार श्रमिक कार्यरत थे
-लॉकडाउन-2 में 6290 इकाईयों में  1 लाख 40 हजार श्रमिक काम कर रहे थे
-लॉकडाउन-3 में 7790 इकाईयां चालू हो गई, 53 हजार मजदूर रोजगार से जुड़े
-लॉकडाउन-4 में 21728 इकाईयां और खुली, 94700 लोग रोजगार से जुड़े
-अब तक 37 हजार 648 इकाईयां प्रदेश में काम कर रही
-3 लाख 33 हजार से अधिक श्रमिक कर रहे हैं काम
-440 से अधिक बड़ी व मेगा इकाईयां शुरू हो चुकी है प्रदेश में

चूरू जिले के पुलिसकर्मियों से एसपी कर रही मन की बात, तनावमुक्त करने के लिए किया जा रहा मोटिवेट

लॉकडाउन की वजह से परिस्थितियों में आया बदलाव:
मुख्यमंत्री गहलोत ने दो बार औद्योगिक क्षेत्र से जुड़े विशेषज्ञों, उद्योगपतियों व औद्योगिक संगठनों के पदाधिकारियों के साथ मीटिंग करके उनको आश्वासन दिया था कि सरकार उद्योग जगत को हर संभव सहयोग देगी. इसी का असर है कि अब उद्योग जगत में विश्वास जगा है प्रदेश की औद्योगिक गतिविधियां पटरी पर आने लगी है. पूरे प्रदेश की बात करें, तो अब तक 43 फीसदी यूनिट्स शुरू हो चुकी है और 27 फीसदी श्रमिक काम पर लौट आए हैं. एसीएस डॉ. सुबोध अग्रवाल ने लॉक डाउन के कारण परिस्थितियों में बदलाव आया है. उन्होंने अधिकारियों को उद्यमियों के विश्वास पैदा करने, सरकारी पैकेजों का लाभ दिलाने में सहयोग करने और उनसे संवाद कायम रखते हुए प्रदेश के औद्योगिक सिनेरियोें और अधिक बेहतर बनाने के समन्वित प्रयास करने के निर्देश दिए. विभाग ने अब उद्योगों और बाहर से आने वाले स्थानीय श्रमिकों के बीच समन्वय बनाने के निर्देश दिए. इससे स्थानीय श्रमिकों को यहां ही रोजगार मिल सकेगा. राज्य में 80 प्रतिशत से अधिक 547 में से 440 वृहदाकार इकाइयों ने उत्पादन शुरु हो गया है. वहीं करीब 30 फीसदी एमएसएमई इकाइयां उत्पादन कार्य में लग गई है. जापानी जोन में भी 45 में से 38 इकाइयों में उत्पादन होने लगा है.

-वस्त्र नगरी भीलवाड़ा में टैक्सटाइल उद्योग ने रफ्तार पकड़ी
-पाली व बालोतरा में भी उद्योग पटरी पर आने लगे
-मुख्यमंत्री के निर्देश पर सुबोध अग्रवाल ने की वीसी
-उद्योग जगत के साथ मंथन किया एसीएस सुबोध ने
खुद मुख्यमंत्री भी दो बार कर चुके हैं उद्योग जगत से संवाद
-स्थानीय श्रमिकों को रोजगार देने पर दिया जा रहा जोर
-सीएम के निर्देश पर श्रम विभाग भी आंकड़े जुटा रहा
-प्रदेश के श्रमिकों को किया जाएगा स्किल्ड

डिप्टी सीएम सचिन पायलट का बयान, प्रदेश के 46,543 गांवों की आबादी का होगा ड्रोन सर्वे

कोरोना से जंग में कारगर हथियार, कोरोना गीत ने यूट्यूब पर मचाई धूम

कोरोना से जंग में कारगर हथियार, कोरोना गीत ने यूट्यूब पर मचाई धूम

जयपुर: कोरोना वायरस खतरनाक है और इस वायरस का अदृश्य होना इसे सबसे ज्यादा खतरनाक बनाता है. इसे लेकर मुंबई के आर्टिस्ट्स ने गीत पिक्चराइज्ड करके प्रजेंट किया है.बॉलीवुड सिंगर उदित नारायण के सुर से सजे इस गीत को आम जनता में प्रचारित करके खास तौर पर कंटेनमेंट जोन में तमाम एहतियात को लागू करने का बीड़ा उठाया एडीजी क्राइम बीएल सोनी ने और इन सामूहिक कोशिशों का ही नतीजा यह निकला कि यह गीत यूट्यूब पर तो धूम मचा ही रहा है लेकिन खास तौर पर कंटेनमेंट जोन में संक्रमण फैलाव से रोकने का बड़ा कारगर हथियार भी साबित हो रहा है. कोविड 19 में बचाव और सावधानी सबसे बड़ा हथियार है. इसके मद्देनजर एडीजी क्राइम बीएल सोनी ने एक कविता के जरिये लोगों को जागरुक करने का बीड़ा उठाया. जब कंटेनमेंट जोन जयपुर के रामगंज इलाके में इस कविता के असर का पता चला तब इसके लेखक की खोज हुई. तब पता चला कि इसके कवि कोटा निवासी शरद गुप्ता हैं जो अभी मुंबई में आरपीएफ में कमांडिंग अधिकारी हैं. 

चूरू जिले के पुलिसकर्मियों से एसपी कर रही मन की बात, तनावमुक्त करने के लिए किया जा रहा मोटिवेट

म्यूजिक कंपोजिंग की प्रेरणा जगी:
तब आपसी बातचीत के जरिये इसके गीत के रूप में म्यूजिक कंपोजिंग की प्रेरणा जगी जिसका बीड़ा उठाया नामी म्यूजिक डायरेक्टर आमोद भट्ट ने.इसे जब बॉलीवुड सिंगर पद्मभूषण उदित नारायण ने सुना तो खुद गाया और फिर आमोद भट्ट की इस मुहिम से संगीत नियोजक के रूप में गुवाहाटी के आलाप दुदुल सैकिया और गीतकार के रूप में शकील अख्तर जुड़े तो वीडियो के लिए सतीश,राजेन्द्र गुप्ता और हेमंत पांडे ने अपना योगदान दिया. इसमें यह संदेश दिया गया है कि कोराना जंग जारी है और इससे दमखम से लड़ने के साथ एहतियात बेहद जरूरी है.

1 जून को यूट्यूब पर रिलीज हुआ गीत:
इसमें बताया गया है कि सोशल डिस्टेंसिंग,मास्क और सुरक्षा संबंधी नियम मानने होंगे और बेवजह बाहर नहीं निकला जाए. यह गीत 1 जून को यू ट्यूब पर रिलीज हो गया. इस गीत की खासियत यह है कि संगीत तैयार होने के बाद सिंगर उदित नारायण की डबिंग भी मोबाइल के जरिये ही हुई. अब यू ट्यूब पर इस गाने को हजारों लोग देखकर लाइक कर रहे हैं तो आप भी खुद सुरक्षित रहकर औरों को भी दें जागरुकता का यह संदेश.      

डिप्टी सीएम सचिन पायलट का बयान, प्रदेश के 46,543 गांवों की आबादी का होगा ड्रोन सर्वे

जयपुर एयरपोर्ट से आज रहीं 7 फ्लाइट रद्द, स्पाइसजेट की 4, इंडिगो की 2 फ्लाइट रहीं रद्द

जयपुर एयरपोर्ट से आज रहीं 7 फ्लाइट रद्द, स्पाइसजेट की 4, इंडिगो की 2 फ्लाइट रहीं रद्द

जयपुर: जयपुर एयरपोर्ट से फ्लाइट्स का संचालन शुरू हुए 10 दिन बीत चुके हैं और अब हवाई यात्रियों की संख्या में भी लगातार बढ़ोतरी हो रही है. हालांकि इसके बावजूद रोजाना कई फ्लाइट्स रद्द हो रही हैं. गुरुवार को भी जयपुर अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से 7 फ्लाइट रद्द रहीं. सबसे ज्यादा स्पाइसजेट एयरलाइन की 4 फ्लाइट रद्द रहीं. वहीं इंडिगो एयरलाइन की 2 फ्लाइट और एयर एशिया की 1 फ्लाइट रद्द रही. एयर इंडिया की सभी फ्लाइट्स निर्धारित रूट पर संचालित हुईं. आपको बता दें कि अब कई फ्लाइट्स में यात्रीभार 80 फीसदी से भी अधिक रहने लगा है, ऐसे में आगामी दिनों में फ्लाइट्स की संख्या में और बढ़ोतरी होने की उम्मीद है.

चूरू जिले के पुलिसकर्मियों से एसपी कर रही मन की बात, तनावमुक्त करने के लिए किया जा रहा मोटिवेट

ये 7 फ्लाइट रहीं रद्द:
- स्पाइसजेट की सुबह 5:45 बजे सूरत जाने वाली फ्लाइट SG-2763 हुई रद्द
- इंडिगो की सुबह 6:10 बजे बेंगलूरु जाने वाली फ्लाइट 6E-839 हुई रद्द
- इंडिगो की सुबह 6:40 बजे मुंबई जाने वाली फ्लाइट 6E-218 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 7:20 बजे जालंधर जाने वाली फ्लाइट SG-2750 हुई रद्द
- एयर एशिया की सुबह 9:15 बजे बेंगलूरु जाने वाली फ्लाइट I5-1721 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 9:45 बजे उदयपुर जाने वाली फ्लाइट SG-6632 हुई रद्द
- स्पाइसजेट की सुबह 11:15 बजे अमृतसर जाने वाली फ्लाइट SG-3522 हुई रद्द

डिप्टी सीएम सचिन पायलट का बयान, प्रदेश के 46,543 गांवों की आबादी का होगा ड्रोन सर्वे

डिप्टी सीएम सचिन पायलट का बयान, प्रदेश के 46,543 गांवों की आबादी का होगा ड्रोन सर्वे

डिप्टी सीएम सचिन पायलट का बयान, प्रदेश के 46,543 गांवों की आबादी का होगा ड्रोन सर्वे

जयपुर: राजस्थान के समस्त गांवों की आबादी क्षेत्र का ड्रोन तकनीकी के माध्यम से सर्वे किया जाएगा. भारतीय सर्वेक्षण विभाग और राजस्थान सरकार की सहभागिता रहेगी. डिप्टी सीएम सचिन पायलट के महकमे ने इस बारे में कार्य योजना तैयार की है. इस सर्वे में गांव के समस्त मकान मालिकों के स्वामित्व रिकॉर्ड तैयार किए जायेंगे. इस सर्वे के माध्यम से गांवों की आबादी क्षेत्र में सम्पत्ति और परिसम्पतियों का वैध रिकार्ड तैयार होगा. 

सम्पत्ति मालिकों को किए जाएंगे कार्ड जारी:
पायलट ने कहा कि सम्पत्ति मालिकों को कार्ड जारी किए जाएंगे. इससे आबादी क्षेत्र में सम्पत्ति सम्बंधी विवादों में कमी आयेगी और ग्राम पंचायत विकास योजना बेहतर तरीके से तैयार करने में मदद मिलेगी. पायलट ने बताया कि इस सर्वे में व्यक्तिगत सम्पत्तियों का सर्वे एवं रिकॉर्ड तैयार करने के साथ-साथ सामुदायिक परिसम्पत्तियों जैसे कि ग्रामीण सड़के, तालाब, नहर, खुली जगह यथा पार्क, स्कूल, आंगनबाड़ी, स्वास्थ्य केन्द्र आदि का भी सर्वे किया जाकर नक्शे तैयार किए जाएंगे. 

सैंड आर्ट के जरिए गर्भवती हथिनी के लिए मांगा न्याय, बालू मिट्टी से आकृति उकेरकर व्यक्त की अपनी संवेदनाएं

सर्वे से तैयार किया जाएगा रिकॉर्ड और मानचित्र:
उन्होंने बताया कि इस योजना के क्रियान्वयन के लिए भारतीय सर्वेक्षण विभाग तथा राज्य सरकार के बीच समझौता ज्ञापन (एम.ओ.यू.) किया जाएगा. पायलट ने बताया कि प्रदेश में ग्राम सभाओं के माध्यम से इस योजना और इससे होने वाले लाभ के बारे में लोगों को जागरूक किया जाएगा और योजना के क्रियान्वयन में सहयोग के लिए ग्रामीणों को संवेदनशील बनाया जाएगा. उन्होंने बताया कि इस योजना से तैयार होने वाले रिकार्ड एवं मानचित्र ग्राम पंचायत, तहसील, जिला एवं राज्य स्तर पर उपलब्ध होंगे और इसके लिए तैयार किए गए सॉफ्टवेयर के माध्यम से ऑनलाइन भी उपलब्ध रहेंगे और नियमित रूप से अपडेट किए जायेंगे.

चूरू जिले के पुलिसकर्मियों से एसपी कर रही मन की बात, तनावमुक्त करने के लिए किया जा रहा मोटिवेट

किसी कार्मिक का वेतन रोकना, मूलभूत अधिकारों का उल्लंघन: राजस्थान हाईकोर्ट

किसी कार्मिक का वेतन रोकना, मूलभूत अधिकारों का उल्लंघन: राजस्थान हाईकोर्ट

जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट ने टोंक जिले में नर्स ग्रेड-द्वितीय पर कार्यरत नर्सिंगकर्मियोंं को 17 महीने का वेतन नहीं देने पर राज्य के चिकित्सा विभाग को फटकार लगाई है.हाईकोर्ट ने राज्य के प्रमुख चिकित्सा सचिव, चिकित्सा निदेशक व अतिरिक्त चिकित्सा निदेशक-प्रशासन को नोटिस जारी करते हुए 12 जून तक जवाब पेश करने के आदेश दिये है.

सैंड आर्ट के जरिए गर्भवती हथिनी के लिए मांगा न्याय, बालू मिट्टी से आकृति उकेरकर व्यक्त की अपनी संवेदनाएं

मुलभूत अधिकारों का उल्लघन:
हाईकोर्ट ने अपने आदेश में कहा कि किसी कार्मिक का वेतन रोकना उसके मुलभूत अधिकारों का उल्लघन है.यह आदेश जस्टिस गोवर्धन बारधार ने रामचरण शर्मा व अन्य की ओर से दायर याचिकाओं पर सुनवाई करते हुए दिए है.

सभी नर्सिंगकमी 2015 की भर्ती के तहत हुए नियुक्त:
याचिका में अदालत को बताया गया कि चिकित्सा विभाग ने बजट नही होने का हवाला देते हुए एक मार्च 2017 से 30 जून 2018 तक उनका बकाया वेतन नही दिया. जबकि सभी नर्सिंगकमी 2015 की भर्ती के तहत नियुक्त हुए है और अपने अपने जिले में अपना कार्य सही तरीके से कर रहे हैं. बार बार प्रतिवेदन देने के बावजूद विभाग की ओर से दो साल बाद भी अब बकाया वेतन नही दिया गया है. 

चूरू जिले के पुलिसकर्मियों से एसपी कर रही मन की बात, तनावमुक्त करने के लिए किया जा रहा मोटिवेट

एसएचओ विष्णु दत्त आत्महत्या मामले की होगी CBI जांच, सीएम गहलोत ने फाइल पर लगाई मुहर

एसएचओ विष्णु दत्त आत्महत्या मामले की होगी CBI जांच, सीएम गहलोत ने फाइल पर लगाई मुहर

जयपुर: एसएचओ विष्णु दत्त आत्महत्या मामले की CBI जांच होगी. राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने फाइल पर मुहर लगा दी है. सीएम गहलोत ने CBI जांच के अनुशंसा पत्र पर मुहर लगाई. विष्णु दत्त के परिजनों के मुताबिक CBI जांच का फैसला लिया. 

आपको बता दें कि चूरू के राजगढ़ पुलिस थाने के थानाधिकारी विष्णु दत्त विश्नोई द्वारा 23 मई को की गई आत्महत्या के प्रकरण की जांच सीबीआई से करवाए जाने पर सीएम अशोक गहलोत ने सैद्धान्तिक सहमति दे दी है. 

अब पीड़ित परिजनों को यह विकल्प दिया गया है कि वे चाहें तो केस की जांच सीबी सीआईडी कर सकती है, वे चाहें तो न्यायिक जांच भी हो सकती है और यदि वे चाहते हैं कि मामले की जांच सीबीआई करे तो इस पर भी सरकार को कोई आपत्ति नहीं है. 

गर्भवती हथिनी की मौत पर सोशल मीडिया पर उबाल, दोषियों को कड़ी सजा देेने की मांग

अब कल से सभी RTO और DTO में तय संख्या में बन सकेंगे ड्राइविंग लाइसेंस

 अब कल से सभी RTO और DTO में तय संख्या में बन सकेंगे ड्राइविंग लाइसेंस

जयपुर: प्रदेशभर में बढ़ रही ड्राइविंग लाइसेंसों की पेंडेंसी को देखते हुए परिवहन विभाग ने बड़ा फ़ैसला किया है. परिवहन आयुक्त ने अब प्रदेशभर में पहले की तरह ही पूर्ण क्षमता के साथ ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के आदेश जारी किए हैं. कोरोना संक्रमण को देखते हुए अभी तक प्रदेश में पूर्व में बनने वाले लाइसेंसों के मुक़ाबले एक थर्ड लाइसेंस ही बन रहे थे.

फिल्म निर्माता बासु चटर्जी का निधन, 93 साल की उम्र में ली अंतिम सांस  

करीब 9 हजार ड्राइविंग लाइसेंस अभी पेंडिंग:
हाल में हुई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सभी आरटीओ और डीटीओ ने लंबित लाइसेंसों को लेकर परिवहन आयुक्त को फ़ीडबैक दिया था. अकेले जयपुर में ही क़रीब 9 हजार ड्राइविंग लाइसेंस अभी पेंडिंग चल रहे हैं. परिवहन आयुक्त ने जारी आदेशों में रविवार को भी आरटीओ डीटीओ कार्यालयों को खोलने के निर्देश दिए हैं. 

अतिरिक्त स्टाफ़ लगाकर किया जाएगा पेंडेंसी को खत्म:
परिवहन आयुक्त के आदेशों के बाद जयपुर में शुक्रवार से पूरी क्षमता के साथ ड्राइविंग लाइसेंस बनाने की तैयारी शुरू हो गई है. आरटीओ राजेन्द्र वर्मा ने बताया कि रविवार के दिन अतिरिक्त स्टाफ़ लगाकर पेंडेंसी को खत्म किया जाएगा. 

गर्भवती हथिनी की मौत पर सोशल मीडिया पर उबाल, दोषियों को कड़ी सजा देेने की मांग

Open Covid-19