Live News »

GST में कटौती के बाद नए साल में कदम रखते ही सस्ते हुए ये सामान

GST में कटौती के बाद नए साल में कदम रखते ही सस्ते हुए ये सामान

नई दिल्ली साल 2018 बीत चुका है और अब नए साल यानि 2019 में कदम रखते ही आमजन को कई चीजों में राहत मिलने लगी है। राहत इस चीज को लेकर है कि लोगों को अब कई चीजें खरीदने के लिए पहले की अपेक्षा अब कम दाम चुकाने पड़ रहे हैं। दरअसल, हाल ही में देश की राजधानी दिल्ली के विज्ञान भवन में केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में गुड्स ऐंड सर्विसेज टैक्स यानि जीएसटी काउंसिल की 31वीं बैठक के दौरान लिए गए फैसलों में जीएसटी की दरों में कटौती की गई थी। ऐसे में अब नए साल में जीएसटी की नई दरें लागू हो गई है और अब कई वस्तुओं के दामों में भी कटौती हुई है।

गौरतलब है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली की अध्यक्षता में हुई जीएसटी काउंसिल की बैठक में रोजमर्रा के 33 सामान सस्ते करने पर सहमति बनी थी, वहीं 7 चीजों पर 28% की जगह 18% टैक्स करने पर सहमति हुई। इसके अलावा 33 चीजों को 18% के स्लैब से घटाकर 12% एवं 5% के स्लैब में डाला गया। दूसरी ओर, 100 रुपए से ज्यादा के सिनेमा पर 28% की जगह 18% GST चार्ज लगाए जाने का फैसला लिया गया था। ऐसे में अब नया साल शुरू होने के साथ ही जीएसटी की नई दरें लागू हो गई है और कई चीजें भी सस्ती हुई हैं।

जीएसटी की नई दरें लागू होने के साथ ही अब उपभोक्ताओं को उनकी पसंदीदा चीजों पर कीमतों में कटौती की सौगात मिली है। घर में इस्तेमाल किए जाने वाले एलपीजी गैस से लेकर मनोरंजन के सबसे अहम साधन टेलिविजन तक की कीमतों में कटौती हुई हैं। वीडियो गेम कंसोल और एचएस कोड 9504 के तहत आने वाले गेम से जुड़ी अन्य वस्तुओं पर जीएसटी दर 28 फीसदी से घटकर 18 फीसदी होने से ये अब सस्ती हो गई हैं। नए साल में डिजिटल कैमरा भी सस्ते हो गए हैं। दरअसल, इसपर लगने वाले जीएसटी दर में कमी की वजह से ये सस्ते हुए हैं।

सरकार ने पिछले महीने जीसएटी काउंसिल की बैठक के दौरान टायर पर जीएसटी दर को 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी कर दिया है, जिससे नए साल में अब टायर भी सस्ते हो गए हैं। साथ ही दिव्यांगों के वाहनों के कल-पुर्जे और छड़ियां भी नए साल में सस्ती हो गई हैं। सब्जियां में कच्ची या उबाली या भाप में पकाई गईं, फ्रोजेन, ब्रांडेड और डिब्बाबंद सब्जियां भी नए साल में सस्ती हो गई हैं। नए साल में पावर बैंक की कीमतों में भी कमी आई है। सरकार ने इनपर लगने वाली जीएसटी दरों में कटौती की है, जिसके कारण नए साल में इनकी कीमतें गिरी हैं।

माल वाहक वाहनों के थर्ड पार्टी इंश्योरेंस प्रीमियम पर जीएसटी दर को 18 से घटाकर 12 प्रतिशत कर दिया गया, जिसके कारण अब ऐसे वाहनों के लिए थर्ड पार्टी इंश्योरेंस सस्ता हो गया है। सब्सिडी वाला LPG सिलिंडर 5.91 रुपये और गैर-सब्सिडी वाला सिलिंडर 120.50 रु. सस्ता हुआ है। दिल्ली में सब्सिडी वाला सिलिंडर 494.99 रुपये का होगा। अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कीमतें घटने की वजह से विमानों के ईंधन के दाम में रेकॉर्ड 14.7 फीसदी की गिरावट आई है और यह पेट्रोल-डीजल से भी सस्ता हो गया है। हवाई जहाज को उड़ाने के लिए एविएशन टरबाइन फ्यूल (ATF) का इस्तेमाल होता है।

अरूण जेटली के सम्बोधन की मुख्य बातें :
— जीएसटी काउंसिल की बैठक में रेवेन्यू और रेट घटाने पर हुई चर्चा
— कई राज्यों ने रेवेन्यू के लिहाज से बेहतर प्रदर्शन किया, कुछ राज्यों के रेवेन्यू में सुधार नहीं।
— महाराष्ट्र ,बंगाल जैसे राज्यों में जीएसटी की वसूली अच्छी रही।
— सीमेंट और ऑटो पार्ट्स को छोड़कर कुल 6 वस्तुओं को 28 फीसदी से 18 फीसदी जीएसटी स्लैब में लाया गया।
— सिनेमा टिकट, थर्ड पार्टी इंश्योरेंस आदि पर जीएसटी दरें घटाई गईं।
— टायर, एलईडी टीवी, लीथियम बैटरी, वील चेयर, फुटवियर, फ्रोजन वेजिटेबल बिलियर्ड्स/स्नूकर आदि पर जीएसटी दरें घटाई गईं।
— जीएसटी रिफंड मिलने में दिक्कत हो रही थी, इसलिए जीएसटी रिफंड की प्रक्रिया को आसाना बनाया जा रहा है।
— 31 मार्च 2019 तक जीएसटी रिटर्न भरने पर कोई जुर्माना नहीं लगेगा।
— कुल 17 वस्तुओं और 6 सर्विसेज पर जीएसटी में कमी की गई।
— जनवरी में होगी जीएसटी काउंसिल की अगली बैठक। 

किन किन चीजों पर घटाई जीएसटी दर :
— टायर, वीसीआर और लिथियम बैट्री को 28 फीसदी से 18 फीसदी पर लाया गया।
— 32 इंच तक के टीवी पर दरें 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी की गईं।
— 100 रुपये से ऊपर के सिनेमा टिकट पर 18 फीसदी जीएसटी लगेगा।
— 100 रुपये से कम से सिनेमा टिकट पर 12 फीसदी जीएसटी लगेगा। 
— टायर पर जीएसटी 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी कर दी गई है।
— व्हील चेयर पर जीएसटी 28 फीसदी से घटाकर पांच फीसदी की गई।
— फ्रोजन वेजिटेबल पर जीएसटी पांच फीसदी से घटाकर शून्य कर दिया गया है।
— फुटवियर पर जीएसटी दर 18 से घटाकर 12 फीसदी और पांच फीसदी की गई।
— बिलयर्डस और स्नूकर पर जीएसटी दर 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी की गई।
— लीथियम बैट्री पर जीसएटी दर 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी की गई।
— थर्ड पार्टी मोटर इंश्योरेंस पर जीएसटी 18 से घटाकर 12 फीसदी की गई।
— धार्मिक यात्रा पर दरें 18 फीसदी से घटाकर 12 और पांच फीसदी की गईं।

और पढ़ें

Most Related Stories

सलमान खान ने फिर दिखाया बड़ा दिल, फिल्म इंडस्ट्री के 25,000 मजदूरों की मदद के आए आगे

सलमान खान ने फिर दिखाया बड़ा दिल, फिल्म इंडस्ट्री के 25,000 मजदूरों की मदद के आए आगे

नई दिल्ली: लॉकडाउन के बीच सलमान खान को लेकर बड़ी खबर आई है. अब बॉलीवुड सुपरस्टार सलमान खान ने भी फिल्म इंडस्ट्री में काम करने वाले 25,000 दिहाड़ी मजदूरों की आर्थिक मदद करने का बीड़ा उठाया है. हालांकि इस बारे में अधिक जानकारी नहीं मिल पाई की दबंद खान इन मजदूरों की मदद कैसे करेंगे. 

अब बंद होगा राजस्थान रोडवेज की बसों का संचालन, भारत सरकार से मिले हैं सभी राज्य सरकारों को निर्देश

सलमान खान का एनजीओ बीइंग ह्यूमन फाउंडेशन आया आगे:
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बॉलीवुड के दैनिक मजदूरों की मदद के लिए सलमान खान का एनजीओ बीइंग ह्यूमन फाउंडेशन आगे आया है. बॉलिवुड में लगभग 5 लाख ऐसे लोग हैं, जिनमें से 25,000 लोगों को आर्थिक हालत खराब है. ऐसे में सलमान खान का एनजीओं इन मजदूरों की मदद करने के लिए आगे आया है. मजदूरों ने इन मजदूरों का बैंक डिटेल मांगा है, ताकि उनके खाते में सीधे पैसे ट्रांसफर किए जा सकें.

India Corona Updates: घरों में रहे, जानलेवा बना कोरोना, पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 1026 तो 27 लोगों की मौत

लॉकडाउन के चलते बढ़ी परेशानी:
गौरतलब है कि पीएम मोदी ने कोविड-19 को फैलने से रोकने के लिए देशभर में 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया है. इसी के चलते इन दिहाड़ी मजदूरों का रोजगार छिन्ने के साथ इन्हें कई दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. ऐसे में एक बार फिर सलमान खान ने बड़ा दिल दिखाते हुए मदद के लिए हाथ बढ़ाए हैं.
 

India Corona Updates: घरों में रहे, जानलेवा बना कोरोना, पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 1026 तो 27 लोगों की मौत

 India Corona Updates: घरों में रहे, जानलेवा बना कोरोना, पॉजिटिव मरीजों की संख्या हुई 1026 तो 27 लोगों की मौत

नई दिल्ली: देशभर में कोरोना वायरस का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. पूरे देश में कोरोना से बचाव के लिए लॉकडाउन है. वहीं कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढकर 1026 हो गई है, जबकि 27 लोगों की इसकी चपेट में आने से मौत हो गई है. 88 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की रिपोर्ट नेगटिव आई है. चलिए अब बात करते है राज्यों के बारे में जहां पर कोरोना पॉजिटव मरीज मिले है.

महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा हालात खराब:
कोरोना वायरस की वजह से महाराष्ट्र में सबसे ज्यादा हालात खराब हो गई है. यहां पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ गई है. यहां पर अब तक 193 कोरोना पॉजिटिव केस सामने आये है. जबकि महाराष्ट्र में 7 कोरोना पॉजिटिव लोगों की मौत हो गई है. 

राजस्थान में बढ़ा कोरोना मरीजों का आंकड़ा, झुंझुनूं में मिला एक ओर पॉजिटिव, तो मरीजों की संख्या हुई 56

केरल में एक की मौत: 
चलो अब बात करते है केरल राज्य की, तो ये राज्य कोरोना के मामले में दूसरे नंबर पर है. यहां पर मरीजों की संख्या बढकर 182 हो गई है. जबकि एक केरल में एक कोरोना पॉजिटिव की मौत हो गई है. 

राजस्थान में 2 लोगों की मौत:
अब बात करते है राजस्थान की, तो पूरे प्रदेश में कोरोना से बचाव के लिए लॉकडाउन है, जबकि कुछ जिलों में तो कर्फ्यू लगा दिया गया है. प्रदेश के भीलवाडा जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या ज्यादा मिलने की वजह से यहां पर कर्फ्यू जारी है. वहीं जयपुर के रामगंज में कोरोना पॉजिटिव मिलने के बाद परकोटे में कर्फ्यू लगाया गया है. यहां पर 7 थाना क्षेत्रों में कर्फ्यू जारी है. पूरे प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 56 हो गई है, जबकि भीलवाडा में कोरोना की वजह से 2 लोगों की मौत हो गई है. 

राजधानी दिल्ली में एक की मौत:
यहां पर बात हो रही है रा​ष्ट्रीय राजधानी दिल्ली की, तो यहां पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 49 हो गई है, जबकि कोरोना की चपेट में आने से यहां पर एक की मौत हो गई है. हरियाणा में 33 कोरोना पॉजिटव मरीज सामने आये है. 

गुजरात में 5 लोगों की मौत:
अब बात गुजरात की, तो यहां पर कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या 55 हो गई है, यहां पर 5 लोगों की मौत हो गई है. वहीं मध्यप्रदेश में 39 कोरोना पॉजिटिव सामने आये है. जबकि मध्यप्रदेश में 2 कोरोना पॉजिटिव की मौत हो गई है.

भरतपुर में सड़कों पर पसरा सन्नाटा, तो कई जगहों पर लॉकडाउन का पालन नहीं करने पर पुलिस ने दिखाई सख्ती  

यूपी में 55 तो कर्नाटक में 76 मरीज:
अब बात करते है उत्तर प्रदेश की, तो यहां पर कोरोना वायरस के पॉजिटिव मरीजों की संख्या 55 हो गई है, जबकि कर्नाटक में 76 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आये है, कनार्टक में कोरोना की चपेट में आने से 3 लोग जान गंवा चुके है. पंजाब में 38 कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आये है, एक कोरोना पॉजिटिव ने दम तोड़ दिया है.

Lockdown: जोधपुर में काम करने वाले प्रवासी श्रमिकों का पलायन जारी, रोडवेज बस स्टैंड पर लगी भीड़

Lockdown: जोधपुर में काम करने वाले प्रवासी श्रमिकों का पलायन जारी, रोडवेज बस स्टैंड पर लगी भीड़

जोधपुर: कोरोना का संक्रमण रोकने के लिए देशभर में लागू लॉक डाउन के बीच जोधपुर में काम करने वाले प्रवासी श्रमिकों का पलायन जारी रहा. रोडवेज बस स्टैंड पर बड़ी संख्या में इन श्रमिकों के पहुंचने का क्रम जारी है. साथ ही इन लोगों को वापस भेजने की व्यवस्थाएं भी धीरे-धीरे पटरी पर लौट रही है. शनिवार देर रात जोधपुर से 16 बसों में करीब एक हजार श्रमिकों को जयपुर और भरतपुर रवाना किया गया. रविवार को भी इन्हें ले जाने के लिए बड़ी संख्या में बसें तैयार है. जोधपुर शहर में उत्तर प्रदेश और बिहार समेत प्रदेश के अन्य जिलों से आए श्रमिक बड़ी संख्या में काम करते है.

Rajasthan Lockdown: राहत के मसीहा बने भामाशाह और समाजसेवी, प्रवासी यात्रियों को मिली राहत

बेरोजगार हुए श्रमिक:
लॉक डाउन के दौरान लगातार काम बंद रहने के कारण बेरोजगार हुए इन श्रमिकों ने कुछ दिन तो जैसे-तैसे कर निकाल लिए. हालांकि शहर की विभिन्न संव्यसेवी संस्थाएं इनके लिए भोजन का प्रबंध करने में पूरी तत्परता के साथ जुटी है. इसके बावजूद इन श्रमिकों में कोरोना में भय व्याप्त हो गया और इन लोगों ने शनिवार सुबह से पलायन शुरू कर दिया. बड़ी संख्या में महिला और पुरुष अपने बच्चों को लेकर पैदल ही अपने गंतव्य की ओर रवाना हो गए.  राज्य सरकार ने इन श्रमिकों को रोडवेज बसों में भेजने का निर्णय कर व्यवस्थाएं बनाने का आदेश जारी किया. देर रात तक शहर में कुछ व्यवस्थाएं हुई और जोधपुर शहर से सोलह बसों को रवाना किया गया.

Corona Updates: कोरोना की वजह से मारिया टेरेसा का निधन, स्‍पेन की राजकुमारी है टेरेसा

दो बसों में बैठा कर रवाना किया:
इनमें से बनाड़ तक पैदल पहुंचे लोगों को रोक कर देर रात दो बसों में उन्हें बैठा कर रवाना किया गया. वहीं जोधपुर जिले के बालेसर में पलायन को तैयार 400 श्रमिकों के लिए रात को 8 बसें यहां से भेजी गई. रविवार सुबह से एक बार फिर श्रमिकों का रैला रोडवेज बस स्टैंड की तरफ उमड़ पड़ा. शहर के प्रत्येक मार्ग पर ये श्रमिक अपना सामान सिर पर लादे गुजरते नजर आ रहे है. आज जिला प्रशासन भी पहले की अपेक्षा काफी सजग नजर आया. रोडवेज स्टैंड पर पहुंचने वाले श्रमिकों की स्क्रीनिंग की जा रही है. इसके बाद बारी-बारी से बस में बैठाने से पूर्व सभी के हाथ सैनेटाइजर से साफ करवाए जा रहे है. जयपुर, कोटा व भरतपुर के लिए बड़ी संख्या में बसों को रवाना किया जा रहा है.

कोरोना पर मन की बात, पीएम मोदी बोले, लॉकडाउन की वजह से जो असुविधा हुई इसके लिए मैं क्षमा मांगता हूं

 कोरोना पर मन की बात, पीएम मोदी बोले, लॉकडाउन की वजह से जो असुविधा हुई इसके लिए मैं क्षमा मांगता हूं

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी रविवार को देशवासियों से मन की बात करते हुए कहा कि कोरोना के खिलाफ लडाई के लिए कड़े कदम उठाने के अलावा कोई रास्ता नहीं बचा है. आप सभी लॉकडाउन की पालना करें, लेकिन कुछ अभी भी कुछ लॉकडाउन की पालना नहीं कर रहे है. पीएम मोदी ने कहा कि वायरस इंसान को मारने की जिद लिए उठाये बैठा है. आपको खुद को और अपने परिवार को बचाना है. पीएम मोदी ने कहा कि लॉकडाउन की वजह से जो असुविधा हुई है, इसके लिए मैं गरीब भाई और बहनों से क्षमा मांगता हूं. साथ ही कहा कि हम कोरोना के खिलाफ लड़ाई जीतेंगे. पीएम मोदी ने मन की बात पर देशवासियों से बात की. 

बाबा रामदेव का 668 वां जन्मोत्सव, लॉकडाउन की वजह से नहीं होगा कोई कार्यक्रम 

परचून की दुकान के बारे में सोचिए:
मन की बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आप जरा अपने पड़ोस में स्थित परचून की दुकान के बारे में सोचे. जो बिना रुके अपने काम में डटे हैं ताकि देश में जरूरी वस्तुओं की सप्लाई चेन में कोई रुकावट नहीं आये. पीएम मोदी ने संबोधित करते हुए कहा कि साथियों हमारे यहां तमाम साथी आपको, पूरे देश को इस संकट से बाहर निकालने में जुटे हुए है. यह जो बातें हमें बताते हैं उन्हें हमें सुनना ही नहीं है, ब​ल्कि उन्हें हमारे जीवन में उतारना भी है. 

लोग स्थिति की गंभीरता नहीं समझ रहे:
मन की बात में पीएम मोदी ने बोले,  मैं जानता हूं कि कोई कानून नहीं तोड़ना चाहता, लेकिन कुछ लोग ऐसा कर रहे हैं क्योंकि अभी भी वो स्थिति की गंभीरता को नहीं समझ रहे. अगर आप लॉकडाउन का नियम तोड़ेंगे तो वायरस से बचना मुश्किल हो जाएगा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा है कि कुछ लोगों को लगता है की वो लॉकडाउन का पालन कर रहे हैं तो ऐसा करके वो मानो जैसे दूसरों की सहायता कर रहे हैं, यह भ्रम पालना सही नहीं है. यह लॉकडाउन आपके खुद के बचने के लिए है. आपको अपने को बचाना है, अपने परिवार को बचाना है.

रामगम्पा तेजा ने बताया अपना अनुभव:
पीएम मोदी ने मन की बात करते हुए कोरोना से ठीक हुए रामगम्पा तेजा से बात की. रामगम्पा तेजा ने अपना अनुभव बताते हुए कहा कि मैं काम के कारण से दुबई गया था, उसके बाद कोरोना वायरस की चपेट में आ गया. शुरू में मैं डर गया था, लेकिन डॉक्टरों और नर्सों ने मेरा साहस बढ़ाया. उसकी वजह से मैं कोरोना के खिलाफ जंग जीत पाया हूं. 

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 55, भीलवाड़ा में एक नए पॉजिटिव केस की पुष्टि

Coronavirus Update: राजस्थान में चार नए पॉजिटिव मामले आने से संख्या पहुंची 54, देशभर में 984 केस आए सामने

Coronavirus Update: राजस्थान में चार नए पॉजिटिव मामले आने से संख्या पहुंची 54, देशभर में 984 केस आए सामने

जयपुर: भीलवाड़ा में शनिवार को कोरोनावायरस के तीन नए पॉजिटिव रोगी जांच में सामने आए. उधर शनिवार दोपहर तक जयपुर से जांच रिपोर्ट टेस्टपोट में कोरोना वायरस पॉजिटिव रोगियों के इलाज में लगे चिकित्सकों में नए उत्साह का संचार किया. भीलवाड़ा में लगातार दूसरे दिन 2 पॉजिटिव रोगियों की जांच रिपोर्ट इलाज के बाद नेगेटिव आई है. ऐसे में पांच करुणा पॉजिटिव लोगी अब कोरोना के कठिन घेरे से बाहर आ गए. उधर भीलवाड़ा में तीन पॉजिटिव रोगी और मिलने के साथ ही अब कुल पॉजिटिव रोगियों की संख्या बढ़कर 24 हो गई है. 

VIDEO: कोरोना के खिलाफ जंग में रक्त की आपूर्ति, अशोक गहलोत की प्रेरणा से मोबाइल रक्तदान शिविर शुरु 

भीलवाड़ा में जल्द ही स्थापित होगी टेस्टिंग लैब:
भीलवाड़ा में कोरोनावायरस की जांच के लिए जल्द ही टेस्टिंग लैब स्थापित की जाएगी करीब दो करोड़ ₹64 लाख की राशि इस पर खर्च की जाएगी. उधर कोरोनावायरस की जंग जीतने के लिए जिला प्रशासन ने कोरोना वायरस फाइटर्स हर गांव में नियुक्त करने की तैयारी शुरू कर दी है. भीलवाड़ा में दोस्तीय स्क्रीनिंग भी कराई जाएगी. भीलवाड़ा कलेक्‍टर राजेन्‍द्र भट्ट ने बताय कि यह फाईटर कोरोना व्‍यवस्‍था में 3 स्‍तरों ग्राम, पंचायत व ब्‍लॉक स्‍तर पर काम करेगें. वहीं आज अजमेर में भी एक 23 वर्षीय युवक कोरोना पॉजिटिव मिला है. अजमेर में अभी तक एक भी मरीजी पॉजिटिव नही था. लेकिन आज सुबह की जांच में एक मरीजी कि रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई. 

राजस्थान में 54 हुई मरीजों की संख्या:
जानकारी के अनुसार 23 वर्षीय युवक को कोरोना पॉजिटिव हुआ है. यह युवक पंजाब से 22 मार्च को अजमेर आया था. यह युवक सेल्समैन का काम करता है. हालांकि अधिकारियों ने युवक के बारे में किसी तरह की जानकारी साझा नही की है. ऐसे में अब प्रदेश में चार मरीजों को मिलाकर कुल मरीजों की संख्या 54 हो गई है. 

 22 आरएएस अफसरों के तबादले, रिक्त चल रहे 21 पदों पर तैनात किए अधिकारी 

देशभर में 984 लोग आए वायरस की चपेट में:
वहीं देश में अबतक कुल 984 लोग जानलेवा कोरोना वायरस की चपेट में आ चुके हैं. 24 घंटे में 149 नए केस सामने आए हैं. वहीं, 19 लोगों की अबतक मौत हुई है. हालांकि 84 लोग ठीक भी हुए हैं. संक्रमित मरीजों की संख्या सबसे ज्यादा केरल में है. वहीं महाराष्ट्र दूसरे नंबर पर है. भारत में कोरोना वायरस अभी दूसरी स्टेज पर है.
 

VIDEO: कोरोना के खिलाफ जंग में रक्त की आपूर्ति, अशोक गहलोत की प्रेरणा से मोबाइल रक्तदान शिविर शुरु

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का जन्मदिन 3 मई को है. हर बार रक्तदान शिविर भी आयोजित होते है, लेकिन इस बार इन शिविरों को पहले ही आयोजित किया जा रहा है, कारण है कोरोना. समाजसेवी संगठनों को साथ मिलकर गहलोत के समर्थकों ने मोबाइल रक्तदान शिविर शुरु कर दिये है जिससे अस्पतालों में आपात हालात के दौरान रक्त कि कमी आड़े नहीं आये. सी एम गहलोत की प्रेरणा से ही साथी सेवा संस्थान निभा रहा है सामाजिक सरोकार. 

22 आरएएस अफसरों के तबादले, रिक्त चल रहे 21 पदों पर तैनात किए अधिकारी 

समर्थकों ने किया रक्तदान शिविर का आयोजन:
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कोरोना के प्रकोप को थामने के लिये हर वो स्टेप उठाये है जो जरुरी थे यहीं कारण है कि वो देशभर में मिसाल बने. उन्हीं की प्रेरणा से उनके कट्टर समर्थकों ने रक्तदान शिविर के आयोजन शुरु कर दिये. जबकि यह होने थे 3 मई को अशोक गहलोत के जन्मदिन पर. अब जयपुर कि सड़कों पर चलती फिरती सैनिटाइज मोबाइल रक्त दान वैन देखी जा सकती है.

Coronavirus Updates: देश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 930 हुई, अब तक 21 लोगों की मौत

लोगों की जीवटता देखने लायक:
कोरोना वायरस के कारण हर व्यक्ति को अप्रिय हालात से गुजरना पड़ रहा है. इसके बावजूद लोगों की जीवटता देखने लायक है, रक्तदान शिविर आयोजित किये जा रहे जिससे अस्पतालों को रक्त की कमी से नहीं जूझना ना पड़े , मौजूदा हालात में रक्त दाता अस्पताल तक नहीं पहुंच पा रहे,जितना रक्त एकत्रित होना चाहिये था उतना नहीं हो पी रहा. यहीं कारण है कि मोबाइल रक्तदान वैन उन तक पहुंच रही है, साथी सेवा संस्थान की यह पहल वाकई अहम है ऐसे वक्त में जब रक्त की आपूर्ति अस्पतालों में होती रहनी चाहिये.

...फर्स्ट इंडिया के लिये योगेश शर्मा की  रिपोर्ट

22 आरएएस अफसरों के तबादले, रिक्त चल रहे 21 पदों पर तैनात किए अधिकारी

22 आरएएस अफसरों के तबादले, रिक्त चल रहे 21 पदों पर तैनात किए अधिकारी

जयपुर: प्रदेश में कोरोना वायरस की रोकथाम के बड़े उपायों के तहत गहलोत सरकार ने 22 Ras तबादलों के जरिये जिले और उपखंड स्तर पर रिक्त पदों को भरा है. सीएम गहलोत ने कल की वीसी में जब कलेक्टरों के रिक्त पद भरने के लिए कहा तो उसकी कार्रवाई के तहत आज ये तबादले किए गए हैं. इसके जरिए उपखंड स्तर पर 11 एसडीओ को इधर-उधर किया गया है जबकि 2 अतिरिक्त कलेक्टरों 3 सहायक कलेक्टर दो जिला परिषद सीईओ और तीन अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारियों को बदला है. कुल 22 में से 21 अधिकारियों को तबादले करके रिक्त स्थानों को भरा गया है.

Coronavirus Updates: देश में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़कर 930 हुई, अब तक 21 लोगों की मौत

कल वीसी में दी थी कलेक्टरों ने सीएम गहलोत को जानकारी:
कोरोना की रोकथाम की दिशा में अहम कड़ी माने जा रहे एसडीओ जैसे पद भी अभी तक रिक्त थे. कल वीसी में जब यह बात सामने आई तो तुरंत मुख्यमंत्री गहलोत ने इन्हें भरने के निर्देश दिए. इसके तहत कार्मिक विभाग ने आज सुबह तक कलेक्टरों से रिक्त पदों की जानकारी मांगी और शाम तक इन पदों को भरने के लिए 22 आर ए एस की तबादला सूची जारी कर दी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की अध्यक्षता में शुक्रवार को वीसी में कलक्टरों ने जिलों में पद रिक्त होने की जानकारी दी थी. सीएम की मंजूरी के बाद 24 घंटे में ही शनिवार को कार्मिक विभाग ने जिलों में रिक्त चल रहे उपखंड अधिकारी के 11, 2 अतिरिक्त कलेक्टरों 3 सहायक कलेक्टर्स दो जिला परिषद सीईओ और तीन जिला परिषद अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारियों को इधर उधर कर दिया.

लॉक डाउन की अवधि के टिकट का मिलेगा पूरा रिफंड, रेलवे प्रशासन ने यात्रियों के लिए दी राहत

जयपुर में तैनात 10 अफसरों को जिलों में भेजा:
कार्मिक विभाग की ओर से जारी तबादला सूची में जयपुर में तैनात 10 अफसरों को जिलों में रिक्त चल रहे उपखंड पर भेज दिया गया है. वहीं जयपुर से बाहर भेजे गए करीब 12 अधिकारियों में 5 महिला RAS अधिकारी शामिल हैं.

VIDEO: सीएम अशोक गहलोत ने लिखा कई राज्यों के CM को पत्र, राजस्थानियों की संभाल करने की मांग

जयपुर: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कई राज्यों को सीएम को पत्र लिखा है. सीएम गहलोत ने पत्र में अन्य प्रदेशों में रह रहे राजस्थानियों की संभाल करने की मांग की हैं. इसके साथ ही सीएम अशोक गहलोत ने पत्र में राजस्थानियों को भोजन, आवास व चिकित्सा सुविधा देने की अपील की है. 

Coronavirus Updates: पूरी दुनिया में कोरोना का कहर, विश्वभर में संक्रमितों की संख्या पहुंची 6 लाख

हम भी दूसरे राज्यों के लोगों की देखभाल कर रहे:
लोकडाउन के चलते दूसरे राज्यों में फंसे हजारों राजस्थानी सीएम को फोन व मैसेज कर मदद की मांग कर रहे हैं. सीएम ने अपने पत्र में लिखा कि हम भी दूसरे राज्यों के लोगों की देखभाल कर रहे हैं उनको सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करवा रहे हैं. ऐसे में आप भी हमारे राजस्थानियों का ध्यान रखें.

कोरोना महामारी की आपदा को लेकर ज्योतिषियों की भविष्यवाणी, मिल गई खात्मे की डेट 

Open Covid-19