सांभर झील के नजदीक हजारों देशी विदेशी प्रवासी पक्षियों की मौत

सांभर झील के नजदीक हजारों देशी विदेशी प्रवासी पक्षियों की मौत

सांभर झील के नजदीक हजारों देशी विदेशी प्रवासी पक्षियों की मौत

नागौर: जिले के नावां के नजदीक सांभर झील क्षेत्र में कोच्या की ढाणी के पास हजारों की संख्या में विदेशी पक्षियों की मौत का मामला सामने आया हैं. जानकारी के अनुसार 20-25 प्रजातियों के तकरीबन 1000 पक्षी के मरने की संभावना हैं. वहीं कुछ पक्षियों की हालत ऐसी है कि वो उठ भी नहीं पा रहे हैं. ऐसा लगता है कि पिछले करीब 10-15 दिनों से पक्षियों के मरने की घटनाक्रम चल रहा हैं. दूदू एसीएफ संजय कौशिक ने बताया कि प्रथम दृष्टया ऐसा लगता है कि इन पक्षियों का शिकार नहीं हुआ हैं. ऐसा लगता है जैसे स्थान विशेष पर पानी में कुछ ऐसा पदार्थ हो सकता है जिससे इनकी मौत हो गई हो अथवा किसी पक्षी में ऐसी कोई बीमारी हो सकती है जो इन पक्षियों में फैल रही हो, जिसकी वजह से इन पक्षियों की मौत हो रही हो.

पक्षियों के मरने के कारणों के बारे में अभी कुछ पता नहीं चल पाया: 
पक्षियों के मरने सूचना पर यहां वन विभाग और प्रशासनिक अधिकारी पहुंच गए है और जयपुर से मेडिकल टीम को भी बुला लिया गया हैं. पक्षियों के मरने के कारणों के बारे में अभी कुछ पता नहीं चल पाया है. पोस्टमार्टम के बाद ही इनके मरने के कारणों के बारे में जानकारी मिल पाएगी. पक्षियों की मौत की सूचना पर सांभर तहसीलदार हरिसिंह राव, दूदू एसीएफ संजय कौशिक, गिरदावर अरुण जाजोरिया, वेटनरी डॉ अशोक राव, वन विभाग के वनपाल जोबनेर सुरेंद्र सिंह, श्याम श्री शर्मा, सहायक वनपाल उपेंद्र कुमार्ज़ ललुगोपाल, डब्यू सी ओ एनजीओ के सदस्य, जनकल्याण एवं पर्यावरण संस्थान सांभर लेक के सचिव मुकेश शर्मा मौके पर पहुंचे और घटना के बारे में जानकारी ली.  

...नरपत ज़ोया संवाददाता 1st इंडिया न्यूज नागौर

और पढ़ें