युवा शावक रुद्र की मौत, नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में हुआ अंतिम संस्कार 

युवा शावक रुद्र की मौत, नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में हुआ अंतिम संस्कार 

जयपुर: राजधानी जयपुर के नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क से एक बुरी खबर सामने आ रही है. करीब 18 साल की मन्नतों के बाद पैदा हुए जयपुर के लाडले युवा बाघ शावक रूद्र की मंगलवार को अचानक मौत हो गई है. इससे बायोलॉजिकल पार्क प्रशासन तमाम वन्यजीव प्रेमी और बाघ प्रेमी स्तब्ध हैं प्रेमी स्तब्ध हैं. नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क प्रशासन ने मेडिकल बोर्ड गठित कर रुद्र का पोस्टमार्टम करवाया और उसके बाद उसका अंतिम संस्कार कर दिया.

राजस्थान में कोरोना जांचों के प्रति गहलोत सरकार गंभीर, 25 हजार जांचों का लक्ष्य पूरा, अब 40 हजार का रखा टारग्रेट

कुछ दिन पहले ही शावक की बहन रिद्धि की हो गई थी मौत:
युवा बाघ रुद्रा जोकि बाघिन रंभा का शावक था. उसकी उम्र करीब डेढ़ साल थी. कुछ दिन पहले ही शावक की बहन रिद्धि की मौत हो गई थी, उसकी मौत का कारण किडनी का फेल होना बताया गया था. इन हालात में फिलहाल यह कहना मुश्किल है कि कहना मुश्किल है कि रुद्रा की मौत की असली वजह क्या है, नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क प्रशासन का कहना है कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट सामने आने के बाद ही मौत का असली कारण बताया जा सकेगा. 

बाघ शावक ने कह दिया दुनिया को अलविदा:
लेकिन मंगलवार सुबह तक बाघ के तमाम लक्षण सामान्य थे. ऐसे में समझना मुश्किल है कि अचानक युवा बाघ की मौत कैसे हो गई। यहां एक दुखद जानकारी यह भी है 18 साल के लंबे प्रयासों के बाद में नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में या यूं कहें कि पूरे पूरे कहें कि पूरे पूरे कि पूरे पूरे जयपुर में पहली बार 2 बाघ शावकों का जन्म हुआ था.  बदकिस्मती से दोनों ही बाघ शावक अब इस दुनिया को अलविदा कह गए हैं गए हैं. 

सीएम गहलोत का बड़ा फैसला, निजी गौण मण्डियों को मिलेगा मण्डी शुल्क का 75 प्रतिशत हिस्सा

और पढ़ें