दो मल्‍टीनेशनल कंपनियों की पांच सॉफ्ट ड्रिंक्‍स ब्रांड्स में जहर

FirstIndia Correspondent Published Date 2016/10/06 12:16

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के ड्रग्‍स टेक्‍निकल एडवाइजरी बोर्ड द्वारा किए गए रिसर्च के दौरान दो मल्‍टीनेशनल कंपनियों पेप्‍सिको और कोका कोला की कोल्‍ड ड्रिंक्‍स में पांच अलग-अलग टॉक्‍सिन्‍स पाए गए। इन टॉक्‍सिन्‍स में हैवी मेट्स एंटीमोनी, लीड क्रोमियम और कैडमियम और कंपाउंड डीईएचपी या डीआई फथलेट शामिल हैं। ये टॉक्‍सिन्‍स पांच कोल्‍ड ड्रिंक्‍स पेप्‍सी, कोका कोला, माउंटेन ड्यू, स्‍प्राइट और 7अप के PET (पॉलीथीन टेरिफ्थेलैट) बॉटल्‍स से नमूने निकाले गए। माउंटेन ड्यू और 7अप जहां पेप्‍सिको का है, वहीं स्‍प्राइट, कोका कोला कंपनी का प्रोडक्‍ट है।


डीटीएबी ने इस साल फरवरी मार्च में परीक्षण के लिए इन कोल्ड्रिंक्स के नमूने एकत्रित किए थे। उसके दिशानिर्देशों के तहत ही स्वास्थ्य मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले कोलकाता स्थित ऑल इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ हाइजीन एंड पब्लिक हेल्थ में परीक्षण किया गया था। एआईआईएचपीएच ने डीटीएबी को इस टेस्ट से जुड़े परिणाम सौंप दिए हैं।

 

इस संबंध में पेप्सिको इंडिया के प्रवक्ता का कहना है, ‘हमें अभी तक जांच रिपोर्ट के बारे में कोई जानकारी नहीं दी गई है और जब तक हम यह नहीं जान जाते की जांच में किस मेथडॉलॉजी का प्रयोग किया गया है, हमारे लिए इस रिपोर्ट पर कुछ कहना संभव नहीं होगा। मैं बताना चाहूंगा कि हम अपने सभी उत्पादों में फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड्स के नियमों का पालन करते हैं। हम अपने उत्पादों में इन नियमों के तहत ही हेवी मेटल्स का उपयोग करते हैं।’

 


हालांकि कोका कोला इंडिया की तरफ से इस संबंध में कोई प्रतिक्रिया देने से इनकार कर दिया गया है। PET कंटेनर मैन्‍यूफैक्‍चरर्स एसोस‍िएशन से अभी कोई जवाब नहीं आया है।

 


Soft drinks, Pepsico, Coca cola, Toxins, Soft drink brands, Two multinational companies

  
First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in