Live News »

आहोर के बिजली गांव के गेर नृत्य का पूरे मारवाड़ में अनूठा स्थान

आहोर के बिजली गांव के गेर नृत्य का पूरे मारवाड़ में अनूठा स्थान

आहोर(जालोर)। होली पर कई दिनों तक चलने वाला गेर नृत्य लगभग पूरे मारवाड़ क्षेत्र हर गांव में आयोजित होता हैं, लेकिन आहोर तहसील के बिजली गांव का गेर नृत्य पूरे मारवाड़ क्षेत्र में अपना अनूठा स्थान रखता हैं। बिजली गांव के गेरिये अपनी अद्भुत नृत्य कला के कारण कई जगहों पर अपनी प्रस्तुति दे चुके हैं और प्रशासनिक स्तर पर सम्मानित भी हो चुके हैं। 

बिजली गांव के युवा हो या बुजुर्ग, जब ये गेर नृत्य के लिए अपने पैरों में घुंघरू बांधते हैं तो मानो इनके शरीर में एक नई ऊर्जा का संचार हो जाता हैं। ढ़ोल की थाप पर किया जाने वाला ये गेर नृत्य इतना मनमोहक होता हैं कि व्यक्ति कितनी भी जल्दबाजी हो इसे देखने के लिए उसके कदम अवश्य रुक जाएंगे। बिजली गांव के युवाओं के साथ साथ यहां के बुजुर्ग भी पूरे जोश और स्फूर्ति के साथ युवाओं के साथ ताल से ताल मिलाकर नृत्य करते देख हर कोई दांतो तले अंगुली दबाने पर मजबूर हो जाता हैं। गजब के जोश और उत्साह के साथ खेली जाने वाली ये बिजली गांव की गेर पूरे मारवाड़ क्षेत्र में खूब सराही जाती हैं।

प्रकाश रेड्डी, फर्स्ट इंडिया न्यूज

और पढ़ें

Most Related Stories

कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपए ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व दलाल गिरफ्तार

कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपए ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व दलाल गिरफ्तार

जालोर: जिले के आहोर में कुंआरे युवकों को शादी का झांसा देकर रुपये ऐंठने वाली लुटेरी दुल्हन व उसके दलाल को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. क्षेत्र के चार युवक इस लुटेरी दुल्हन के जाल में फंस कर ठगी के शिकार हुए है. जानकारी के मुताबिक पिछले महीने रूपसिंह, धनाराम, अमृत भाई व जगदीश ने आहोर पुलिस थाने मे रिपोर्ट पेश कर गुजरात निवासी कल्पना बेन व अन्य लोगों के खिलाफ शादी के नाम पर धोखाधड़ी करने व घर से गहने व रूपये ले जाने का मामला दर्ज कराया था. मामले की तहकीकात के लिए थाने के एएसआई अखाराम व टीम ने गुजरात के जामनगर मे दबिश देकर लूटेरी दुल्हन कल्पना बैन व दलाल विमल दामा को गिरफ्तार कर आहोर लाया गया.

कुंआरे युवकों को शादी के नाम पर रूपये ऐंठने का यह एक सक्रिय गिरोह:  
पुलिस ने बताया कि कुंआरे युवकों को शादी के नाम पर रूपये ऐंठने का यह एक सक्रिय गिरोह है. जो मोटी रकम लेकर युवक के साथ शादी रचने का ढोंग करती है और चार पांच दिन तक घर वालो का विश्वास जीतकर मौका पा कर गहने व नकदी लेकर फरार हो जाती है. दुल्हन को भगाने मे इस गिरोह की प्रमुख भूमिका रहती है. इस सारे काम मे नाम व पत्ते झूठे दिए जाते है. लूटेरी दुल्हन ने शादी के नाम पर लाखों रुपए लूटने की जानकारी मिली है. जांच अधिकारी ने बताया कि गिरोह के अन्य सदस्य लक्ष्मी प्रजापत व शानदाबेन की तलाश की जा रही है. पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर ठगी की रकम बरामद करने का प्रयास कर रही है.