झालावाड़ में देवी लक्ष्मी का अनूठा 'गज लक्ष्मी' रूप, आखिर क्यों है बक्से में बंद

FirstIndia Correspondent Published Date 2018/11/06 10:43

झालावाड़। दीपोत्सव यानी मां लक्ष्मी की आराधना का पर्व, कमलासन देवी की पूजा अर्चना का महापर्व, लेकिन ऐसा नहीं कि मां लक्ष्मी कमलासना ही स्वरूप है। देवी के अन्य विलक्षण स्वरूपों का प्रमाण भी उनकी प्रतिमाओं में देखने की मिलता है। झालावाड़ ज़िले में ही ऐसी दो दुर्लभ स्वरूप की प्रतिमाएं विद्यमान है, जिनमें एक सिंह वाहिनी मां लक्ष्मी की प्रतिमा ज़िले के झालरापाटन स्थित सूर्य मंदिर में लगी हुई और एक गज लक्ष्मी की मूर्ति झालावाड़ के राजकीय संग्रहालय में स्थित है, जहां उसे बन्द करके बक्से में रखा है। क्योंकि संग्राहलय का जीर्णोद्धार का कार्य चल रहा है। 

झालावाड़ के संग्रहालय में रखा गया गज लक्ष्मी का यह अत्यंत सुंदर सुंदर चित्र स्वर्ण रंग से बना है और यह चित्र झालावाड़ के पुरातत्व संग्रहालय में दुर्लभ चित्र हस्तनिर्मित दुर्लभ संग्रह के क्रमांक 266 पर मौजूद है। इस चित्र की खासियत यह है कि देवी लक्ष्मी के ऐसे ही स्वरुप को अधिक पसंद किया जाता है। यह चित्र 12 इंच लंबे 10×1/4 इंच चौड़े देसी कागज कागज पर बना है।

पक्के चमकदार रंगों से यह चित्र अज्ञात चितेरों में बनाया है। इसमें श्वेत सागर के जल पर नीलकमल एवं हरी पत्तीदार अर्द्ध विकसित कमल कली को उकेरा गया है। सागर में खिलते नीलकमल की पीठ पर महादेवी गजलक्ष्मी को चतुर्बहु स्वरूप में दर्शाकर पद्मवस्था में विराजमान किया गया है।

देवी ने स्वर्ण रक्तवर्णीय साड़ी ब्लाउज परंपरागत रुप धारण किया है। चित्रांकन को देखने से पता चलता है कि इस चित्र में साड़ी पर नीले रंग की लाइन में बिंदिया और उसके मध्य में श्वेत रंगीन भपकदार बिंदिया राजसी आभा बढ़ाती है। यह चित्र अभी बक्से में बंद है, जबकि आज इसकी पूजा होनी चाहिए।

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

रिजर्व बैंक के गर्वनर उर्जित पटेल ने दिया इस्तीफा

विजय माल्या के प्रत्यर्पण पर आज आ सकता है बड़ा फैसला
संसद सत्र हंगामेदार रहने के आसार
प्रधानमंत्री कार्यालय के PRO जगदीश ठक्कर का निधन
धौलपुर जेल से कैदी का वीडियो वायरल
मासूम बच्चो की प्रस्तुतियों ने मोहा मन
प्रेरक वक्ता राम चंदानी ने दिए सफलता के मूल मंत्र, जिंदगी वैसी बनाएं जैसी जीना चाहते है
मासूम बच्चो की प्रस्तुतियों ने मोहा मन
loading...
">
loading...