Live News »

अनोखी शादी में वर-वधु ने सात फेरे लेने के बाद लिया आठवां फेरा, पर्यावरण संरक्षण का दिया संदेश

अनोखी शादी में वर-वधु ने सात फेरे लेने के बाद लिया आठवां फेरा, पर्यावरण संरक्षण का दिया संदेश

चूरू: अमूमन दाम्पत्य जीवन की शुरुआत के वैवाहिक कार्यक्रम में वर-वधु सात फेरे लेते हैं लेकिन जिले में एक ऐसी अनोखी शादी के लोग साक्षी बने जहां वर-वधु ने सात फेरे के बाद आठवां फेरा लिया. यह फेरा पृथ्वी और प्रकृति को बचाने, पर्यावरण सुरक्षा का संदेश के लिए था. इससे पहले दोनों ने एक दूसरे को वरमाला डालने के बाद पौधे भी भेंट कर समाज को पर्यावरण बचाने का संदेश दिया. 

तालाब में डूबने से 3 बच्चों की मौत, भैंसों को निकालते समय हुआ हादसा 

एक-दूसरे को पौधे भेंट कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश जनमानस को दिया: 
कृषि विभाग में कार्यरत पड़िहारा निवासी धनराज ढिल्लो के लड़के हर्षवर्धन सिंह ढिल्लो का विवाह छापर निवासी पूर्णा राम की पुत्री कान्ता के साथ हुआ. मंच पर वर-वधु ने एक दूसरे को वरमाला पहनाने के साथ ही एक-दूसरे को पौधे भेंट कर पर्यावरण संरक्षण का संदेश जनमानस को दिया. मंच पर परिवार के सदस्यों ने जल सरक्षण, वायु प्रदूषण, स्लोगन लिखे पोस्टर हाथ मे लेकिन सन्देश दिया व दूल्हा दुल्हन ने पौधा भेंट किया. 

सहकारी बैंकों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के परिवीक्षा वेतन में की वृद्धि  

पृथ्वी और प्रकृति को बचाने के लिए एक अतिरिक्त आठवां फेरा लगाया:
हरियाली के महत्व को समझने वाले दोनों परिवारों का क्षेत्र की पर्यावरण संरक्षण पर कार्य करने वाली संस्थान समर्पण सेवा संस्थान रतनगढ़ से जुड़े हुये है. इसके साथ ही जब फेरों की बारी आई तो वैवाहिक बंधन में बंधने वाले वर-वधु ने सात फेरों के बाद पर्यावरण को बचाने के महान उद्देश्य को लेकर पृथ्वी और प्रकृति को बचाने के लिए एक अतिरिक्त आठवां फेरा लगाया. उन्होंने प्रत्येक वर्षगांठ और अन्य संस्कारों में भी पौधे लगाने की शपथ ली. इस कार्यक्रम में संस्थान के अध्यक्ष विरेन्द्र सैन, सुरेश गोड़, जीवन प्रजापत, अशोक पारीक उपस्थित थे. 

...चूरू से फर्स्ट इंडिया के लिए संजय प्रजापत की रिपोर्ट
 

और पढ़ें

Most Related Stories

विधायकों की खरीद-फरोख्त से जुड़ा प्रकरण, विधायक भंवरलाल शर्मा को आज हाईकोर्ट से नहीं मिली राहत

विधायकों की खरीद-फरोख्त से जुड़ा प्रकरण, विधायक भंवरलाल शर्मा को आज हाईकोर्ट से नहीं मिली राहत

जयपुर: विधायकों की खरीद-फरोख्त से जुड़े प्रकरण में कांग्रेस के बागी विधायकों में शामिल विधायक पं. भंवरलाल शर्मा को आज हाईकोर्ट से राहत नहीं मिली. हाईकोर्ट ने पं.शर्मा को अंतरिम राहत देने से इनकार करते हुए उनकी चारों याचिकाओं को एक साथ टैग करने के निर्देश दिए हैं. इस मामले में आज जस्टिस सतीश शर्मा की एकलपीठ में सुनवाई हुई. वरिष्ठ अधिवक्ता मुकुल रोहतगी ने शर्मा की ओर से पैरवी की. वहीं वरिष्ठ अधिवक्ता सिद्धार्थ लूंथरा ने सरकार का पक्ष रखा. अब अंतिम निस्तारण के लिए 13 अगस्त को अगली सुनवाई होगी. 

राम मंदिर को लेकर बोले सीएम गहलोत, कहा- यह मौका प्रधानमंत्री के लिए साहस दिखाने का... 

विधायक शर्मा ने हाईकोर्ट में चार याचिकाएं की थी दायर: 
इससे पहले कांग्रेस के बागी विधायकों में शामिल विधायक भंवरलाल शर्मा की ओर से दायर दो याचिकाओं पर आज सुनवाई हुई. विधायक शर्मा ने हाईकोर्ट में चार याचिकाएं दायर एसओजी और एसीबी में दर्ज एफआईआर को चुनौति दी है. साथ ही विधायक खरीद फरोख्त को लेकर एसओजी में दर्ज एफआईआर को एनआईए को ट्रांसफर करने को लेकर भी याचिका दायर की है. 

विधायक शर्मा की दो याचिकाओं पर आज सुनवाई हुई: 
इसी के चलते विधायक शर्मा की दो याचिकाओं पर आज सुनवाई हुई. जिनमें एसओजी में दर्ज एफआईआर को एनआईए को ट्रांसफर करने की मांग कि गयी है. मामले में केन्द्र व राज्य सरकार सहित जांच अधिकारी को भी पक्षकार बनाया है. दोनों याचिकाओं पर जस्टिस सतीशकुमार शर्मा की एकलपीठ सुनवाई हुई.

राममंदिर को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने रखा कांग्रेस का पक्ष, राजस्थान के बागी विधायकों पर भी बोली बड़ी बात  

राज्यपाल और विधायकों के वेतन भत्तों से जुड़ी याचिकाएं खारिज: 
वहीं इससे पहले प्रदेश के सियासी संकट के बीच विधायकों के वेतन भत्ते रोकने से जुड़ी पत्रकार विवेक सिंह जादौन की जनहित याचिका को राजस्थान हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है. वहीं इससे पहले राजस्थान हाईकोर्ट ने आज राज्यपाल से जुड़ी 2 महत्वपूर्ण जनहित याचिकाओं को भी खारिज कर दिया.


 

जयपुर: विधाधर नगर में महिला की निर्मम हत्या के बाद इलाके में फैली सनसनी

 जयपुर: विधाधर नगर में महिला की निर्मम हत्या के बाद इलाके में फैली सनसनी

जयपुर: राजधानी जयपुर के विधाधर नगर में आज महिला की निर्मम हत्या के बाद इलाके में सनसनी फैल गई. पुलिस जब मौके पर पहुंची तो पाया कि बुजुर्ग महिला का शव पलंग पर पड़ा था और सिर से खून रिसता हुआ फर्श पर गिर रहा था. हत्या की इस घटना के बाद परिवार की ही एक महिला को हिरासत में लिया गया है और उससे पूछताछ की जा रही है.

 राम मंदिर को लेकर बोले सीएम गहलोत, कहा- यह मौका प्रधानमंत्री के लिए साहस दिखाने का... 

भारी वस्तु से सिर फोड़कर हत्या की आशंका: 
पुलिस ने बताया कि विधाधर नगर के सेक्टर आठ में रहने वाली आबिदा बानों आज सवेरे अपने घर पर थी. करीब ग्यारह बजे उनकी हत्या होने की जानकारी पुलिस को मिली तो पुलिस मौके पर पहुंची. मौके के अलामात देखकर पुलिस ने तुरंत डॉग स्क्वायड और फोरेसिंक टीम को भी मौके पर बुलाया. प्रारंभिक जांच के आधार पर अफसरों का कहना है कि किसी भारी वस्तु से सिर फोड़कर हत्या की गई हैं. 

Rajasthan Political Crisis: विधायकों के वेतन भत्ते रोकने से जुड़ी जनहित याचिका खारिज 

शक की सुई परिवार के ही कुछ लोगों के आसपास घुम रही:
संघर्ष के निशान फिलहाल नजर नहीं आ रहे हैं. हालांकि घटना के दौरान मृतका की बहू घर पर ही थी जिसने लूट के इरादे से 2 लोगों पर हत्या करने का आरोप लगाया है. हालांकि इस दौरान पड़ोसियों ने घर में किसी को भी जाते नही देखा. फिलहाल शक की सुई परिवार के ही कुछ लोगों के आसपास घुम रही है. शव को राजकीय अस्पताल के मुर्दाघर में रखवाया जा रहा हैं. अफसरों का मानना है कि जल्द ही हत्या का राज खुल सकता है. 
 

राम मंदिर को लेकर बोले सीएम गहलोत, कहा- यह मौका प्रधानमंत्री के लिए साहस दिखाने का...

राम मंदिर को लेकर बोले सीएम गहलोत, कहा- यह मौका प्रधानमंत्री के लिए साहस दिखाने का...

जयपुर: कल यानि पांच अगस्त को अयोध्या में भव्य श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसकी आधारशिला रखेंगे. इसको लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी ट्वीट करते हुए कहा कि 5 अगस्त को होने वाला राम मंदिर शिलान्यास प्रधानमंत्री के लिये साहस दिखाने तथा लोगों को यह संकल्प लेने के लिये कहने का एक अवसर है कि मानवता पर लगे छुआछूत के कलंक को मिटायें तथा दलितों, आदिवासियों और पिछड़ों के साथ समानता का व्यवहार करें. ऐसा करके हम मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम के आदर्शों को पूरा कर सकते हैं और उनकी भावना पर खरे उतर सकते हैं. 

कलराज मिश्र ने दी पीएम को बधाई:
राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने पीएम मोदी को विशेष रूप से बधाई दी है. उनका कहना है कि राम जन्मभूमि पर राम मंदिर बनाने का सपना साकार हो रहा है और प्रतिबद्धता पूरी हो रही है. 

Rajasthan Political Crisis: विधायकों के वेतन भत्ते रोकने से जुड़ी जनहित याचिका खारिज 

भूमिपूजन सोमवार से शुरू हो चुका: 
बता दें कि श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए भूमिपूजन सोमवार से शुरू हो चुका है. 21 वैदिक आचार्यों ने सोमवार सुबह 9 बजे यजमान महेश भरतचक्रा को संकल्प दिलाते हुए पूजन किया. आज रामार्चा पूजा हो रही है, जिसे डॉ.रामानंद दास करा रहे हैं. पीएम मोदी के भूमिपूजन के दिन अयोध्या, मथुरा, काशी, दिल्ली के आचार्य पूजन कराएंगे.

राममंदिर को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने रखा कांग्रेस का पक्ष, राजस्थान के बागी विधायकों पर भी बोली बड़ी बात 

अयोध्या में मेहमानों का आना शुरू: 
बाबा रामदेव, स्वामी अवधेशानंद, चिदानंद मुनि, सुधीर दहिया, राजू स्वामी एक हेलीकॉप्टर से अयोध्या एयरपोर्ट पहुंचे. ब्रह्मानंद स्वामी, सुरेश पटेल व रितेश डांडिया दूसरे हेलीकॉप्टर से अयोध्या एयरपोर्ट पहुंचे. कल राम मंदिर भूमि पूजन में होंगे शामिल. 


 

मिनिषा लांबा हुई अपने पति रयान थाम से अलग, 5 वर्ष के रिलेशन के बाद लिया तलाक!

मिनिषा लांबा हुई अपने पति रयान थाम से अलग, 5 वर्ष के रिलेशन के बाद लिया तलाक!

नई दिल्ली: बॉलीवुड अभिनेत्री मिनिषा लांबा (Minissha Lamba) ने अपने पति रायन थाम (Ryan Tham) से तलाक ले लिया है. मिनिषा लांबा (Minissha Lamba) ने अपने पति रयान थाम (Ryan Tham) से 5 साल के रिलेशन के बाद तलाक ले लिया है. जितने भी लीगल पैंडिंग औपचारिकताएं थीं वो पूरी हो गई हैं. मिनिषा लांबा (Minissha Lamba) और रयान थाम ने साल 2015 में गुपचुप तरीके से शादी कर ली थी. इस शादी में उनके कुछ दोस्त और रिश्तेदार ही शामिल हुए थे. 

राममंदिर को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने रखा कांग्रेस का पक्ष, राजस्थान के बागी विधायकों पर भी बोली बड़ी बात

दोनों के ​बीच पिछले 2 वर्षों से चल रहा था मनमुटाव?
मिनिषा लांबा (Minissha Lamba) ने बताया कि हम आपसी अंडरस्टैंडिंग से अलग हो गए हैं. खबरों के मुताबिक दोनों में गत 2 वर्षों से ठीक नहीं चल रहा है.इस वजह से उन्होंने तलाक लेने का फैसला लिया.अभिनेत्री मिनिषा लांबा (Minissha Lamba) ने चेन्‍नई में कुछ वर्षों तक पढा़ई करने के बाद श्रीनगर के आर्मी स्‍कूल में भी पढ़ाई की. इसके बाद मिनिषा लांबा (Minissha Lamba) ने दिल्‍ली के मिरांडा हाउस कॉलेज से इंग्लिश ऑनर्स की पढ़ाई की. पढ़ाई के दौरान ही मि​निषा लांबा को  पहली मूवी का ऑफर मिला था. 

मिनिषा लांबा ने यहां मूवी से की करियर की शुरूआत:
मिनिषा लांबा (Minissha Lamba) ने शूजीत सरकार की मूवी यहां से साल 2005 में अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की. इस मूवी से मिनिषा (Minissha Lamba) को बॉलीवुड में कोई खास पहचान नहीं मिल सकी. मिनिषा लांबा (Minissha Lamba) ने कॉरपोरेट, हनीमून ट्रैवल्स, दस कहानियां, बचना ऐ हसीनों, भेजा फ्राई 2, हम तुम शबाना, जोकर, हीर एंड हीरो, भेजा फ्राई 3 और भूमि फिल्म में नजर आ चुकी हैं. 

राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम कल, पीएम मोदी रखेंगे मंदिर की आधारशिला

Rajasthan Political Crisis: विधायकों के वेतन भत्ते रोकने से जुड़ी जनहित याचिका खारिज

Rajasthan Political Crisis: विधायकों के वेतन भत्ते रोकने से जुड़ी जनहित याचिका खारिज

जयपुर: प्रदेश के सियासी संकट के बीच विधायकों के वेतन भत्ते रोकने से जुड़ी पत्रकार विवेक सिंह जादौन की जनहित याचिका को राजस्थान हाईकोर्ट ने खारिज कर दिया है. कोर्ट ने संबंधित अथॉरिटी के समक्ष प्रतिवेदन पेश करने की छूट दी है. सीजे इंद्रजीत महांति, जस्टिस प्रकाश गुप्ता की खंडपीठ ने याचिका को खारिज किया है. 

राममंदिर को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने रखा कांग्रेस का पक्ष, राजस्थान के बागी विधायकों पर भी बोली बड़ी बात 

प्रदेश में वित्तीय हालात सही नहीं:  
इससे पहले पत्रकार विवेक सिंह जादौन ने जनहित याचिका दायर कर होटलों में रुके विधायकों को वेतन भत्ते रोकने को लेकर यह कहते हुए चुनौती दी थी कि कोरोना संक्रमण के चलते प्रदेश में वित्तीय हालात सही नहीं है. लेकिन फिर भी एमएलए अपने मौजूदा विधानसभा क्षेत्रों में नहीं जा रहे हैं. जनहित याचिका में कहा गया कि विधायक ना ही अपने क्षेत्र में जा रहे है और ना ही विधायी कार्य कर रहे है ऐसे में उन्हें वेतन-भत्तों का भुगतान क्यों किया जाए. 

एमएलए आमजन के धन का दुरुपयोग कर रहे:  
पीआईएल में कहा कि प्रदेश में एक ही राजनीतिक दल से जुड़े ये एमएलए आपसी प्रतिस्पर्धा के चलते आमजन के धन का दुरुपयोग कर रहे है. इसलिए जयपुर व मानेसर की होटलों में रुके हुए एमएलए के वेतन-भत्तों को रोका जाए. याचिका में सीएम सहित विधानसभा स्पीकर, विधानसभा सचिव व मुख्य सचिव को पक्षकार बनाया है. मुख्य न्यायाधीश इन्द्रजीत महांति की खण्डपीठ में याचिका पर सुनवाई होगी. 

राज्यपाल को पद से हटाने से जुड़ी याचिका को खारिज किया: 
वहीं इससे पहले राजस्थान हाईकोर्ट ने आज राज्यपाल से जुड़ी 2 महत्वपूर्ण जनहित याचिकाओं को भी खारिज कर दिया. राज्यपाल को पद से हटाने से जुड़े मामले में हाई कोर्ट ने जनहित याचिका को सारहीन बताया. शांतनु पारीक द्वारा लगाई गई याचिका को सीजे इंद्रजीत महांति ने सारहीन बताते हुए खारिज किया. याचिका में विधानसभा सत्र नहीं बुलाने को लेकर राज्यपाल को हटाने की गुहार की गई थी. इसके साथ ही केंद्र सरकार को राष्ट्रपति को सिफारिश भेजने के निर्देश देने की भी मांग की गई थी. 

जैसलमेर में विधायक मन से साथ, हम फ्लोर टेस्ट को तैयार- परसादी लाल मीणा  

राज्यपाल से जुड़ी दूसरी जनहित याचिका भी खारिज: 
इसके साथ ही राज्यपाल से जुड़ी दूसरी जनहित याचिका भी हाई कोर्ट ने खारिज कर दी. एडवोकेट एसके सिंह की जनहित याचिका को विड्रॉ करने पर हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया है. यह जनहित याचिका राज्यपाल को सत्र आहूत करने के निर्देश देने को लेकर दायर की गई थी. 

 
 

वन्यजीव जगत के लिए एक और बुरी खबर, नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में सफेद बाघ राजा की मौत

वन्यजीव जगत के लिए एक और बुरी खबर, नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में सफेद बाघ राजा की मौत

जयपुर: कल मुकंदरा में बाघिन mt2 की मौत के सदमे से अभी वन्य जीव प्रेमी उबरे भी नहीं थे कि आज नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में सफेद बाघ राजा की मौत की सूचना ने पूरे वन्यजीव जगत को झकझोर कर रख दिया है. करीब सप्ताह भर से बीमार चल रहे सफेद बाघ राजा की 1 अगस्त को अचानक ज्यादा तबीयत बिगड़ने पर उसके रक्त के नमूने आईवीआरआई बरेली भेजे गए थे.

Rajasthan Political Crisis: हाईकोर्ट में राज्यपाल से जुड़ी दोनों जनहित याचिका खारिज 

1 अगस्त को राजा के पेशाब से खून आने लगा था: 
नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क के एसीएफ जगदीश गुप्ता ने बताया कि 1 अगस्त को राजा के पेशाब से खून आने लगा था. इसके बाद आईवीआरआई के वैज्ञानिकों की सलाह पर उसे नियमित दवा दी जा रही थी लेकिन आज राजा ने दम तोड़ दिया. ध्यान रहे 10 और 11 जून को बाघ रुद्र और एशियाटिक लायन सिद्धार्थ की भी नाहरगढ़ बायोलॉजिकल पार्क में मौत हो गई थी. दोनों की मौत लेप्टोसिरोसिस नाम की बीमारी से हुई थी जो कि चूहे और नेवले के पेशाब से फैलती है. इसके बाद बायोलॉजिकल पार्क में यहां पल रहे पांच एशियाटिक लायन, चार बाघ जिनमे सफेद बाघ राजा भी शामिल था और पांच लेपर्ड के स्वास्थ्य की जांच कराई जिसमें लेपर्ड को छोड़ सभी शेर और बाघ का क्रिएटिनिन बढ़ा हुआ मिला.

राममंदिर को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने रखा कांग्रेस का पक्ष, राजस्थान के बागी विधायकों पर भी बोली बड़ी बात 

सफेद बाघ किडनी की बीमारी से उबर नहीं पाया:
इसके बाद से ही लगातार इन्हें विशेषज्ञ चिकित्सकों की सलाह पर दवा दी जा रही थी लेकिन सफेद बाघ किडनी की बीमारी से उबर नहीं पाया और आज दम तोड़ दिया. हालांकि मौत के कारणों का स्पष्ट पता पोस्टमार्टम की रिपोर्ट आने के बाद चलेगा लेकिन प्रारंभिक कारण किडनी खराब होना ही माना जा रहा है. 
 

Rajasthan Political Crisis: हाईकोर्ट में राज्यपाल से जुड़ी दोनों जनहित याचिका खारिज

Rajasthan Political Crisis: हाईकोर्ट में राज्यपाल से जुड़ी दोनों जनहित याचिका खारिज

जयपुर: प्रदेश के सियासी संग्राम के चलते राज्यपाल से जुड़ी 2 महत्वपूर्ण जनहित याचिकाओं को राजस्थान हाईकोर्ट ने आज खारिज कर दिया है. राज्यपाल को पद से हटाने से जुड़े मामले में हाई कोर्ट ने जनहित याचिका को सारहीन बताया. शांतनु पारीक द्वारा लगाई गई याचिका को सीजे इंद्रजीत महांति ने सारहीन बताते हुए खारिज किया. याचिका में विधानसभा सत्र नहीं बुलाने को लेकर राज्यपाल को हटाने की गुहार की गई थी. इसके साथ ही केंद्र सरकार को राष्ट्रपति को सिफारिश भेजने के निर्देश देने की भी मांग की गई थी. 

राममंदिर को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने रखा कांग्रेस का पक्ष, राजस्थान के बागी विधायकों पर भी बोली बड़ी बात 

राज्यपाल से जुड़ी दूसरी जनहित याचिका भी खारिज: 
इसके साथ ही राज्यपाल से जुड़ी दूसरी जनहित याचिका भी हाई कोर्ट ने खारिज कर दी. एडवोकेट एसके सिंह की जनहित याचिका को विड्रॉ करने पर हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया है. यह जनहित याचिका राज्यपाल को सत्र आहूत करने के निर्देश देने को लेकर दायर की गई थी. 

अलग-अलग दो जनहित याचिकाएं दायर की गई थी:
बता दें कि सियासी संग्राम के दौरान मुख्यमंत्री और केबिनेट की ओर से विधानसभा सत्र आहुत करने को लेकर भेजे गये प्रस्ताव को राज्यपाल ने इंकार कर दिया था. जिसके बाद एडवोकेट एस के सिंह और एडवोकेट शांतनु पारीक ने अलग-अलग दो जनहित याचिकाए दायर कर हाईकोर्ट में चुनौति दी. याचिका दायर होने के दूसरे ही दिन राज्यपाल ने कैबिनेट प्रस्ताव के आधार पर 14 नवंबर से सत्र को मंजूरी दे दी है. 

जैसलमेर में विधायक मन से साथ, हम फ्लोर टेस्ट को तैयार- परसादी लाल मीणा  

राज्यपाल को हटाने की मांग की गयी थी:
उसके बाद आज मुख्य न्यायाधीश इन्द्रजीत महांति की खण्डपीठ में दोनों ही जनहित याचिकाएं सूचीबद्ध थी. एडवोकेट एस के सिंह की याचिका में जहां सत्र आहुत करने के निर्देश देने की मांग कि गयी थी. वहीं एडवोकेट शांतनु पारीक की जनहित याचिका में केन्द्र सरकार को पक्षकार बनाते हुए राज्यपाल को हटाने की मांग की गयी थी. लेकिन राजस्थान हाई कोर्ट ने अब दोनों ही जनहित याचिकाएं खारिज कर दी.  


 

राममंदिर को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने रखा कांग्रेस का पक्ष, राजस्थान के बागी विधायकों पर भी बोली बड़ी बात

राममंदिर को लेकर रणदीप सुरजेवाला ने रखा कांग्रेस का पक्ष, राजस्थान के बागी विधायकों पर भी बोली बड़ी बात

जैसलमेर: कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि धर्म की राजनीति नहीं हो चाहिए बल्कि राजनीति में धर्म हो. जैसलमेर के सूर्यगढ़ में राम मंदिर स्थापना समारोह को लेकर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गांधी द्वारा जारी किए गए बयान को पढ़कर सुनाते हुए कहा कि राम तो सबके है. राम सुग्रीव के भी हैं तो शबरी के भी हैं सबके दाता राम है. गांधी के रघुपति राघव राजा राम सबको सन्मति देने वाले हैं.

जैसलमेर में विधायक मन से साथ, हम फ्लोर टेस्ट को तैयार- परसादी लाल मीणा  

उन्होंने कहा कि जो रब है वही राम है. मैथिलीशरण गुप्त का हवाला देते हुए बताया कि राम को गुप्त निर्मल का बल कहते थे प्रियंका गांधी ने अपने बयान में कहा है कि भगवान राम की कृपा से यह कार्यक्रम उनको उनके संदेश को प्रसारित करने वाला राष्ट्रीय एकता और सांस्कृतिक समागम का कार्यक्रम बने.  

VIDEO: आखिर कहां है इस वक्त पायलट कैंप के विधायक? जानकार सूत्रों ने दिए संकेत 

बागी विधायक भाजपा से नाता तोड़े उसके बाद घर वापसी करें: 
राजस्थान राजनीति को लेकर बागियों की वापसी को लेकर पूछे गए सवाल पर सुरजेवाला ने कहा कि पहले भाजपा से नाता तोड़े उसके बाद घर वापसी करें.  सुरजेवाला ने कहा कि हरियाणा में अपराध बढ़ रहे हैं राह चलते लोगों को पीटा जा रहा है बालिकाओं से दुष्कर्म के मामले बढ़ते जा रहे हैं उसे रोकने के लिए हरियाणा पुलिस नहीं दिखाई देती लेकिन बागी विधायकों की सुरक्षा में 1000 पुलिसकर्मी लगे हैं ताकि राजस्थान की SOG उन तक ना पहुंच जाए. 

...फर्स्ट इंडिया के लिए बीकानेर से लक्ष्मण राघव की रिपोर्ट

Open Covid-19