Live News »

दिव्यांगों का अनोखा मतदान कैंपेन, मतदान स्थल पर विशेष व्यवस्थाओं की मांग

दिव्यांगों का अनोखा मतदान कैंपेन, मतदान स्थल पर विशेष व्यवस्थाओं की मांग

आगरा। ताजनगरी आगरा में मतदान के लिए पहली बार वोटर बने मूक बधिरों ने अनोखा मतदान कैंपेन किया है। मूक बधिरों ने आज ना सिर्फ खुद मतदान करने की शपथ ली, बल्कि और लोगों को भी मतदान करने के लिए प्रेरित किया। कैंपेन के तहत मूक बधिर बच्चों ने मतदान स्थल पर दिव्यांगों के लिए विशेष व्यवस्थाओं की मांग की। 

दरअसल आगरा डेफ इनेबल सोसायटी के बैनर तले आज बाल विहार पार्क में लोगों को मतदान के लिए जागरुक करने का एक कैंपेन शुरू किया गया। यहां पहली बार वोटर बने मूक बधिर बच्चों ने मतदान करने की शपथ ली। इस दौरान उन्होंने लोगों को मतदान करने के लिए भी प्रेरित किया, उनकी शिकायत थी कि सरकार कैंपेन चला रही है पर इन कैंपेन में उनकी सुविधाएं पर्याप्त नहीं हो पा रही हैं। 

उदाहरण के लिए मूकबधिर को मतदान स्थल पर ट्रांसलेटर नहीं मिल पाता है और ब्लाइंड को ब्रेल लिपि समझाने वाला कोई नहीं मिलता है। उन्होंने लोगों को मतदान के लिए प्रेरित करने के दौरान उनकी पहली बार वोट देने का उत्साह भी देखने वाला था।

और पढ़ें

Most Related Stories

स्वतंत्रता दिवस पर आगरा जेल से रिहा हुए 21 कैदी, व्यापारी राजेश सहगल अदा किया जुर्माना 

स्वतंत्रता दिवस पर आगरा जेल से रिहा हुए 21 कैदी, व्यापारी राजेश सहगल अदा किया जुर्माना 

आगरा: आगरा जिला जेल में आज उन 21 कैदियों को रिहा किया गया, जिन्होंने अपनी सजा पूरी कर ली, लेकिन अदालत द्वारा उन पर लगाए गए जुर्माने का भुगतान नहीं कर पाने के कारण अतिरिक्त समय जेल में बिताना पड़ रहा था. आज स्वतंत्रता दिवस के मौके पर एक व्यापारी राजेश सहगल द्वारा 1,73,000 रुपये का जुर्माना अदा किए जाने के बाद ये कैदी रिहा किए गए.

रिहाई के बाद आगरा जिला जेल के अधीक्षक शशिकांत मिश्रा ने कहा कि हम राजेश सहगल जी के आभारी हैं। उनके कारण 21 कैदी अपने परिवार के साथ रक्षाबंधन और स्वतंत्रता दिवस मना पाएंगे. वहीं योगी सरकार करीब दो दर्जन जेलों से ऐसे 73 कैदियों को आज के दिन रिहा करने का ऐलान किया था. इस बारे में अपर मुख्य सचिव, गृह एवं कारागार अवनीश कुमार अवस्थी ने पुलिस महानिदेशक/महानिरीक्षक, कारागार प्रशासन एवं सुधार सेवाओं को आवश्यक निर्देश दिए हैं.

Open Covid-19