इस गांव के युवा बने मिसाल, पिता और भाई बनकर किया 'अनाथ बच्चियों' का कन्यादान

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/05/12 09:39

अलवर। अलवर की राजगढ़ तहसील के कीलपुर खेड़ा गांव के लोगों ने मिसाल कायम की है। इस गांव के युवाओं ने दो बिन बाप की बच्चियों की शादी के लिए मदद का बीड़ा उठाया और बच्चियों के कन्यादान के लिए करीब 1 लाख का फंड एकत्रित किया है। गांव में युवाओं का जोश देखते ही बन रहा है। अखिल जनकल्याण युवा समिति के मिशन कन्यादान में हर नागरिक ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। 

दरअसल, कीलपुर खेड़ा गांव से करीब हर घर से युवा सरकारी नौकरी कर रहे हैं। ज्यादातर युवा रेलवे और दिल्ली पुलिस में नौकरी करते हैं वहीं कुछ टीचर सहित कई अन्य सरकारी नौकरियों में पदोन्नत हैं। इस गांव के ताराचंद मीणा ने समाज में बदलाव और लोगों की मदद के लिए एक बीड़ा उठाया।

इन्होंने करीब 2 साल पहले एक NGO अलवर कलेक्ट्रेट में रजिस्टर करवाया, जो साल 2019 में पंजीकृत हुआ। फिर क्या था गांव के युवा जुट गए अपने सपनों का गांव बनाने में हर कोई जैसी भी बन पड़े हर किसी की मदद के लिए आगे आने लगा।

इसी कड़ी में आज 12 मई रविवार को इस संगठन ने बिन बाप की दो बच्चियों नीलम मीणा और रीना मीणा की शादी में मदद को हाथ आगे बढ़ाए हैं। इन लड़कियों के पिता आज से करीब 10 साल पहले भगवान को प्यारे हो गए वहीं इनकी मां बुगल देवी मेहनत मजदूरी करके बच्चियों का पेट पाल रही थी। घर में कमाने वाला औऱ कोई नहीं हैं। ऐसी बिन बाप और भाई की बच्चियों को आज गांव की इस अखिल जन कल्याण युवा समिति ने अपनाकर पुण्य का कार्य किया है।

बतादें, अखिल जनकल्याण युवा समिति के प्रमुख हैं ताराचंद मीणा, इसके अलावा जितने भी युवा सरकारी सेवा से जुड़े हुए हैं वो सभी समिति की सदस्य लिस्ट में हैं गांव की समस्याओं से निपटने के लिए सभी आपस में सहयोग करते हैं।

अलवर से अनिल शर्मा की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in