प्रदेश के एकमात्र हिल स्टेशन पर मंडराया जल संकट, प्रशासन ने जनता से लिए सुझाव

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/04/15 03:08

सिरोही। प्रदेश के एकमात्र हिल स्टेशन माउंट आबू पर आने वाले जल संकट को लेकर अब प्रशासन भी अलर्ट हो गया हैं। प्रत्येक माह अधिकारियों के साथ होने वाली उपखण्ड स्तरीय बैठक को आज आम जनता की बैठक में तब्दील कर आने वाले जल संकट से निपटने के लिए सुझाव लिए गए। 

माउंट आबू के एसडीएम ने बैठक के दौरान उपस्थित सभी नगरवासियों से जल संरक्षण पर अपनी बात रखने की बात की। जिस पर नगरवासियों ने खुलकर प्रशासन को सहयोग करने की बात की... साथ ही सुझाव भी दिए गए...जिसमें एक महीने तक सभी सरकारी, गैर सरकारी स्कूल, हॉस्टल बन्द रखने की बात की गई।

आपको बता दें माउंट आबू में स्कूलें सर्दियों में बन्द रहती हैं लेकिन इस बार गर्मियों में भी स्कूलें एक माह तक बन्द रखने के आदेश जारी हो सकते हैं। साथ ही होटल्स में बाथटब के इस्तेमाल पर पूर्णतया रोक लगाने का भी सुझाव सामने आया। ज्ञात हो, माउंट आबू में सैकड़ो की संख्या में होटल्स है, जहां प्रतिदिन बाथटब से लाखों लीटर पानी व्यर्थ बहता है।

ऐसे में इन बाथटबो के इस्तेमाल पर रोक लगने से अब बड़ी मात्रा में पानी की बचत होगी।  वहीं नगरवासियों ने सुझाव दिया कि पौराणिक परम्परागत जल स्रोतों को भी पुनः उपयोग में लाया जाए। जिसमें पुराने कुओं व बावड़ियों की साफ सफाई कर उन्हें पुनः शुरू करने की बात कही गई। 

वहीं नगरवासियों द्वारा घरों में आवश्यक पानी की बर्बादी पर भी सख्ती बरतने का सुझाव सामने आया। जिस पर निर्णय लिया गया कि पानी की बर्बादी करने वालों पर अर्थदंड का प्रावधान लागू किया जाए। पहली बार ऐसा करने वालों पर 100 रुपये दूसरी बार 500 रुपये तीसरी बार 1000 रुपये का अर्थदंड लगाने की व्यवस्था की गई है।

इसके बाद भी यदि कोई बार बार ऐसी गलती करता हैं तो उसका नल कनेक्शन ही विच्छेद करने की बात कही गई।  साथ ही साथ पानी की सप्लाई के लिए वॉल्व व टंकी पर फ्लोट वॉल्व लगाने की भी बात सामने आई है..यानी माउंट आबू पर आने वाले जल संकट को लेकर प्रशासन के साथ साथ आमजन भी जल संरक्षण के लिए आगे आ रहे हैं।

                 सिरोही से संवाददाता विक्रम सिंह पंडागरा की रिपोर्ट

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in