हॉलीवुड फिल्म बनाने में लगने वाले पैसे से कम खर्चे में हम मंगल पर पहुंच गए : पीएम मोदी

FirstIndia Correspondent Published Date 2017/06/02 19:35

सेंट पीटर्सबर्ग। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज सेंट पीटर्सबर्ग में इंटरनेशनल इकॉनोमिक फोरम 2017 को संबोधित करते हुए कहा कि भारत-रूस के संबंधों में ऊंचाई भी बढ़ी है और गहराई भी बढ़ी है। इसके लिए मैं राष्‍ट्रपति पुत‍िन को बधाई देता हूं। उन्होंने कहा कि विश्‍व में कई बदलाव आए हैं, लेकिन भारत और रूस के बीच संबंधों में लगातार मजबूती आई है और यही कारण है कि आज दुनियाभर की निगाहें भारत की ओर है। 


उन्होंने कहा कि भारत के मंगल मिशन पर पीएम ने कहा कि एक हॉलीवुड फिल्म बनाने में जितना पैसा लगता है, उससे कम खर्चे में हम मंगल ग्रह पर पहुंच गए। पीएम ने कहा कि रूस में बॉलीवुड को काफी पंसद किया जाता है। मोदी ने कहा कि रूस में अभिनेता राजकपूर काफी लोकप्रिय हैं, यहां तक कि रूस की नई पीढ़ी भी उन्हें जानती है। भारत सफलता की दृष्टि से बहुत तेजी से आगे बढ़ रहा है राजनीतिक इच्छाशक्ति, राजनीतिक स्थिरता और नीतिगत स्पष्टता ने परिवर्तनकारी सुधारों के लिए रास्ता बनाया है। आज पूरे विश्‍व का ध्‍यान स्‍वाभाविक रूप से एशिया की तरफ है तो स्‍वाभाविक रूप से उनका ध्‍यान भारत की ओर है। भारत में पूर्ण बहुमत वाली मजबूत सरकार आई है।


उन्होंने कहा कि एक जुलाई से भारत में जीएसटी लागू हो जाएगा और इसका लाभ देशभर को मिलेगा। इसका लाभ विदेशी निवेशकों को भी बखूबी मिलेगा। भारत ने फाइनेंशियल इनक्‍लूजन पर बल दिया है। प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत हर देशवासी को बैंक से जोड़ा गया है। हम जीवनस्‍तर में बदलाव लाने के लिए सभी सरकारी लाभ गरीबों को मिले, जैम योजना के तहत इस दिशा में काम कर रहे हैं। पीएम मोदी ने कहा कि आज भारत की जीडीपी वार्षिक दृष्टि से 7% है और दुनिया की बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था में तेज गत‍ि से बढ़ने वाली भारत की अर्थव्‍यवस्‍था है। यह निश्‍चित है जब राजनीतिक स्थिर होती है, क्‍लीयर विजन होता है, तभी रिफॉर्म की संभावना बनती है।


भारत के मंगल मिशन पर पीएम ने कहा कि एक हॉलीवुड फिल्म बनाने में जितना पैसा लगता है उससे कम खर्चे में हम मंगल ग्रह पर पहुंच गए। पीएम ने कहा कि रूस में बॉलीवुड को काफी पंसद किया जाता है। मोदी ने कहा कि रूस में अभिनेता राजकपूर काफी लोकप्रिय हैं यहां तक कि रूस की नई पीढ़ी भी उन्हें जानती है। एफडीआई के लिए भारत दुनिया का तीसरा सबसे पसंदीदा देश है। हम रेल नेटवर्क का आधुनिकीकरण और विस्तार कर रहे हैं।


पीएम नरेन्द्र मोदी ने कहा कि भारत की पहचान आईटी के कारण है, लेकिन भारत आईटी से भी ज्‍यादा देश-दुनिया बहुत कुछ दे सकता है। 50 से ज्‍यादा शहरों में मेट्रो ट्रेन की आवश्‍यकता है। 500 शहरों के ट्रांस्‍फोर्मेशन की दिशा में हमें काम करना है। रोजाना ढ़ाई करोड़ लोग भारत में रेल के डिब्‍बों में सफर करते हैं। मुझे भारतीय रेल को अपग्रेड करना है, सुरक्षा की दृष्टि से बेहतर बनाना है। इसके अलावा गंगा की सफाई को लेकर हम आधुनिक इंवेस्‍टमेंट और तकनीक चाहते हैं और इसके लिए मैं आप सभी को आमंत्रित करता हूं।


भारत की आर्थिक तरक्की के बारे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि दुनिया की सभी क्रेडिट एजेंसियों ने सर्वसम्मति से माना है कि भारत तेजी से उभरती हुई अर्थव्यवस्था है। मेरी सरकार को अभी 1,100 दिन भी नहीं हुए, लेकिन अभी तक हमने 1,200 से ज्‍यादा कानूनों को खत्‍म कर दिया, जिनकी आज के समय में कोई जरूरत नहीं है। हमारी सरकार ने तीन साल के समय में 7 हजार 'नए रिफॉर्म' किए हैं। हम न्‍यू इंडिया का सपना लेकर चल रहे हैं। हम अपने इंफ्रास्‍टक्‍चर को अपग्रेड करना चाहते हैं। हम एक ऐसे देश हैं, जिसके पास 800 मिलियन 35 से नीचे की उम्र के नौजवान हैं।

 

Saint Petersburg PM Modi Narendra Modi India-Russia PM Narendra Modi Indo-Russia Vladimir Putin

  
First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in

सोनिया गांधी के आवास पर CEC की बैठक

जेट एयरवेज के चेयरमैन नरेश गोयल और उनकी पत्नी ने बोर्ड की सदस्यता से दिया इस्तीफा
राहुल गाँधी की घोषणा \'हर गरीब को मिलेंगे 72 हजार रुपये\'
कांग्रेस ने जारी की 40 स्टार प्रचारकों की सूची, सूची में गहलोत, पायलट और विश्वेन्द्र सिंह शामिल
दिल्ली में कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक संपन्न, कई अहम मुद्दों को लेकर हुई चर्चा
बीजेपी कोर कमेटी की दिल्ली में बैठक, राजस्थान में बची 9 सीटों पर मंथन
यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ का मथुरा दौरा, योगी ने किए बांके बिहारी जी के दर्शन
वीआरएस से पहले टिकट गारंटी ढूंढ़ रहे हैं ब्यूरोक्रेट