Live News »

दो दशक से हो रहा ईवीएम का इस्तेमाल, नहीं लौटेंगे बैलेट पेपर के जमाने में : चुनाव आयोग

दो दशक से हो रहा ईवीएम का इस्तेमाल, नहीं लौटेंगे बैलेट पेपर के जमाने में : चुनाव आयोग

नई दिल्ली। हाल ही में ईवीएम में हैकिंग किए जाने के दावों के बाद एक बार फिर से ईवीएम का मुद्दा सुर्खियों में आया है और कई विपक्षी दलों ने बैलेट पेपर से चुनाव कराने की मांग चुनाव आयोग से की है। इस पर आज चुनाव आयोग ने कहा है कि पिछले दो दशकों से चुनावों में ईवीएम का इस्तेमाल हो रहा है। इसके साथ ही चुनाव आयोग ने यह भी साफ किया है कि आने वाले चुनावों में बैलेट पेपर का इस्तेमाल नहीं किय जाएगा।

चुनाव आयोग के मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने आज प्रेसवार्ता कर ईवीएम और वीवीपैट मशीन को लेकर जानकारी दी। साथ ही कहा कि बैलेट पेपर से चुनाव नहीं होंगे, क्योंकि पिछले दो दशक से चुनावों में ईवीएम काम में ली जा रही है। मुख्य चुनाव आयुक्त ने कहा कि मैं ये बात बिल्कुल पूरी तरह से साफ कर देना चाहता हूं कि हम बैलेट पेपर के युग में नहीं लौटने वाले हैं।

सुनील अरोड़ा ने कहा कि हम लोग बैलेट पेपर के जमाने में वापस नहीं जा रहे हैं, हम ईवीएम और वीवीपैट को ही जारी रखेंगे। उन्होंने कहा कि हम किसी भी तरह की आलोचना और प्रतिक्रिया के लिए तैयार हैं, फिर चाहे वह किसी राजनीतिक दल के द्वारा ही की जा रही हो। उन्होंने कहा कि इसी के साथ ही में लगातार हो रही आलोचना के बावजूद ईवीएम और वीवीपैट को नहीं छोड़ेंगे और बैलेट पेपर के जमाने में नहीं जाएंगे।

गौरतलब है कि हाल ही में लंदन में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस हैकर सैयद शूजा ने दावा किया था कि साल 2014 के लोकसभा चुनावों में ईवीएम से छेड़छाड़ की गई थी और इससे परिणामों पर फर्क पड़ा था। शूजा ने इस दौरान भाजपा के कुछ नेताओं का भी नाम लिया और कहा कि ईवीएम से छेड़छाड़ करने में पार्टी सबसे आगे हैं।

और पढ़ें

Most Related Stories

SHO विष्णुदत्त विश्नोई आत्महत्या प्रकरण, DGP ने प्रारम्भिक तथ्यात्मक रिपोर्ट मुख्यमंत्री गहलोत को दी 

जयपुर: चूरू जिले के सरदारपुर एसएचओ विष्णुदत्त विश्नोई आत्महत्या प्रकरण मामले में  DGP ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को रिपोर्ट दी है. सीएम गहलोत को प्रारम्भिक तथ्यात्मक रिपोर्ट दी गई है. सीएम गहलोत ने विष्णुदत्त के परिजनों के लिए मदद के निर्देश दिए है. वहीं विधायक कृष्णा पूनिया ने मुख्यमंत्री से बात की है. कृष्णा ने भी अपनी तरफ से CM के सामने बात रखी है. कृष्णा पूनिया ने मामले में निष्पक्ष जांच की मांग की है.

विष्णुदत्त विश्नोई को श्रद्धांजलि:
बीकानेर के खाजूवाला में एसएचओ विष्णुदत्त विश्नोई को श्रद्धांजलि दी गई है. बिश्नोई धर्मशाला खाजूवाला में श्रद्धांजलि सभा आयोजित हुई. विश्नोई की आत्महत्या की CBI जांच की मांग की गई. मुख्यमंत्री के नाम SDM को ज्ञापन सौंपा गया है. श्री गुरु जंभेश्वर मंदिर चैरिटेबल ट्रस्ट के नेतृत्व में ज्ञापन सौंपा. 

COVID-19: देश में 24 घंटे में 6767 नए केस और 140 मरीजों की मौत, कुल मरीजों की संख्या हुई 1 लाख 31 हजार 868

परिजनों और सरकार में सहमति के बाद शव का पोस्टमार्टम:
चूरू के राजगढ़ में SHO विष्णुदत्त विश्नोई आत्महत्या प्रकरण में परिजनों और सरकार में सहमति के बाद शव का पोस्टमार्टम किया गया है. पुलिस सम्मान के साथ शव परिजनों को सुपुर्द किया गया है. इससे पहले जनप्रतिनिधियों और पुलिस अधिकारियों ने श्रद्धांजलि अर्पित की. IG जोस मोहन, कलेक्टर संदेश नायक, SP तेजस्विनी गौतम, उप नेता प्रतिपक्ष राजेन्द्र राठौड़, सांसद राहुल कस्वां, पूर्व सांसद रामसिंह कस्वां पूर्व विधायक मनोज न्यांगली भी ने विष्णुदत्त विश्नोई को श्रद्धांजलि अर्पित की. 

दबंग छवि और बेहद जबांज ऑफिसर थे विष्णुदत्त:
चूरू जिले के सादुलपुर थानाधिकारी विष्णुदत्त बिश्नोई ने शनिवार को आत्महत्या कर ली. जानकारी के अनुसार विश्नोई ने अपने क्वार्टर में फांसी का फंदा लगाकर जीवनलीला समाप्त की है. हालांकि आत्महत्या के कारणों का अभी कोई पता नहीं चला है. वहीं पुलिस अधिकारी अभी कुछ भी बोलने से दूरी बना रहे हैं. बता दें कि बिश्नोई ईमानदार ऑफिसर के साथ पुलिस विभाग में दबंग छवि व बेहद जबांज ऑफिसर थे. 

एक पिता की अनूठी पहल, प्रवासी बेटे के आइसोलेशन के लिए बना दिया सर्व सुविधाओं युक्त ढाई दिन का झोपड़ा

COVID-19: पूरे विश्व में अब तक 54 लाख 04 हजार 586 कोरोना पॉजिटिव केस, अब तक 3 लाख से ज्यादा लोगों की हो चुकी है मौत

COVID-19: पूरे विश्व में अब तक 54 लाख 04 हजार 586 कोरोना पॉजिटिव केस, अब तक 3 लाख से ज्यादा लोगों की हो चुकी है मौत

नई दिल्ली: दुनियाभर में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढते जा रहे है. पूरी दुनिया में कोरोना पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा 50 लाख के पार पहुंच गया है. पूरे विश्व में अब तक 54 लाख 04 हजार 586 कोरोना पॉजिटिव मिले है. वहीं अब तक 3,43,804 लोगों की कोरोना की चपेट में आने से मौत हो चुकी है. जबकि अब तक 22,47,132 केस रिकवर हो चुके है.

दुनियाभर के 213 से ज्यादा देश कोरोना वायरस की चपेट में:
कोरोना वायरस ने दुनिया के 213 को हिलाकर रख दिया है. कोरोना वायरस की तमाम प्रयास के बावजूद अभी तक दवा नहीं बन पाई है, हालांकि दवा बनाने की विशेषज्ञ रिसर्च में जुटे हुए है. लेकिन अभी तक कोई ठोस निष्कर्ष नहीं निकल पाया है. 

दाती महाराज ने उड़ाईं लॉकडाउन की धज्जियां, दिल्ली पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच की शुरू 

अमेरिका में सबसे ज्यादा कहर:
वहीं बात करें अमेरिका की, तो यहां पर कोरोना वायरस ने सबसे ज्यादा कहर बरपाया है.अमेरिका में अब तक 16,66,828 पॉजिटिव केस मिले है. वहीं अब तक 98,683 लोगों की मौत हो चुकी है. पिछले 24 घंटे में 1,036 लोगों की मौत हो चुकी है. रूस में 3,35,882 कोरोना केस, 3,388 लोगों की हो मौत चुकी है. ब्राजील में 3,43,398 कोरोना पॉजिटिव,22,013 लोगों की मौत हो चुकी है. स्पेन में अब तक 2,80,117 पॉजिटिव, 28,678 लोगों की मौत हो चुकी है.

इटली में 32,735 लोगों की मौत:
इटली में अब तक 2,29,327 पॉजिटिव केस मिले है. वहीं अब तक कोरोना की चपेट में आने से 32,735 लोगों की मौत हो चुकी है. फ्रांस में अब तक 1,82,469 पॉजिटिव, 28,332 लोगों की जान गई. जर्मनी में अब तक 1,79,986 पॉजिटिव, 8,366 लोगों की मौत हो चुकी है. चीन में अब तक 82,971 पॉजिटिव, 4,634 लोगों की मौत हुई है. UK में 2,57,154 कोरोना पॉजिटिव, 36,675 लोगों की जान गई. ईरान में अब तक 1,33,521 पॉजिटिव, 7,359 लोगों की मौत हो चुकी है. मेक्सिको में 62,527 कोरोना मरीज, 6,989 लोगों की मौत हो गई. वहीं बात करें टर्की की तो यहां पर 1,55,686 कोरोना पॉजिटिव केस मिले है. जबकि 4,308 लोगों की जान गई है. पेरू में 1,15,754 कोरोना पॉजिटिव,3,373 लोगों की मौत हो चुकी है. कनाडा में 83,261 कोरोना पॉजिटिव,6,355 लोगों की मौत हो चुकी है.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 7 मरीजों की मौत, 248 नए पॉजिटिव केस आए सामने, कुल मरीजों की संख्या पहुंची 6742

24 घण्टे पुलिसिंग मॉड में रहने वाले थानेदार ने आखिर ऐसा क्यों किया...

24 घण्टे पुलिसिंग मॉड में रहने वाले थानेदार ने आखिर ऐसा क्यों किया...

चूरू: जिले के राजगढ़ से आज बेहद स्तब्ध कर देने वाली खबर सामने आई. राजगढ़ थानाधिकारी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. जिसने भी खबर सुनी वो भौचक्का रह गया. आखिर विष्णु दत्त की गिनती राजस्थान के बेहद काबिल, ईमानदार, स्ट्रिक्ट और अपराधियों को ना बख्शने वाले शख्स के रूप में होती थी. घटना के बाद सवाल उठ रहे है कि आखिर क्यों किया होगा एक बहादूर पुलिस ऑफिसर ने ऐसा....

सादुलपुर CI विष्णुदत्त विश्नोई आत्महत्या प्रकरण में ये अधिकारी करेगा जांच  

अपराधियों में विष्णु के नाम का ही भय था:
1997 बैच का जबांज थानेदार जिस भी थाने में रहा अपने वर्किंग स्टाइल की छाप छोड़ी. जनता में लोकप्रिय थानेदार तो सटोरियों और अपराधियों में विष्णु के नाम का ही भय था. आज सुबह करीब 11 बजे विष्णु दत्त विश्नोई ने अपने सरकारी मकान में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. first India पर ब्रेकिंग होने के साथ ही खबर आग की तरह फैली हर कोई स्तब्ध दुःखी था. घटना के बाद एसपी तेजस्वनी गौतम राजगढ़ पहुंची. सुसाइड नोट मिला जिसमें विश्नाई ने किसी को जिम्मेदार तो नहीं ठहराया पर अपने इस कृत्य के लिए पिता से माफी मांगी. IG जोस मोहन ने भी इसकी पुष्टि की. वहीं घटना के बाद नेताओं के अलावा जनता और व्यापारी भी घटना की जांच की मांग कर रहे हैं. थाने के बाहर नारे लग रहे थे कि इंसान नहीं भगवान था. घटना के बाद सियासत भी गरमा गई. पूर्व विधायक मनोज न्यांगली धरने पर बैठ गए. सांसद राहुल कस्वा दिल्ली से रवाना हो गए तो प्रतिपक्ष उप नेता राजेन्द्र राठौड़ भी. नोखा के विधायक बिहारी विश्नोई भी CBIजांच की मांग कर रहे हैं. राजगढ़ विधायक कृष्णा पूनिया कुछ दवाब में दिखी लेकिन जांच की मांग की है. 

चैट में राजनीतिक दबाव की बात की:
इधर एडवोकेट गोवर्धन सिंह ने 1 दिन पहले हुई चैट सार्वजनिक करते हुए कहा कि एक ईमानदार ऑफिसर ने दबाव में ये कदम उठाया. चैट में राजनीतिक दबाव की बात कहते हुए आवश्यक सेवानिवृत्ति की बात कही गई थी. हालांकि सूत्र बताते है कि एक दिन पहले हुए बस ऑपरेटर  मर्डर की घटना में 2 लोग घायल भी हुए थे इस घटना को  लेकर भी विष्णु विश्नोई परेशान थे.

सोशल मीडिया पर बेहद पॉपुलर थे CI विष्णुदत्त विश्नोई, हजारों लोग करते थे लाइक और शेयर 

मनोज न्यांगली के अलावा पूर्व सांसद रामसिंह भी धरना स्थल पर:
हालांकि मनोज न्यांगली के अलावा पूर्व सांसद रामसिंह भी धरना स्थल पर पहुंच गए है.
IG जोसमोहन के पहुंचने के बाद परिजनों से बताचीत भी हुई है. लेकिन अभी भी अहम सवाल मुह बाये खड़ा है कि आखिर क्यों एक निष्ठावान और ऑनेस्ट ऑफिसर को ये रास्ता चुनने को मजबूर होना पड़ा.

...चूरू से संवाददाता लक्ष्मण राघव की रिपोर्ट
 

सोशल मीडिया पर बेहद पॉपुलर थे CI विष्णुदत्त विश्नोई, हजारों लोग करते थे लाइक और शेयर

सोशल मीडिया पर बेहद पॉपुलर थे CI विष्णुदत्त विश्नोई, हजारों लोग करते थे लाइक और शेयर

चूरू: जिले के सादुलपुर थानाधिकारी विष्णुदत्त बिश्नोई की आत्महत्या का मामला गरमाता जा रहा है. बिश्नोई के प्रति लोगों में एक अलग ही तरह का विश्वास था. इस बात का अंदाजा उनकी सोशल मीडिया पर लोकप्रियता से भी लगाया जा सकता है. CI विष्णुदत्त विश्नोई के फेसबुक पर 69 हजार 272 फॉलाअर है. विश्नोई अक्सर सोशल अवेयरनेस के मसैज जारी करते थे. उन्होंने कोरोना संकटकाल में भी फेसबुक पर कई जागरुकता संदेश चलाए थे. 

Exclusive: सादुलपुर सीआई आत्महत्या पर सस्पेंस!... WhatsApp चैट पर बड़ा खुलासा 

उनके इन मैसेज को हजारों लोग करते थे लाइक और शेयर: 
इतना ही नहीं विश्नोई के मैसेज को हजारों लोग लाइक और शेयर भी करते थे. उन्होंने 13 मई 2020 को आखिरी फेसबुक अपडेट किया था. जिसमें कोरोना जागरूकता और लॉकडाउन से जुड़ा मैसेज अपडेट किया था. CI विष्णुदत्त विश्नोई अपने सकारात्मक कार्यों के चलते अक्सर सुर्खियों में रहते थे. 

सितंबर तक मिल सकती है कोरोना वैक्सीन को लेकर Good News! भारतीय कंपनी को उत्पादन का कॉन्ट्रेक्ट देने का दावा 


 

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कुल 6 हजार 657 कोरोना संक्रमित, अब तक 156 मरीजों की मौत, 163 नए मामले आये सामने

Rajasthan Corona Updates: राजस्थान में कुल 6 हजार 657 कोरोना संक्रमित, अब तक 156 मरीजों की मौत, 163 नए मामले आये सामने

जयपुर: राजस्थान में लगातार कोरोना वायरस के मामले बढते जा रहे है. राजस्थान में शनिवार दोपहर 2 बजे तक 3 मरीजों की मौत हो गई, जबकि 163 नए मामले सामने आये है. जयपुर में दो और कोटा में एक मरीज की मौत हो गई है. जोधपुर में अकेले सर्वाधिक 23 मरीज सामने आये है. अजमेर 5, बांसवाड़ा 1, बाड़मेर 6, भरतपुर-भीलवाड़ा में 1-1, बीकानेर में 3, चित्तौड़गढ़ में एक, धौलपुर में दो, डूंगरपुर में 10, जयपुर में 5, जालोर में 13, झालावाड़ में चार, झुंझुनूं में 6, कोटा में 10 नागौर में 17, पाली में 19, राजसमंद में 14, सीकर में 2, सिरोही में 4, टोंक में 3 और उदयपुर में 13 पॉजिटिव मरीज सामने आये है. राजस्थान में अब तक कुल 156 मरीजों की मौत हो चुकी है. वहीं कुल पॉजिटिव मरीजों की संख्या 6 हजार 657 पहुंच गई है.

Exclusive: सादुलपुर सीआई आत्महत्या पर सस्पेंस!... WhatsApp चैट पर बड़ा खुलासा

संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या हुई 155: 
राज्य में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों की कुल संख्या 155 हो गयी है. जबकि अब तक अकेले जयपुर में कोरोना वायरस संक्रमण से मरने वालों का आंकड़ा 76 हो गया है. वहीं, जोधपुर में 17 और कोटा में 15 रोगियों की मौत हो चुकी है. हालांकि अधिकारियों का कहना है कि ज्यादातर मामलों में रोगी किसी न किसी अन्य गंभीर बीमारी से भी पीड़ित थे.

शुक्रवार को 267 नए पॉजिटिव केस आए सामने:
इससे पहले शुक्रवार को 267 नए पॉजिटिव केस सामने आए. इसमें सर्वाधिक 30 केस पाली जिले से सामने आये. इसके अलावा अजमेर में 6, बांसवाड़ा में 9, बाड़मेर में 14, भरतपुर में 4 पॉजिटिव, भीलवाड़ा-7, बीकानेर चित्तौड़गढ़ में 1-1, चूरू-4, दौसा-2 पॉजिटिव, धौलपुर-8, डूंगरपुर-27, जयपुर-29, जैसलमेर-3, जालोर-6 पॉजिटिव, झुंझुनूं-6, जोधपुर-21, कोटा-20, नागौर-27, प्रतापगढ़-2 पॉजिटिव, राजसमंद-1, सीकर-8, सिरोही-18,उदयपुर- 12 पॉजिटिव, एक पॉजिटिव मरीज दूसरे राज्य का भी सामने आया. 

प्रसव पीड़ा से तड़प रही प्रसूता के लिए हड्डियों का डॉक्टर बना देवदूत, वार्ड में पहुंचने से पहले ही कराया प्रसव 

सितंबर तक मिल सकती है कोरोना वैक्सीन को लेकर Good News! भारतीय कंपनी को उत्पादन का कॉन्ट्रेक्ट देने का दावा

सितंबर तक मिल सकती है कोरोना वैक्सीन को लेकर Good News! भारतीय कंपनी को  उत्पादन का कॉन्ट्रेक्ट देने का दावा

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के बढ़ते कहर के बीच इस वक्त पूरी दुनिया में इसकी वैक्सीन को लेकर इंतजार किया जा रहा है. कोरोना वायरस का खात्मा करने के लिए कोशिशों का सिलसिला तेज होता जा रहा है. इसी बीच अब यह खबर आ रही है कि कोरोना की वैक्सीन सितंबर तक मिल सकती है. अमेरिका की मॉडर्ना नाम की कंपनी ने यह दावा किया है. इतना ही नहीं कंपनी ने यह भी दावा किया है कि उसने भारत की एक कंपनी को उत्पादन के लिए कॉन्ट्रेक्ट भी दे दिया है.

सादुलपुर थानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने अपने क्वार्टर में फंदा लगाकर की आत्महत्या  

कंपनी शुरूआती ट्रायल सफल रहने का किया दावा:
मॉडर्ना नाम की अमेरिकी कंपनी ने दावा किया है कि उसका शुरूआती ट्रायल सफल रहा है. वैज्ञानिकों ने वैक्सीन को जिन लोगों के शरीर में डाला है, उनमें कोरोना वायरस के लिए एंटीबॉडीज डेवलप हो गए हैं. ऐसे में अब कंपनी तय किया है कि अगले फेज में वो छह सौ इंसानों पर ट्रायल करेगी. 

हर उम्र के इंसानों पर होगा ट्रायल:
कंपनी के अनुसार छह सौ लोगों में से आधे 18 से 45 साल के बीच होंगे और आधे 55 साल से ऊपर के लोग होंगे. इस ट्रायल के सफल होने के बाद फिर 2500 और लोगों पर ट्रायल होगा जिसमें कम उम्र के बच्चे शामिल रहेंगे. 

सितंबर तक बना ली जाएगी 11 करोड़ डोज:
ऐसे में अब सबसे बड़ा सवाल यह है कि ट्रायल पूरा होगा तो वैक्सीन की करोड़ों डोज बनाने में कितना वक्त लगेगा, लेकिन कंपनी का दावा है कि सितंर तक इस वैक्सीन की कम से कम 11 करोड़ डोज बना ली जाएगी. खबर तो यह भी है कि मॉडर्ना कंपनी ने एक भारतीय कंपनी को इस वैक्सीन की डोज बनाने का काम दिया है. 

1200 KM साइकिल चलाकर घायल पिता को लेकर बिहार पहुंची 15 साल की ज्योति, इवांका ट्रंप भी हुई मुरीद 

इवोला वायरस की भी बनाई थी वैक्सीन:
इस कंपनी के दावे पर इसलिए भरोसा किया जा सकता है क्योंकि इस कंपनी ने नौ महीने में इवोला वायरस का वैक्सीन भी बनाया था. कंपनी का कहना है कि कई टेस्ट पूरे हो गए हैं. वैक्सीन बनाने का काम भी शुरु हो गया है. 

डूंगरपुर: प्रवासी मजदूरों ने बढ़ाई चिंता, 307 पहुंचा पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा

डूंगरपुर: प्रवासी मजदूरों ने बढ़ाई चिंता, 307 पहुंचा पॉजिटिव मरीजों का आंकड़ा

डूंगरपुर: जिले में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 307 पहुंच गया है. आज सुबह जारी बुलेटिन में 6 नए रोगी सामने आये. जिले में प्रवासियों के आने के बाद से बढ़ रहे कोरोना संक्रमण ने जिला प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है. जिले में अभी भी 14 हजार प्रवासी ऐसे है जिनका अभी भी 14 दिन का होम क्वारेंटाईन का समय पूरा नहीं हुआ है. जिन पर प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग पूरी निगरानी बनाये हुए है. इधर अब जिला प्रशासन ने गांव-गांव में सर्वे करवाते हुए रेंडमली सेम्पलिंग का कार्य शुरू कर दिया है.

सादुलपुर थानाधिकारी विष्णुदत्त विश्नोई ने अपने क्वार्टर में फंदा लगाकर की आत्महत्या 

कुछ प्रवासी ऐसे भी जो की चोरी छिपे अपने घर पहुंचे: 
डूंगरपुर जिला कलेक्टर कानाराम ने बताया की जिले में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 307 हो चुका है. जिसमे सबसे अधिक संख्या महाराष्ट्र व गुजरात से आये प्रवासियों की है. उन्होंने बताया की बाहर से आये प्रवासी को संस्थागत क्वारेंटाईन सेंटर्स में थे उन सब की सेम्पलिंग पूरी होकर रिपोर्ट भी आ चुकी है. वहीं कुछ प्रवासी ऐसे भी जो की चोरी छिपे अपने घर पहुंच चुके है इसके लिए प्रत्येक ब्लाक में सर्वे का कार्य करते हुए लोगों के रेंडमली सेम्पलिंग करने का कार्य भी शुरू कर दिया है.

1200 KM साइकिल चलाकर घायल पिता को लेकर बिहार पहुंची 15 साल की ज्योति, इवांका ट्रंप भी हुई मुरीद 

सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करने की अपील: 
इधर जिले में बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला कलेक्टर ने फ्रंटलाइन वर्कर्स को सुरक्षा उपकरणों के उपयोग करने के साथ-साथ जिलेवासियों से संक्रमण से बचाव के लिए मास्क लगाने व सोशल डिस्टेंसिंग की पालना करने की अपील की है. गौरतलब है की डूंगरपुर जिले में अब तक 307 केस पॉजिटिव आये है. जिनमे 283 पॉजिटिव प्रवासी है. 

1200 KM साइकिल चलाकर घायल पिता को लेकर बिहार पहुंची 15 साल की ज्योति, इवांका ट्रंप भी हुई मुरीद

1200 KM साइकिल चलाकर घायल पिता को लेकर बिहार पहुंची 15 साल की ज्योति, इवांका ट्रंप भी हुई मुरीद

नई दिल्ली: लॉकडाउन के चलते देश में कई ऐसे मंजर हमारी आंखों के सामने आए हैं जो शायद ही कभी देखें होंगे. संकट की इस घड़ी में प्रवासी मजदूरों की कुछ तस्वीरें ऐसी भी कहानियां दर्शा रही है जिन्हें किसी शब्द की जरूरत नहीं हैं. इनको देखकर हर किसी की अंदर तक रुह कांप जाती है और साथ-साथ गर्व की भी अनुभुति करवाती है. ऐसी ही एक घटना के चलते भारत की बेटी का विदेश में डंका बज रहा है.  हां, वही बिहार(bihar) की बेटी जिसने अपने पिता को साइकिल पर बैठाकर 1200 किलोमीटर से ज्यादा का सफर तय किया है. इस बेटी की तस्वीर जब सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो देशभर में तारीफ हुई. 

25 मई से शुरू होंगी घरेलू फ्लाइट, जयपुर एयरपोर्ट से 21 फ्लाइट का होगा संचालन 

इवांका ट्रंप भी ज्योती की मुरीद:
पर अब अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald trump) की बेटी इवांका ट्रंप (Ivanka Trump) भी बिहार की ज्योति की मुरीद हो चुकी हैं. उन्होंने ट्वीट के जरिए ज्योति की खूब तारीफ की है. इवांका ट्रंप ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि 15 साल की ज्योति कुमारी अपने घायल पिता को साइकिल पर बैठाकर 7 दिनों में 1,200 किमी सफर तय करके गांव पहुंची. धीरज और प्यार के इस सुंदर पराक्रम ने भारतीयों और साइकलिंग फेडरेशन का ध्यान खींचा है.

एक हजार किलोमीटर से ज्यादा की दूरी सात दिन में तय की:
दरअसल, बिहार की एक बेटी ज्योति ने अपनी साइकिल पर पिता को बिठाकर हरियाणा (Haryana) के गुरुग्राम से एक हजार किलोमीटर से ज्यादा की दूरी सात दिन में तय की. वह एक दिन में 100 से 150 किलोमीटर अपने पिता को ही पीछे कैरियर पर बिठाकर साइकिल चलाती थी. जब कहीं ज्यादा थकान होती तो सड़क किनारे बैठ कर ही थोड़ा आराम कर लेती थी. रास्ते में कई तरह की परेशानियां हुईं, लेकिन हर बाधा को ज्योति बिना हिम्मत हारे पार करती गई. ज्योति कुमारी की इस तकलीफ और साहस के बारे में जानकर लोग हैरान हो गए.

Rajasthan Corona Updates: पिछले 12 घंटे में सामने आए 48 नए पॉजिटिव, संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 6542 

ज्योति को फेडरेशन ने बुलाया दिल्ली:
ज्योति के जज्बे को देखने के बाद भारतीय साइकिलिंग फेडरेशन ने उनकी तारीफ की और उन्हें अगले महीने ही ट्रायल के लिए दिल्ली बुलाया है. वहीं इवांका ने भी अपने ट्वीट में भारतीय साइकिलिंग फेडरेशन जिक्र किया है. फेडरेशन के चेयरमैन ओंकार सिंह का कहना है कि, अगर 8वीं की छात्रा ट्रायल पास कर लेती है तो उसे आईजीआई सपोर्ट कॉम्प्लेक्स में स्थित स्टेट-ऑफ़-द-आर्ट नेशनल साइकिलिंग एकेडमी में ट्रेनी के रूप में चुन लिया जाएगा. गौरतलब है कि यह एकेडमी स्पोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAI) के अधीन आता है और यह एशिया की सबसे विकसित साइकिल एकेडमी है. यह खेलों के अंतराष्ट्रिय संस्था UCI से भी मान्यता प्राप्त संस्था है.


 

Open Covid-19