Live News »

विश्व जल दिवस: देश में 23% बढ़ा 10 साल में पानी का दोहन, डरावने बनते जा रहे आंकड़े

विश्व जल दिवस: देश में 23% बढ़ा 10 साल में पानी का दोहन, डरावने बनते जा रहे आंकड़े

जयपुर। आज पूरी दुनिया विश्व जल दिवस मना रही हैं, क्योंकि जल संकट पूरे विश्व की समस्या है। जल दिवस मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों के बीच में जल संरक्षण का महत्व साफ पीने योग्य जल का महत्व आदि बताना है। जब तक पानी रहेगा, तब तक जीवन रहेगा। पूरा देश पेयजल की समस्या से त्रस्त हैं, लेकिन अपने राज्य राजस्थान की बात करें, तो आज भी यहां पेयजल की समस्या विकट हैं। हालात यह है कि आज भी पानी के लिए संघर्ष हो रहे हैं। ऐसे में पानी बचाने की जिम्मेदारी हम सबके लिए कितनी अहम हो जाती है, देखिए इस खास रिपोर्ट में,,,,

ब्राजील में रियो डी जेनेरियो में वर्ष 1992 में आयोजित पर्यावरण तथा विकास का संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन कार्यक्रम में विश्व जल दिवस मनाने की पहल की गई थी। 1993 में 22 मार्च को पहली बार “विश्व जल दिवस” का आयोजन किया गया। इसका उद्देश्य विश्व के सभी विकसित देशों में स्वच्छ एवं सुरक्षित जल की उपलब्धता सुनिश्चित करवाना है। यह जल संरक्षण के महत्व पर भी ध्यान केंद्रित करता है। पूरे विश्व आबादी में 400 करोड़ ऐसे लोग हैं जिन्हें आज भी पीने भर पर्याप्त पानी नहीं मिलती है और आपको जानकर हैरानी होगी कि इस आबादी का एक चौथाई लोग भारत के हैं।  

वाटर एड की रिपोर्ट के मुताबिक दुनिया के कुल ग्राउंडवाटर का 24% हम इस्तेमाल करते हैं। पिछले दशक में इसमें 23% बढ़ोतरी हुई। आज विश्व में जल का संकट कोने-कोने में व्याप्त है। लगभग हर क्षेत्र में विकास हो रहा है। दुनिया औद्योगीकरण की राह पर चल रही है, किंतु स्वच्छ और रोग रहित जल मिलना आज के समय में काफी मुश्किल है। देश में 1170 मिमी औसत बारिश होती है, लेकिन हम इसका सिर्फ 6 फीसदी पानी ही सुरक्षित रख पाते हैं। एक रिपोर्ट में भारत को चेतावनी दी गई है कि यदि भूजल का दोहन नहीं रूका तो देश को बड़े जल संकट का सामना करना पड़ सकता है। 75 फीसदी घरों में पीने के साफ पानी की पहुंच ही नहीं है। स्थिति काफी भयावह है। पानी हमारे बीच से लगातार गायब होता जा रहा है। 1951 में प्रति व्यक्ति पानी की उपलब्धता 5177 घन मीटर थी, जो वर्ष 2025 तक घटकर 1341 घन मीटर रह जाएगी। कुओं में पहले 15 से 20 फीट पर पानी उपलब्ध था, अब वह 200 फीट से नीचे चला गया है। राजस्थान में तो पानी 500 फीट तक नीचे चला गया है। आंकड़े बताते हैं कि देश की 275 नदियों में पानी तेजी से खत्म हो रहा है।

देश में 23% बढ़ा 10 साल में पानी का दोहन
70%  ज्यादा पानी ले रहे हैं तय मात्रा से
1170 मिमी औसत बारिश होती है देश में, पर इसका सिर्फ 6% ही हम सहेज पाते हैं
91 प्रमुख जलाशयों में जलस्तर क्षमता के 25% पर है
21 शहर 2030 तक ‘डे जीरो’ पर होंगे। यानी इनके पास पानी के स्रोत नहीं बचेंगे
75% घरों में पीने के साफ पानी की पहुंच ही नहीं है
भारत में महिलाएं पानी के लिए औसतन प्रतिदिन लगभग 6 किलोमीटर का सफर करती हैं

पूरी दुनिया पानी का संकट झेल रही है और इसके बचाने के प्रयास भी किए जा रहे हैं। राजस्थान की अगर हम बात करे, तो देश की कुल जनसंख्या का 10 प्रतिशत हिस्सा राजस्थान में रहता है। लेकिन पानी की उपलब्धता के आंकड़े इसके उलट हैं। देश के मुकाबले राजस्थान में महज एक दशमलव एक फीसदी सतही जल है। भूजल का कुल प्रतिशत भी पांच दशमलव पांच ही है। राजस्थान में एक लाख 20 हजार के करीब गांव ढाणियां हैं, लेकिन इनमें से भी आधी से अधिक ऐसी है, जहां पर आसानी से पीने का पानी नसीब नहीं हो रहा। आधा से अधिक पानी फ्लोराइड युक्त है, तो करीब 57 फीसदी पानी में नाइट्रेट हैं। आर ओ प्लांट व डी फ्लोराइड यूनिट के माध्यम से शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के सरकारी प्रयास हो रहे हैं, लेकिन ये नाकाफी है। आंकड़े खुद इसे बयान कर रहे हैं,,,,,,,,,

राजस्थान में सतही जल महज 1.1 फीसदी
भूजल महज 5.5 फीसदी हैं राजस्थान में
राजस्थान के दो तिहाई जिले मरुस्थली
50 फीसदी फ्लोराइड युक्त पानी हैं राजस्थान में
57 फीसदी पानी नाइट्रेट युक्त हैं
1 लाख 20 हजार करीब गांव ढाणियां हैं राजस्थान में
करीब 39 हजार गांव-ढाणियों में पानी की कमी है
17 हजार गांव ढाणियों में स्थिति बहुत गंभीर है
14 हजार गांव ढाणियों में पेयजल परिवहन की व्यवस्था नहीं
हैडंपप से प्यास बुझाते हैं 50 फीसदी गांव-ढाणियां

आंकड़े बताते हैं कि राजस्थान में पेयजल की स्थिति क्या हैं। ऐसे में आधी से अधिक जनता को अपने स्तर पर ही पानी की व्यवस्था करनी पड़ती है। करीब 39 हजार गांव ढाणी ऐसी हैं, जहां की जनता एक या दो हैडंपप पर निर्भर है। राजस्थान की राजधानी जयपुर की भी हालत ऐसी है कि यहां पर हजारों कॉलोनियों में सरकारी नल से पानी की व्यवस्था नहीं है। नतीजन सड़क से विधानसभा तक पानी के लिए संघर्ष होता है। पानी के लिए मटके फोड़ना, रास्ते रोकना व अधिकारियों का घेराव करना राजस्थान में आम बात है और गर्मियां बढ़ने के साथ आंदोलन भी उग्र होते जाएंगे। राजधानी जयपुर की हालत ही सबसे खराब है। 100 किमी दूर बीसलपुर से जयपुर को पानी मिलता है, लेकिन अब बीसलपुर ही सूखने लगा है और साथ ही जयपुर के कंठ भी।  पानी सप्लाई में 30 से 40 फीसदी कटौती पहले ही कर दी गई है। अब ट्यूबवेल के भरोसे पानी सप्लाई है। कब तक यह चलेगा, यह तो भविष्य के गर्भ में हैं, लेकिन स्थितियां नियंत्रण में तो नहीं है।

सरकार अपने स्तर पर पेयजल के लिए कई प्रयास कर रही है। योजनां भी बनाई जा रही है, लेकिन आंकड़े व हालात बताते हैं कि राजस्थान में पेयजल के लिहाज से स्थिति काफी विकट है। जिम्मेदारी सिर्फ सरकार की नहीं, हम सभी की है। ऐसे में समय रहते हम नहीं जगे, तो पानी की बूंद बूंद के लिए मोहताज हो जाएंगे।  जल है, तो कल है। इसी को ध्यान में रखते हुए हमें पानी को बर्बादी से रोकना होगा और बूंद बूंद पानी बचाना होगा। मरती नदियां, खाली होते कुएं व सूखते तालाब को वर्षा ही जीवन दे सकती है। अब सबसे बड़ी चुनौती पानी को जुटाने की है। जिसे पानी चाहिए, उसे अब बचाने के लिए भी जुटना होगा।

और पढ़ें

Most Related Stories

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 7 मौत, रिकॉर्ड 480 नए केस, सर्वाधिक 54 मरीज अलवर जिले में मिले 

Rajasthan Corona Updates: पिछले 24 घंटे में 7 मौत, रिकॉर्ड 480 नए केस, सर्वाधिक 54 मरीज अलवर जिले में मिले 

जयपुर: राजस्थान में कोरोना वायरस का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 7 मरीजों की मौत हो गई. जबकि रिकॉर्ड 480 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. भरतपुर में एक,धौलपुर में तीन, झुंझुनूं में एक,सीकर में एक राज्य से बाहर के एक मरीज की मौत हुई. सर्वाधिक 54 कोरोना पॉजिटिव मरीज अलवर जिले में मिले है. अजमेर 7,बाड़मेर 43,भरतपुर 30,भीलवाड़ा 1,बीकानेर 46,दौसा 4, धौलपुर 39, डूंगरपुर 13,श्रीगंगानगर 1,हनुमानगढ़ 1,जयपुर 40, जालोर 42,झुंझुनूं 11,जोधपुर 29,करौली 3,कोटा 14,नागौर 26, पाली 22,राजसमंद 2,सवाई माधोपुर 1,सीकर 16,सिरोही 8,टोंक 2, उदयपुर 20 और दूसरे राज्य के 4 मरीज पॉजिटिव मिले है. राजस्थान में कोरोना की वजह से अब तक 447 मरीजों की मौत हो गई. जबकि कुल 19 हजार 532 पॉजिटिव मरीजों की संख्या पहुंच गई है.

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने कहा, कोरोना काल में पीएम मोदी का नेतृत्व दुनिया को दृष्टि और दिशा देने वाला

पॉजिटिव से नेगेटिव हुए 15 हजार 640 मरीज:
अगर बात करें राजस्थान में ठीक हो चुके मरीजों की तो अब तक 15 हजार 640 मरीज पॉजिटिव से नेगेटिव हुए है. वहीं कुल 15 हजार 325 मरीजों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया जा चुका है. प्रदेश में कोरोना वायरस के 3 हजार 445 एक्टिव मरीज अस्पताल में उपचाररत है. कुल कोरोना पॉजिटिव प्रवासियों की संख्या 5 हजार 429 पहुंच गई है.

जयपुर में बढ़ता कोरोना का ख़ौफ: 
जयपुर में कोरोना वायरस का खौफ लगातार बढ़ता जा रहा है. पिछले 24 घंटे में 40 नए पॉजिटिव केस सामने आये है. माणक चौक में 8, विदेश से आए हुए 7 प्रवासी,अजमेर रोड पर चार, जौहरी बाजार और दुर्गापुरा में 3-3 पॉजिटिव केस, वैशाली नगर,गलता गेट,सोडाला और सांगानेर में दो-दो केस, कोटपूतली,जवाहर नगर,सी स्कीम, मानसरोवर, सीतापुरा, गोपालपुरा और गांधीनगर में 1-1 पॉजिटिव केस सामने आये है. जयपुर में अब तक 163 मरीजों की मौत हो गई. जबकि कुल 3 हजार 479 पॉजिटिव अब तक सामने आ चुके है.

आबकारी विभाग की बड़ी लापरवाही, कहीं भारी ना पड़ जाए ये लापरवाही, 6 महिने से ज्यादा समय से खड़ा हैं स्प्रिट का टैंकर 

आबकारी विभाग की बड़ी लापरवाही, कहीं भारी ना पड़ जाए ये लापरवाही, 6 महिने से ज्यादा समय से खड़ा हैं स्प्रिट का टैंकर 

जयपुर: आबकारी विभाग की लापरवाही सीकर वासियों पर भारी पड़ सकती है. भीषण गर्मी के दौर में सीकर के गंगानगर शुगर मिल डिपो पर 30000 लीटर स्प्रिट से भरे हुए टैंकर को 6 महीने से ज्यादा समय से खड़ा कर रखा है. ज्वलनशील स्प्रिट से भरे टैंकर से भीषण गर्मी के दौर में कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है. पूरे मामले में आबकारी विभाग की लापरवाही सामने आई है. बीते वर्ष 29 नवंबर को गंगानगर शुगर मिल ने जिला आबकारी अधिकारी जयपुर शहर से परमिट लेकर गुरदासपुर की एबी ग्रेन स्प्रिट कंपनी से 30,000 लीटर स्प्रिट मंगवाई.

परवन नदी की रपट से गुजरना खतरे से कम नहीं, बेखौफ ग्रामीण कर रहे हैं नदी पार

एक टैंकर में भरी स्प्रिट की रासायनिक जांच:
30000 लीटर स्प्रिट से भरे इस टैंकर को गंगानगर शुगर मिल के सीकर स्थित डिपो भिजवाया गया. इसके बाद एक टैंकर में भरी स्प्रिट की रासायनिक जांच कराई गई, जिसमें इसके अंदर ईएनए की रासायनिक तेजी 68.2 ओपी के स्थान पर 67.11 ओपी ही प्राप्त हुई. ग्रेन एक्स्ट्रा नेचुरल अल्कोहल की तेजी कम आने की वजह से टैंकर को सीकर डिपो से वापस गुरदासपुर भेजा जाना तय किया गया. इसके बाद खुद गंगानगर शुगर मिल के महाप्रबंधक ने आबकारी आयुक्त को 31 जनवरी को पत्र लिखकर इस टैंकर को वापस कंपनी में भेजने की स्वीकृति चाही.

करीब पौने दो लाख रुपए टैंकर ट्रांसपोर्टेशन के भी वसूल लिए:
इसके बाद भी इस टैंकर को वापस गुरदासपुर नहीं भेजा गया। इसके बाद गंगानगर शुगर मिल सीकर के डिपो इंचार्ज ने 6 फरवरी को जिला आबकारी अधिकारी सीकर को फिर से पत्र लिखकर इस टैंकर की वापसी सुनिश्चित करने को कहा लेकिन अभी तक कोई कार्रवाई नहीं हुई. सूत्रों का कहना है कि इस अवधि में जिला आबकारी अधिकारी सीकर और उनके मातहत अधिकारी कंपनी प्रतिनिधियों से नेगोशिएशन करते रहे. जब कंपनी की ओर से लेन देन से इनकार किया गया तो आबकारी विभाग सीकर ने कंपनी पर करीब पौने दो लाख रुपए टैंकर ट्रांसपोर्टेशन के भी वसूल लिए.

सरकार बताए राज्य के सफाई कर्मचारियों के लिए क्या कदम उठाए, हाईकोर्ट ने एडिशनल एफिडेविट पेश करने के दिए आदेश

6 महिने से ज्यादा समय से खड़ा हैं स्प्रिट का टैंकर:
बावजूद इसके यह टैंकर 6 महीने से भी अधिक समय से डिपो ऑफिस में खड़ा है। चूंकि इस समय भीषण गर्मी का दौर चल रहा है और स्प्रिट अति ज्वलनशील होती है ऐसे में कभी भी यहां बड़ा हादसा हो सकता है, जिसमें जन हानि की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता. पूरे मामले की जानकारी आबकारी आयुक्त को भी है हालांकि दो दिन पहले ही आबकारी आयुक्त का तबादला हो गया और डॉ जोगाराम ने आबकारी आयुक्त का कार्यभार संभाला है. ऐसे में उम्मीद की जानी चाहिए कि आबकारी आयुक्त पूरे मामले में संज्ञान लेकर इस खतरनाक हो चले टैंकर की वापसी तो सुनिश्चित करेंगे ही साथ ही गैर जिम्मेदाराना तरीके से हादसे को न्योता दे रहे अधिकारियों पर कार्रवाई भी सुनिश्चित करेंगे.

16 वर्षीय नाबालिग किशोरी से दुष्कर्म कर अश्लील वीडियो बनाने का आरोपी गिरफ्तार

16 वर्षीय नाबालिग किशोरी से दुष्कर्म कर अश्लील वीडियो बनाने का आरोपी गिरफ्तार

मलारना डूंगर(सवाई माधोपुर): मलारना डूंगर थाना क्षेत्र के कौथाली गांव की 16 वर्षीय नाबालिग किशोरी के साथ गत 14 मई को दुष्कर्म कर नाबालिक का अश्लील वीडियो बनाने के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की. जांच अधिकारी ग्रामीण पुलिस उप अधीक्षक राकेश कुमार राजौरा ने बताया कि आरोपी मानसिंह गुर्जर गत 14 मई को नाबालिक को बहला-फुसलाकर जंगल में ले गया. जहां नाबालिक के साथ दुष्कर्म कर अश्लील वीडियो बनाया और किसी को बताने पर नाबालिग को जान से मारने की धमकी दी.

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए मानसून में इन चीजों को करें आहार में शामिल 

12 जून को आरोपी मानसिंह गुर्जर के खिलाफ दर्ज हुआ था मामला:  
घटना के करीब एक माह बाद 12 जून को आरोपी के खौफ से डरी सहमी नाबालिक ने अपने चाचा को आपबीती बताई. जिसपर 12 जून को आरोपी मानसिंह गुर्जर के खिलाफ मलारना डूंगर पुलिस थाने में पॉक्सो एक्ट सहित अन्य धाराओं में मामला दर्ज हुआ. पुलिस ने पूरे मामले में तत्परता दिखाते हुए आरोपी को गिरफ्तार करने में कामयाबी हासिल की. फिलहाल आरोपी मानसिंह गुर्जर को सवाई माधोपुर पहुंचाया गया. जहां कोरोना टेस्ट के बाद आरोपी को पॉक्सो कोर्ट में पेश किया जाएगा. 

दुष्कर्म पीड़िता ने एसपी से लगाई न्याय की गुहार, सुनाई आपबीती 

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए मानसून में इन चीजों को करें आहार में शामिल

इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए मानसून में इन चीजों को करें आहार में शामिल

जयपुर: मानसून का मौसम आ गया है. इस मौसम में अधिकांश बीमारियां अनजाने में खाने-पीने की लापरवाही की वजह से ही होती हैं. लेकिन अगर आप कुछ चीजों को अपने खान-पान में शामिल कर अपनी रोग प्रतिरोध क्षमता बढ़ा लें तो न सिर्फ इस मौसम की बीमारियों, बल्कि कोरोना वायरस संक्रण से भी बचा जा सकता है. ऐसे में इस बार कोरोना को ध्यान में रखते हुए आपको इस मौसम में अपने खान-पान पर पहले से भी ज्यादा ध्यान देना होगा. 

दुष्कर्म पीड़िता ने एसपी से लगाई न्याय की गुहार, सुनाई आपबीती 

अदरक: रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने के लिए यह शानदार चीज है. अदरक विटामिन A, C, E और B-complex का एक अच्छा माध्यम है. साथ ही इसमें मैग्नीशियम, फॉस्फोरस, आयरन, जिंक, कैल्शियम और बीटा-कैरोटीन पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है. 

शहद का सेवन: सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता भी बढ़ती है.

मौसमी फल: इन दिनों मौसमी फलों का सेवन जरूर करें. ये सभी फल विटामिन सी से भरपूर होते हैं. 

काली मिर्च: खांसी, जुकाम में इसका सेवन बहुत लाभकारी होता है.

हल्दी: हल्दी शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली को बढ़ाती है. सर्दी, जुकाम या कफ की शिकायत हो तो हल्दी वाला दूध पीना लाभकारी होता है. 

लहसुन: लहसुन बड़े स्तर पर एक एंटीबायोटिक का काम करता है. यह बैक्टीरिया-रोधी, फफूंद-रोधी, परजीवी-रोधी व वायरस-रोधी है. यह बैक्टीरिया को खत्म करता है और रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है. 

सूखा अनाज खाएं: मॉनसून के मौसम में सूखा और साबुत अनाज अपने भोजन में शामिल करें. इन दिनों इनके सेवन से रक्त में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है और रोग-प्रतिरोधक क्षमता बेहतर होती है.  

अजमेर: क्रूरता की सारी हदें पार कर काटे गाय के चारों पैर, ग्रामीणों में गुस्सा  

दुष्कर्म पीड़िता ने एसपी से लगाई न्याय की गुहार, सुनाई आपबीती

दुष्कर्म पीड़िता ने एसपी से लगाई न्याय की गुहार, सुनाई आपबीती

अजमेर: न्याय की गुहार लगाने और सुरक्षा की मदद मांगने के लिए दुष्कर्म पीड़िता जिला पुलिस कप्तान कुंवर राष्ट्रदीप के कार्यालय पर पहुंची और मुलाकात कर अपनी आपबीती सुनाई. साथ ही पीड़िता की आज कोर्ट में भी 164 के बयान दर्ज करवाएं. 

अजमेर: क्रूरता की सारी हदें पार कर काटे गाय के चारों पैर, ग्रामीणों में गुस्सा  

पीड़िता ने एसपी से मुलाकात कर आपबीती सुनाई:  
शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का मामला सिविल लाइन थाने में पीड़िता ने दर्ज कराया था. जिसके बाद आज पीड़िता के कोर्ट में 164 के बयान दर्ज किए गए. साथ ही पीड़िता अजमेर एसपी कार्यालय पहुंची और एसपी से मुलाकात कर आपबीती सुनाई और उसने एसपी से सुरक्षा और न्याय की गुहार लगाई. पीड़िता ने जानकारी देते हुए बताया कि मदार निवासी प्रयाग जैन से उसकी 1 साल पूर्व सोशल साइट पर दोस्ती हुई थी. जिसके बाद वह उसके साथ अश्लील बातें करती थी साथ ही वीडियो कॉल पर भी बात करते थे.

VIDEO: टोंक में ड्यूटी पर कोर्ट परिसर में पुलिस कर्मी ने की आत्महत्या, परिजनों ने लगाए गम्भीर आरोप 

शादी का झांसा देकर कार में किया दुष्कर्म: 
पीड़िता ने यह भी बताया कि कार में वह साथ में घूमते थे और उस दौरान वह उसके साथ कुछ अश्लील हरकत भी करता था. उसके बाद एक दिन उसने कार में उसके साथ  शादी का झांसा देकर दुष्कर्म किया. वहीं आज पीड़िता के कोर्ट में 164 के बयान भी दर्ज किया गए. पीड़िता ने बताया कि प्रयाग जैन और उसका परिवार उसके ऊपर समझौता करने का दबाब बना रहा है और जान से मारने की धमकियां भी दे रहा है. वहीं पीड़ता ने एसपी से जल्द आरोपी की गिरफ्तारी की मांग की है. 
 

अजमेर: क्रूरता की सारी हदें पार कर काटे गाय के चारों पैर, ग्रामीणों में गुस्सा

अजमेर: क्रूरता की सारी हदें पार कर काटे गाय के चारों पैर, ग्रामीणों में गुस्सा

अजमेर: जिले में आज मानवता एक बार फिर शर्मसार हुई. आदर्श नगर थाना क्षेत्र के बलिया गांव में क्रूरता की सारी हदें पार हो गई और गाय के चारों पैर काट दिए जिस कारण से गाय लाचार होकर वहीं पर गिर पड़ी. मामले की जानकारी मिलते ही गाय मालिक कुलदीप मौके पर पहुंचा तो उसने देखा कि गाय के चारों पैर घायल अवस्था में है. जिसके बाद मौके पर ग्रामीण इखट्टे होने लगे और आरोपी के खिलाफ कार्यवाही की मांग करने लगे. साथ ही मौके पर आदर्शनगर थाना पुलिस पहुंची और मामले की पड़ताल में जुट गई.

VIDEO: टोंक में ड्यूटी पर कोर्ट परिसर में पुलिस कर्मी ने की आत्महत्या, परिजनों ने लगाए गम्भीर आरोप 

गाय को मेडिकल के लिए भेज दिया: 
पुलिस कर्मी ने जानकारी देते हुए बताया कि बढ़िया के रहने वाले कुलदीप ने वहीं के रहने वाले सोहन पर आरोप लगाते हुए बताया कि उसकी गाय के पैर सोहन ने काट दिए. हम मौके पर पहुंचे और हमने गाय को मेडिकल के लिए भेज दिया. वहीं इस तरह की हरकत के कारण अभी तक सामने नहीं आई हम सोहन की भी तलाश कर रहे हैं. हम ने मामला दर्ज कर पड़ताल शुरू कर दी है. 

Rajasthan Corona Updates: आज 204 नए पॉजिटिव मामले आए सामने, मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 19,256 

पुरानी रंजिश के चलते गऊ हत्या की कोशिश: 
वही ग्रामीणों ने बताया कि सोहन को लेकर गर्व में काफी घटना हो चुकी और उसके आसपास के लोग भी उससे नाराज रहते हैं. वहीं उसने पुरानी रंजिश के चलते गऊ हत्या की कोशिश की है. जानकर सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पुरानी रंजिश के चलते यह क्रूरता की गयी है. वहीं पुलिस ने मामला दर्ज कर पड़ताल शुरू कर दी है. 

...अजमेर से फर्स्ट इंडिया के लिए शुभम जैन की रिपोर्ट

VIDEO: टोंक में ड्यूटी पर कोर्ट परिसर में पुलिस कर्मी ने की आत्महत्या, परिजनों ने लगाए गम्भीर आरोप

टोंक: जिले में ड्यूटी पर तैनात एक पुलिस कर्मी के आत्महत्या करने का मामला सामने आया है. सेशन कोर्ट में तैनात एक कांस्टेबल ने फांसी लगाकर आत्महत्या की है. हालांकि अभी तक आत्महत्या के कारणों का पचा नहीं चल पाया है. वहीं घटना की जानकारी मिलते ही ASP विपिन शर्मा व डिप्टी चन्द्र सिंह ने भी मौके पर पहुंच कर पूरी जानकारी ली. 

Rajasthan Corona Updates: आज 204 नए पॉजिटिव मामले आए सामने, मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 19,256 

अधिकारियों पर मानसिक प्रताड़ना के लगाए आरोप: 
दूसरी ओर कांस्टेबल के परिजनों ने अधिकारियों पर मानसिक प्रताड़ना के गंभीर आरोप लगाए हैं. इसके साथ ही परिजनों ने मामले की जांच करने की भी मांग की है. कांस्टेबल के शव को सआदत अस्पताल की मोर्चरी में लाया गया है. अब यहां पर पोस्टमार्ट के बाद शव परिजनों को सुपुर्द कर दिया जाएगा. 

VIDEO: जयपुर एयरपोर्ट पर सोने की बड़ी तस्करी का खुलासा, 3 फ्लाइट से अब तक 32.5 किलो सोना पकड़ा 

मानसून की सटीक भविष्यवाणी के लिए आज जंतर-मंतर पर होगा वायु परीक्षण

मानसून की सटीक भविष्यवाणी के लिए आज जंतर-मंतर पर होगा वायु परीक्षण

जयपुर: मानसून की सटीक भविष्यवाणी के लिए आज जंतर मंतर वेधशाला पर वायु परीक्षण किया जाएगा. आषाढ़ी पूर्णिमा के अवसर पर जंतर मंतर के सम्राट यंत्र पर आज ज्योतिष से और दैवज्ञ जुटेंगे. सूर्यास्त काल में ध्वज पूजन के साथ वायु परीक्षण की प्रक्रिया शुरू होगी. कोरोना महामारी के चलते इस बार महज पांच ज्योतिष वह दैवज्ञ ही वायु परीक्षण की विधिवत प्रक्रिया संपन्न कराएंगे.

Rajasthan Corona Updates: आज 204 नए पॉजिटिव मामले आए सामने, मरीजों का आंकड़ा पहुंचा 19,256 

वायु के दाब और दिशा के अनुसार मानसून की भविष्यवाणी:  
दरअसल, वायु धारिणी आषाढ़ी पूर्णिमा पर हर वर्ष जंतर मंतर पर वायु परीक्षण किया जाता है. जिसमें सम्राट यंत्र पर ध्वज पूजन के बाद वायु के दाब और दिशा के अनुसार मानसून की भविष्यवाणी की जाती है. इस वर्ष मौसम विभाग की भविष्यवाणी के अनुसार मानसून अच्छा रहेगा. यदि आज ज्योतिष वायु परीक्षण के बाद मानसून को लेकर सकारात्मक भविष्यवाणी करते हैं तो मौसम विभाग की भविष्यवाणी पर भी मुहर लग जाएगी.

पाकिस्तान से आने वाली टिड्डी पर होगी एयर स्ट्राइक, सीमा पर तैनात किया हेलीकॉप्टर 

Open Covid-19