यूपी सरकार में मंत्री ओमप्रकाश राजभर का बड़ा बयान, कहा- बर्खास्तगी के फैसले का स्वागत

FirstIndia Correspondent Published Date 2019/05/20 11:40

लखनऊ: लोकसभा चुनाव के नतीजे आने से पहले ही उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ओम प्रकाश राजभर को मंत्रिमंडल से तत्काल बर्खास्त करने की सिफारिश की थी. जिसे राज्यपाल ने स्वीकार कर लिया है.इसके बाद अब उत्तर प्रदेश मंत्रिमंडल से ओम प्रकाश राजभर को बर्खास्त कर दिया गया है.

ओमप्रकाश राजभर ने भी इसपर प्रतिक्रिया देते हुए कहा-मैंने तो पहले ही इस्तीफा दे दिया था, अब उनका जो मन हो, करें. राजभर की पार्टी के सदस्य जो विभिन्न निगमों और परिषदों में अध्यक्ष व सदस्य हैं सभी को तत्काल प्रभाव से हटाया गया. 

योगी के खिलाफ खुल कर बोलते रहे हैं राजभर

बतादें, राजभर योगी सरकार में पिछड़ा वर्ग कल्याण-दिव्यांग जन कल्याण मंत्री हैं. पिछले काफ़ी समय से राजभर ना सिर्फ़ बीजेपी बल्कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ख़िलाफ़ खुल कर बोलते रहे हैं. लोकसभा चुनाव से पहले ही ओम प्रकाश राजभर ने मंत्रालय से इस्तीफ़ा दिया था लेकिन इसे स्वीकार नहीं किया गया था. राजभर की सुहेलदेव समाज पार्टी ने बीजेपी के साथ मिलकर विधानसभा चुनाव लड़ा था और उसके चार विधायक भी चुने गए थे लेकिन सरकार बनने के बाद से ही ओम प्रकाश राजभर सरकार से दो-दो हाथ करते नज़र आते हैं.

सरकार बनने के बाद से ही योगी कैबिनेट के लिए बने मुसीबत
दरअसल, ओम प्रकाश राजभर बीजेपी के सत्ता संभालने के बाद से ही उनके लिए मुसीबत बने हुए हैं. कभी अफसरों द्वारा सिफारिशें न सुनने पर उन्होंने हंगामा किया तो कभी बेटों को पद दिलाने के लिए इस्तीफा देने पर अड़े. बीजेपी सरकार लगातार उनके बयानों और इस्तीफों को नजरअंदाज करती रही. यूपी में राज्यसभा चुनावों को लेकर होने वाले मतदान और लोकसभा चुनावों से पहले बीजेपी के शीर्षस्थ नेताओं की तरफ से ओम प्रकाश राजभर को समझाने और मनाने का दौर चला. 

First India News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे!
हर पल अपडेट रहने के लिए अभी डाउनलोड करें First India News Mobile Application
लेटेस्ट वीडियो के लिए हमारे YOUTUBE चैनल को विजिट करें

और पढ़ें

Most Related Stories

Stories You May be Interested in