Live News »

यूपी की योगी सरकार, 'कसौटी' पर दो साल में 'दंगामुक्ती के दावे'

यूपी की योगी सरकार, 'कसौटी' पर दो साल में 'दंगामुक्ती के दावे'

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार को दो महीने बाद दो साल की होने जा रही है, वहीं नए साल की शुरूआत में सीएम योगी ने प्रदेश के दंगामुक्त होने का दावा किया है। इसको लेकर योगी ने माइक्रो-ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर ट्वीट किए हैं, जो इन दिनों सोशल मीडिया में जमकर वायरल हो रहे हैं। ऐसे में चर्चाएं इस बात को लेकर भी हो रही है कि सीएम योगी के ये दावे सच्चाई के कितने करीब हैं।

दरअसल, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने नए साल की शुरूआत में 3 जनवरी को ट्वीट करते हुए लिखा है कि, 'मैंने उत्तर प्रदेश के बारे में लोगों की धारणा बदल दी है। दो साल पहले तक, लोग यूपी को ज्यादातर भ्रष्टाचार, विधिहीनता, अराजकता और दंगों के लिए जानते थे। सिर्फ देश में ही नहीं बल्कि देश के बाहर भी लोगों के मन में यूपी को लेकर यही धारणा थी।' अगले ट्वीट में उन्होंने लिखा कि 'मार्च में मेरे शासनकाल के दो वर्ष पूरे होंगे। मेरे अब तक के शासन में, कोई दंगा नहीं हुआ है।'

एक के एक लगातार कई ट्वीट कर सीएम योगी ने प्रदेश के दंगामुक्त होने के दावे किए। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि, 'हमने संगठित किस्म के अपराध पर एक हद तक काबू पा लिया है। हमने कानून के राज को मजबूत बनाया है। पारिवारिक झगड़े या निजी दुश्मनी के कुछ मामलों को छोड़ दें तो फिर पूरे प्रदेश में अब लोग सुरक्षित हैं।' वहीं दूसरी ओर सीएम योगी के इन ट्वीट्स पर कई कमेंट्स भी हैं, जो उनके इन दावों को सच्चाई से दूर बताते हैं। इसके साथ ही विभिन्न स्रोत बताते हैं कि यूपी में हुई कुछ घटनाएं ऐसी भी हैं, जो योगी के दावों के विपरीत नजर आती है।

योगी शासन में हुई प्रमुख घटनाएं :
— यूपी में मार्च 2017 में योगी आदित्यनाथ के सीएम बनने के करीब दो महीने बाद ही मई 2017 में सहारनपुर में जातीय हिंसा हुई। इस हिंसा में एक व्यक्ति की मौत हो गई और कई लोग घायल हुए थे।
— इसके बाद साल 2018 के जनवरी महीने में कासगंज में सांप्रदायिक हिंसा हुई। इस घटना में भी एक व्यक्ति की मौत हुई थी।
— 2018 के समाप्त होते होते ही दिसंबर के महीने में बुलंदशहर में गोकशी के नाम पर हिंसा हुई, जो कि कई समय तक लगातार सुर्खियों में बनी रही। इस घटना में एक पुलिस अधिकारी समेत दो लोगों की मौत हुई।
— इसके साथ ही साल 2018 समाप्त होने के महज कुछ दिनों पूर्व ही गाजीपुर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैली के बाद हिंसा हुई। इसमें घटना में एक पुलिस वाले की मौत हो गई।

और पढ़ें

Most Related Stories

कोरोना संकट के बीच यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने उठाया बड़ा कदम, मजदूरों को दी आर्थिक मदद

कोरोना संकट के बीच यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने उठाया बड़ा कदम, मजदूरों को दी आर्थिक मदद

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस महामारी के संकट से जूझ रहे दैनिक मजदूरी पर काम करने वाले मजदूरों के लिए योगी सरकार ने बड़ा कदम उठाया है. सीएम योगी ने आज बड़े अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर चार लाख से अधिक शहरी वेंडर्स को सीधे आर्थिक मदद ट्रांसफर की है.

Coronavirus Updates:  राजस्थान में पॉजिटिव मरीजों का ग्राफ पहुंचा 489, देश में चौथे पायदान पर  

4 लाख 81 हजार शहरी वेंडर्स को दी गई: 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ये मदद जारी की. जो कि 4 लाख 81 हजार शहरी वेंडर्स को दी गई है. इसके अलावा 11 लाख से अधिक श्रमिकों को एक-एक हजार रुपये की मदद दी गई है. 

27 लाख से अधिक मजदूरों का बकाया जारी: 
इस दौरान सीएम योगी ने जानकारी देते हुए कहा कि मनरेगा के तरह मजदूरी करने वाले करीब 88 लाख ऐसे मजदूर हैं, जिनका बत्ता बढ़ा दिया गया है, जबकि 27 लाख से अधिक मजदूरों का बकाया जारी कर दिया गया है. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि प्रदेश में 87 लाख से अधिक परिवारों को समय से पहले पेंशन जारी कर दी गई है. 

 VIDEO: टीम गहलोत के जज्बे की दास्तां, Corona को हराने में जुटे सूबे के 'कर्णधार' 

2 करोड़ से अधिक किसानों को मदद पहुंचाई जा रही:
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में मुख्यमंत्री योगी ने बताया कि केंद्र सरकार की ओर से प्रदेश को 2 करोड़ से अधिक किसानों को मदद पहुंचाई जा रही है. इसके अलावा केंद्र की ओर से रसोई गैस, महिलाओं को आर्थिक मदद और राशन की व्यवस्था भी की गई है, जिसे राज्य सरकार जमीनी स्तर पर उतार रही है. 
 

Corona Update: यूपी के 15 जिले आज रात 12 बजे से पूरी तरह से होंगे सील, आवश्यक सामानों की होगी होम डिलिवरी

Corona Update: यूपी के 15 जिले आज रात 12 बजे से पूरी तरह से होंगे सील, आवश्यक सामानों की होगी होम डिलिवरी

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव की बढ़ती संख्या को देखते हुए योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है. दरअसल, मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए प्रदेश के 15 जिलों को रात 12 बजे से पूरी तरह सील करने का निर्णय लिया है. इन जिलों में कोई भी आवाजाही नहीं होगी. यहां तक की सामानों की होम डिलिवरी होगी. यूपी में अब तक संक्रमितों की संख्या बढ़कर 350 हो गई है. 

राजस्थान युवा कांग्रेस चुनाव में गहराया विवाद, अब अमरदीन फकीर ने खड़े किये सवाल 

इन जिलों को किया जाएगा सील:
वाराणसी, लखनऊ, महराजगंज, बस्ती, बुलंदशहर, नोएडा, गाज़ियाबाद, शामली, कानपुर, सीतापुर, मेरठ, सहारनपुर, आगरा, फ़िरोज़ाबाद और बरेली. 

VIDEO: मई-जून के लिए ट्रेनों में 60 फीसदी तक बुक हुई सीटें, रेलवे को एक साथ भीड़ होने से संक्रमण फैलने का डर 

आवश्यक सेवाओं को छोड़कर किसी को कर्फ्यू पास जारी नहीं होंगे:
इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर किसी को कर्फ्यू पास जारी नहीं होंगे. जरूरी सेवाओं के अलावा किसी को भी घर से निकलने की इजाजत नहीं होगी. इन जिलों के बॉर्डर पूरी तरह सील कर दिए जाएंगे. मीडियाकर्मियों की एंट्री बैन करने पर भी विचार हो रहा है. विशेष परिस्थिति में ही इजाजत दी जाएगी.


 

UP Corona Update: कोरोना वायरस से वाराणसी में पहली मौत, गौतमबुद्धनगर में 30 अप्रैल तक धारा 144 लागू

UP Corona Update: कोरोना वायरस से वाराणसी में पहली मौत, गौतमबुद्धनगर में 30 अप्रैल तक धारा 144 लागू

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमितों की संख्या में लगातार इजाफा होता जा रहा है. तब्लीगी जमात में शामिल हुए लोगों के कारण प्रदेश में तजी से संक्रमण का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है. आज सुबह से अब तक  33 नए मरीजों में संक्रमण की पुष्टि हुई है. इसी के साथ कुल संक्रमित मरीजों की संख्या 286 हो गई है. 

15 अप्रैल से चलेंगी ट्रेनें! रेलवे प्रशासन ने शुरू की संचालन की तैयारी 

कोरोना से संक्रमित मरीज की मौत के बाद पॉजिटिव आई रिपोर्ट:
वहीं वाराणसी में कोरोना के चलते पहली मौत की खबर सामने आई है. तीन अप्रैल को कोरोना के जिस संक्रमित मरीज की मौत हो गई थी उनकी रिपोर्ट आज पॉजिटिव आई है. इसी के साथ एक महिला पॉजिटिव पाई गई है जिसे देखते हुए 4 इलाकों मदनपुरा, बजरडीहा, लोहता और गंगापुर में कर्फ्यू लगा दिया गया है. 

गौतमबुद्धनगर जिले में धारा 144 की अवधि को 30 अप्रैल तक:
इसके साथ ही कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए गौतमबुद्धनगर जिले में धारा 144 की अवधि को 30 अप्रैल तक के लिए बढ़ा दिया गया है. पहले इसे 5 अप्रैल के तक के लिए लागू किया गया था. लेकिन कोरोना वायरस के संक्रमण को देखते हुए धारा 144 को 30 अप्रैल तक के लिए बढ़ाया गया है. 

मथुरा में 23 जमातियों की रिपोर्ट निगेटिव:
इन सबके अलावा सुखद खबर यह है कि दिल्ली के तब्लीगी जमात से मथुरा लौटे कुल 30 जमातियों में से 23 की रिपोर्ट निगेटिव आई है. स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि 7 जमातियों की रिपोर्ट आनी बाकी है.

VIDEO: कोरोना को लेकर SMS मेडिकल कॉलेज में बड़ी खलबली! कैंटीन में कार्यरत मिला कोरोना पॉजिटिव 

प्रदेश में दीये जलाने की तैयारियां:
पीएम नरेंद्र मोदी के आह्वान के बाद रात नौ बजे दीये-मोमबत्ती जलाने के लिए प्रदेश के लोगों ने भी तैयारियां शुरू कर दी हैं. कोरोना के खिलाफ जंग में ताजनगरी के मुस्लिम समाज के लोगों ने भी घरों में दीये, मोमबत्ती और टॉर्च जालने की तैयारी कर ली है. 

नर्सों के साथ अभद्रता करने वाले जमातियों पर NSA लगाने का आदेश, CM योगी बोले- ये मानवता के दुश्मन, छोड़ेंगे नहीं

नर्सों के साथ अभद्रता करने वाले जमातियों पर NSA लगाने का आदेश, CM योगी बोले- ये मानवता के दुश्मन, छोड़ेंगे नहीं

लखनऊ: सीएम योगी आदित्यनाथ ने नर्सों की अभद्रता के बाद बड़ा फैसला लिया है. गाजियाबाद के जिला एमएमजी अस्पताल में हुई घटना के बाद आरोपियों पर रासुका (NSA) लगाने का आदेश दिया है. ग़ाज़ियाबाद की घटना पर यूपी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ये ना क़ानून को मानेंगे, ना व्यवस्था को मानेंगे, ये मानवता के दुश्मन हैं, इसके साथ ही उन्होंने कहा कि महिला स्वास्थ्यकर्मियों के साथ जो किया है, वह जघन्य अपराध है और इन पर रासुका (एनएसए) लगाया जा रहा है. हम इन्हें छोड़ेंगे नहीं. 

Rajasthan Corona Update: राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव का आंकड़ा पहुंचा 161, उदयपुर में तीन नए मरीज आए सामने 

तबलीगी जमात के लोगों के लिए अब केवल पुरूष कर्मचारी ही तैनात रहेंगे:
इसके साथ तबलीगी जमात के लोगों की चिकित्सा और सुरक्षा में महिला स्वास्थ्यकर्मी और महिला पुलिसकर्मियों को नहीं लगाने का फैसला किया गया है. अब केवल पुरूष कर्मचारी ही तैनात रहेंगे. बता दें कि इससे पहले स्वास्थ्य कर्मियों पर हमला करने वालों पर मध्य प्रदेश सरकार ने भी बड़ी कार्रवाई की. उन सभी आरोपियों पर रासुका लगाई गई है. 

देश के 1500 शहरों के काजी देंगे कोरोना से बचाव का संदेश, चीफ काजी खालिद उस्मानी ने की पहल 

क्या है मामला: 
दरअसल, गाजियाबाद के एमएमजी अस्पताल की नर्सों ने अस्पताल में भर्ती कराए गए जमाती मरीजों पर गंभीर आरोप लगाए गए हैं. उन पर अस्पताल परिसर में बिना पैंट नग्न घूमने, नर्सों के साथ छेड़छाड़ और अश्लील इशारे करने, अस्पताल स्टाफ से बीड़ी सिगरेट मांगने के भी आरोप हैं. मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने डीएम, एसएसपी और स्थानीय पुलिस को इसकी लिखित शिकायत दी, जिसके बाद यूपी सरकार ने यह बड़ा फैसला लिया.

Coronavirus Updates: उत्तर प्रदेश में कोरोना से 25 साल के युवक की मौत, देशभर में मरीजों की संख्या 1700 के पार

Coronavirus Updates:  उत्तर प्रदेश में कोरोना से 25 साल के युवक की मौत, देशभर में मरीजों की संख्या 1700 के पार

लखनऊ: देश-दुनिया में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है. देश में COVID-19 से संक्रमित लोगों की संख्या 1700 से पार हो गई है. मंगलवार को तमिलनाडु में 55 नए मामले आए हैं, जिसमें से 50 लोगों ने दिल्ली निजामुद्दीन मरकज कार्यक्रम में भाग लिया था. वहीं यूपी में भी कोरोना वायरस के चलते पहली मौत हो गई है. गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में 25 साल के युवक की इलाज के दौरान मौत हो गई. मरने के बाद आई KGMU की जांच रिपोर्ट में वह कोरोना पॉजिटिव मिला है. यह लड़का बस्ती का रहने वाला है. 

VIDEO- Rajasthan Corona Update: पिछले 12 घंटे में राजस्थान में नहीं आया कोई नया पॉजिटिव केस, भीलवाड़ा से राहत की खबर  

मरने के बाद आई रिपोर्ट में पॉजिटिव मिले से मचा हड़कंप:
जानकारी के अनुसार यह युवक 28 मार्च को बस्ती के अस्पताल में भर्ती हुआ था. इसके बाद उसे 29 मार्च को गोरखपुर के मेडिकल कॉलेज में रेफर किया गया. यहां उसका इलाज चल रहा था. 30 मार्च को सुबह 8 बजे उसकी मौत हो गई. इसके बाद 30 मार्च को ही उसका बस्ती में अंतिम संस्कार कर दिया गया. लेकिन अब मरने के बाद आई KGMU की जांच रिपोर्ट में वह पॉजिटव पाया गया है. इसके बाद हड़कंप मच गया है. बस्ती पुलिस ने लॉकडाउन को सख्ती से पालन करने का निर्देश जारी किया है. इसके साथ ही इस युवक के संपर्क में आए लोगों की शिनाख्त की जा रही है.

VIDEO- WHO ने की कोरोना वायरस की हवा में मौजूदगी की पुष्टि, अपने पहले के बयान को बदला 

इतनी कम उम्र में मौत का यह पहला मामला:
वहीं इसमे सबसे बड़ी चौंकाने वाली बात तो यह है कि कोरोना वायरस की चपेट में आकर इतनी कम उम्र में मौत का यह पहला मामला बताया जा रहा है. इससे पहले मध्य प्रदेश में 35 साल के युवक की मौत हुई थी. वहीं गोरखपुर में 25 वर्षीय युवक की मौत के बाद देश में मरने वालों का आंकड़ा 50 हो गया है. वहीं कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1700 से अधिक हो गया है. 
 

Coronavirus Updates: योगी सरकार ने मनरेगा मजदूरों के खाते में भेजे पैसे, दी बड़ी राहत

Coronavirus Updates: योगी सरकार ने मनरेगा मजदूरों के खाते में भेजे पैसे, दी बड़ी राहत

लखनऊ: कोरोना वायरस के चलते पूरा देश लॉकडाउन है. कई जगहों पर बड़ी संख्या में मजदूरों का पलायन जारी है. ऐसे में मौजूदा स्थिति में इनके खाने-पीने के लाले पड़े हुए हैं. इस संकट के समय में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने मजदूरों को 1-1 हजार रुपये देने का फैसला किया है. सोमवार को प्रदेश के करीब 27 लाख मनरेगा मजदूरों के खाते में सीएम योगी ने पैसे भेजे हैं. इससे पहले 20 लाख मजदूरों को एक-एक हजार रुपये की सहायता राशि दी गई थी. 

VIDEO: जोधपुर में एक और कोरोना पॉजिटिव आया सामने, कल ईरान से आए 275 लोगों में शामिल था ये व्यक्ति 

योगी ने कुल 611 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए:
लॉकडाउन के बीच यूपी के मनरेगा मजदूरों के लिए राहत भरी खबर है.  प्रदेश के 27.5 लाख मनरेगा मजदूरों के खाते में आज सीएम योगी ने कुल 611 करोड़ रुपये ट्रांसफर किए. इसके साथ ही सीएम योगी ने मजदूरों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बात भी की. इस दौरान उन्होंने खुद लोगों को सरकारी योजनाओं के बारे में बताया. 

अजमेर में एक ही परिवार के 4 सदस्यों को रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव, प्रशासन अलर्ट मोड़ पर 

राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 80:
बता दें कि पिछले 9 दिनों से लखनऊ में कोई भी संक्रमित मरीज नहीं पाया गया है. हालांकि राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या 80 है, जो चिंता का विषय है. वहीं प्रशासन भी लगातार संक्रमण की चेन तोड़ने का लगातार प्रयास कर रहा है.  लोगों से भी हर वक्त घरों में रहने की अपील की जा रही है. 

Corona Virus से पीड़ित सिंगर कनिका कपूर की चौथी रिपोर्ट भी आई पॉजिटिव

Corona Virus से पीड़ित सिंगर कनिका कपूर की चौथी रिपोर्ट भी आई पॉजिटिव

लखनऊ: बॉलिवुड की मशहूर सिंगर कनिका कपूर की चौथी कोरोना रिपोर्ट भी पॉजिटिव आई है. इससे पहले कनिका कपूर का तीसरा मेडिकल टेस्ट भी पॉजिटिव आया है. जानकारी अनुसार कनिका कपूर इन दिनों लखनऊ के संजय गांधी पोस्ट इंस्टीट्यूट में भर्ती हैं. सिंगर कनिका कपूर 20 मार्च को अस्पताल में भर्ती हुई थीं.

सलमान खान ने फिर दिखाया बड़ा दिल, फिल्म इंडस्ट्री के 25,000 मजदूरों की मदद के आए आगे 

19 मार्च को लिया था सैंपल:
तबीयत खराब होने पर 19 मार्च को कनिका कपूर का उनके आवास से सैंपल कलेक्शन किया गया. उसके बाद 20 मार्च को जांच में कोरोना वायरस की पुष्टि हुई. इसके बाद लखनऊ शहर में हड़कंप मच गया. उनके संपर्क में आए मंत्री, सांसद व कई लोग अभी भी हो क्वारंटाइन में हैं. कनिका की आज आई चौथी रिपोर्ट में भी उनके शरीर में वायरस की पुष्टि हुई है.

भरतपुर में सड़कों पर पसरा सन्नाटा, तो कई जगहों पर लॉकडाउन का पालन नहीं करने पर पुलिस ने दिखाई सख्ती

9 मार्च को लंदन से लौटी थी कनिका:
बता दें कि कनिका कपूर के अलावा उनके संपर्क में आए 262 लोगों में से 60 लोगों की मेडिकल रिपोर्ट नेगेटिव आई है. सिंगर कनिका कपूर बीत 9 मार्च को लंदन से मुंबई लौटी थीं, इसके दो दिन बाद वह लखनऊ में गईं और कई पार्टियों में शामिल हुई. कनिका कपूर की लापरवाही को लेकर यूपी में उन पर कई एफआईआर भी दर्ज की गई है.
 

Coronavirus Update: UP में कोरोना वायरस के 42 मामले, पुलिस ने लोगों से घर में रहने की अपील की

Coronavirus Update: UP में कोरोना वायरस के 42 मामले, पुलिस ने लोगों से घर में रहने की अपील की

लखनऊ: यूपी में कोरोना वायरस के आज 5 नए मामले सामने आए है. मरीजों की संख्या अब बढ़कर 42 हो गई है. नोएडा में आज कोरोना के तीन नए पॉजिटिव मामले सामने आए है. लखनऊ में पुलिस दूसरे दिन सख्ती से लॉकडाउन का पालन करा रही है. वहीं यूपी में सबसे बड़ी समस्या मजदूरों के पलायन को लेकर है.

VIDEO-Corona Updates: खुशी और गम दोनों लेकर आया भीलवाड़ा में आज का दिन 

मजदूरों के सभी इंतजाम किए जा रहे:
पुलिस के अनुसार लॉकडाउन के बाद मजदूर अपने घर जा रहे हैं. यह हमारे लिए बड़ा चैलेंज है. हम लोगों को समझा रहे हैं कि जो लोग जहां हैं, वहीं रहें. घर के अंदर रहें और सुरक्षित रहें. उनके सभी इंतजाम किए जा रहे हैं. कल सभी समस्याओं का निपटारा  कर लिया गया है.

कोरोना को लेकर जल्द टलेगा खतरा, काली माता अखाड़े के पांडुलिपि में उल्लेख 

अब लोग जागरूक हो गए हैं:
पुलिस ने मजदूरों से अपील की है कि जहां रह रहे हैं वहीं रहें. हम आपके लिए जरूरी सामान पहुंचा रहे हैं. पुलिस के अनुसार पहले तो लॉकडाउन को लेकर हमे शक्ति करनी पड़ी लेकिन अब लोग जागरूक हो गए हैं. अब घरों से बाहर उन्हीं लोगों को निकलने दिया जा रहा है जो आवश्यक सेवाओं के दायरे में आती हैं. इसके साथ ही लोगों के पास की दुकानों पर सभी जरूरत के सामान पहुंचा दिए गए हैं. हम लोगों की मदद कर रहे हैं.
 

Open Covid-19