सख्त रोक के बावजूद हजारों लोगों की मौजूदगी में चित्तौड़गढ़ जिले के कई शक्तिपीठों में हुई पशुबलि