किसानों को नहीं मिल रहा कपास का उचित दाम, खरीद केंद्र नहीं होने से आढ़तियों को कपास बेचने को मजबूर