प्रदेश में पेयजल को लेकर गंभीर नहीं सरकार, हाईकोर्ट ने लगाया 50 हजार रुपए का हर्जाना