2019/06/04 04:13
जिले में पीने के पानी की प्रदेश के सबसे बड़ी परियोजना अपणी योजना दो चरणों मे लागू होने के बाद भी पीने के पानी के लिए जिले में हा हा कार मचा  हुआ है. इस योजना पर 3500 करोड़ रुपये खर्च हो गए है मगर पेयजल की सुविधा ऊंट के मुंह मे जीरा साबित हो रही है. सादुलपुर, तारानगर, चूरू ओर सरदारशहर में पीने के पानी के लिए प्रदर्शन हो रहे हैं.  
2019/06/03 06:18
पुरानी कहावत कभी भी झुठ नहीं बोलती है. इन मुहावरों में जो भी कहा गया था आज वो सब एक-एक करके सच होता जा रहा है. र‍हीम ने उस समय ही पानी की तुलना हिरे-मोतियों से कर दी थी. आज यह सब देखने को मिल रहा है भीलवाड़ा जिले के हुरडा पंचायत समिति के आगुचा ग्राम पंचायत के परसरामपुरा गांव में.
2019/06/03 03:41
आदिवासी अंचल क्षेत्र में पेयजल संकट को लेकर त्राहि-त्राहि मची हुई है. हर गांव में पानी के लिए मारामारी हो रही है. कई जगह पानी को लेकर पूर्व में प्रदर्शन भी हो चुके है. उसके बाद भी प्रशासन द्वारा पानी की समस्या को लेकर कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किए गए हैं.
2019/06/02 06:32
जयपुर अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट पर हवाई यात्रियों, उनके परिजनों और यहां तक कि एयरपोर्ट स्टाफ को भी पेयजल की समस्या से जूझना पड़ रहा है.
2019/05/27 09:00
प्रदेश में गर्मी बढ़ने के साथ ही पेयजल की समस्या विकराल रूप लेती जा रही है. पानी की किल्लत से परेशान लोग जन प्रतिनिधियों और प्रशासन के सामने गुहार लगा रहे हैं.
2019/05/27 08:23
सदियों से प्यासे रेगिस्तान में ग्रामीणों की प्यास बुझाने वाले पारम्परिक पेयजल स्त्रोतों, तालाबों आदि का महत्व अब समझ में आने लगा हैं. अब उसकी सुध ली जाने की योजनाएं बनाई जा रही हैं.
2019/05/20 05:36
प्रदेश में पेयजल की समस्या के निस्तारण और पेजयल उपलब्ध कराने को लेकर दायर एक जनहित याचिका की सुनवाई करते हुए राजस्थान हाईकोर्ट ने राज्य सरकार पर 50 हजार का जुर्माना लगाया है.
2019/05/19 11:40
जिले में गर्मी आते ही गांवों में जल संकट शुरू हो जाता है और ग्रामीण इलाकों यह जल संकट और भी गहरा जाता है. वैसे तो झालावाड़ जिले में जल संकट को दूर करने की हजारों योजना बनी है और योजनाओं पर करोडों रूपया खर्च कर दिया लेकिन जल संकट दूर नहीं हो रहा है.
2019/05/19 11:17
पूरे प्रदेश में जलसंकट गहराया हुआ है. खुद मुख्यमंत्री इसको लेकर गंभीर हैं और जलदाय विभाग के अधिकारियों के लगातार संपर्क में हैं, लेकिन सीएमओ द्वारा कलेक्टर्स से प्राप्त फीडबैक कुछ अलग ही बात कहता है.
2019/05/14 07:51
प्रदेश में जलसंकट को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत गंभीर हैं, लेकिन जलदाय विभाग के अधिकारी पूरी तरह लापरवाह नजर आ रहे हैं. राजधानी के सबसे व्यस्ततम इलाकों में से एक किशनपोल में लगातार चार दिन से पाइप लाइन टूटी पड़ी है.
2019/05/12 10:37
गर्मी के प्रहार से आहत जैसाणे में इन दिनों पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है। सरकारी बैठकों में किए जा रहे दावों के बीच जमीनी सच्चाई यह है कि जैसलमेर के शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में कुल आबादी की तुलना में पानी मुहैया कराने में जिम्मेदारों को पसीना आ रहा है।
2019/05/11 08:08
सरकार और सियासतदान चाहे कितने ही बड़े-बड़े दावे करते हों, लेकिन पानी को लेकर आज भी प्रदेश में हालात बद से बदतर हैं। गांवों की क्या बात की जाए, पेयजल विभाग शहरों में पानी उपलब्ध करवाने में नाकामयाब हो रहा हैं।

-------Advertisement--------



-------Advertisement--------